Golden hindi tips for skin care – हायल्यूरोनिक एसिड के त्वचा पर फायदे

हमारे वातावरण में फैला प्रदूषण हमें हमारी त्वचा का अच्छे से ख्याल रखने पर मजबूर कर देता है। हमारी त्वचा शरीर का वह भाग है जो वातावरण के सारे प्रदूषण के संपर्क में रहती है। अतः त्वचा की देखभाल काफी महत्वपूर्ण मुद्दा है। क्योंकि हमारे त्वचा की देखभाल इतनी ही ज़रूरी है अतः बाज़ार में ऐसे कई उत्पाद हैं जो त्वचा की देखभाल के काम में आते हैं। किसी भी सौंदर्य प्रसाधन का प्रयोग करने से पहले आपको अपनी त्वचा का प्रकार जानना पड़ता है क्योंकि त्वचा के कई प्रकार होते हैं जैसे तैलीय, सूखी या सामान्य। हयालयूरोनिक एसिड सूखी त्वचा की देखभाल का सौंदर्य उत्पाद है। हयालयूरोनिक एसिड के कई फायदे हैं।

स्किन केयर टिप्स – हायल्यूरोनिक एसिड (Hyaluronic acid)

हायल्यूरोनिक एसिड, जिसे हायल्यूरोना या हायल्यूरोनेट भी कहा जाता है हमारे शरीर में प्राकृतिक रूप से पाया जाता है। यह जैविक केमिकल एपिथेलियल तंतुओं में, जोड़ने वाले तंतुओ में तथा न्यूरल तंतुओं में पाया जाता है। क्योंकि यह शरीर में प्राकृतिक रूप से मिलती है अतः यह काफी अच्छी बायोमेडिसिन है। हायल्यूरोनिक एसिड के कई फायदे है जो केवल मनुष्यों तक ही सीमित नहीं है। जब कॉर्निया के ट्रांसप्लांट तथा आँखों के अन्य उपचारों की बात आती है तो डॉक्टर खराब तंतुओं को ठीक करने के लिए हायल्यूरोनिक एसिड का ही सहारा लेते हैं। इसे आर्थराइटिस के उपचार के तौर पर भी प्रयोग में लाया जाता है क्योंकि यह जोड़ने वाले तंतुओं में होता है। प्लास्टिक सर्जरी के दौरान होंठों को मोटा करने में भी इसका इस्तेमाल होता है। यह घावों को ठीक करने के तथा जले के दागों को गायब करने के भी काम आता है। घोड़ों में भी जोड़ों के घाव को ठीक करने के लिए हायल्यूरोनिक एसिड का प्रयोग किया जाता है। अतः हम देखते हैं कि हायल्यूरोइक एसिड के कई ओषधीय गुण हैं और यह त्वचा के लिए भी अच्छा है।

त्वचा देखभाल के लिए आयुर्वेदिक नुस्खे

स्किन की देखभाल – फायदे (Benefits – Hyaluronic acid ke fayde)

1. क्योंकि हायल्यूरोनिक एसिड एक फिलर का काम करता है अतः इसके प्रयोग से आप झुर्रियों को हमेशा के लिए गायब कर सकते हैं। बायोमेडिसिन झुर्रियों के बीच की जगह को भरता है तथा इसके फायदे 6 महीने तक रहते हैं।

2. अगर आपकी त्वचा पर कोई घाव है तो हायल्यूरोनिक एसिड उस घाव को भर सकता है। यह इतने अच्छे से काम करता है कि आपके घाव के दाग भी नहीं दिखेंगे। जलन में भी यह काफी काम करता है।

3. आप हायल्यूरोनिक एसिड की मदद से अपने मुंह के छालों को भी ठीक कर सकते हैं।

4. यह बायोमेडिसिन सूखी त्वचा के लिए भी काफी अच्छी है। त्वचा कितनी भी सूखी क्यों न हो यह उसे नम कर देती है।

5. अगर आपकी त्वचा पर एक्ने के दाग हैं तो हायल्यूरोनिक एसिड द्वारा एक आसान शल्य क्रिया आपकी त्वचा के एक्ने को पूरी तरह हटा देती है।

6. इस एसिड एक प्रयोग होंठों को भरने के लिए भी किया जाता है।

7. इसका प्रयोग उम्र छुपाने के लिए भी किया जाता है। हायल्यूरोनिक एसिड को जवानी का खज़ाना कहा जाता है।

8. यह जोड़ों के लिए तथा अन्य तन्तुओं के लिए एक कुशन तथा लुब्रिकेंट का काम करता है। यह शरीर के चोट लगने के बाद के भाग को नियंत्रित करता है।

9. यह एक बेहतरीन पोषक तत्व भी है क्योंकि यह शरीर की नमी सोखने की क्षमता को दुरूस्त बनाए रखता है।

त्वचा की देखभाल कैसे करे – लगाने की विधि (Application – Hyaluronic acid kaise use kare)

त्वचा की सौंदर्य देखभाल

आमतौर पर हायल्यूरोनिक एसिड सौंदर्य प्रसाधनों और अन्य उत्पादों में पाया जाता है। ऐसे कई क्रीम और जेल हैं जो जलने, कटने, सूखी त्वचा, झुर्रियां और दाग को ठीक करते हैं। लगाने की विधि भी दो तरह की हो सकती है – सीधे घाव पर लगाना या शल्य क्रिया द्वारा लगाना। अगर आप झुर्रियों से तुरंत छुटकारा चाहती हैं तो आपको बायोमेडिसिन को अपनी त्वचा पर लगाना होगा।

Subscribe to Blog via Email

Get Hindi tips to your inbox everyday