Health & beauty benefits of garlic oil – सेहत और खूबसूरती के लिए गार्लिक ऑइल के फायदे

लहसुन (Garlic) बहुत ही आसानी से किचन या फ्रीज़ में मिलने वाली चीज है जो सेहत के कई गुणों से भरपूर है। यह उन मसालों में से एक है जो अपनी खास खूशबू की वजह से भोजन को एक बेहतरीन स्वाद प्रदान करती है। लहसुन सेहत का खज़ाना है जिसमें एंटीबैक्टीरियल, एंटीफंगल और एंटीवायरल गुण पाये जाते हैं जो स्वास्थ्य और त्वचा के लिए कई तरह से फायदेमंद होते हैं। आपको यह जानकार भी आश्चर्य होगा कि लहसुन का तेल या गार्लिक ऑइल (Garlic oil) भी खूबसूरती के लिए करिश्माई तरीके से काम करता है।

सेहत और खूबसूरती के लिए लहसुन तेल के फायदे हिन्दी में (Health and beauty benefits of garlic oil)

इम्युनिटी बढ़ाने में (Improves immunity)

प्रतिरक्षा तंत्र को बेहतर बनाने में गार्लिक ऑइल के फायदे अनेक हैं। यह कैंसरकारक कोशिकाओं के विकास को रोकता है और शरीर को रोगों से लड़ने की ताकत प्रदान करता है। नियमित रूप से गार्लिक ऑइल का प्रयोग करने पर शरीर में मौजूद मर्करी और लेड जैसे  टॉक्सिन सबस्टेंट्स बाहर निकलते हैं। हीमोफीलिया (Hemophilia) के मरीजों के लिए इसका प्रयोग बहुत लाभदायक होता है जो रक्त को जमने में मदद करता है।

कैंसर से बचाव (Prevents cancer)

हम यह पहले ही बता चुके हैं कि लहसुन में कैंसर की कोशिकाओं को नष्ट करने की क्षमता होती है। इसका कारण है लहसुन के तेल में मौजूद घटक एलाइल सल्फर।  एलाइल सल्फर कई तरह के कैंसर जिसमें पेंक्रियाटिक कैंसर, प्रोस्टेट कैंसर, ब्रेस्ट कैंसर और स्टमक या पेट के कैंसर प्रमुख हैं, को रोकने में मदद करता है। यह कोलोन कैंसर से बचाव में भी बहुत प्रभावी होता है।

कोलेस्ट्रॉल नियंत्रण (Controls cholesterol)

अपने रोज के खान पान में गार्लिक ऑइल का प्रयोग कर आप बैड कोलेस्ट्रॉल को कम कर सकते हैं। गार्लिक ऑइल बनाने की विधि बहुत ही आसान है जिसे आप घर पर ही बना सकते हैं। एक कड़ाही में सरसों या कोई भी वेजीटेबल ऑइल लें और इसे गरम करें। लहसुन की कुछ कलियों को छिलकर छोटे टुकड़े कर लें और इन टुकड़ों को गरम तेल में डालकर आंच से उतार लें। गार्लिक ऑइल तैयार है। इस लहसुन के तेल का प्रयोग आप कोलेस्ट्रॉल को कम करने के लिए कर सकते हैं।

दिल की सुरक्षा (Heart health)

लहसुन तेल का प्रयोग ब्लड प्रेशर को संतुलित करने के लिए भी किया जाता है। यह हाइ और लो, दोनों तरह के ब्लड प्रेशर को संतुलित करता है। इसकी मदद से धमनियों में रक्त का प्रवाह आसानी से होता है और यहाँ तक कि हार्ट अटैक तथा स्ट्रोक आदि के खतरे को भी गार्लिक ऑइल कम करता है।

Subscribe to Blog via Email

Join 45,326 other subscribers

रूसी दूर करने का उपाय (Cures dandruff)

अगर आपके बालों में बहुत रूसी है और सिर की त्वचा से पपड़ीदार परत जैसे सफ़ेद अंश झड़ते रहते हैं तो इसके इलाज के लिए लहसुन का तेल या गार्लिक ऑइल के फायदे (Garlic oil ke fayde) बहुत असरदार हैं जो बेहतरीन तरीके से काम करता है। सिर की त्वचा में गार्लिक ऑइल की हल्की मसाज कर इसे रात भर के लिए ऐसे ही छोड़ दें, सुबह किसी माइल्ड शैम्पू से बालों को दो लें। इस प्रयोग को नियमित रूप से करने पर 15 दिनों में रूसी पूरी तरह गायब हो जाती है।

दाँत दर्द में (Relieves tooth pain)

बैक्टीरिया के इन्फेक्शन की वजह से दांतों में दर्द की समस्या होती है। इस समस्या के उपचार के लिए एक रुई के गोले में गार्लिक ऑइल की कुछ बूंदें लें और इसे प्रभावित हिस्से में लगा कर कुछ देर रहने दें। इससे दाँत दर्द में आराम मिलता है। अधिक लाभ के लिए दिन में 2 से 3 बार इस प्रयोग को दोहराएँ।

मुंहासों का इलाज (Controls acne)

मुँहासे या पिंपल एक आम समस्या है जो रोम छिद्रों में जमा मैल और गंदगी की वजह से भी होती है। ज़्यादातर लोग इसके इलाज में दवाओं और क्रीम आदि का प्रयोग करते हैं लेकिन बहुत कम लोग ही यह जानते होंगे कि गार्लिक ऑइल की मदद से मुंहासों की समस्या को नियंत्रित किया जा सकता है। इसके लिए मुलतानी मिट्टी का फेस पैक बनाएँ और उसमें कुछ बूंदे गार्लिक ऑइल की मिला लें। इस पैक के नियमित प्रयोग से चेहरे की त्वचा से मुँहासे बहुत जल्दी दूर हो जाते हैं।

कान के इन्फेक्शन में (Ears infection)

एंटी बैक्टीरियल, एंटीसेप्टिक और एंटीवायरल गुणों की वजह से यह अनेक तरह से इन्फेक्शन को दूर करने में सहायक होता है। अगर आपको कान में संक्रमण के साथ खुजली और बेचैनी महसूस होती है तो कान में कुछ बूंदें लहसुन के तेल की डालें, आप देखेंगे कि कुछ देर में ही खुजली और कान में तकलीफ कम हो गयी है।

गार्लिक ऑइल रेसिपी (Recipe of Garlic oil in Hindi)

दो से तीन चम्मच नारियल के तेल में एक चम्मच सरसों का तेल या जैतून का तेल मिलाएँ, अब इसमें कुछ बूंदे गार्लिक ऑइल की मिलाकर हल्की आंच ईएमआई कुछ देर रखें, इसे ठंडा कर किसी बोतल में भर कर फ्रीज़ में रख दें, कान में खुजलाहट या दर्द आदि में इस तेल की कुछ बूंदे डालें।

पेट दर्द में (Relieve stomach ache)

अगर आपको अचानक पेट में दर्द या मरोड़ का अनुभव हो रहा है और आपको इसके कारणों की जानकारी नहीं है तो इसके लिए दावा लेने के बजाय घरेलू इलाज पर ध्यान देना चाहिए। सरसों के तेल में कुछ लहसुन की कलियाँ डालकर इसे गरम करें। जब या तेल हल्का गरम हो तब इस हल्के गरम तेल को हाथ में लेकर पेट में हल्की हल्की मसाज करें।

बाल झड़ने से बचाने के लिए (Hair loss prevention)

बाल झड़ना एक आम समस्या है लेकिन जब यह बहुत गंभीर हो जाए तो गंजेपन जैसी समस्या को जन्म देती है। घर में तैयार गार्लिक ऑइल का प्रयोग  बालों की समस्या के इलाज में किया जा सकता है। बालों की जड़ों में हल्की मसाज करते हुये नियमित रूप से इसे लगाएँ। इससे झड़ते बालों में राहत मिलती है।

स्किन इन्फेक्शन से बचाव (Skin infection prevention)

प्रत्येक व्यक्ति कई तरह की त्वचासंबंधी समस्याओं से सामना करते हैं जिसमें स्किन इन्फेक्शन एक गंभीर समस्या है। कुछ इन्फेक्शन एलर्जी की वजह से होते हैं जबकि कुछ खास किस्म के जीवाणुओं की वजह से, इनमें रिंगवर्म, एथलीट फुट, दाद, मस्से आदि प्रमुख हैं। इन प्रभावित हिस्सों में गार्लिक ऑइल को नियमित रूप से लगाकर लाभ प्राप्त किया जा सकता है।

loading...