How rosemary is beneficial for health and beauty? जानें, रोजमेरी के औषधिय गुण

रोजमेरी एक औषधीय गुणों वाला पौधा है जो भूमध्यसागरीय क्षेत्रों में पाया जाता है. औषधिय गुणों और अपनी ख़ास खुशबू की वजह से इसका प्रयोग कई व्यंजनों जैसे सूप, सॉस और माँसाहारी पाक में किया जाता है. इसमें कैल्शियम, विटामिन, आयरन और मिनरल्स की भरपूर मात्रा होने की वजह से यह त्वचा के लिए बहुत लाभकारी है.

एंटीऑक्सीडेंट की खास उपस्थिति के कारण अरोमाथेरेपी में इसका प्रयोग किया जाता है. यह त्वचा को नई ऊर्जा प्रदान कर जवां बनाता है. आप कई सौंदर्य प्रसाधनों में इसके प्रयोग को देख सकते हैं. साबुन, क्लिंज़र, टोनर, क्रीम और फेस मास्क में इसकी मौजदगी इसके गुणों को प्रदर्शित करती है. त्वचा के लिए इसके कुछ खास गुणों की चर्चा नीचे की जा रही है, जो इस प्रकार हैं.

सेहत और सौंदर्य के लिए रोजमेरी के फायदे (Health and beauty benefits of rosemary in Hindi)

कैंसर से बचाव में रोजमेरी के फायदे (Prevents cancer)

रोजमेरी में एक खास घटक कार्सोनल मौजूद होता है जो कैंसररोधी माना जाता है. यह प्रोस्टेट कैंसर, कोलोन कैंसर और ब्रेस्ट कैंसर से बचाव करता है.

याददाश्त बढाने के लिए मददगार (Improves memory)

रोजमेरी में उपस्थित कर्सोनिक एसिड अल्जाइमर जैसे रोग से बचाव में मददगार है. यह याददाश्त को बेहतर करने में भी सहयोग देता है. उम्र की वजह से भूलने की बिमारी के उपचार में भी फायदेमंद है.

रोजमेरी में मौजूद हैं दर्दनिवारक गुण (Anti-inflammatory)

कर्सोनल और कर्सोनिक एसिड दोनों ही दर्दनिवारक गुणों से युक्त होते है और शरीर के दर्द को ठीक करते हैं, यही वजह है कि कई दर्दनिवारक तेल या लोशन में इसका प्रयोग किया जाता है. इसमें मौजूद खास घटक शरीर में नाइट्रिक एसिड का उत्पादन रोक देते हैं जिसकी वजह से दर्द और सूजन ख़त्म हो जाती है.

श्वसन से जुड़ी समस्याओं में रोजमेरी के लाभ (Respiratory problems)

ऐसे व्यक्ति जो लगातार सांस से जुड़ी परेशानियों से जूझते रहते हैं उनके लिए रोजमेरी औषधि की तरह कार्य करता है. इसके अलावा फ़्लू और एलर्जी में भी यह लाभदायक होता है. पानी में रोजमेरी को उबालकर इसकी गर्म भाप को लेने से सांस के कष्ट में आराम मिलता है.

Subscribe to Blog via Email

Join 45,327 other subscribers

पाचन में सुधार के लिए (Digestive problems)

कई बार ज्यादा मिर्च मसालेदार खाना पेट में तकलीफ देता है. इसकी वजह से पेट में जलन, गैस, कब्ज आदि भी होती है. इसके उपचार के लिए रोजमेरी बहुत फायदेमंद है. खासकर जब मांसाहार या अधिक तला भुना खा लेने से पेट में किसी तरह की समस्या होने लगती है तब यह बहुत उपयोगी उपाय होता है.

माइग्रेन के दर्द में राहत के लिए रोजमेरी (Reduce Migraine headache)

माइग्रेन का दर्द बहुत कष्टकारी होता है. पानी में रोजमेरी को उबालकर इसकी गर्म भाप 10 मिनट तक लें. इस उपाय को कुछ दिनों तक नियमित रूप से करें.

मुंहासों के इलाज में (To treat acne)

त्वचा के लिए रोजमेरी के फायदे अनेक हैं. खासकर मुंहासों के उपचार में रोजमेरी को अपनाया जा सकता है. इसके लिए 2 चम्मच रोजमेरी ऑइल को खीरे के रस और अंडे के सफ़ेद हिस्से में मिलाकर फेंट लें. इस पैक को चेहरे पर हफ्ते में 2 से 3 बार लगायें.

झुर्रियां और महीन रेखाओं का इलाज (Inhibits aging signs)

उम्र की वजह से त्वचा में कई तरह के फर्क दिखाई देने लगते हैं. इसमें झुर्रियां और महीन रेखाएं सबसे आम लक्षण है. एक्जिमा और सोराइसिस तक के इलाज में इसका प्रयोग करने पर लाभ प्राप्त होते हैं. आँखों का लाल होना और आँखों में सूजन में भी इसकी सेंक फायदेमंद है.

प्रतिरक्षा तंत्र की मजबूती में (Immune system response)

रोजमेरी में उच्च मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट पाया जाता है जो प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करने में अपना योगदान देता है. अपनी इम्युनिटी को मजबूत बनाने के लिए रोजमेरी एक्सट्रेक्ट का प्रयोग किया जा सकता है.

दांतों की समस्या में (Sorting dental problem)

आजकल हम में से अधिकांश लोग दांतों की समस्या का शिकार होते रहते हैं. भोजन जब दांतों के बीच फंसा रह जाता है तो यह दांतों और मसूड़ों को नुकसान पहुंचाता है. इसके कारण सांसों में दुर्गन्ध, दांतों की सड़न और मुंह में बैक्टीरिया का होना एक आम समस्या बन जाता है. इन सब को दूर करने के लिए रोजमेरी टी या इससे बनी चाय बहुत लाभदायक होती है.

loading...