Top benefits of taking flaxseeds for health – अलसी के बीजों के स्वास्थ्य लाभ, अलसी के फायदे

सेहत की दृष्टि से अलसी के बीज (flax seeds) या दानें हमेशा से ही बहुत फायदेमंद हैं और आजकल स्वास्थ्य लाभ के लिए आहार विशेषज्ञ भी लोगों को इसके उपयोग की अहमियत को सुझाव के साथ दे रहे हैं। सेहत से भरपूर ये छोटे दानें आपकी आपके बजट में आसानी से समा जाते हैं साथ ही आपके शरीर को सेहतमंद और फिट (Fit) रखने के लिए भी यान दानें बहुत लाभदायक होते हैं।

इस छोटे छोटे दानों में उच्च मात्रा में विटामिन (vitamin), प्रोटीन (protein) और मिनरल्स (mineral) जैसे तत्व भरपूर मात्रा में उपस्थित होते हैं। भूरे रंग के ये अलसी के बीज़ आपके दिल की  सुरक्षा के लिए बहुत उपयोगी हैं साथ ही यह ब्लड शुगर (blood sugar) को भी कंट्रोल में रखते हैं। इस आर्टिकल में हम आपको अलसी के सबसे बेहतरीन फ़ायदों की जानकारी देंगे, जिससे आप इन छोटे छोटे भूरे दानों की अहमियत समझ कर स्वास्थ्य लाभ ले सकें।

अलसी में मौजूद आवश्यक तत्व (First, let us take a quick look at the vital nutrients present in flax seeds)

ओमेगा 3 फैटी एसिड (Omega 3 fatty acid) : ओमेगा 3 फैटी एसिड (omega 3 fatty acid) हमारे शरीर के अंदर कॉर्डियोवस्कुलर (cardiovascular) या दिल की सेहत के लिए बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। इसके साथ ही सम्पूर्ण शरीर के पोषण का भी कार्य करता है। यह शरीर के भीतरी अंगों के साथ त्वचा का भी खास ख़याल रखता है। ओमेगा 3 क़ैसर के बचाव कर हमारे शरीर के मेटाबोलिस्म को बढ़ाता है। साथ ही ओमेगा 3 एक ऐसा तत्व है जो शरीर के वज़न को भी कम करने में मदद करता है।

अलसी के बीज के फायदे – फाइबर (Fiber) : अलसी के दानों में प्राकृतिक रेशे या फाइबर (fiber) पाया जाता है जो इसका खास गुण है। यह रेशे पाचन में मदद करते हैं और शरीर की पाचन क्रिया को सुव्यवस्थित रखते हैं। अलसी के बीजों के सेवन से न केवल कब्ज़ दूर होती है बल्कि, यह आपके भूख को भी नियंत्रित करते हैं। आपकी अतिरिक्त कैलोरी की मात्रा कम होने की वजह से वज़न भी काबू में रहता है।

अच्छे स्वास्थ्य लाभ के लिये सोंठ या सूखी अदरक

प्रोटीन (Protein) : अलसी में उच्च मात्रा में मौजूद प्रोटीन शरीर के लिए बहुत लाभदायक होता है क्योंकि इसमें प्रोटीन के साथ अतिरिक्त वसा नहीं होती। आप इसे नियमित रूप से लेकर अपने शरीर में प्रोटीन की मात्रा को संतुलित रख सकते हैं।

लिग्नेंस (Lignans) : लिग्नेंस शरीर में एस्ट्रोजेन (estrogen) के स्तर को बढ़ाने में सहायक होते हैं। इसमें एंटीऑक्सीडेंट के भी गुण पाये जाते हैं। अलसी में लिग्नेंस (linnans) की उच्च मात्रा पाई जाती है जो शरीर के द्वारा आसनी से अवशोषित भी हो जाती है।

Subscribe to Blog via Email

Join 45,326 other subscribers

विटामिन (Vitamin) : इसमें बहुत ज़्यादा मात्रा में विटामिन B1 (vitamin B1) मौजूद होता है। जो शरीर के सम्पूर्ण पोषण के लिए मददगार होता है। विटामिन बी1 (vitamin B1) की उच्च मात्रा के साथ बी 6 (vitamin B6) भी अल्प मात्रा में होने की वजह से यह शरीर के लिए बहुत लाभदायक है।

मिनरल्स (Minerals) : इसमें मैंगनिशियम, फास्फोरस, कॉपर और ज़िंक जैसे ज़रूरी तत्व होते हैं जो शरीर के लिए भी बहुत ज़रूरी हैं।

अलसी के बीजों की यह सभी मत्वपूर्ण जानकारी देकर हम आपको बता रहे हैं की यह शरीर और स्वास्थ्य के लिए कितना लाभदायक हो सकता है आप भी अपनी आवश्यकतानुसार इसके सेहतमंद दानों का प्रयोग कर सकते हैं।

हृदय के लिए फायदेमंद है अलसी (Alsi ka bij promotes better cardiovascular)

अलसी का सबसे पहला और खास गुण यह है कि, यह शरीर में हृदय कि सुरक्षा के लिए काम करता है। यह दिल को कई तरह की बिमारियों से बचाकर सुरक्षित रखता है। अलसी के बीज में पॉलीअनसैचुरेटेड फैट (polyunsaturated fat) होता है जो रक्त में कोलेस्ट्रॉल के स्तर को नियंत्रण में रखता है और ब्लड प्रेशर को भी काबू में रखता है। दिल कि सुरक्षा के साथ हार्ट अटैक के खतरे को भी यह कम करता है।

डायबिटीज़ के नियंत्रण में सहायक अलसी का बीज (Alsi seeds helps in controlling diabetes)

फूलगोभी के फायदे, स्वास्थ्य के लिए फूलगोभी के लाभ

अलसी डायबिटीज़ के नियंत्रण में भी सहायक होती है। इसमें मौजूद लिग्नेंस (lignans) को डायबिटीज़ के लिए लाभदायी माना जाता है। एक स्टडी के अनुसार यह बताया गया है कि, रोज़ अलसी के दानों का सेवन करने से दोनों तरह से डायबिटीज़ पर कंट्रोल किया जा सकता है और यह शरीर में ग्लूकोज कि संवेदनशीलता को बढ़ा देता है। साथ ही यह ब्लड शुगर के स्तर (blood sugar level) को भी बेहतर करता है।

कैंसर से दूर रखने में अलसी का प्रयोग (Flax seeds to keep cancer at bay)

अलसी के बीजों में उच्च मात्रा में ओमेगा 3 फैटी एसिड (Omega 3 fatty acid) और लिग्नन (Lignan) मौजूद होते हैं जो साथ मिलकर कैंसर से लड़ने में मदद करते हैं। यह लिग्नन ऐसे होर्मोंस को नियंत्रित कर के रखते हैं जो कैंसरजनित होते हैं या कैंसर को बढ़ावा देने में मदद करते हैं। इनमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट बढ़ती उम्र के प्रभावों को कम कर आपकी त्वचा को भी युवा बनाए रखता है।

संक्रमण की रोकथाम के लिए सहायक होती है अलसी के बीज का उपयोग (Flax seeds can limit common infection)

अलसी के बीज़ में पॉलीफेनाल (Polyphenol) होता है। जो प्रोबायोटिक्स को बढ़ाने में सहायक होते हैं। यही तत्व हमारे पेट में पाचन को ठीक कर पेट से जुड़े इन्फेक्शन (Infection) आदि को दूर रखता है। लिग्नन में उपस्थित एंटीवाइरल (Anti viral) और एंटीबैक्टीरियल (Anti bacterial) गुण सामान्य इन्फेक्शन जैसे सर्दी खांसी आदि को दूर रख हमारे प्रतिरक्षा प्रणाली को भी बेहतर करता है।

अलसी के बीज के लाभ है अच्छे पाचन में सहायक (Alsi ke beej ke labh for better digestive health)

अलसी के बीजों का यह सबसे महत्वपूर्ण और खास गुण है की यह हमारे पाचन को ठीक रखने में मदद करता है। इसके अलावा यह शरीर के बाकी कामों को भी ठीक से संचालित करने के लिए प्रोत्साहित करता है। अल्फा लिनोलेनिक एसिड (Alpha linolenic acid) अलसी के दानों में मौजूद होता है जो पेट के विभिन्न हिस्सों को ठीक तरह से कार्य करने के लिए प्रेरित करता है और पेट की क्रियाओं को भी बेहतर बनाए रखता है। लंबे समय से हो रही पेट की समस्याओं जैसे पेट में जलन आदि को अलसी के प्रयोग से दूर किया जा सकता

सूखे मेवे और उनके स्वास्थ्य लाभ

दर्द से राहत के लिए अलसी का घरेलू उपाय (Offers protection against inflammation)

अलसी में जो लिग्नन पाया जाता है, शरीर के किसी भी हिस्से में हो रहे दर्द को शांत करता है। दर्द से राहत के लिए अलसी का नियमित प्रयोग आराम देता है। आर्थराइटिस (Arthritis) और अस्थमा (asthama) के रोगियों उचित परामर्श द्वारा इसका प्रयोग नियमित रूप से करना चाहिए।

मेनोपोज़ के लक्षणों से राहत देता है अलसी के बीज के गुण (Helps in controlling post menopausal symptoms)

लिग्नन संघटकों की उपस्थिति की वजह से अलसी मेनोपोज़ में राहत देती है। मेनोपोज़ के बाद होने वाली समस्याओं से बचाने के लिए इसका प्रयोग बहुत लाभकारी होता है। एस्ट्रोजेनिक गुणों से भरपूर होने के कारण अलसी मेनोपोज़ के दौरान होने वाली समस्याओन्न जैसे बेचैनी और अत्यधिक गर्म स्त्राव आदि से राहत देता है।

वज़न संतुलित रखने के लिए खाएं अलसी का बीज (Alsi ke beej helps in weight management)

मोटापा समाज में हर वर्ग की एक गंभीर समस्या बनता जा रहा है। अलसी के प्रयोग से आप अपने वज़न को काबू में रख सकते हैं। फाइबर से युक्त होने की वजह से अलसी शरीर को पर्याप्त फाइबर प्रदान करती है। म्याह शरीर में जाकर आपके भूख के एहसास को कम कर आपको बेहतर पोषण और पाचन भी देता है। इसके सेवन से आपके शरीर में लंबे समय तक कैलोरी की सही मात्रा बनी रहती है। मोटापा कम करने केलिए एक्सरसाइज़ के साथ साथ नियमित रूप से अलसी के दानों का सेवन आपको मोटापे से बचा सकता है।

काला नमक के स्वास्थ्य लाभ

बालों और त्वचा के स्वास्थ्य के लिए अलसी के प्राकृतिक गुण (Flax seeds promote the health of skin and hairs)

त्वचा और बालों पर अलसी का बहुत ज़्यादा असर देखने को मिलता है। बालों व त्वचा को जादुई बदलाव देने के लिए अलसी का सेवन उपयोगी है। अल्फा लिनोलिक एसिड (Alpha linolic acid) बालों और त्वचा पर बहुत प्रभावी रूप से कार्य करता है। इससे बालों को पोषण मिलता है और त्वचा पर मुँहासे (Acne) आदि को दूर करने के लिए भी इसका उपयोग किया जाता है। त्वचा संबंधी रोग जैसे एक्ज़िमा (Eczema) आदि में भी यह लाभकारी होता है।

अलसी के बीज को आप पीसकर या ऐसी ही अपने भोजन के साथ ले सकते हैं। पीसे हुये अलसी या अलसी के चूर्ण का उपयोग आपको नियमित रूप से अपने रोज़ के भोजन के साथ करना चाहिए। इस आसान और सस्ते उपाय से आप सेहत संबंधी अनेक लाभ प्राप्त कर सकते हैं। आलसी को कच्चे या भूनकर किसी भी तरह भोजन के साथ लिया जा सकता है। इसका स्वाद भी बुरा नहीं होता जिसकी वजह से आपको इसे लेने में किसी प्रकार की परेशानी नहीं होगी।

loading...