Health care tips for men after 50 – 50 के बाद पुरुषों के स्वस्थ रहने के नुस्खे

उम्र बढ़ने के साथ ही शरीर की ज़रूरतें काफी हद तक बदलने लगती हैं। 50 के बाद का चरण ना सिर्फ शरीर को बीमारियों के प्रति संवेदनशील बनाता है, बल्कि पहले से काफी कमज़ोर भी करता है।

हालांकि ऐसा नहीं है कि बढती उम्र के इस चक्र से पुरुष उबर नहीं सकते। खानपान एवं जीवनशैली में परिवर्तन से कई प्रकार के बदलाव लाये जा सकते हैं। अंततः स्वस्थ एवं तनावमुक्त जीवनशैली अपनाने की कोशिश होनी चाहिए।

व्यायाम करना शुरू करें (Begin to exercise)

पपीते के श्रेष्ठ स्वास्थय और सुंदरता सम्बंधित लाभ

शोधों से पता चला है कि 50 से ऊपर एवं विशेष रूप से 60 एवं 75 के बीच की आयु के व्यक्तियों के जॉगिंग एवं रनिंग (jogging and running) करने से दिल की बीमारियों एवं मोटापे जैसी अन्य समस्याओं से ग्रस्त होने की काफी कम संभावना होती है।

शारीरिक व्यायाम के अलावा इस उम्र में मानसिक व्यायाम भी उतना ही आवश्यक है। ना सिर्फ यह शरीर के लिए फायदेमंद होता है, बल्कि आपकी विचारधारा में बदलाव लाने में भी काफी फायदेमंद सिद्ध होता है। अगर आपके पास अधिक समय नहीं है, फिर भी 50 की आयु के बाद थोड़ा सा समय in व्यायामों के लिए निकालना चाहिए।

प्रदूषक तत्व ग्रहण ना करें (Stop intake of pollutants)

इसका प्रमुख अर्थ तम्बाकू, धूम्रपान एवं अतिरिक्त मद्यपान से खुद को बचाए रखना है। दिन में दो गिलास स्वीकार्य है, परन्तु इससे अधिक हानिकारक हो सकता है। यदि आप इस समस्या से निपटने में असफल साबित हो रहे हैं, तो ऐसी हानिकारक आदतों से छुटकारा पाने के कई रास्ते होते हैं।

अतिरिक्त धूम्रपान एवं मद्यपान के साथ स्वास्थ्यकर जीवनशैली संभव नहीं है। इसका मुख्य कारण यह है कि एक समय के बाद हमारा शरीर ऐसी चीज़ों के बुरे प्रभाव से लड़ने में असफल होने लगता है। आपको अपनी स्टैमिना (stamina) बढ़ाने पर ध्यान केन्द्रित करना चाहिए।

खुराक लें (Get the dose)

वैसे तो 50 से ऊपर के पुरुष को पर्याप्त पोषक तत्वों युक्त खानपान पर ही ध्यान केन्द्रित करना चाहिए, ऐसी भी कई स्थितियां पेश आ सकती हैं जहां फल एवं सब्जियां आपके शरीर की आवश्यकताओं को पूरा नहीं कर पाती।

स्वस्थ रक्तचाप एवं हड्डियों के ढाँचे के लिए पर्याप्त कैल्शियम (calcium), दिल की गति सुचारू रखने एवं मांसपेशियां बनाने के लिए मैग्नीशियम (magnesium) तथा दिल की बीमारियों की संभावना कम रखने एवं मस्तिष्क की कार्यशीलता बनाए रखने के लिए आपको ओमेगा 3 फैटी एसिड्स (omega-3 fatty acids) की आवश्यकता पड़ती है। ये सभी महत्वपूर्ण विटामिन्स (vitamins) इस चरण में पोषक तत्वों के पूरक पदार्थों की प्रस्तावित खुराक के माध्यम से प्राप्त किये जा सकते हैं।

नमक का सेवन कम करें (Cut salt content)

50 की आयु के बाद एक पुरुष के शरीर में पोटैशियम (potassium) की कमी एवं सोडियम (sodium) की बढ़ोत्तरी काफी गंभीर रूप धारण कर सकती है। सोडियम युक्त खाद्य पदार्थों जैसे चीज़, प्रोसेस्ड खाद्य पदार्थों एवं ब्रेड (cheese, processed foods and breads) से दूर रहें। इसकी बजाय अपन ह्रदय को मज़बूत बनाने के लिए हरी पत्तेदार सब्जियों का सेवन करें।

Subscribe to Blog via Email

Join 44,885 other subscribers

कार्यशील रहें (Be active)

पुरुषों की स्वस्थ सेहत के लिए उत्तम आहार

50 की आयु के बाद मोटापा एक गंभीर समस्या बन जाती है जिससे निपटना काफी मुश्किल होता है। चीनी युक्त पेय पदार्थों के सेवन से शरीर में काफी चर्बी जमा हो जाती है। आपको सुनिश्चित करना होगा कि स्वादिष्ट व्यंजन भविष्य के लिए बोझ ना बनें एवं इनका सेवन सही समय पर बंद कर दें।

इसके अलावा अपने कुत्ते या बच्चे के साथ खेलें। केवल सुनिश्चित करें कि आपका शरीर कार्यशील रहे और कुछ ऐसा करने का प्रयास करें जिससे कि आपका दिल कुछ देर के लिए तेज़ गति से धड़के। आप अतिरिक्त फायदे के लिए एरोबिक क्लासेज (aerobic classes) भी जा सकते हैं।

दांत अच्छे से साफ़ करें (Brush it all)

दांत पुरुषों के शरीर का एक और संवेदनशील अंग हैं जिसपर इस उम्र में ध्यान देना काफी आवश्यक है। इसके लिए अपने दांतों को पहले से कहीं अधिक अच्छे से ब्रश एवं फ्लॉस (brush and floss) करें। इसके अलावा यदि आप दांतों के दर्द या मसूड़ों की समस्या से ग्रस्त हैं तो डॉक्टर से परामर्श करें एवं इसे नज़रंदाज़ ना करें, क्योंकि मुंह से जुड़ी इन समस्याओं से बाद में कई गंभीर समस्याएं उत्पन्न हो सकती हैं।