Risks of wearing the wrong size bra size – गलत ब्रा साइज या गलत ब्रा पहनना के दुष्परिणाम

ज़्यादातर महिलाएं ऐसी ब्रा खरीदती हैं, जो दिखने में काफी सुन्दर होती है। लेस, नेट और अंडरवायर ब्रा (Lace, net and underwire bras) देखने में काफी अच्छी लगती है, पर सही आकार की ब्रा का चयन करना भी काफी आवश्यक है। सारी महिलाओं को गलत आकार के ब्रा पहनने के दुष्परिणामों के बारे में पता होना चाहिए।

गलत ब्रा पहनने से कई तरह की तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ता है। अगर आपकी ब्रा ज़्यादा ढीली या कसी हुई है, तो इसका अर्थ है कि आपको अपनी ब्रा को बदलने की ज़रुरत है। ढीली ब्रा या ऐसी ब्रा, जिसकी लोच धोने के बाद ख़त्म हो गयी हो, आपके स्तनों के आकार को क्षतिग्रस्त कर सकती है। अतः आपको तुरंत ही बचाव उपाय अपनाने चाहिए।

गलत ब्रा साइज पहनने के स्वास्थ्य सम्बन्धी समस्याएं (Health effects and risks of wearing the wrong bra size)

कई महिलाएं बिना सोचे समझे गलत साइज की ब्रा पहनती हैं। उनके हिसाब से कुछ सालों पहले किसी डिपार्टमेन्टल स्टोर या किसी दर्ज़ी की दुकान पर उनका नाप लिया गया था तो वे अपनी साइज में गलती कर ही नहीं सकती। ब्रा पहनने के तरीके, पर सच यह है कि गलत ब्रा साइज पहनने से स्वास्थ्य सम्बन्धी (galat bra size pehnane ke nuksan) कई समस्याएं आ सकती हैं :-

ब्रा की जानकारी, बेडौल दिखने की समस्या (Shapeless form)

जब आप गलत साइज की ब्रा पहनती हैं तो आपको आपका मनचाहा सुन्दर एवं सुडौल लुक प्राप्त नहीं होता। इसके विपरीत आपका शरीर और खासकर स्तनों का आकार बेडौल और अनाकर्षक दिखने लगता है।गलत साइज की ब्रा आपके स्तनों की तरफ लोगों का ध्यान अनचाहे ही आकर्षित करवाती है।

ब्रा कैसे पहने, स्तनों में घाव (Scarred breasts)

ब्रा पहनने का तरीका, गलत ब्रा पहनने से ब्रा के नीचे या स्तनों पर कटने, छिलने और घाव होने की समस्या सामने आती है जो कि पहले पहल आसानी से पकड़ में नहीं आती। परन्तु समय के साथ टाइट ब्रा त्वचा में घुसकर घाव कर देती है और इससे काफी परेशानी होती है।

अपनी मां से ब्रा के लिये कैसे पूछे?

ब्रा की जानकारी, सही सपोर्ट ना मिलना (Inadequate support)

ब्रा पहनने का तरीका, बड़े स्तन वाली महिलाओं को अपने लिए सही ब्रा साइज ढूंढने में काफी परेशानी होती है क्योंकि उन्हें अपने साइज को सपोर्ट करने वाली ब्रा मुश्किल से मिलती है। कई बार ये महिलाएं अपना साइज ना मिलने की वजह से छोटी ब्रा पहनती हैं जिससे कि परेशानियां कम होने की बजाय बढ़ती ही हैं। आपके लिए सही साइज की ब्रा पीठ पर ढीली नहीं होती तथा पीठ तथा कंधे पर दाग भी नहीं छोड़ती। गलत ब्रा स्तनों को जगह नहीं देती और उन्हें नुकसान पहुंचाती है। अगर आपके स्तन ब्रा में ठीक फिट नहीं हो रहे तो आपने गलत ब्रा पहनी है।

ब्रा कैसे पहने, खराब बॉडी पोस्चर (Bad body posture)

गलत साइज की ब्रा पहनने वाली महिलाएं अपने चलने या खड़े होने की मुद्रा सही नहीं कर पाती और उन्हें ढंग से पोस्चर बनाने में परेशानी होती हैं। इसकी वजह से महिलाओं में बैठने या खड़े होने की बजाय झुकने की प्रवृति ज़्यादा होती है। इसके अलावा पीठ एवं गले के दर्द की समस्या भी सामने आती है।

गलत ब्रा से पैदा होने वाली समस्याओं से निजात पाने के लिए डिपार्टमेंटल स्टोर में जाकर अपना नाप लें और ऐसा कुछ सालों में नहीं बल्कि जब भी ब्रा खरीदने जाएं तभी नाप लें। इसका कारण यह है कि स्तनों का आकार सारी उम्र विभिन्न कारणों से बदलता रहता है। ये कारण कुछ भी हो सकते हैं जैसे हॉर्मोन परिवर्तन, गर्भावस्था, वज़न में कमी या अन्य कोई कारण। गलत ब्रा साइज की वजह से स्वास्थ्य सम्बन्धी कई समस्याएं होती हैं अतः हमेशा सही साइज की ब्रा खरीदें और बाद में होने वाली मुश्किलों से बचें।

ब्रा के प्रकार, खराब फिटिंग वाले ब्रा के खतरे (Risk caused by an ill-fitting or unsuitable bra?)

ब्रा पहनने के तरीके, आमतौर पर त्वचा की परेशानियां होती हैं,खासतौर से स्तन के कुछ भागों पर।

घरेलू उपचार ढीले स्तनों से दृढ़ स्तनों के लिए

ब्रा के प्रकार, कुछ विकसित देशों में खराब फिटिंग वाली ब्रा और स्तन कैंसर के बीच संबंधों पर रिसर्च चल रही है। हालांकि अभी तक कोई ठोस सबूत सामने नहीं आए हैं परन्तु इस संभावना को पूरी तरह खारिज नहीं किया गया है।

इस बात पर कोई शक नहीं है कि सही साइज की ब्रा ना केवल आरामदायक एवं देखने में अच्छी होती है बल्कि यह आपको कई प्रकार के रोगों से भी बचाती है।

स्वास्थ्य समस्याओं से बचाव के मुख्य तरीके (Key factors to help prevent health problems)

  • सही फिटिंग (fitting) वाली अच्छी ब्रा पहनने से खासकर बड़े स्तनों वाली महिलाओं को पीठ, कन्धों तथा गले में तकलीफ से छुटकारा प्राप्त होता है।
  • फिजियोथेरेपी (physiotherapy) के साथ सही नाप की ब्रा इन समस्याओं का जड़ से इलाज करने में काफी प्रभावी साबित होती है तथा लम्बे समय से चली आ रही अन्य समस्याओं से भी निजात दिलाने में सक्षम है।

गलत आकार की ब्रा पहनने से होने वाले नुकसान (Dangerous health effects of wearing a wrong size bra)

  • पीठ दर्द (Back pain) यह उन महिलाओं को होता है, जिनके स्तन बड़े होते हैं और उनकी ब्रा का आकार भी गलत होता है। गलत ब्रा छाती पर दबाव डालती है और भारी स्तनों के कारण महिलाओं में झुकने की प्रवृत्ति बढ़ जाती है, जिससे कि उनके कूल्हों में दर्द होता है। अगर ब्रा कसी हुई हो, तो इससे हड्डियों में दबाव पड़ेगा जिससे पीठ में दर्द होगा।
  • स्तनों में दर्द (Breast pain) गलत आकार की ब्रा पहनने का यह सबसे सामान्य दुष्परिणाम है। कसी हुई ब्रा से शरीर को दिक्कतें होती हैं, जिससे कि स्तनों में दर्द होता है।
  • कंधे और गले का दर्द (Shoulder and neck pain) कसी ब्रा के स्ट्रिप्स (strips) कन्धों पर दबाव पैदा करते हैं। इससे कन्धों पर दबाव पड़ता है, जो गले तक जाता है और काफी मात्रा में दर्द की सृष्टि करता है।
  • लिम्फ नोड्स का बंद होना (Blockage of the lymph nodes) स्तनों में मौजूद लिम्फ धमनियां काफी पतली होती हैं और उन्हें कसी हुई ब्रा से पड़ने वाले हलके दबाव के माध्यम से भी सिकोड़ा जा सकता है। इस दबाव से लिम्फ वाल्व और धमनियां (lymph valves and vessels) hinditips.com बंद हो जाती हैं।
  • स्तनों के लिगामेंट्स (Breast ligaments) गलत आकार की ब्रा से स्तनों के लिगामेंट्स को काफी नुकसान पहुंचता है, जिससे काफी दर्द होता है और स्तनों के ढीलेपन की समस्या भी सामने आती है।
  • ढीले स्तन (Sagging breasts) इसका कारण भी ढीली ब्रा पहनना होता है, जिससे स्तनों का आकार और प्रकार बिगड़ जाता है। ढीली ब्रा से स्तनों को उभार बिलकुल नहीं मिलता और वे ढीले पड़ जाते हैं।
  • त्वचा की समस्या (Skin problems) ब्रा का गलत आकार स्तनों के आसपास के भाग में फोड़े फुंसियां उत्पन्न कर देता है। ऐसा खासकर तब होता है, जब ब्रा का आकार काफी छोटा होता है और वो स्तनों के पास काफी कसा हुआ होता है।

बिना सर्जरी स्तन छोटे करने के उपाय

गलत ब्रा के लक्षण (Symptoms from wrong size bra)

  • इसमें छाती की हड्डियों में दबाव महसूस होता है, जबकि ब्रा का सहारा आदर्श रूप से पीठ के निचले हिस्से की तरफ से मिलना चाहिए।
  • कसी हुई ब्रा से स्तन निकल आते हैं और इसलिए स्ट्रैप्स को अच्छे से नियंत्रित करने की आवश्यकता पड़ती है।
  • स्तनों को पर्याप्त मात्रा में सहारा प्राप्त ना होने से पीठ के ऊपरी भाग पर काफी दबाव पड़ता है और इससे सिरदर्द की काफी समस्या सामने आती है।
  • पेट की गड़बड़ी और अतिरिक्त थकान भी इस बात की सूचक है कि आपकी पीठ को अच्छे से सहारा नहीं मिल पा रहा।
  • अंडरवायर ब्रा स्तनों को अच्छा आकार, सहारा तथा उभार देने के लिए जाने जाते हैं। पर हाल ही में ऐसा पता चला है कि इनके प्रयोग से स्तनों में दर्द, मास्टाइटिस (mastitis) और एलर्जी (allergy) की समस्या सामने आती है। ऐसा धातु की तार के पुराने हो जाने के बाद त्वचा के संपर्क में आने से होता है।

सही ब्रा प्राप्त करने के नुस्खे (Ways to get the correct fitting bra)

  • आईने के सामने खड़े हो जाएँ और गलत ब्रा की निशानियों की जांच करें जैसे चींटी काटना, खींचना और ढीला पड़ना।
  • हर 6 महीने में ब्रा के आकार की जांच करें, क्योंकि स्तनों का आकार हमेशा बदलता रहता है।
  • अगर आपके स्तन ब्रा से निकल आते हैं तो छोटी पीठ और बड़े कप वाली ब्रा का चयन करें।
  • वायर आपके स्तनों के नीचे ही हैं या नहीं, इसकी जांच करने के लिए नीचे झुकें।
  • ब्रा के बीच का हिस्सा स्तनों के बीचोंबीच रहना चाहिए।
  • ब्रा ऐसी होनी चाहिए, जो पीठ के बीच या निचले हिस्से से स्तनों का भार सहन कर सके। अगर ब्रा पीठ के ऊपरी भाग में हो तो ऐसी ब्रा लें, जिसकी पीठ का आकार छोटा हो।
  • अगर आपकी ब्रा लाल निशान छोड़ रही है या बगल में निशान कर रही है, तो आपको एक बड़े कप की आवश्यकता है। अगर आपके कन्धों में दर्द होने लगा है तो पैडेड या चौड़ी (padded or broad) स्ट्रैप वाली ब्रा का प्रयोग करें।
  • महीने के समय के हिसाब से स्तनों के आकार में बदलाव आ जाता है। अतः फैलने वाले कपड़े की ब्रा का प्रयोग करें।
  • अगर आपके स्तन ढीले पड़ जाएँ तो स्ट्रैप्स को छोटा कर दें, या फिर कम फैलने वाले कपड़े की ब्रा का प्रयोग करें।
  • ब्रा का आकार दो भागों पर होता है – बैंड साइज़ (band size), जो कि छाती के आसपास का नाप होता है, जिसके अनुसार ब्रा का नंबर (number) बनाया जाता है। दूसरा है कप साइज (cup size), जो स्तनों को आराम और सहारा प्रदान करती है। ये नंबर के बाद वाले A, B और C के निशान होते हैं। 36 A, 32 B या 38 C ।

सही तरह फिट होने वाली ब्रा आपके स्तनों को उठाती है, मुद्रा को सही करती है और आपको दुबला भी दिखाती है।