Oral care tips in Hindi for good smile – स्वस्थ मुँह की देखभाल के टिप्स अच्छी मुस्कान के लिए

खुशनुमा तरीके से मुस्कुराने से बातचीत करने का तरीका ही बदल जाता है। जब आप आकर्षक रूप से मुस्कुराते हैं तो लोग आपको देखकर ख़ुशी का अनुभव करते हैं। वे भी आपकी तरफ देखकर उसी संतुष्टि के साथ मुस्कुराते हैं, और इसीलिए यह ज़रूरी है कि आप मुंह की साफ़ सफाई अच्छे से बनाए (oral health ko maintain karna) रखें।

अगर आप लाल शराब और काली हर्बल चाय का सेवन करते हैं या सिगरेट पीते हैं तो यह आपके दांतों की चमक कम कर सकता है। कुछ अन्य पेय जैसे कोला या काले फलों का रस भी यही काम करते हैं। मुख्य बात यह है की अगर सेवन करने वाली चीज़ें गहरे रंग की है तो आपको तुरंत किसी विरंजक से अपने दांत साफ़ कर लेना चाहिए नहीं तो इनसे आपके दांतों की चमक कम होगी।

ओरल हेल्‍थ के लिए टूथब्रश का सही इस्तेमाल (Test your current toothbrush)

अपने टूथब्रश से 45 डिग्री के कोण पर दांत साफ़ करना चाहिए और ब्रश को आगे पीछे करने के बजाय हलके हाथो से दांतों पर ऊपर नीचे करना चाहिए।

हर बार दांत साफ करने के बाद जीभी का प्रयोग (Use tongue cleaner for every brushing)

टूथब्रश से जीभ साफ़ करने के बजाय जीभी का प्रयोग करना चाहिए। जीभी का प्रयोग करने से साँसों में ताजगी आती है और यह जीभ से जीवाणुओ को भी साफ़ करती है।

स्वतः मुँह साफ़ करने वाला भोजन (Go for cleaned food)

मसूड़ों से निकलते खून को रोकना

शाक(जिसे एक प्राकृतिक टूथब्रश भी कहा जाता है) का प्रयोग भोजन में करना चाहिए। साथ ही कद्दू, दलीया और पॉपकॉर्न को भी आहार में सम्मिलित करना चाहिए। इन्हें खाने के पश्चात आपको तुरंत दांत साफ़ करने की आवशयकता नहीं पड़ेगी।

ओरल हेल्‍थ के लिए सिरके का प्रयोग (Use vinegar to clean stain marks)

दांतों पर से दागों को हटाने के लिए सफ़ेद सिरके का प्रयोग किया जा सकता है। यह दांतों में चमक देने के साथ ही जीवाणुओ को भी नष्ट कर देता है।

खाने के सोडा के साथ दांत साफ़ करना (Remember to brush with cooking soda for every seen days)

सोडा आपके दांतों से एनामल की परत हटाता है। इसे टूथपेस्ट के साथ बराबर मात्र में मिलाकर दांत साफ़ किये जा सकते हैं। टूथपेस्ट के स्थान पर नमक का प्रयोग भी किया जा सकता है। बस ध्यान रहे के इसे निगलें ना।

मुंह स्‍वास्‍थ्‍य के लिए साँसों को ताज़ा रखें (Remain fresh)

इसके लिए आप किसी शर्करारहितमिन्ट का प्रयोग कर सकती हैं। अगरआप मुखधावन द्रव (माउथ वाश) लेने का विचार कर रही हैं तो ध्यान रहे की वह अल्कोहल रहित हो क्योंकि यह मुँह की त्वचा को रूखा कर सकता है जो जीवाणुओ को पनपने में सहायता करेगा।

सुबह-शाम दोनों समय दांत साफ़ करें (Muh ko swasth by practice to brush morning & evening)

अच्छी महक के लिये बेहतरीन मुंह फ्रेशनर

यह इसलिए क्योकि खाना खाने के पश्चात रात भर में दांतों पर प्लाक जमा हो जाता है। इसलिए प्लाक जमा होने से पहले ही रात में ब्रश करके प्लाक जमने की सम्भावना को कम कर देना चाहिए।

मुंह स्‍वास्‍थ्‍य के लिए फ्लॉस का प्रयोग (Training flossing with your face turn)

अगर फ्लॉस करना संभव हो तो तो फ्लॉस का प्रयोग किया जाना चाहिए। फ्लॉस को आप अपनी गाड़ी में, पर्स में या अपने बैग में रख सकती हैं और किसी भी समय इसका प्रयोग कर सकते हैं।

हलके रंगों की लिपस्टिक का प्रयोग (Use light color lipsticks)

माध्यम हलके लाल रंग की लिपस्टिक का प्रयोग करने से यह आपके दांतों के सफ़ेद होने का आभास देगी।

इंटरडेंटल टूथब्रश का प्रयोग (The use of interdental toothbrushes)

अपने मुंह को हमेशा अच्छी स्थिति में रखने के लिए यह काफी ज़रूरी है कि आप हमेशा इंटरडेंटल टूथब्रश का प्रयोग करें। आप इंटरडेंटल फ्लॉस (interdental floss) का भी प्रयोग कर सकते हैं। इससे करीब करीब सारे दांत काफी अच्छे से साफ़ हो जाते हैं और इसके बाद आपके दांतों में प्लाक (plaque) का जमाव भी काफी कम हो जाता है। इससे आप दांतों को आराम से साफ़ रख सकते हैं और लोगों को फिर से अपनी प्यारी मुस्कान से नवाज़ सकते हैं।

सही भोजन से मुंह को रखें स्वस्थ (The right food keeps the mouth healthy)

मुंह को तरोताज़ा बनाए रखने के लिए आपको खुद को मसूड़ों की किसी भी बीमारी से बचाकर रखना होगा। इस वजह से यह काफी ज़रूरी है कि आप ऐसे खाद्य पदार्थों का सेवन करें, जो खनिज पदार्थों और विटामिन (vitamin) से भरपूर हों। यह समय है जब आपको अपने खानपान में फल और सब्ज़ियों को शामिल करना चाहिए। ये ताज़ा खाद्य पदार्थ होते हैं और आपके मुंह को किसी भी प्रकार की पीड़ा या अन्य समस्याओं से बचाकर रखते हैं।

मुंह के छाले कम करने के लिए उत्तम घरेलू उपचार

बार बार दांतों को ब्रश ना करें (Frequent brushing is not good for mouth ki care)

कई बार लोग कुछ भी खाने के तुरंत बाद ब्रश करने लगते हैं जो कि एक काफी खराब आदत है। हर बार जब आप ब्रश करते है तो दांतों से थोड़ा सा इनेमल (enamel) निकल जाता है और इससे दांतों में सड़न उत्पन्न होती है। इस बात को हमेशा ध्यान में रखा जाना आवश्यक है कि कुछ भी खाने के तुरंत बाद ब्रश का प्रयोग ना करें। इस बात को सुनिश्चित करें कि भोजन करने के 1 घंटे के बाद ही ब्रश करें।

मुंह के अंदरूनी भाग को सूखने से बचाएँ (Avoid the inside of the mouth to become dry)

इस बात को भी सुनिश्चित करें कि आपके मुंह का अंदरूनी भाग सूख ना रहा हो। इसके लिए चीनीरहित गम्स (gums) का प्रयोग करें। गम चबाने से थूक का उत्पादन होता है और इस प्रक्रिया की वजह से मुंह का अंदरूनी भाग सूखा नहीं रह पाता। इससे आपके मुंह का स्वास्थ्य अच्छा बना रहता है।

दांतों की जांच से घबराएं नहीं (Avoiding fear to have a perfect oral treatment)

ऐसे कई लोग हैं जो दांतों के डॉक्टर के पास जाने से घबराते हैं। उनके मन में ऐसी धारणा होती है कि दांतों का इलाज काफी दर्दभरा होता है। यही कारण है कि वे इस प्रक्रिया से बिलकुल भी गुज़रना नहीं चाहते। यह काफी गलत बात है। अगर आपको दांतों से जुड़ी हुई कोई समस्या है तो तुरंत अपने डॉक्टर से संपर्क करें। वह आपको इस समस्या से छुटकारा पाने के सही उपायों से अवगत कराएगा। इससे आपका आत्मविश्वास काफी बढ़ेगा और आप दांतों की चिकित्सा के लिए पूरी तरह तैयार रहेंगे।