How to lose weight after Pregnancy – प्रेग्नेंसी के बाद कैसे करें वेट कम?

बच्चे को जन्म देने के बाद अपने पुराने शेप मे वापस आना बहुत मुश्किल होता है पर असंभव नही। अगर आप प्रेग्नेंसी के दौरान बढ़े हुये वज़न को कम करने के बारे में सोच रहीं हैं तो ये बात दिमाग मे ज़रूर रखें कि प्रेग्नेंसी के दौरान शरीर मे जमे एक्स्ट्रा फैट को किसी जादू की मदद से कम नही किया जा सकता पर पहले जैसा फिगर पाने और बॉडी को कुछ ही महीनों के भीतर शेप मे लाने के लिए तनाव ना लें।

प्रसव के बाद देखभाल, प्रेग्नेंसी के दौरान बढ़े हुये एक्सट्रा फैट को किसी जादू की मदद से कम नही किया जा सकता पर पहले जैसा फिगर पाने और बॉडी को कुछ ही महीनों के भीतर शेप में लाने  के लिए ज़रूरत से ज़्यादा तनाव ना लें। प्रेग्नेंसी के दौरान बढ़े हुये एक्सट्रा फैट को कम करना केवल सौंदर्य की दृष्टि से से ही महत्वपूर्ण नहीं होता बल्कि आपके भीतर के आत्मविश्वास और उससे भी ज़्यादा आपके शारीरिक व मानसिक स्वास्थ्य के लिए भी ज़रूरी होता है,पर खुद की सेहत को दांव पर लगा के नहीं।

ये मायने नहीं रखता की प्रेग्नेंसी के बाद वेट लॉस (pregnancy ke baad pet kam karna in hindi) करने के लिए क्या क्या कर रहे हैं, एक बात हमेशा ध्यान मे रखनी चाहिए की प्रसव के बाद (prasav ke baad) आपका शरीर रिकवर हो रहा रहा है और आप बच्चे को दूध भी पिला रहीं हैं ऐसी हालत मे आपके स्वास्थ्य का गहरा प्रभाव आपके बच्चे के स्वास्थ्य पर भी पड़ता है।

प्रेग्नेंसी के बाद वेट लॉस (Pregnancy ke baad weight loss in hindi)

प्राकृतिक रूप से वक्षों को बढ़ाने के उपयोगी तरीके

डॉक्टरों के अनुसार प्रसव के बाद (prasav ke bad) वेट लॉस (weight loss) बहुत ही मुश्किल होता है क्योकि उस दौरान आप अपने शरीर बहुत अच्छी तरह ध्यान रखते हैं जिससे शरीर को बेहतर पोषण मिलता है। और साथ ही साथ वज़न कम करने का यह सही समय नहीं  होता क्योंकि इस समय आप जिस अवस्था में होते हैं उस वक़्त आहार मे कमी करना या कम खाने के साथ कोई भारी भरकम एक्सरसाइज़ का यह उचित समय नही है। आपको अपने एक्सट्रा वज़न को कम करने के लिए नियमित रूप से एक सही दिशा निर्देश में आहार लेना चाहिए। इसके साथ ही संतुलित एक्सरसाइज़ के द्वारा आप प्रसव उपरांत बढ़े वज़न को कम कर सकते हैं। ध्यान रहे कि शारीरिक परिश्रम ज़रूरत से ज़्यादा ना हो। प्रेग्नेंसी के बाद आप अपने फिगर को कुछ ही महीनों मे किसी जादू कि मदद से वापस नही पा सकते बल्कि अपने आहार मे ध्यान देकर घर पर ही प्रेग्नेंसी वेट (pregnancy weight) कम कर सकते हैं। इसके लिए आपको अपने आहार मे ऐसी ज़्यादा पोषक तत्वों से युक्त चीजों को स्थान देना होगा जो कम वसायुक्त हों। नियमित व्यायाम को अपनी दिनचर्या में शामिल करें ये बहुत ही ज़रूरी है। आप ये ना सोचें की एक्सरसाइज़ के लिए फ़ैन्सी और महंगी एसेसरीज़ की ज़रूरत है बल्कि आप ऐसे हर तरह की एक्सरसाइज़ जो आपके शरीर के लिए उपयुक्त हो सकतीं हैं। यह आर्टिकल आपको उचित डाइट का सही तरीका बताने में मददगार होगा। साथ ही साथ आपको मालूम होगा की कैसे एक्सरसाइज़ के द्वारा आप बढ़े हुये वज़न को कम कर सकतीं हैं।

वेट लॉस टिप्स प्रसव के बाद (Take a right diet to lose weight postpartum)

हमेशा इस बात को याद रखें की प्रसव के बाद आपके शरीर को और भी ज़्यादा तथा बेहतर पोषण की आवश्यकता होती है। आपके आहार में सभी ज़रूरी तत्व संतुलित मात्रा में उपस्थित होने चाहिए। आपके डॉक्टर ने आपको प्रेग्नेंसी के दौरान विटामिन्स और मिनरल्स सप्लीमेंट्स लेने की सलाह दी हो इसके साथ ही यह भी याद रखें की प्रेग्नेंसी की हालत मे कभी भूखे न रहें। इस वक़्त आपके शरीर को बेहतर पोषकतत्वों की ज़रूरत होती है तो ऐसे में दुग्धपान कराने वाली महिलाओं को ऐसा डाइट प्लान चुनना चाहिए जिसमे 2200 कैलोरी प्रतिदिन के हिसाब से मौजूद हो। पर ऐसी महिलाएं जो अपने बच्चे को दूध नहीं पिला रहीं हैं उन्हे केवल 1800 कैलोरी तक ही सीमित रहना चाहिए औए रोजाना के आहार मे इससे ज़्यादा कैलोरी नहीं लेनी चाहिए। अगर आप वास्तव मे प्रेग्नेंसी के बाद वेट लॉस (pregnancy ke bad weight lose) के प्रति गंभीर हैं तो आपको हमारी इस अगली टिप को अपने डेली डाइट प्लान मे ज़रूर शामिल करना चाहिए।

रहें प्रोटीन से भरपूर (Pack with protein for patla hone ke upay)

पीरियड्स के बाद गर्भधारण का समय

डिलीवरी के बाद वेट लॉस के लिए (delivery ke baad weight loss in hindi) के लिए आपके आहार मे पर्याप्त मात्रा में प्रोटीन का होना बहुत ही ज़रूरी है। जिससे शरीर को सही पोषण मिलता रहे। इसके साथ ही प्रोटीन की उचित मात्रा आपकी भूख को भी नियंत्रित करती है जिससे लंबे समय तक भूख का एहसास नहीं होता। अंडे, दाल, मछली और बीन्स प्रोटीन से भरपूर ऐसे पदार्थ हैं जो प्रसव उपरांत महिलाओं के लिए प्रोटीन का बेहतर स्त्रोत होते हैं। टूना, सोलमन और सार्डिन जैसी ठंडे पानी की मछलियाँ DHA से भरपूर होने की वजह से प्रोटीन का बहुत ही बढ़िया विकल्प हैं। खास तरह के फैटी एसिड omega3 जो ब्रेन सेल्स और नर्वस सिस्टम को पोषण देते हैं। अंडे, दाल और बीन्स तो प्रोटीन के अच्छे स्त्रोत हैं ही, जो हड्डियों को मजबूती प्रदान करते हैं।

Subscribe to Blog via Email

Join 45,326 other subscribers

विटामीन्स और मिनरल्स लें (Focus on vitamins and minerals)

वजन कम करने के आसान तरीके, इस वक़्त आपको फल और सब्जियाँ बहुत ज़्यादा मात्रा में खाने पर ध्यान देना चाहिए, फिर चाहे आपको पसंद हो या ना हो। ब्रेस्टफीडिंग के बाद शरीर में विटामिन्स और मिनरल्स की बहुत कमी हो जाती है इसीलिए फल और सब्जियाँ पहले से भी ज़्यादा लेनी चाहिए। हरी पत्तेदार सब्जियाँ जैसे पालक, गोभी और शलजम को रोजाना आहार मे शामिल करें। इसके साथ ही गाजर, ब्रोकली, बीन्स और कद्दू जैसी चीजों को भी आहार मे शामिल करना चाहिए। और इनको नज़रअंदाज़ नहीं करना चाहिए। फलों सब्जियों के साथ साथ बादाम, अखरोट और मुनक्के का भी सेवन अच्छा होता है। ये गुणकारी तो होते ही हैं और शरीर को विटामिन्स तथा मिनरल्स प्रदान करने के लिए मदद भी करते हैं। फलों में स्ट्राबेरी, संतरा, अमरूद, खीरा तथा अंगूर लिए जा सकते हैं।

वेट लॉस करने का तरीका एक हैं थोड़ा थोड़ा खाएं (Eat small meals)

प्रेग्नेंसी  के बाद वेट कम करने का प्रथम नियम है थोड़ा थोड़ा या टुकड़ों में खाये। यह स्वास्थय के लिए भी बहुत अच्छा होता है। यह सेहत के लिए अच्छा तो होता ही है और प्रेग्नेंसी (pregnancy) के बाद शरीर का पोषण करने के लिए भी ज़रूरी होता है। हमेशा ध्यान दें, बहुत ज़्यादा मात्रा में भोजन करने से बचें। दिन में 5-6 बार खाएं। याद रखें की आप भूखे ना हों। और इस बीच भूख का एहसास हो रहा हो तो एक फल या कुछ ड्राई फ्रूट्स खा सकते हैं। पर हमेशा याद रखें भर पेट ना खाएं और जो भी खाएं सीमित मात्रा में ही लें।

स्तन के दूध की उत्पत्ति में सहायक सर्वश्रेष्ठ भोजन

वेट लॉस करने के उपाय हैं ज़्यादा पानी पिएँ (Drink a lot for patla hone ke upay)

दूध पिलाने वाली महिलाओं में डिहाइड्रेशन एक गंभीर रूप ले सकता है। पानी शरीर के अंदर के तरल पदार्थों को संतुलित रखता है। पानी शरीर के मेटाबोलिस्म (metabolism) को बढ़ाता है जो कैलोरी को बर्न करते है। तो बार बार पानी पीने की आदत डालें और इसे नज़रअंदाज़ ना करें। कई लोग मानते हैं की अगर वेट कम करना हो तो खाने के साथ पानी नहीं पीना चाहिए पर आपको एक सलाह है की खाने के कुछ मिनट बाद या पहले आप पानी पी सकते हैं।

दूध पिलाना है ज़रूरी (Breastfeed your newborn)

अगर आप बच्चे को दूध पिला रहीं हैं तो प्रेग्नेंसी के बाद वेट कम (pregnancy ke bad weight kam) में समय कम लगता है। जी हाँ, ताज़ा स्टडीज़ मे ये तथ्य सामने आयें हैं की ब्रेस्टफीडिंग से एक्सट्रा कैलोरी जल्दी कम होती है। यह माँ के शरीर मे मौजूद दूध की मात्रा पर भी निर्भर करता है। इससे लगभग 500 कैलोरी प्रतिदिन के हिसाब से कम किया जा सकता है। तो अगर आप प्रसव के बाद (prasav ke bad) वेट कम करना चाह रहीं हैं तो अपने बच्चे को अच्छी तरह से दूध पिलाएँ। ऐसा माना जाता है की कैमोमाइल, मेथी के दाने और सौंफ जैसे गुणकारी हर्ब और मसाले प्रेग्नेंसी के बाद (pregnancy ke bad) दूध का स्तर बढ़ाने मे मदद करते हैं। इन्हे अपने आहार में शामिल करें।

मोटापा कम करने के घरेलू नुस्खे में एक्सरसाइज़ है ज़रूरी (Keep it moving)

प्रेग्नेंसी के बाद वेट कम करना (pregnancy ke bad weight kam karna) चाहते हैं तो उसके लिए उचित खानपान के साथ ब्रेस्टफीडिंग बहुत  जरूरी है पर ये सिर्फ एक ही पहलू है।अच्छे फिगर के लिए आपको एक्सरसाइज़ तथा एरोबिक्स जैसे तरीके अपनाने होंगे। जिन्हे डेली रूटीन मे शामिल करके वेट कम कर सकते हैं।  ये तरीके न केवल प्रेग्नेंसी के बाद वेट कम करते हैं बल्कि आपको डिप्रेशन और तनाव से भी मुक्त करते हैं। एक्सरसाइज़ के दौरान आपके शरीर से अच्छा महसूस करने वाले हार्मोन्स सीक्रेट करते हैं जो किसी भी तरह के मानसिक दबाव और डिप्रेशन को दूर भगाता है। एक्सपर्ट्स के मुताबिक आपको रोजाना 150 मिनट एक्सरसाइज़ की ज़रूरत होती है जिसे आप 10-10 मिनट के स्लॉट मे भी कर सकते हैं। सैर पर जाना या बच्चे को गोद मे लेकर घूमना एक्सरसाइज़ की तरह ही लगता है पर इसके अलावा भी आपको शारीरिक मेहनत की ज़रूरत होती है। हल्की एक्सरसाइज़ आपके लिए बेहतर हो सकती है फ्री हैंड और एरोबिक्स बहुत अच्छा विकल्प हैं। हमेशा ध्यान रखें शरीर पर ज़्यादा तनाव ना दें बेहतर होगा की किसी भी तरह की एक्सरसाइज़ के पहले अपने डॉक्टर से परामर्श लें क्योंकि सीजेरियन डिलीवरी के मामले में कई तरह के फिजिकल मूवमेंट की मनाही होती है।

पतले होने का घरेलू उपाय

योगा प्रेग्नेंसी के बाद वेट लॉस (pregnancy ke bad weight lose) करने का सबसे अच्छा तरीका है यह आपके शरीर पर कोई दबाव नहीं बनाता और कैलोरी बर्न कर आपके शरीर को वापस शेप मे लाता है। प्रेग्नेसी के बाद आपको किस तरह के आसान करने चाहिए या अपने लिए सही योगासन नही चुन पा रहें हों तो किसी ट्रेनर या डॉक्टर की मदद ले।

वजन कम करने के घरेलू उपाय में हैं फैट बर्निंग ड्रिंक्स (Include a fat burning drink in your diet)

प्रेग्नेंसी के बाद तुरंत वेट करने के लिए फैट बर्निंग ड्रिंक्स बहुत सहायक हो सकते है, इन्हे बनाना भी आसान होता है क्योंकि इनमे कोई स्पेशल चीज़ें नही होती। ये ड्रिंक्स शरीर के मेटाबोलिस्म (metabolism) को प्राकृतिक रूप बढ़ाने के लिए जाने जाते हैं जो आपके शरीर पर सही प्रभाव के साथ बॉडी को वापस शेप मे लाती है। आप इसी आसानी से घर पर ही बना सकते हैं। ½ चम्मच अदरक (ginger) का जूस, 1/2 चम्मच कालीमिर्च (pepper) पाउडर औए 1 चम्मच शहद (honey) को 1 गिलास हल्के गरम पानी मे मिलाकर सुबह खाली पेट लें साथ ही रात को सोने के 1 घंटे पहले पीएँ  यह ड्रिंक ना केवल प्रेग्नेंसी के बाद वेट कम करना है बल्कि आपको ज़्यादा एनर्जी भी देता है।

सही नींद है ज़रूरी (You need to sleep)

बच्चे के जन्म के बाद उसे गोद मे लेकर अच्छी और पर्याप्त नींद लेना एक बड़ी चुनौती है। पर्याप्त नींद से वंचित होना एक कारण हो सकता है उचित वेट लॉस नही कर पाते। ऐसी महिलाएं जो अभी अभी माँ बनी हैं तो देखा गया है की 5 घंटे या उससे भी कम नींद लेने की वजह से उनकी प्रेग्नेंसी के दौरान बढ़ा मोटापा डिलीवरी के बाद (delivery ke bad) भी बना रहता है। कम नींद की वजह से शरीर मे स्ट्रेस बढ़ाने वाले हार्मोन्स रिलीज़ होते हैं। जो वेट गेन (weight gain) को बढ़ावा देते हैं।  इसीलिए बेहतर होगा की प्रसव के बाद (prasav ke bad) आप पर्याप्त नींद लें वरना यह आपके वेट लॉस (weight lose) के प्लान को बिगाड़ देगा।

वजन घटाने के उपाय में हैं सप्लीमेंट्स लें (Bank on fish oil and supplements)

जब भी आप प्रेग्नेंसी के बाद वेट कम करने की कोशिश कर रहें हो तो सही होगा के आप कोई आसान तरीका ही अपनाए। अपने भोजन में फिश ऑइल (fish oil) सपलीमेंट्स और अलसी के बीज (flax seeds) इस्तेमाल करें। यह आसान भी हैं और वेट कम करने का सरल तरीका है। इन दोनों ही में ओमेगा3 (omega 3) नामक फैटी एसिड उपस्थित होटें हैं जो एक्सरसाइज़ की तुलना मे ज़्यादा तेज़ी से कैलोरी कम करते हैं।

खाने की आम खराब आदतों से बचने के लिए सुझाव

वक़्त पर सोएँ (Get the right time of sleep)

अगर आप समय पर सो रहें हैं तो समझ लीजिये की आप अपने प्रसव के बाद बढ़े वेट को कम कर रहें हैं। इसके साथ ही आपकी डाइट और आपकी नींद मे उचित समय अंतराल होना चाहिए। पेट भर भोजन के बाद तुरंत सो जाने से आप किसी हालत मे वज़न कम नही सकते। इसीलिए ध्यान रखें की किसी भी तरह का भारी आहार सोने के लगभग 3 घंटे पहले और अल्पाहार जैसे दूध या फल कम से कम 15 मिनट पहले लें।

loading...