How to prevent heart attack and stroke in women? – महिलाओं में हार्ट अटैक की समस्या, स्ट्रोक के खतरे से कैसे बचें?

अगर आपकी धारणा यह है कि हार्ट अटैक 60 से ऊपर की उम्र वालों को होने वाली समस्या है तो आपके भ्रम को दूर करते हुए यह बताना ज़रूरी है कि वर्तमान समय में 30 से 40 की उम्र के मध्य वाले लोगों में हार्ट अटैक की समस्या अधिक देखी जा रही है. इसीलिए दिल की सेहत का उम्र के साथ कोई संबंध नहीं है. (हार्ट अटैक से बचने के उपाय हिंदी में)

फिमेल हार्मोन की वजह से महिलाओं को स्ट्रोक का खतरा पुरुषों की तुलना में कम होता है लेकिन जिस तरह यह किसी भी उम्र में होने वाली समस्या है उसी तरह महिला होने की वजह से आश्वस्त नहीं हुआ जा सकता कि आपको हार्ट अटैक की सम्भावना नहीं है. अनियमित दिनचर्या और तनाव आदि की वजह से हार्ट अटैक या स्ट्रोक के खतरे महिलाओं में भी बढ़ते जा रहे हैं. 45 से 50 की उम्र या मेनोपॉज के दौरान यह आशंका और भी अधिक बढ़ जाती है.

इस आर्टिकल में हम यह बात करेंगे कि कैसे एक स्वस्थ जीवनशैली अपनाकर आप अपने हृदय को सुरक्षित रख सकती हैं जिससे हार्ट अटैक या स्ट्रोक आदि का खतरा टल जाये.

वजन को नियंत्रित रखें (Control your body weight)

दिल से जुड़ी किसी भी तरह की समस्या में बॉडीवेट का बहुत प्रभाव पड़ता है. अगर आप अपने शरीर का वजन नियंत्रित रखती हैं तो दिल से जुड़े खतरे अपन याप कम हो जाते हैं. वजन का सीधा संबंध शरीर में जमी वसा और कोलेस्ट्रोल से होता है. जमी हुई वसा और कोलेस्ट्रोल रक्त के प्रवाह में बाधा डालता है और इससे स्ट्रोक की सम्भावना बढ़ जाती है.

ब्लड प्रेशर की जांच (Keep your blood pressure in check)

ब्लड प्रेशर या रक्त चाप का असर भी हार्ट पर पड़ता है. इसके लिए अपने आहार पर ध्यान देना बहुत ज़रूरी है आप जो कुछ भी खा रहे हैं उसमें ट्रांस फैट की मात्रा कम और फाइबर अधिक होना चाहिए. ट्रांस फैट वसा के जमाव के लिए जिम्मेदार होते हैं इसीलिए वसा जमने का मौका न मिले यह बात ध्यान में रखते हुए बटर, चीज, रेड मीट आदि का सेवन कम से कम ही करना चाहिए. हरी पत्तेदार सब्जियां और ताजे फलों को आहार में शामिल करें. अच्छे कोलेस्ट्रोल को बढाने के लिए सालमन, टूना आदि मछली का प्रयोग करना बेहतर होता है. इसके साथ अखरोट और अलसी के बीज को आहार में शामिल करना चाहिए जिसमें फाइबर और अच्छे कोलेस्ट्रोल बढ़ाने वाले तत्व पाए जाते हैं.

ब्लड शुगर पर नियंत्रण (Control your blood sugar)

हाई ब्लड शुगर भी हार्ट स्ट्रोक जैसे खतरे से जुड़ा हुआ है इसीलिए अपने शरीर में शुगर लेवल का खास ध्यान रखना ज़रूरी है. अगर आप डायबिटीज के रोगी हैं तो आपके लिए यह और भी ज़रूरी हो जाता है और अगर आपको डायबिटीज नहीं है तो भी आपको खानपान में उचित सावधानी रखनी चाहिए.

अल्प मात्रा में अल्कोहल (Drink limited portions of alcohol)

एक ताजा शोध में यह बताया गया है कि नियमित रूप से अल्कोहल की न्यूनतम और निश्चित मात्रा हार्ट की सेहत के लिए अच्छी होती है. अगर आप महिला हैं तो आपको इसकी मात्रा के प्रति और भी सजग होना चाहिए और बहुत अल्प मात्रा में ही इसका सेवन करना चाहिए.

थोड़ी मात्रा में डार्क चॉकलेट खाएं (eat some dark chocolate)

डार्क चॉकलेट सेहत के लिए बहुत अच्छी होती है और कई शोधों में इसके सेहत के लाभों पर चर्चा की गई है. ऐसा कहा गया है कि अगर आप हफ्ते में एक बार डार्क चॉकलेट का सेवन करते हैं तो कई तरह की दिल की बिमारियों से दूर रह सकते हैं साथ ही हार्ट स्ट्रोक से भी बचा जा सकता है.

धूम्रपान त्यागें (Quit smoking)

धूम्रपान या स्मोकिंग दिल की सबसे बड़ी दुश्मन है. इस आदत से दिल के दौरे का खतरा अधिक हो जाता है. इसमें मौजूद निकोटिन दिल के लिए बहुत नुकसानदायक होता है. अगर आप अपने दिल को सुरक्षित रखना चाहती हैं तो आपको आज ही इस बुरी आदत को छोड़ देना चाहिए.

Subscribe to Blog via Email

Join 44,900 other subscribers

सतर्क रहें (Stay cautious)

ह्रदयघात से बचने के लिए सबसे पहला उपाय है सतर्क रहना, अपने शरीर और दिल की सेहत का हमेशा ध्यान रखें, अगर आपके परिवार में पहले किसी को यह समस्या रही है तो आपको और भी अधिक सतर्क होना चाहिए क्योंकि यह वंशानुगत भी हो सकती है. अगर आपको अचानक थकान महसूस हो, बाएँ सीने के दर्द, जो फैलता हुआ बाएं हाथ को भी प्रभावित करता हो तो आपको बिना देरी किये डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए.

loading...