Best herbal supplements for Breast Growth – स्तनों का आकार बढ़ाने के आयुर्वेदिक पूरक पदार्थ

महिलाओं के लिए उनके स्तनों का आकार काफी गंभीर समस्याओं में से एक होती है। कुछ महिलाओं के स्तन बड़े होते हैं एवं कईयों के स्तन बड़े नहीं होते। नीचे हम स्तनों का आकार बढ़ाने के कुछ आयुर्वेदिक पूरक पदार्थों के बारे में बात करेंगे।

जंगली शकरकंद (Wild yam)

Wild yam

जंगली शकरकंद एक पौधा होता है जिसका प्रयोग कई चिकित्सकीय स्थितियों में एक जड़ीबूटी की तरह किया जाता है। आमतौर पर इसका प्रयोग महिलाओं के जननांगों के विकास सम्बन्धी समस्याओं के इलाज के लिए किया जाता है। जैसा कि हम सभी जानते हैं कि महिलाओं के सेक्स हॉर्मोन को एस्ट्रोजन (oestrogen) कहा जाता है। एस्ट्रोजन की कमी से महिलाओं में विकास सम्बन्धी कई समस्याएं आ सकती हैं। जंगली शकरकंद फोटो-एस्ट्रोजन्स (photo –oestrogens) का काफी बड़ा स्त्रोत होते हैं। ये महिलाओं के स्तनों का आकार प्राकृतिक रूप से बढ़ाने में सहायता करते हैं। इसके अलावा जंगली शकरकंद का प्रयोग रजोनिवृत्ति एवं मासिक धर्म से पहले के लक्षणों की स्थिति में भी किया जाता है। यह बाज़ार में कई स्वरूपों, जैसे चाय, क्रीम एवं पाउडर, के रूप में उपलब्ध है। आप चाय एवं पाउडर का सेवन मुंह के माध्यम से कर सकते हैं एवं क्रीम का प्रयोग स्तनों पर प्रयोग किया जा सकता है।

मेथी (Fenugreek)

Fenugreek

जंगली शकरकंद की तरह ही मेथी भी एक जड़ीबूटी है जो फाइटोएस्ट्रोजन्स (phytoestrogens) से भरपूर होती है। फाइटोएस्ट्रोजन्स महिलाओं के जननांगों से जुड़ी किसी भी समस्या का इलाज करने में सहायता करते हैं।

मेथी का प्रयोग महिलाओं के स्तनों में दूध का उत्पादन बढ़ाने के लिए भी किया जाता है। परन्तु इसके अलावा शोधों से यह भी पता चला है कि यह स्तनों के आकार में भी वृद्धि करता है। यह स्तनों में रक्त के प्रवाह में बढ़ोत्तरी करता है तथा स्तनों में नयी कोशिकाओं का उत्पादन भी करता है।

सौंफ (Fennel)

सौंफ एक ऐसा पौधा है जो मेडिटरेनीयन की उपज है। परन्तु इसके सुदृढ़ स्वभाव की वजह से इसे विश्व के किसी भी भाग में उगाया जा सकता है। इसके बीजों का प्रयोग औषधि बनाने में किया जाता है। इससे तेल भी निकाला जाता है। सौंफ का प्रयोग महिलाओं की कामुकता बढ़ाने के लिए भी किया जाता है। यह महिलाओं के स्तनों में दूध का उत्पादन बढ़ाने में भी मदद करता है। इसके अलावा यह शरीर में रक्त का संचार बढ़ाकर स्तनों के आकार में भी बढ़ोत्तरी करता है। इसका प्रयोग खांसी, ब्रोंकाइटिस (bronchitis), हैजा (cholera) आदि के इलाज में भी होता है। यह महिलाओं की कामेच्छा बढ़ाने में भी सहायता करता है।

दोंग क्वाई की जड़ (Dong quai root)

दोंग क्वाई की जड़ बाज़ार में मौजूद उन श्रेष्ठ पूरक पदार्थों में से एक है जिनका महिलाओं एवं पुरुषों की सेक्स आधारित समस्याओं पर काफी सकारात्मक प्रभाव पड़ता है। दोंग क्वाईके पौधे की जड़ का प्रयोग औषधि के निर्माण में किया जाता है। इसका मुख्य रूप से महिलाओं को होने वाली मासिक धर्म की ऐंठन दूर करने में प्रयोग किया जाता है। यह शरीर का रक्त शुद्ध करने में भी सहायता करता है। इसके अलावा इसका प्रयोग एलर्जी (allergies) एवं कब्ज़ का इलाज करने में किया जाता है। यह फाइटोएस्ट्रोजन्स (phytoestrogens) से भरपूर होता है। फाइटोएस्ट्रोजन्स असल एस्ट्रोजन्स की तरह काम करते हैं, अतः ये स्तनों के आकार में बढ़ोत्तरी एवं इनमें दूध का संचार करते हैं।

डेमियना (Damiana)

डेमियना एक जंगली पौधा है जो मेक्सिको एवं मध्य अमेरिका में मुख्य रूप से पाया जाता है। यह वेस्ट इंडीज में भी पाया जाता है। प्राचीन काल से ही इसका प्रयोग गुप्त रोगों का इलाज करने एवं कामुकता बढ़ाने के लिए किया जाता रहा है। औषधि का निर्माण करने में इस पौधे के केवल पत्तों एवं तनों का प्रयोग किया जाता है। यह शरीर के सेक्स हॉर्मोन्स का उत्पादन बढ़ाने में मदद करता है। यह स्तनों में मौजूद स्तन ग्रंथियों की बढ़ोत्तरी में सहायता करता है। यह उपभोक्ता की शारीरिक शक्ति को भी बढ़ाता है। इसके अलावा इसका प्रयोग तनाव एवं सिर के दर्द से ग्रस्त मरीजों के इलाज में भी किया जाता है। परन्तु एक ध्यान देने योग्य बात यह है कि इसकी लत लगने का ख़तरा रहता है एवं कई लोग नशे के लिए इसका इस्तेमाल करते हैं।