Herbal supplements for hypothyroidism in Hindi – हाइपोथाइरोइडिस्म के लिए आयुर्वेदिक पूरक पदार्थ

एक ऐसी समस्या है, जहां थाइरोइड ग्रंथि आवश्यक थाइरोइड हॉर्मोन्स (hormones) जारी करने में असमर्थ होते हैं। ये हॉर्मोन्स उपयुक्त मेटाबोलिज्म (metabolism) एवं विकास के लिए काफी आवश्यक होते हैं। हाइपोथाइरोइडिस्म के लक्षणों में प्रमुख है तनाव, थकान, वज़न का बढ़ना, कब्ज़ आदि। मेडिकल केंद्रों में ऐसी कई कृत्रिम औषधियां उपलब्ध हैं, जो शरीर में थाइरोइड हॉर्मोन्स की आपूर्ति करके कार्य करते हैं, पर ये सबके लिए आसानी से कार्य नहीं करते। इन औषधियों के सेवन से बाद में जाकर साइड इफेक्ट्स (side effects) होने की संभावना रहती है। हालांकि, जड़ीबूटियां कृत्रिम औषधियों की तुलना में हाइपोथाइरोइडिस्म के मरीज़ों पर सुकून का प्रभाव छोड़ती हैं। जड़ीबूटियां आपके शरीर को ऊर्जा प्रदान करती हैं, थाइरोइड की गतिविधियों को प्राकृतिक स्थिरता प्रदान करती हैं एवं शरीर में ऊर्जा के स्तर को बनाये रखती है।

नेचर्स वे केल्प (Nature’s Way Kelp)

केल्प, जो कि आमतौर पर एशियाई क्षेत्रों में पाया जाता है, एक समुद्री शैवाल है। केल्प कैल्शियम, आयरन, आयोडीन, पोलीसाशाराइड्स, मैग्नीशियम, पोटैशियम, विटामिन्स बी1, बी2 एवं बी 12 (calcium, iron, iodine, polysaccharides, magnesium, potassium, vitamins B1, B2, and B12) जैसे विटामिन्स (vitamins) एवं खनिज पदार्थों से भरपूर होता है। आयोडीन की मौजूदगी की वजह से केल्प का प्रयोग आयुर्वेदिक औषधियों में थाइरोइड का इलाज करने के लिए काफी मात्रा में किया जाता है। केल्प का सेवन हाइपोथाइरोइडिस्म के लक्षणों, जैसे आयोडीन की कमी, तनाव, वज़न घटना, घेंघा, रक्तचाप की कमी एवं थकान, को दूर करने के लिए किया जाता है। केल्प थाइरोइड ग्रंथियों की सामान्य गतिविधि को बढ़ावा देकर थाइरोइड हॉर्मोन्स के जारी होने की गतिविधि को बढ़ाता है।

रोज़ाना एक कैप्सूल का सेवन करें। प्रयोग से पहले डॉक्टर से सलाह कर लें। खुराक की मात्रा से अधिक सेवन ना करें।

Nature’s Way Kelp[इसे ऑनलाइन खरीदें]

गोटू कोला (Gotu Kola)

गोटू कोला का तंत्रिका प्रणाली पर काफी तीव्र प्रभाव पड़ता है। सदियों से यह जड़ीबूटी मस्तिष्क की क्षमता बढ़ाने के लिए जानी जाती है। गोटू कोला के सेवन से शरीर में ऊर्जा का संचार होता है एवं थाइरोइड को समान्य रूप से कार्य करने की क्षमता प्रदान करता है। यह थकान दूर करता है, दुविधा हटाता है एवं आपको सारा दिन उर्जावान रखता है।

इस उत्पाद में शुद्ध पत्तों के 100% अंश होते हैं जो शरीर पर इसके प्रभाव में वृद्धि करते हैं। रोजाना खानपान के बाद दिन में दो बार 1 टेबलेट का सेवन करें। अपनी खुराक के बारे में जानने के लिए किसी डॉक्टर से सलाह करें।

Gotu Kola[इसे ऑनलाइन खरीदें]

नेचर्स आंसर ब्लैडररैक थालस (Nature’s Answer Bladderwrack Thallus)

ब्लैडररैक आयोडीन से भरपूर शैवाल है जो समुद्रों में पाया जाता है। यह जड़ीबूटी हाइपोथाइरोइडिस्म में आयोडीन की कमी की समस्या का इलाज करने के लिए प्रयोग में लायी जाती है। ब्लैडररैक मुख्य रूप से टी3 एवं टी4 हॉर्मोन्स को संतुलित करने के लिए काम करता है। हाइपोथाइरोइडिस्म की प्रमुख समस्या वज़न का बढ़ना है। ब्लैडररैक आपको वज़न घटाने के अच्छे परिणाम प्रदान करता है। इसके अलावा, इसमें कब्ज़, मूत्रमार्ग के संक्रमण, जोड़ों के दर्द, त्वचा एवं बेचैनी की समस्या का इलाज करने की क्षमता होती है। रोजाना दिन में तीन बार 1 कैप्सूल का सेवन करें। प्रयोग से पूर्व चिकित्सकीय सलाह लें।

Nature’s Answer Bladderwrack Thallus[इसे ऑनलाइन खरीदें]