How to get rid of dark spots caused by chickenpox – चिकन पॉक्स के दाग कैसे मिटाएँ

चिकनपॉक्स (Chickenpox) एक बहुत ही संक्रामक बिमारी है जो बच्चों के साथ बड़ों को भी हो सकती है। इसमें अत्यधिक मात्रा में शरीर में दानों के साथ लगातार तेज खुजली होती रहती है। इन दानों में संक्रमण फैलाने वाले बैक्टीरिया होते हैं जो दाग के रूप में त्वचा पर रह जाते हैं।

रोग के सुधरने के बाद बच्चों या वयस्कों दोनों में ही चिकन पॉक्स के दाग रह जाते हैं जो चेहरे, गले, गर्दन और शरीर के अन्य अंगों को प्रभावित करते हैं। कई बार इनकी वजह से लोगों का आत्मविश्वास कम हो जाता है और कुछ तो इसकी वजह से शर्मिंदगी तक महसूस करते हैं।

दवाओं द्वारा उपचार के अलावा कुछ घरेलू उपाय भी मौजूद हैं जो माता के दाग या चिकन पॉक्स के दाग को मिटाने में सहायक होते हैं।

चिकन पॉक्स के दाग को हटाने के घरेलू उपाय हिन्दी में (Home remedies/Natural remedies to remove the scars of chicken pox in Hindi)

शहद (Honey)

औषधिय गुणों के साथ शहद पोषण और नमी प्रदान करने के गुणों से भी भरपूर है। शुद्ध शहद में ब्लीचिंग का गुण मौजूद होता है जो त्वचा के रंग को हल्का बनाता है। इसकी मदद से गहरे दाग धब्बे आदि मिटाये जा सकते हैं।

विटामिन ई ऑइल और एसेंशियल ऑइल (Vitamin E oil and Essential oils)

चिकन पॉक्स के दाग पर विटामिन ई ऑइल का प्रयोग सीधे तौर पर किया जा सकता है। यह प्राकृतिक और सुरक्षित उपाय है जिसमें त्वचा के इन गहरे दागों को हल्का किया जा सकता है। विटामिन ई ऑइल के साथ विभिन्न तरह के एसेंशियल ऑइल्स भी बहुत फायदेमंद होते हैं। इनमें लेवेंडर ऑइल, विचहेज़ल, टी ट्री ऑइल आदि महत्वपूर्ण है जो त्वचा को हाइड्रेट कर उसे पोषण और नमी भी प्रदान करता है।

नींबू का रस (lemon Juice)

नींबू का रस दाग मिटाने का एक प्राकृतिक उपाय है जो त्वचा की रंगत को हल्का करने के साथ दाग और त्वचा के निशान आदि भी साफ करता है। चिकन पॉक्स के दाग हटन एके उपाय में इसे त्वचा के प्रभावित हिस्से में सीधे लगाएँ।

नारियल तेल (Coconut oil)

नारियल का तेल घर में बहुत ही आसानी से उपलब्ध होने वाला उत्पाद है जिसमें त्वचा के लिए बहुत गुणकारी तत्व पाये जाते हैं और अनेक तरह की स्किन प्रॉब्लेम्स में इसका प्रयोग किया जाता है। यह एंटीवाइरल और एंटीफंगस गुणों से युक्त होने के साथ दाग आदि को भी धीरे धीरे कम करता है। इससे ड्राइ स्किन को नमी भी दी जा सकती है।

चिकन पॉक्स के दाग हटाने के चिकित्सकीय उपाय हिन्दी में (Professional dermatological treatments for reducing the dark spots caused by chicken pox)

डर्माब्रेशन/ माइक्रोडर्माब्रेशन (Dermabrasion/Microdermabrasion)

इस प्रक्रिया में विशेषज्ञ एक व्हाइट ब्रश का इस्तेमाल करते हैं जिसमें लोकल एनेस्थीसिया देकर त्वचा को सुन्न कर दिया जाता है क्योंकि इसमें त्वचा की ऊपरी परत को निकालने की ज़रूरत होती है जिसमें ब्लीडिंग और दर्द का अनुभव होता है। इस प्रक्रिया के बाद जब घाव भर जाते हैं तो नई त्वचा आ जाती है तो साफ होती है।

लेसर स्किन ट्रीटमेंट (laser skin treatment)

त्वचा की अलग अलग समस्याओं के लिए कई तरह की लेसर स्किन ट्रीटमेंट की जाती है,लेसर के प्रभाव से कोलेजन का निर्माण अधिक होने लगता है और इससे त्वचा की बाहरी परत साफ और निखरी हुई दिखाई देती है।

पंच ग्राफ्टिंग (Punch Grafting)

यह एक त्वचा संबंधी सर्जरी है जिसमें कानों के नीचे की त्वचा के द्वारा चिकन पॉक्स के गड्ढों को भर दिया जाता है। अक्सर इस सर्जरी के बाद त्वचा मेल नहीं खाती, तब इसे एक समान बनाने के लिए पंच ग्राफ्टिंग ट्रीटमेंट के एक महीने बाद केमिकल पीलिंग (Chemical Peeling) नामक प्रक्रिया की जाती है।

ओट्स (Oats)

ओट्स फाइबर से भरपूर आहार है जो सेहत को बेहतर बनाए रखने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। चिकन पॉक्स के दाग को दूर करने में भी यह बहुत फायदेमंद है। थोड़ी मात्रा में कच्चे ओट्स लें और इसे गरम पानी में भिगो दें। इसके बाद हाथ से मसल कर इसे पेस्ट की तरह बना लें और ठंडा होने रखें, जब यह ठंडा हो जाए तो दाग वाली जगह या पूरे चेहरे पर 10 मिनट तक लगाए रखें और इसके बाद गरम या गुनगुने पानी से चेहरे को दो लें।

पपीता (Papaya)

पपीता एक स्वादिष्ट फल होने के साथ एक बेहतरीन स्किन ट्रीटमेंट का भी काम करता है। पके हुये पपीते में ब्राउन शुगर और दूध मिला लें और इसे अच्छी तरह पीस लें। इसे त्वचा में 5 से 6 मिनट लगाकर रखने के बाद धो लें।

कोको बटर (Cocoa butter)

कोको बटर की मसाज स्किन के लिए बहुत अच्छा प्रभाव देने वाली होती है। कोको बटर को चेहरे या प्रभावित हिस्से में लगा लें और हल्के हाथों से गोल घुमाते हुये इसकी मसाज लें। इसके प्रयोग से धीरे-धीरे दाग धब्बे कम होने लगते हैं।

लेवेंडर ऑइल (lavender oil)

त्वचा के लिए लेवेंडर ऑइल को बहुत प्रभावी माना गया है जो स्किन रैश, जलन, खुजली आदि को दूर करने में सहायक होता है और साथ ही यह त्वचा को मोश्चराइज़ भी करता है। किसी भी कैरियर ऑइल में लेवेंडर ऑइल की कुछ बूंदे मिला कर मसाज करें, इस प्रक्रिया को दिन में दो बार करने से दाग जल्दी कम होने लगते हैं।

loading...