Home remedies for stomach ulcer – How to get rid of stomach ulcer? – पेट में अल्सर ठीक करने के घरेलू नुस्खे – पेट के अल्सर से छुटकारा कैसे पाएं?

पेट का अल्सर, जिसे पेप्टिक अल्सर (peptic ulcer) भी कहा जाता है, पेट की अंदरूनी परतों में होता है। यह उन लोगों में मुख्य रूप से देखा जाता है जो मसालेदार या तैलीय भोजन अधिक करते हैं। यह उन लोगों में भी काफी पाया जाता है जो अतिरिक्त धूम्रपान, अतिरिक्त चाय या कॉफ़ी (coffee) का सेवन एवं अतिरिक्त शराब का सेवन करते हैं पेट का अल्सर उन लोगों में भी होता है जो समय से भोजन नहीं करते एवं काफी जल्दी में अपना भोजन करते हैं। यह उन लोगों में भी देखा जाता है जिनके भोजन में आवश्यक प्रोटीन (protein) की कमी होती है। अतिरिक्त दर्दनिवारक गोलियों के सेवन से भी पेट का अल्सर होता है। इससे बदहजमी होती है एवं यह एसिड (acid) पेट की परतों को क्षति पहुंचाना शुरू कर देता है जिसके फलस्वरूप अल्सर की समस्या सामने आती है।

नीचे पेट के अल्सर का इलाज करने वाले कुछ घरेलू नुस्खों के बारे में बताया गया है:

ठंडा दूध (Cold milk)

पेट के गैस से बचने के लिए अच्छे सुझाव

पेट का अल्सर होने की स्थिति में ठंडा दूध काफी राहत प्रदान करता है। यह पेट में सूजन एवं जलन की समस्या को काफी कम करता है। मरीजों को सारा दिन बेहतर परिणामों के लिए ठन्डे दूध का सेवन करते रहना चाहिए।

तुलसी के पत्ते (Tulsi leaves)

रोज़ाना थोड़े से तुलसी के पत्तों का सेवन करें। तुलसी के पत्तों को पानी के साथ उबालें एवं इसे ठंडा होने दें। इस पानी को सूजन से आराम प्राप्त करने के लिए रोज़ सुबह सुबह पियें।

आंवला (Amla)

जो लोग पेट में तेज़ दर्द की शिकायत करते हैं, उनके लिए आंवले का सेवन काफी लाभदायक होता है। बेहतर परिणामों के लिए आंवला के पाउडर को काले नमक के साथ रोजाना खाना भी फायदेमंद साबित होता है। मरीज़ आंवला पाउडर एवं काले नमक को मिश्रित करके छोटे टेबलेट्स (tablets) का रूप देकर इन्हें सारा दिन राहत प्राप्त करने के लिए खा सकते हैं।

केला (Banana)

पके एवं कच्चे दोनों ही प्रकार के केले पेट के अल्सर से ग्रस्त मरीजों के लिए काफी लाभदायक होते हैं। आप कच्चे केलों को थोड़े से तेल में हल्का पकाकर इनका रोज़ सेवन कर सकते हैं। दो पके केले लेकर उन्हें मसल लें। इसके बाद इन्हें 125 ग्राम दही के साथ मिश्रित करके इसका सेवन करें।

दही (Curd)

दही प्राकृतिक रूप से ठंडक प्रदान करता है एवं पेट के अल्सर से ग्रस्त मरीजों के खानपान में इसका शामिल होना काफी आवश्यक है। सारा दिन दही का सेवन करने से आपको दर्द एवं उल्टी से काफी आराम प्राप्त होता है।

छाछ (Butter milk)

छाछ स्वाभाव से ठंडी होती है एवं इसी वजह से यह पेट का अल्सर ठीक करने में काफी फायदेमंद साबित होती है। मरीजों को सारा दिन इसका सेवन करना चाहिए।

खीरे का रस (Cucumber juice)

पेट की एसिडिटी को नियंत्रित और शांत करने के लिए घरेलू उपचार

खीर प्राकृतिक रूप से ठंडक प्रदान करने का काम करता है एवं इसका रोज़ाना सेवन करने पर यह काफी हद तक अल्सर की समस्या को कम कर देता है। दर्द से तुरंत राहत के लिए खीरे के रस का रोज़ाना सेवन करना चाहिए।

Subscribe to Blog via Email

Join 44,913 other subscribers

लौकी (Bottle gourd)

उबली हुई लौकी का रस पेट के अल्सर से ग्रस्त मरीजों के लिए काफी आरामदायक होता है। एवं इन मरीजों में उल्टी की समस्या को भी कम करता है।

पपीता (Papaya)

पेट के अल्सर से प्रभावित मरीजों के लिए कच्चे पपीते का सेवन भी काफी स्वास्थ्यवर्धक होता है क्योंकि यह पोषक तत्वों से भरपूर होता है। कच्चे पपीते का रस दर्द से छुटकारा प्राप्त करने में भी आपकी काफी सहायता करता है। कच्चा पपीता पेट के अल्सर का इलाज करने के लिए भी काफी अच्छा उत्पाद है एवं इसका सेवन रोज़ाना करना चाहिए।

अनार (Pomegranate)

अनार जीवाणुरोधी गुणों से भरपूर होता है एवं प्रभावी रूप से अल्सर का इलाज करने में आपकी सहायता कर सकता है। अनार के रस का सेवन रोज़ाना करना चाहिए।

एलो वेरा का रस (Aloe vera juice)

एलो वेरा स्वभाव से ठंडक प्रदान करता है एवं आपके अल्सर का इलाज काफी आसानी से करने की क्षमता रखता है। अच्छे परिणामों के लिए मरीजों को एलो वेरा के रस का सेवन रोज़ाना करना चाहिए।

loading...