How to remove wrinkles on chest – छाती की झुर्रियों को कैसे कम करें

उम्र का बढ़ना एक ऐसी प्रक्रिया है जो निश्चित है और आप चाह कर भी इसे नहीं रोक सकते। कोई भी कभी बूढ़ा नहीं होना चाहता पर हर कोई होता है। उम्र बढ़ने के साथ साथ आप अपने शरीर के विभिन्न हिस्सों में झुर्रियों को बढ़ते हुए देख सकते हैं।

आप कह सकते हैं कि, यह एक प्राकृतिक क्रिया है और इसके लिए कुछ न करना ही बेहतर होता है क्योंकि, हो सकता है कि इससे त्वचा पर दूसरे तरह से कोई दुष्प्रभाव पड़े। लेकिन अगर झुर्रियों को ठीक करने के लिए घरेलू और प्राकृतिक उपाय हों तो?    

अक्सर देखा गया है कि, त्वचा पर झुर्रियों कि शुरुआत चालीस की उम्र के आस पास हो जाती है। झुर्रियों के बचने के कुछ घरेलू उपाय यहाँ दिए जा रहे हैं जिनकी मदद से आप प्रभावकारी परिणाम प्राप्त कर सकते हैं।

छाती से झुर्रियों को कम करने के लिए नारियल तेल का घरेलू उपचार (Using coconut oil to reduce chest wrinkles)

आप तो जानते ही होंगे की नारियल का तेल (coconut oil) उच्च पोषक तत्वों के भरपूर होता है जो आपकी त्वचा को नमी व कोमलता देता है। आप नारियल तेल के पोषण से फिर से वापस अपनी जवां त्वचा पा सकती हैं। त्वचा के लिए वर्जिन कोकोनट ऑइल (coconut oil) या नारियल का तेल तो बेहतर होते ही हैं साथ ही ये बालों के लिए भी बहुत अच्छे होते हैं। ऐसे लोग जो हेयर लॉस (hair loss) और बाल झड़ने की वजह से गंजेपन की समस्या से जूझ रहे होते हैं उनके लिए नारियल का तेल काफी फायदेमंद होता है। यह तेल शरीर में केराटिन (keratin) के निर्माण में मदद करता है जिसकी वजह से बालों का झड़ना कम समय में ही कम हो जाता है। शरीर के जिस हिस्से में आपको रिंकल्स दिखाई देती हैं उन हिस्सों पर नारियल तेल की मसाज करें। कुछ देर हल्के हाथों से नारियल के तेल को त्वचा पर मसाज करते हुए लगाएँ और कम से कम एक घंटे के लिए यूं ही छोड़ दें और बाद में पानी से धोकर साफ कर लें।

सेल्यूलाइट डिम्पल से छुटकारा, पेट और आस पास के सेल्यूलाइट डिम्पल को कैसे करें दूर?

सीने की झुर्रियों को हटाने के लिए नींबू के रस का प्राकृतिक उपचार (Natural remedy of lemon to get rid of chest wrinkles)

 अनेक तरह की त्वचा संबंधी समस्याओं को सुलझाने के लिए नींबू के रस का प्रयोग किया जाता है। अगर आप अपने सीने कि झुर्रियों को खत्म करना चाहते हैं तो आपको नींबू के रस का प्रयोग करना चाहिए। त्वचा पर नींबू का रस केवल रिंकल्स को ही दूर नहीं करता बल्कि यह त्वचा कि पोरों को छोटा कर त्वचा में कसाव भरता है। यह त्वचा के उत्तकों को कोमल बनाए रखने में भी मदद करता है। नींबू में प्राकृतिक ब्लीच (bleach) का गुण पाया जाता है। यह त्वचा के रंग के साथ साथ झुर्रियों के निशान और महीन रेखाओं को भी कम करता है। नींबू के रस में जैतून का तेल और शहद मिलाकर झुर्रियों पर कम से कम 10 मिनट तक हल्की मसाज करें। इसे 30 मिनट रखने के बाद हल्के गरम पानी से धोकर साफ कर लें। किसी भी प्रकार के साबुन आदि का प्रयोग न करें।

प्राकृतिक तरीके से अनानस के प्रयोग से हटाएँ झुर्रियां (Jhuriyan hatane ke liye pineapple)

झुर्रियां मिटाने के उपाय, अनानस एंटीऑक्सीडेंट गुणों से भरपूर एक बेहतरीन फल है। छाती की झुर्रियों को कम करने के लिए इसका प्रयोग एक आसान प्रक्रिया है। पाइनएप्पल जूस को झुर्रियों वाले हिस्से में लगाकर 5 – 8 मिनट तक रखें और साफ पानी से धो लें। साथ ही इसे उन स्थानों में भी लगाना चाहिए जहां की त्वचा पर पतली रेखाएँ आदि दिखाई देती हों। यह अल्फा हाईड्रॉक्सी एसिड (hydrocix acid) को बढ़ाकर झुर्रियों को प्रभावी तरीके से मिटाता है। झुर्रियों से निज़ात पाने के लिए हफ्ते में 2 – 3 बार इसका प्रयोग करना बेहतर होता है।

Subscribe to Blog via Email

Join 45,328 other subscribers

झुर्रियों से छुटकारा के लिए विटामिन ई (Oil containing vitamin E se jhurriyan ka ilaj)

अपने बगलों को कोमल बनाना चाहती हैं? जाने अंडर आर्मपिट को कोमल और सॉफ्ट बनाने के बेहतरीन तरीके

अगर आपने पहले भी अनेक प्रकार के सौन्दर्य उत्पादों का प्रयोग किया हो तो आपको ध्यान देना चाहिए कि, उन ज़्यादातर उत्पादों में विटामिन ई सामान्य रूप से उपस्थित होता है। विटामिन ई के कैप्सूल का प्रयोग सबसे बेहतर होता है। विटामिन ई के तेल को आप इन कैप्सूल से प्राप्त कर सकते हैं। इस तेल को एक चुटकी पर्ल पाउडर (pearl powder) में मिलाकर अच्छी तरह मिक्स कर लें। इस पेस्ट को अपने सीने कि त्वचा पर लगा लें। यह तेल त्वचा की कोशिकाओं को चिकनाई देता है और वहीं पर्ल या मोती का पाउडर में केराटिन (keratin) की मात्रा उत्तकों को कसावट देने में मदद करती है, यह सीने की झुर्रियों को दूर करने का सबसे आसान और सबसे प्रभावकारी उपाय है जो लंबे समय तक प्रभावी रहता है।

झुर्रियां हटाने के उपाय के लिए पपीता और कुसुम का घरेलू उपाय (Papaya mask and safflower se wrinkles ka ilaj)

पपीते का जूस और कुसुम का तेल छाती की त्वचा से झुर्रियों को खत्म करने के लिए बहुत लाभदायक होता है। इसमें उच्च मात्रा में लीनोलिक एसिड (linoleic acid)) पाया जाता है। कुसुम (safflower) को झुर्रियाँ हटाने का बेहतरीन प्राकृतिक उपाय माना जाता है। यह त्वचा के डर्मिस उत्तकों (dermis tissue) के बीच बने दरारों को भरने का काम प्रभावी ढंग से कर सकता है। उसके अलावा पपीता त्वचा के उन उत्तकों की मरम्मत में सहायक होता है जो उम्र के साथ नष्ट होने लगते हैं। इसमें बीटा कैरोटीन (keratin) होता है जो त्वचा को निखार देने वाला एक एंजाइम (enzyme) है। यह स्किन को टोन (tone) कर झुर्रियों को भी ठीक करता है। पपीते को अच्छी तरह मैश कर इसका जूस बना लें। इसमें कुसुम के बीजों का तेल मिलाकर उन हिस्सों पर लगाएँ जहां रिंकल्स का प्रभाव हो। इसे हल्के हाथों से लगाते हुए मसाज करनी चाहिए। इसके बाद 1 घंटे के लिए छोड़ दें और बाद में हल्के गुनगुने पानी से धो लें। इसे लगाने के बाद साफ करने के लिए कभी भी ठंडे पानी का उपयोग न करें और न ही साबुन लगाएँ। जहां तक हो सके इस प्रयोग को करने के बाद तेज रोशनी या सूर्य के प्रकाश में न जाएँ, अच्छा होगा की आप इस प्रयोग को शाम के समय करें। इसे धोने के लिए साबुन का प्रयोग करने से साबुन में मौजूद डिटर्जेंट और केमिकल त्वचा के पोषण को कम कर देते हैं।

loading...