Home remedies for remove plaque and tartar from teeth – दांत से प्लाक एवं टार्टर निकालने के घरेलू नुस्खे

प्लाक एवं टार्टर सफ़ेद रंग के चिपचिपे पदार्थ होते हैं जो दांतों की जड़ों में पाए जाते हैं।  दांतों की भली भांति देखभाल ना करने के कारण ये जड़ों में जाकर इकट्ठे हो जाते हैं।  आप दांतों के ऊपर एवं आसपास सफ़ेद रंग की एक परत भी देख सकते हैं।  यह समस्या पाइरिया (pyorrhea) जैसी दांतों की परेशानियों से ग्रस्त लोगों की स्थिति में और भी परेशानी खड़ी करती है। टार्टर एवं प्लाक ऐसे लोगों के दांतों में अधिक पाया जा सकता है जो काफी मात्रा में मीठे खाद्य पदार्थों का सेवन करते हैं। ऐसा बैक्टीरियल (bacterial) संक्रमण के कारण भी हो सकता है।

प्लाक एवं टार्टर दांतों के इनेमल (enamel) को क्षतिग्रस्त कर देते हैं एवं धीरे धीरे दांतों को नुकसान पहुंचाते रहते हैं, जिसके फलस्वरूप कैविटीज़ (cavities) का जन्म होता है। यदि इसे अधिक समय तक बिना उपचार के छोड़ा गया तो प्लाक मसूड़ों में जमा होता रहता है एवं जिन्जवाइटिस (gingivitis) जैसे गंभीर रोगों का कारण बन सकता है। दन्त चिकित्सक रोज़ाना दिन में दो बार (खासकर सोने से पहले) प्लाक जमा होने से रोकने एवं दांतों का अच्छा स्वास्थ्य सुनिश्चित करने के लिए अपने दांत ब्रश से साफ़ करने की सलाह देते हैं। प्लाक एवं टार्टर के अतिरिक्त जमाव से दांतों में सड़न एवं साँसों की बदबू जैसी समस्याएं उत्पन्न होती हैं। यदि यह समस्या लम्बे समय तक रहती है तथा और भी गंभीर होती जाती है तो आपके लिए पेशेवर मदद माँगना ही उपयुक्त रहेगा। यदि इस समस्या का लम्बे समय तक इलाज नहीं करवाया गया तो  मसूड़ों से खून निकलने की समस्या भी पेश आ सकती है।

नीचे कुछ घरेलू नुस्खे दिए गए हैं जो प्लाक एवं टार्टर का जमाव नियंत्रित करने में आपकी सहायता करते हैं:

सेब (Apple)

पीले दांतों का कारण और उनसे छुटकारा पाने के नुस्खे

सेब के छिलके आपके मसूड़ों पर प्लाक एवं टार्टर का जमाव रोकते हैं। छिलकों को अपने मसूड़ों पर घिसें।  सेब के रस का प्रयोग भी प्लाक एवं टार्टर की समस्या कम करने के लिए किया जा सकता है। दिन में दो बार सेब खाने से भी काफी फर्क पड़ सकता है।

सेब का सिरका (Apple cider)

अपने अम्लीय गुणों की वजह से सेब का सिरका काफी फायदेमंद साबित होता है।  अपने मसूड़ों पर सेब के सिरके से मालिश करें एवं कुछ भी खाने से पहले इसे कुछ देर के लिए छोड़ दें।

संतरा (Orange)

साइट्रस (Citrus) फल इसमें मौजूद अम्लीय तत्वों की वजह से प्लाक एवं टार्टर का जमाव रोकने का श्रेष्ठ तरीका माने जाते हैं।  संतरे का रस प्लाक एवं टार्टर का इलाज करने के क्षेत्र में काफी फायदेमंद साबित होता है।  आप इस समस्या को दूर करने के लिए संतरे के छिलकों की अपने मसूड़ों पर मालिश भी कर सकते हैं।

नींबू (Lemon)

नींबू में भी अम्लीय गुण होते हैं, जिसकी वजह से यह प्लाक का इलाज करने में काफी फायदेमंद साबित होता है। जिन व्यक्तियों को टार्टर एवं प्लाक की समस्या है, वे नींबू को आधा काटकर इसे अपने मसूड़ों पर लगाकर प्लाक का जमाव रोक सकते हैं।

टमाटर (Tomatoes)

आप टमाटर के गूदे की मालिश अपने मसूड़ों पर करके प्लाक एवं टार्टर का जमाव होने से रोक सकते हैं।  बेहतर परिणामों के लिए टमाटर के छिलकों की भी मसूड़ों पर मालिश की जा सकती है।

एप्सम नमक (Epsom salt)

दांतों के दर्द के लिए सबसे अच्छे घरेलू उपाय

थोड़ा सा एप्सम नमक सरसों के तेल के साथ मिश्रित करें।  इस मिश्रण का प्रयोग दिन में दो बार अपने दांतों को ब्रश करने के लिए करें।  एप्सम नमक में ऐसे तत्व होते हैं जो प्रकृति से प्लाकरोधी होते हैं।  ऐसा रोज़ाना करने से प्लाक एवं टार्टर की समस्या आपसे दूर रहेंगी।

Subscribe to Blog via Email

Join 44,891 other subscribers

नाशपाती (Pear)

अपने अम्लीय तत्वों की वजह से नाशपाती भी प्लाक एवं टार्टर का इलाज करने में काफी फायदेमंद साबित हो सकती है। जो लोग मसूड़ों की इस समस्या से ग्रस्त हैं, वे  रोज़ाना एक नाशपाती का सेवन करके प्लाक एवं टार्टर को दूर भगा सकते हैं।

तार की मदद से डेंटल फ्लॉस (Dental floss using a string)

दन्त चिकित्सकों का कहना है कि दांतों की रोजाना फ्लॉसिंग करने से प्लाक एवं टार्टर का जमाव दूर करने में काफी हद तक मदद मिलती है।

loading...