How to remove tan on a daily basis – दैनिक आधार पर टैन को कैसे निकाले

क्या आपने देखा है की आपकी त्वचा पर डार्क परत कैसे जमनी शुरू होती है? यह टैनिंग के कारण हो सकता है। हाँ, आपने सही सुना! टैनिंग एक बहुत ही सामान्य सी समस्या है जो हमारी रोज़मरा ज़िन्दगी में होता है लेकिन इस पर ध्यान ना देना आप पर भारी भी पड़ सकता है जिस से आपकी स्वस्थ भी खराब हो सकती है।

इस प्रक्रिया में हमारी त्वचा का रंग काला पड़ जाता है और इसका कारण है की ज्यादा समय सूरज की हानिकाराक किरणों जैसे UV / अल्ट्रावायलेट रेडिएशन में गुज़ारना या कोई आर्टिफीसियल पदार्थो से भी हो सकता है।

सूरज की किरणे हमारे सेहत के लिए अच्छी है लेकिन हद से ज्यादा सूरज की किरणों में समय बिताने से हम उनकी UV रेस का शिकार बन सकते है जिस से हम सन बर्न, कम उम्र में एजिंग (aging) का शिकार बनना, स्किन कैंसर, सोलार केराटोसेस (solar keratoses) , आँखों पर क्षति पहुंचना और साथ ही इनसे हमारे प्रतिरक्षा प्रणाली (immune system) पर भी असर पड़ सकता है।

सन टैनिंग की प्रक्रिया (The process of tanning)

मेलेनिन (melanin) एक पिगमेंट (pigment) है जिस पर हमारी त्वचा का रंग निर्भर रहता है। यह मेलनोस्य्ट्स (melanocytes) सेल्स द्वारा बनते है। मेलनोस्य्ट्स पिगमेंट्स को बढाने में बहुत ही महत्वपूर्ण कार्य करते है। इनको दो भाग में बाँटा जा सकता है जैसे की फेओमेलनिन (pheomelanin) जो लाल रंग में है और यूमेलानिन (eumelanin) जो डार्क भूरे रंग में होता है।

जीन्स (genes) और हॉर्मोन के ऊपर व्यक्ति से व्यक्ति पिगमेंट निर्भर रहता है, इस से यह पता चला है की व्यक्ति जिनकी त्वचा का रंग डार्क होता है उनमे ज्यादा मेलेनिन पाया जाता है और जो व्यक्ति जिन्मे कम मेलेनिन है उनकी त्वचा का रंग गोरा होता है। त्वचा का रंग डार्क मेलेनिन के बढ़ने के कारण होता है लेकिन सूरज की किरणों से आने वाली हानिकारक UV रेडिएशन भी सन बर्न का कारण हो सकती है। टैनिंग आर्टिफीसियल UV रेडिएशन ( artificial UV radiation ) के कारण भी उत्पन्न हो सकती है जो की UVA, UVB और दोनों को मिलाकर फ्रीक्वेंसी ( frequency ) में ट्रान्सफर हो सकती है।

टैनिंग के लिए सुझाव (Remedies for tanning)

जैसे ही गर्मियों का मौसम आता है वैसे ही हम बीच (beach) , फिशिंग (fishing) या दोस्तों के साथ बहार निकलने का प्लान करना शुरू कर देते है। लेकिन 90% लोग गर्मियों में UV रेस से बचने के लिए त्वचा को बचाना भूल जाते है। और इस कारण त्वचा पर डार्क लाल परत जमने लगती है जिसे टैनिंग कहते है। आप क्या कर सकते है अगर आपकी त्वचा पर टैन हो जाए तो?

Subscribe to Blog via Email

Join 45,328 other subscribers

घबराइये मत, हम कुछ घरेलु नुस्खो से इस समस्या का उपाय प्राप्त कर सकते है। नीचे ऐसे ही कुछ नुस्खो को दर्शाया गया है:

सनटैन के लिए निम्बू रस (Lemon juice se suntan dur karne ke tarike)

निम्बू एक ऐसा पदार्थ है जो सबकी रसोई में आसानी से पाया जाता है। निम्बू रस में विटामिन c का गुण होता है और इसका त्वचा को गोरा करने के लिए उपयोग किया जाता है क्यूंकि यह त्वचा के पोर (skin pore) में से मेलेनिन पिगमेंट को कम करता है। हमे यह करना है की हम निम्बू को दो हिस्से में काट ले और इन्हें अपने टैन हुए स्थान पर लगाए। इसे 10 से 15 मिनट के लिए रहने दें और फिर ठंडे पानी से धो लें। अगर इस प्रक्रिया को रोजाना दोहराया जाए तो आप 4 से 6 हफ्तों में बेहतर परिणाम प्राप्त कर सकते है।

निम्बू रस, खीरा और गुलाब जल का पैक (Pack of lemon juice, cucumber and rose water)

निम्बू रस टैनिंग के लिए बेहतरीन उपाय है लेकिन यह सभी त्वचा के लिए सही नहीं है। बहुत कम यह देखा गया है की निम्बू के रस को लगाने के बाद, एक जलनकारी रिएक्शन (caustic reaction) त्वचा पर तुरुन्त देखा गया है। अगर आप निम्बू के रस के कारण कुछ भी रिएक्शन जैसे त्वचा में जलन महसूस करना या चकत्ते का उत्पन्न होना देखती है तो आप यह साधारण पैक का उपयोग कर सकती है। इस पैक में आपको निम्बू रस, खीरा और गुलाब जल की आवश्यकता पड़ेगी। इस पैक को बनाने के लिए आपको 2 बड़ी चमच निम्बू रस और 1 बड़ी चमच खीरे का रस और आधी छोटी चमच गुलाब जल को एक कटोरे में लें। इसको मिलाकर इस मिश्रण को अपने टैन हुए स्थान पर लगा लें। निम्बू रस आपकी त्वचा से टैन को हटाएगा और खीरे का रस और गुलाब जल आपकी त्वचा में जलन की भावना को कम करेगा और साथ ही आपकी त्वचा को कोमल बनाएगा।

सनटैन के लिए हल्दी और बंगाल ग्राम पैक (Turmeric and Bengal gram pack)

अगर आप ऐसे उपाय को ढूंढ रहे है जिस से आपकी त्वचा से मृत स्किन (dead skin) और टैन निकल सकें तो आपको इस पैक का उपयोग करना चाहिए। आपको यह करना है की ढाई (2 1/2) बड़ी चमच बंगाल ग्राम के आटे को ले और इसमें एक चुटकी हल्दी पाउडर मिलाये। अब इसमें एक बड़ी चमच गुलाब जल और दूध मिलाये, आप चाहे तो दूध के बजाय पानी मिला सकते है। आप इस पैक में बेहतर परिणाम पाने के लिए आधी बड़ी चमच संतरे का छिलका जो की पीसा हुआ है उसे मिला सकते है। अब इस पैक को अपने टैन हुए स्थान पर लगाए और 15 मिनट के लिए रहने दें। जैसे ही यह पैक सूख जाए आप अपनी त्वचा पर कुछ बूंद पानी डाल कर इसे नरम कर सकती है। इसके बाद अपने हाथो से इस पैक पर हलके से दक्षिणावर्त (clockwise) और वामा व्रत (anti clockwise) दिशाओं में मसाज करें, फिर ठंडे पानी से इसे धो लें। आप इस पैक को बेहतर परिणाम पाने के लिए हफ्ते में चार दिन लगा सकते है।

एलोवेरा जेल, मसूर दाल और टमाटर पैक (Aloe vera, red lentil and tomato pack)

मसूर दाल जिसे रेड लेंतिल (red lentil) भी कहते है, इसको टैन निकालने के लिए बहुत ही उपयोगी माना गया है, आप इसका लाभ, इसे एलो वेरा और टमाटर रस के साथ मिलाकर उठा सकते है। इस पैक से आप टैनिंग को पप्रभावशाली रूप से निकाल सकेंगी।
पैक बनाने के लिए आपको 2 बड़ी चमच मसूर दाल को रात भर पानी में भिगो कर रखना होगा और फिर सुबह इसका पेस्ट बना लेना है। अब आपको एक बराबर मात्रा में इसमें टमाटर का रस और एलो वेरा एक्सट्रेक्ट मिलाना है। अप इसे अपने टैन हुए स्थान पर लगा लें और आधे घंटे तक रहने दे, फिर आप इस पैक को ठंडे पानी से धो सकती है।

सन टैन के लिए शहद और पपीते का पैक (Honey and papaya pack se tanning dur karne ke upay)

पपीता एक ऐसा पदार्थ है जो बहुत ही प्रसिद्ध है इसके पौष्टिक आहार और त्वचा को साफ़ करने के गुणों के कारण। आपको यह करना है की एक चमच पपीता ले और इस से निखरती और स्वस्थ त्वचा पाए। पपीते के साथ शहद भी त्वचा को कोमल और सुन्दर बनाता है। इसलिए यह दोनों मिलकर एक बेहतरीन नुस्खे का आविष्कार करते है। आपको आधे कप में पपीते को दबाकर उसमे एक बड़ी चमच शहद मिला लें। अब इसे सही से मिलाकर अपनी त्वचा पर लगा लें, इस पैक को आधे घंटे के लिए रखे और फिर गुनगुनाते पानी से धो ले। बेहतर परिणाम को प्राप्त करें।

छाछ और ओटमील पैक से सन टैन कैसे हटाएँ (Buttermilk and oatmeal pack)

छाछ (buttermilk) को त्वचा को निखारने और कोमल बनाने में प्रभावशाली माना जाता है और यही नहीं यह त्वचा पर से छाले को भी दूर करता है और त्वचा को कोमल और उज्ज्वल बनाता है। ओटमील (oatmeal) एक ऐसा पदार्थ है जिसे आप स्क्रब के रूप में उपयोग कर मृत त्वचा को आसानी से निकाल सकते है। यह दो मिश्रण एक साथ एक बेहतरीन मास्क को बनाते है। इस मास्क को बनाने के लिए आपको 3 बड़ी चमच छाछ लेनी होगी और उसमे 2 बड़ी चमच ओटमील को मिलाना होगा। अब इस मिश्रण को अपने टैन हुए स्थान पर लगाए और गोल आकार गति (circular motion) में मसाज करें। अब इस प्रक्रिया को हर वैकल्पिक (alternative) दिन में दोहराए और बेहतर परिणाम पाए।

चेहरे की टैनिंग के लिए टमाटर और दही का पैक (A pack of yogurt and tomato)

टमाटर में सिट्रिक एसिड (citric acid) पाया जाता है इसलिए यह टैन  को निकालने में उपयोगी है। अगर आपको अपने पिगमेंटेशन को कम करना है और डार्क स्पॉट को घटाना है तो यह पैक आपके लिए सहायक साबित होगा। टमाटर का एक्सट्रेक्ट (extract) डार्क स्पॉट और पिगमेंटेशन पर काम करेगा और यह टोनर (toner) के रूप में भी काम करता है जिस से आपकी त्वचा के पोर खुल जाते है और यह उन में से अधीक तेल को निकालता है वो भी प्राकृतिक तरीके से। दही प्राकृतिक ब्लीचिंग एजेंट (bleaching agent) है जो टैन को नियमित समय में निकालता है। एक बड़ी चमच इन दो पदार्थो की लें, इन्हें मिला लें और अपनी त्वचा पर लागा लें। अब इसे 30 मिनट के लिए रहने दे और फिर पानी से धो लें। आप इस पैक से थोडा झुनझुनी (tingling) महसूस कर सकती है लेकिन डरिये मत इसका यह मतलब है की यह पैक अपना काम सही रूप से कर रहा है।

सन टैन के लिए चंदन (Sandalwood se suntan hatane ke upay)

चंदन आपकी त्वचा को प्राकृतिक तरीके से निखारता है। अगर आप ट्रेक (trek) से आई है और आपकी त्वचा पर सन टैन हो गया है तो आपको केवल चंदन के पेस्ट की आवश्यकता पड़ेगी। सोने के लिए जाने से पहले चंदन के पेस्ट को रोजाना लगाए। आप चाहे तो इसके सूखने के बाद इसे धो सकते है या बेहतर परिणाम के लिए इसे रात भर रख कर सोने जा सकते है।

नारियल पानी और चंदन (Coconut water and sandalwood)

चंदन बहुत से औषधीय गुण से भरपूर है और यह टैन को निकालने में भी लाभकारी है अगर आप इस चंदन को नारियल पानी (coconut water) के साथ मिलाये तो। नारियल पानी को प्राकृतिक टोनर माना जाता है जो टैन को निकालने में सहायक है। एक कटोरे में 2 बड़ी चमच चंदन पाउडर को ले और इसमें कुछ बूंद नारियल पानी मिलाये। यह दो मिश्रण आपकी त्वचा को उज्ज्वल ही नहीं बल्कि त्वचा को साफ़ भी करेगा और साथ ही सन बर्न और टैन को प्राकृतिक रूप से निकालेगा भी। सभी प्रकार की त्वचा के लिए यह एक बेहतर परिणाम देने वाला घरेलु नुस्खा है।

loading...