Home remedies to treat diaper rashes – डायपर से होने वाले रैश का इलाज

डायपर की वजह से होने वाली रैश एक आम समस्या है जिससे शिशुओं को काफी तकलीफ होती है जो उनमें चिड़चिड़ाहट और त्वचा में जलन के साथ लालिमा के रूप में दिखाई देती है. डायपर की नमी, गर्माहट और वायु का आवागमन ना होने की वजह से रैश की समस्या सामने आती है. डायपर में बंद शरीर का यह हिस्सा बैक्टीरिया, फंगस और कई तरह के रोगजनित जिवाणुओं के जन्म का स्थान बनता है. बच्चों के शरीर में रैश की प्रमुख वजह डायपर होते हैं जिसमें नमी के साथ यूरिन भी होता है इसके साथ कुछ अन्य कारण जैसे – निम्न गुणवत्ता वाला डायपर, सफाई का अभाव, गर्मी, स्किन एलर्जी और बार बार डायपर बदलने की वजह से भी होता है. डायपर से होने वाले स्किन रैश को ठीक करने के कुछ घरेलू उपाय इस प्रकार हैं,

डायपर रैश के घरेलू उपाय हिंदी में (Home remedies to treat diaper rashes)

  • जितनी देर हो सके या जब तक संभव हो, बच्चे को डायपर न पहनाएं.
  • जब बच्चा डायपर पहने हुए हो तो उसकी जांच करते रहें, कहीं डायपर गीला न हो. गीला होने पर तुरंत बदलने की कोशिश करें.
  • कठोर वाइप्स का प्रयोग बच्चे कि त्वचा को पोंछने के लिए न करें. कई वाइप्स अल्कोहलयुक्त होते हैं जो बेबी की नाजुक त्वचा को नुकसान पहुंचा सकते हैं.
  • अधिक केमिकल वाले वाइप्स का प्रयोग भी बच्चे की त्वचा पर न करें.
  • रैश से बचने के लिए कोमल और मुलायम साबुन और शैम्पू का प्रयोग करें.
  • गीली त्वचा को मुलायम तौलिये से सुखाएं.
  • प्रत्येक बार डायपर बदलते समय ध्यान रखें कि बच्चे की त्वचा पूरी तरह सूखी हुई हो और उसमें किसी तरह की नमी न हो.
  • अगर आप बच्चे को सूखा रखने के साथ त्वचा को कोमल भी रखना चाहती हैं तो बच्चे को डायपर पहनाने के पहले पेट्रोलियम जेली लगा दें. यह त्वचा पर होने वाली नमी और त्वचा के बीच एक दीवार का काम करेगा.

डायपर रैश से बचाव के कुछ घरेलू उपाय (Home remedies to treat diaper rashes in Hindi)

वेनेगर (Vinegar)

वेनेगर में मौजूद एल्केलाइन तत्व रैश को ठीक करने के लिए बहुत मददगार होता है, जब त्वचा में यूरिन के संपर्क की वजह से रैश उत्पन्न होता है तो इसमें बहुत जलन और खुजलाहट होती है, इसके उपचार के लिए वेनेगर में कपडे को भिगो कर निचोड़ लें और इस गीले कपड़े से प्रभावित त्वचा की सफाई करें.

बेकिंग सोडा (Baking Soda)

बेकिंग सोडे में त्वचा में होने वाली कई समस्याओं को ठीक करने की क्षमता होती है. इसके लिए बेकिंग सोडे को पानी में मिलाएं और इस पानी का प्रयोग डायपर बदलने के दौरान त्वचा को पोंछने में करें.

पेट्रोलियम जेली (Petroleum jelly)

Subscribe to Blog via Email

Join 45,326 other subscribers

डायपर रैश से प्रभावित त्वचा पर पेट्रोलियम जेली की एक परत लगा दें, इससे त्वचा को पर्याप्त मोश्चर मिलता रहता है और रैश की वजह से खिंचाव नहीं पड़ता.

नारियल का तेल (Coconut oil)

नारियल तेल में एंटीफंगल और जलनरोधी गुण मौजूद होते हैं जो त्वचा में इन्फेक्शन और जलन आदि को कम करने में मदद करते हैं. ये त्वचा को नमी तो देते ही हैं साथ ही त्वचा को होने वाली रैश की तकलीफों से भी बचाते हैं.

ब्रेस्ट मिल्क (Breast Milk)

ब्रेस्ट मिल्क त्वचा की जलन को शांत करने का एक सर्वोत्तम उपाय है जो डायपर रैश में भी काम आता है. इसमें एंटीएलर्जी का गुण पाया जाता है जो त्वचा को एलर्जी के नुकसान से भी बचाता है.

loading...