How to recognize ringworm infection? Ways to treat it at home – रिंगवार्म इंफेक्शन की पहचान कैसे की जाए? घर बैठे इसका इलाज करने के तरीके

रिंगवार्म का इलाज करने से पहले आप अपने त्वचा की पहचान कर ले। कुछ लोगों को ऐसा लगता है कि दाद किसी कीड़े से फैलता है, लेकिन हम आपको बता दें कि सच्चाई यह नहीं है। जी हां ऐसा बिल्कुल नहीं है कि रिंगवार्म किसी कीडे़ से फैलता हो, यह तो एक तरह का फंगल इंफेक्शन होता है, जो कि लोगों की त्वचा पर प्रभाव डालता है, इतना ही नहीं यह एक ऐसा इंफेक्शन है जो कि संक्रमित जानवरों से इंसानों को भी फैल सकता है।

यह पसीने के कारण भी हो सकता है। यह इंफेक्शन काफी जल्दी एक इंसान से दूसरे को फैलता है, इसलिए सावधानी बरतनी काफी जरूरी होती है।

रिंगवार्म एक सामान्य स्किन इंफेक्शन है, जो कि रिंग (ring) यानि कि अंगूठे की आकार में होता है, यह लाल रंग के रेशिश की तरह होता है। यह ज्यादातर बच्चों को होने के साथ ही सभी आयु समूहों को प्रभावित करता है। यह स्किन इंफेक्शन टिनिअ के नाम से भी जाना जाता है। यह डर्माटोफीटेस (dermatophytes) नाम के फंगी के कारण फैलता है। यह सूक्ष्म जीव त्वचा, नाखून और बालों की डेड (dead) कोशिकाओं पर बढ़ता है।

रिंगवार्म को पहचाने के तरीके (Recognition of ringworm infection)

जैसा कि नाम से ऐसा लग रहा है कि रिंगवार्म किसी वार्म से फैलता होगा, लेकिन ऐसा बिल्कुल नहीं है। यह त्वचा में लाल रंग की रिंग्स की तरह बनना शुरू कर देते हैं। यह धीरे धीरे त्वचा के एक हिस्से से दूसरे हिस्से में फैलने लगता है। यह बीमारी बढ़ी आसानी से एक इंसान से दूसरे को फैल जाती है। यह जानवरों से इंसानों को भी फैल सकती है। यह तब भी फैलता है, जब आप किसी का तौलिया, कपड़े और स्पोटर्स गियर को शेयर करते हैं। ज्यादातर बच्चों को रिंगवार्म की बीमारी होती है। इतना ही नहीं रिंगवार्म हमारे सिर के स्केल्प में भी हो जाता है। यह कंघी, ब्रश (brush) या हैट (hat) शेयर (share) करने से भी हो सकता है।

रॉसेसिया का घरेलू उपचार, चेहरे की लालिमा दूर करने के प्राकृतिक उपाय

अंगूठी की आकार में खुजली पैच (Itchy patches with a ring shape)

मेडिकल साइंस ने अलग अलग तरह के दाद के बारे में बताया है, लेकिन इसकी जो किस्म मानव त्वचा को प्रभावित करती है, वह है क्लासिस वेराइटी (classic variety)। इसमें आपके शरीर के हिस्से में रेशिश होने लगेंगे और वह गोल आकार भी ले लेंते हैं। इतना ही नहीं इनमें खुजली भी काफी अधिक होती है। इनमें एक समय के बाद सूजन भी होने लगती है। इतना ही नहीं यह एक इंसान से दूसरे को फैलने भी लगती है।

स्केल्प में गंजापन (Bald patches on scalp)

रिंगवार्म हमारी त्वचा को ही नहीं बल्कि हमारे स्केल्प को भी प्रभावित करती है। यह लोगों के बालों में भी मिलती है। बालों में होने के कारण हमें ऐसा लगने लगता है कि यह रूसी होगी, लेकिन यह रूसी नहीं बल्कि एक तरह का फंगस ही होता है। यह जानने के लिए कि स्केल्प में दाद है या कुछ और आप जान लें कि यह दाद शुरुआती स्टेज में स्केल्प में एक पिंपल (pimples) की तरह होता है। इसके बाद इसमें खुजली होने लगती है, और यह लाल रंग का होने लगता है।

Subscribe to Blog via Email

Join 45,327 other subscribers

रेडिश ब्राउन रंग का रेशिश (View reddish brown rash around groin)

आपको अपनी त्वचा में रेडिश ब्राउन रंग का रेशिश भी दिख सकता है। यह आपके जांघों के आसपास भी फैल सकता है। यह एक एथलीट के पैरों में भी बन सकता है। जिसके बाद यह बड़ी ही तेजी से फैलता है।

पैरों के तलवों और पैरों के बीच सूजन (View the scaly inflammation between the soles of feet)

पैरों की उंगलियों और तलवों में अगर सूजन आ जाती हैं, तो ऐसे में हर किसी को परेशानी ही होगी। आपके पैर के अंगूठे के नाखून में कालापन दिख सकता है। कभी कभी त्वचा में छाला होता हुआ भी देखा गया है। इसी के साथ इसका विकास भी होते है। दाद एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति पर आसानी से फैल जाता है।

दाद के लक्षण (Symptoms of ringworm)

जन्म निशान हटाने के लिये घरेलू उपचार

दाद के फंगी ज्यादा नमी वाली जगह पर रहते हैं, जैसे घर के लॉकर रूम (locer room), स्विमिंग पूल (swimming pool) और त्वचा की परतों में।

  • आमतौर पर दाद के त्वचा पर लक्षण यह दिखाई देता है, एक रिंग की शेप में होता है, इसमें खुजली भी होती है। कभी कबार यह लाल रंग की, रेशिश (rashes) की तरह फैलने लगता है जिसका कोई आकार नहीं होता है।
  • दाद के संक्रमण अगर स्केल्प में हो जाए तो इससे स्केल्प ड्राई (dry) हो जाती है, इसी के साथ ही इससे बालों का झड़ना भी शुरू हो जाता है। यह स्केल्प (scalp) में खुजली और लाल रंग के निशान भी बना देता है, जो कि हमारे स्केल्प के लिए काफी खतरनाक होता है।
  • दाद के कुछ मामले ऐसे तो जहां पर आसानी से दाद का इलाज घर में ही कुछ क्रीमों के द्वारा किया जा सकता है। लेकिन अगर यह क्रीम (cream) सही तरह से काम नहीं करते हैं तो ऐसे में डॉक्टर को अवश्य दिखाएं। डॉक्टर आपको ऐसी दवाई देंगे, जिससे आपका फंगस आसानी से खत्म हो जाएगा।

अगर दाद के संक्रमण का इलाज ना किया जाए तो यह काफी मुश्किलें पैदा कर देता है। यह छाले और दरारें बैक्टीरिया से संक्रमित होती हैं और इसका समाधान एंटीबायोटिक दवाएं ही करती है।

दाद संक्रमण बचाव या सावधानियां (Precautions – daad ka ilaj)

  • किसी ऐसे इंसान के साथ कपड़े, स्पोर्ट्स गियर (sports gear), तौलिए या चादर शेयर करने से बचे, जो इस इंफेक्शन से ग्रस्त है। सारे संक्रमित कपड़ो को गर्म पानी से धोएं और नहाने के लिए एंटी फंगल साबुन का इस्तेमाल करें।
  • लॉकर रूम में चप्पल और सैंडल (sandel) पहनें, इसके अलावा बाथरूम (bathroom) में भी चप्पले पहन कर ही जाएं।
  • अच्छी तरह से शावर और शैम्पू करें।
  • हल्के और सूती कपड़े पहने और अपने मोजे और अंडरवियर को रोजाना बदलें।
  • अपने आर्मपिट (armpit), पैर की उंगलियों को साफ और शुष्क रखने की कोशिश करें।
  • एथलीट अपने पैरों में हमेशा मोजे पहने और इस इंफेक्शन में अंडरवियर (underwear) पहनने से पहले आप एक एंटीबैक्टीरियल पाउडर का इस्तेमाल करना बिल्कुल ना भूलें।

चर्मक्षय (लूपस) के लिए सबसे अच्छे घरेलू उपचार

  • अपने पालतू जानवरों के हेयर पैच होने पर इसका इलाज तुरंत करें।

दाद का इलाज (Ringworm ka treatment)

रिंगवार्म का इलाज और घरेलू उपचार (Home treatment)

दाद के ज्यादातर मामलों में इस इंफेक्शन को एंटीफंगल क्रीम और मलहम का इस्तेमाल कर इसका इलाज किया जाता है। इन ऑइंमेंट्स में मिकोनाजोल (miconazole) और क्लोट्रीमाजोल (clotrimazole) और मिकाटिन (micatin), माईक्लेस (mycelex)और टीनाक्टिन (tinactin) आती है, जिनका इस्तेमाल कर इन दादों से राहत पाई जा सकती है। इस ऑइंमेंट को इस तरह से लगाएं।

  • इस रेशिश को आप साबुन से धो लें, और फिर इसे सूखने दें।
  • इसके बाद एंटीफंगल क्रीम को इंफेक्शन वाली जगह पर लगाएं।
  • इस ऑइंमेंट (ointments) का इस्तेमाल आप दो से चार सप्ताह तक करते रहें। इसका इलाज तब तक करते रहे, ताकि इसके सारे लक्षण खत्म हो जाए। या फिर अगर लक्षण खत्म भी हो जाए तो भी आप इसका इस्तेमाल 3 से 4 सप्ताह तक करते रहें।
  • अगर यह इंफेक्शन 2 सप्ताह में ठीक होता हुआ ना लगे तो ऐसे में डॉक्टर से संपर्क जरूर करें।

दाद की चिकित्सा मेडिकल उपचार से (Medical treatment for fungal infection treatment in hindi)

आपको मेडिकल की मदद से अगर इस इंफेक्शन से छुटकारा पाना हो तो ऐसे में आप डॉक्टर (doctor) द्वारा बताई गई एंटी फंगल दवाओं का सेवन कर सकते हैं। यह दवाएं संक्रमण को मारकर वापस आने की संभावना को रोकने का काम करेंगी। एंटी फंगल मेडिटेडिड शैम्पू, पाउडर, लोशन और क्रीम भी इस दौरान काफी सहायक होता है। एथलीट फुट और दाद का संक्रमण दोनों का इलाज आसानी से नहीं किया जा सकता है। आप चाहे तो कुछ एंटी फंगल पिल्स (antifungal pills) और गोलियों का सेवन कर शरीर में हुए इस संक्रमण को फैलने से रोक सकते हैं। कभी कबार आपको रिंगवार्म इंफेक्शन से छुटकारा पाने के लिए आंतरिक और बाहरी दोनों तरफ से इलाज करना पड़ता है, तब कही जाकर इस इंफेक्शन से छुटकारा मिलता है।

गर्दन का कालापन के लिए घरेलू उपचार

रिंगवार्म के इलाज के लिए प्राकृतिक घरेलू उपचार (Natural Home treatments for daad sankraman)

लहसुन रिंगवार्म इंफेक्शन से छुटकारा दिलाने में काफी मददगार होता है। लहसुन का इस्तेमाल कर आप आसानी से दाद से निजात पा सकते हैं। इसके लिए आप लहसुन की कुछ कलियों को क्रश करके दाद पर लगा लें।

दाद की देशी दवा है हल्दी में प्राकृतिक एंटीबायोटिक क्वालिटी (anti biotic quality) होती है, जो कि हमें दाद से आसानी से छुटकारा दिला देती है। इसके लिए आप ताजे हल्दी का रस निकाल लें और फिर उसे दाद पर लगाते रहें। इस उपचार को तब तक अपनाएं जब तक की आप इस संक्रमण से छुटकारा नहीं पाते हैं।

दाद उपचार में कोलाइइयन सिल्वर एंटीबायोटिक होता है, जो कि प्राकृतिक तरह से दाद सहित सैकड़ों सूक्ष्मजीवों को नष्ट करने में मदद करता है। आप चाहे तो इसे स्प्रे कर सकते हैं, या फिर इस कोलाइइयन सिल्वर (colloidal silver) को दाद पर रगड़ सकते हैं। इससे आसानी से आपको दाद से छुटकारा मिल जाएगा।

दाद का निदान लैवेंडर ऑयल से एक ऐसा तेल है, जो कि एंटी फंगल प्रभाव के साथ आता है। यह ना केवल दाद को रोकता है, बल्कि उसे बढ़ने से भी रोकता है, और इस दाद के संक्रमण को भी मारता है।

रिंगवार्म इंफेक्शन का इलाज करने के तरीके (Ways to treat ringworm infection)

  • अगर आप रिंगवार्म इंफेक्शन से जूझ रहे हैं तो ऐसे में आपको इन दिनों काफी साफ सफाई का ध्यान रखना चाहिए। सबसे पहले तो आपको रेशिश को साबुन से धोना होगा, उसके बाद पानी से भी उसे साफ करना होगा। ऐसे में आप मेडिकेटिड (medicated) साबुन का ही इस्तेमाल करें।
  • अगर आपके शरीर में रिंगवार्म के फफोले हो जाए तो ऐसे में आपको डॉक्टर द्वारा बताएं गए दवाओं, साबुन, लोशन (lotion), पाउडर(powder) आदि का इस्तेमाल तब तक करना चाहिए जब तक यह सही नहीं हो जाता है।
  • कैमिस्ट की दुकान से एंटीफंगल क्रीम (antifungal cream) खरीद कर उसका इस्तेमाल करें।

साइनस के घरेलू उपचार, सुझाव और नुस्खे

ऊपर बताएं गए लक्षणों में से अगर आपको कोई भी लक्षण दो सप्ताहों से ज्यादा दिखने लगे तो ऐसे में आप डॉक्टर को जरूर दिखाएं। त्वचा विशेषज्ञ ही आपको इसकी सही दवा बता सकते हैं, और इससे छुटकारा पाने में भी एक त्वचा विशेषज्ञ की ही सलाह लें।

आप चाहे तो कुछ घरेलू उपचारों की मदद से इस फंगल इंफेक्शन से छुटकारा ले सकते हैं, जो कि आपको इस फंगल इंफेक्शन या रिंगवार्म इंफेक्शन (ringworm infection) से छुटकारा दिलाता है।

दाद की अचूक दवा है लहसुन (Garlic hai daad ki dawa)

लहसुन एक ऐसा मसाला है जो कि आसानी से हर किसी के किचन में होता है। लहसुन में प्राकृतिक एंटी फंगल गुण होते हैं, जो कि हर तरह के फंगल इंफेक्शन का इलाज करने में मददगार होता है। लहसुन का इस्तेमाल कर आप दाद का इलाज भी कर सकते हैं। इसका इस्तेमाल करना सही रहता है,इसके लिए आप लहसुन का छिलका निकालकर इसे छोटे छोटे टुकड़ो में काट लें। इसके बाद इसे प्रभावित जगह पर लगा लें, इससे आपको यकीनन फर्क नजर आएगा। आप चाहे तो लहसुन को बांध कर एक बैंडेज से भी प्रभावित जगह को ढक सकते हैं।

दाद की दवा में एक नारियल तेल (Coconut oil se ringworm ka ilaj)

हमारे बालों को नमी देने के साथ ही नारियल का तेल रिंगवार्म के इंफेक्शन से भी छुटकारा दिला देता है। इसका इस्तेमाल कर कई लोगों को राहत मिली है, इसका इस्तेमाल करने से रिंगवार्म आसानी से हट जाता है। आप भी इसे सीधे दाद पर लगाकर इस परेशानी से छुटकारा पा सकते हैं। क्योंकि यह रिंगवार्म इंफेक्शन हमारी त्वचा को काफी परेशान करता है, इसलिए आप नारियल का तेल लगाकर इससे आसानी से छुटकारा पा सकते हैं। इसके इस्तेमाल से दाद धीरे धीरे गायब होने लगता है।

आप चाहे तो ऐसे में ऐलोवेरा (aloevera) का रस, जोजोबा ऑयल (jojoba oil), टी ट्री ऑयल (tea tree oil) आदि को भी प्रभावित हिस्से में लगा सकते हैं, इन ऑयल के इस्तेमाल से भी यह फंगल इंफेक्शन (fungal infection) दूर हो जाता है।

loading...