Sore eyes remedies in Hindi – सूजी हुई आँखों का इलाज करने के घरेलू नुस्खे

सूजी हुई आँखें, जिन्हें सामान्य रूप से कंजंक्टिवाइटिस (conjunctivitis) के नाम से जाना जाता है, आँखों के अंदर एवं बाहरी भाग के चिड़चिड़ेपन को भी अपने साथ लाती हैं। सूजन एवं लालपन अतिरिक्त दर्द वाले क्षेत्र में भी हो सकता है। यह बाहरी स्त्रोतों एवं आतंरिक कमज़ोरियों की वजह से भी होता है।

किसी भी बाहरी वस्तु के आँखों में जाने से सूजन हो सकती है। इससे आँखों में खुजली होने की संभावना भी होती है। यह वायरल अथवा बैक्टीरियल (viral or bacterial) संक्रमणों, थकान एवं एलर्जी (allergy) आदि से भी हो सकती है। यदि इसका लम्बे समाय तक इलाज ना किया गया तो यह बीमारी आँखों को क्षतिग्रस्त भी कर सकती है।

घरेलू नुस्खे (Home remedies)

ठन्डे पानी से स्नान (Cold water bath)

आँखों के फड़कने को प्राकृतिक रूप से कैसे कम करें?

सबसे पहले आँखों को रोज़ाना ठन्डे पानी से धोना आवश्यक है। ऐसे मरीज़ों के लिए अपने निजी रूमाल एवं कपड़े साफ़ तथा दूसरों से दूर रखने चाहिए।

गुलाबजल (Rose water)

गुलाबजल की दो-तीन बूँदें भी सूजी आँखों का इलाज करने में फायदेमंद साबित होती हैं क्योंकि गुलाबजल प्रकृति से काफी आराम प्रदान करने वाला प्रशामक है।

फिटकरी (Alum crystals)

फिटकरी के छोटे दानों को 25 ग्राम गुलाबजल के साथ पीसें। एक ड्रॉपर (dropper) की मदद से इसकी दो बूंदों को अपनी आँखों में डालें। यह आँखों का लालपन एवं सूजन कम करने में सहायता करता है। यह आँखों के कोने में जमा म्यूकस (mucus) साफ़ करने में भी मदद करता है। यदि गुलाबजल उपलब्ध नहीं है तो आप डिस्टिल्ड (distilled) या उबले पानी का भी प्रयोग कर सकते हैं।

फिटकरी का प्रयोग गाय के दूध के साथ भी किया जा सकता है। गाय के दूध को रुई में डुबोएं, इसपर फिटकरी पाउडर छिड़कें एवं इस रुई को बेहतर परिणामों के लिए अपनी बंद आँखों पर रखें।

दूध से स्नान (Milk bath)

ठन्डे दूध में रुई को डुबोएं एवं इसे अपने आँखों की बंद पलकों पर रखें। इस प्रक्रिया को 4 से 5 बार दोहराने पर आँखों का लालपन कम हो जाता है।

दूध की मलाई भी अपने ठन्डे स्वभाव की वजह से काफी फायदेमंद होती है। गाय के दूध की मलाई को प्रभावित भाग पर लगाने से आँखों का दर्द एवं सूजन दूर होती है।

चन्दन (Sandalwood)

आई फ्लोटर्स क्या हैं एवं इन्हें कैसे कम करें?

चन्दन स्वभाव से ठंडा एवं आराम प्रदान करने वाला होता है। चन्दन के पाउडर का मिश्रण गाबजल या डिस्टिल्ड पानी के साथ करके एक लेप बनाया जा सकता है। इस लेप का प्रयोग आँखों की बंद पलकों पर किया जा सकता है। इसे कुछ देर के लिए छोड़ दें। चन्दन आँखों को आराम प्रदान करता है एवं लालपन, सूजन एवं दर्द दूर करता है।

Subscribe to Blog via Email

Join 44,891 other subscribers

आंवला (Amla)

आंवले के रस का प्रयोग आँखों को धोने के लिए किया जा सकता है। यह सूजी हुई आँखों एवं लालपन को ठीक करता है।

हल्दी का पोल्टिस (Turmeric poultice)

हल्दी, फिटकरी एवं इमली की पत्तियों को समान मात्रा में मिश्रित करके पोल्टिस तैयार करें। इसे थोड़ा सा गर्म करें एवं बंद आँखों की पलकों पर रखें। यह आँखों की खुजली एवं लालपन काफी कम करता है।

इमली की पत्तियां (Tamarind leaves)

इमली की पत्तियों के रस एवं दूध को लेकर पीतल के बर्तन में आपस में मिश्रित करें। इस मिश्रण को बेहतर परिणामों के लिए आँखों की बंद पलकों पर तथा आँखों के आसपास लगाएं।

नीम की पत्तियां (Neem leaves)

आँखों में एलर्जी के घरेलू उपाय

नीम की पत्तियों का एक लेप तैयार करें एवं इसे अपने आँखों की बंद पलकों पर लगाएं। यह आँखों की सूजन एवं खुजली को कम करने में सहायता करता है। यह आँखों के क्षेत्र में हुए किसी बैक्टीरियल संक्रमण से लड़ने में भी मदद करता है।

धनिये की पत्तियां (Coriander leaves)

धनिये की पत्तियों का एक लेप बनाएं। इसे छान लें एवं इसके रस को ड्रॉपर की मदद से अपनी सूजी आँखों पर लगाएं। इससे आपकी सूजी आँखों को काफी आराम मिलेगा।

loading...