Home remedies for upper respiratory – How to treat upper respiratory – ऊपरी श्वसन प्रणाली का इलाज करने के घरेलू नुस्खे

हमारे शरीर की ऊपरी श्वसन प्रणाली में कई कारणों से बीमारियां पैदा हो सकती हैं। ऊपरी श्वसन मार्ग नेसल कैविटी, फैरिंक्स एवं लैरिंक्स (nasal cavity, pharynx and larynx) से मिलकर बना होता है। इस मार्ग के किसी भी भाग में संक्रमण होना काफी आम है। इनमें से कुछ बीमारियां हैं टांसिलाइटिस, फैरिंजाइटिस एवं लैरिंजाइटिस, साइनोसाइटिस (tonsillitis, pharyngitis and laryngitis, sinusitis) एवं सामान्य सर्दी ज़ुकाम।

घरेलू नुस्खे (Home remedies)

अदरक और तुलसी का काढ़ा (Ginger and basil ale)

घरेलू उपायों द्वारा छींक का उपचार

एक कप पानी में 5-6 तुलसी की पत्तियां, पांच काली मिर्च, किसा हुआ अदरक एवं दो लौंग मिश्रित करें।  इन सबको उबालें।  इसे छानकर धीरे धीरे पिएं।  यह ऊपरी श्वसन प्रणाली में हुई हर प्रकार की सूजन एवं संक्रमण से लड़ने में सहायता करता है

एक और वैकल्पिक इलाज के रूप में 5 ग्राम तुलसी की जड़ के पाउडर के साथ 10 ग्राम अदरक या सूखी अदरक, 10 काली मिर्च तथा 5 लौंग लेकर 250 ग्राम पानी में मिश्रित करें एवं इसे उबालें।  जब पानी घटकर 100 ग्राम रह जाए तो इस मिश्रण में चीनी डालें एवं धीरे धीरे इसका सेवन करें।

नींबू (Lemon)

एक कप पानी में आधे नींबू का रस लें एवं इसे उबालें।  इसका सेवन करें एवं सूजन तथा संक्रमण से राहत प्राप्त करें।

अजवायन (Ajwain)

एक कप पानी में एक चम्मच अजवायन मिश्रित करके इसे उबालें। इस मिश्रण में चीनी या गुड़ का मिश्रण करें एवं इसका धीरे धीरे सेवन करें।

मूली (Radish)

मूली के बीजों को पीसकर इसका शहद के साथ सेवन करें।

सरसों के काले दाने (Black mustard seeds)

काले सरसों के बीज पीस लें। इसे सूंघें एवं बाद में शहद के साथ पिसे हुए बीजों का सेवन करें। यह नेसल कैविटी एवं ऊपरी श्वसन मार्ग के अन्य क्षेत्रों में सूजन कम करता है

सरसों के बीज (Mustard seeds)

यदि ऊपरी श्वसन प्रणाली के नेसल एवं अन्य क्षेत्र बंद हों तो सुबह एवं शाम शहद के साथ 5 ग्राम सरसों के बीज का पाउडर एवं 5 ग्राम हल्दी पाउडर का सेवन करें।

दालचीनी (Cinnamon)

घरेलू उपचार के साथ जुकाम का इलाज कैसे करें?

5 ग्राम दालचीनी पाउडर एवं 5 ग्राम जायफल पाउडर तथा शहद का सुबह एवं शाम सेवन करें।

Subscribe to Blog via Email

Join 44,891 other subscribers

फिटकरी पाउडर (Alum crystal powder)

तुलसी के पत्तों एवं काली मिर्च के पाउडर के साथ चाय बनाएं। थोड़ी सी जाली हुई फिटकरी लें एवं इसका चाय के साथ सेवन करें। यह ऊपरी श्वसन मार्ग के बंद होने की समस्या को दूर करता है।

सूखा अदरक (Dry ginger)

दो चम्मच सूखे अदरक के पाउडर का सेवन 10-15 ग्राम गुड़ के साथ करें।  इस मिश्रण को धीमी आंच पर पकाएं। इस मिश्रण का कुछ देर के बाद सेवन करें।  यह श्वसन मार्ग के फैरिंक्स में गले की खराश एवं सूजन दूर करता है।

काली मिर्च (Black pepper)

4 काली मिर्च एवं 5-6 तुलसी के पत्तों का गुड़ के साथ सेवन करें। इन दोनों को साथ में उबालें एवं इसे ठंडा होने देने के बाद इसका सेवन करें।

गर्म ताड़ी (Hot toddy)

गर्म ताड़ी गुनगुने पानी, दो चम्मच आयरिश व्हिस्की (Irish whisky), नींबू के रस एवं शहद के मिश्रण से बनता है। यह ऊपरी श्वसन मार्ग के अन्य भागों में गले की खराश एवं संक्रमण का इलाज करता है।

किशमिश (Raisins)

100 एमएल पानी में 4-5 किशमिश उबालें और इस मिश्रण का सेवन करें। यह ऊपरी श्वसन मार्ग की सूजन, विशेष रूप से गले की खराश, को ठीक करता है।

खजूर (Dates)

यदि सर्दी एवं खांसी लम्बे समय तक रहे तो 250 ग्राम दूध के साथ 4 खजूर, काली मिर्च पाउडर, एक पीसी हुई दालचीनी तथा दो पिसी हुई लौंग का सेवन करें। इस मिश्रण को दूध में डालें एवं इसे उबालें।  एक बार इसके उबल जाने के बाद इसमें एक चम्मच गाय का घी डालें।  इस मिश्रण का धीरे धीरे सेवन करें। यह ऊपरी श्वसन प्रणाली की किसी भी सूजन एवं संक्रमण को दूर करता है।

loading...