Hindi tips to firm/tighten the sagging breasts – शिथिल स्तनों को कैसे दृढ़ करे?

स्तन गर्भावस्था के बाद या उम्र बढ़ने के साथ शिथिल होने शुरू हो जाते है। स्तन सर्जरी की मदद से उठाए जा सकते है। लेकिन ऐसा करने से कुछ दुषपरिणाम जैसे की निपल्स के यौन संवेदनशीलता पर प्रभाव हो सकता है। तो यहाँ हम एक स्वस्थ और फिट शरीर पाने के लिए तकनीक पेश कर रहे हैं जो आप घर पर भी कर सकते है। इसमे व्यायाम के तरीके, खेल ब्रा और वजन आदि का उपयोग बताया गया है। इनकी कोशिश कीजिए और पाए एक स्वस्थ और फुर्तीला शरीर।

स्तनों को सुडौल बनाने के लिए भुजा चक्कर (Arm circling)

स्तनों को उठाने के लिए और स्तनों के अंतर्निहित मांसपेशियों को मजबूत करने के लिए अपनी भुजा को आगे और पीछे की तरफ गोल गोल घुमाए। इस व्यायाम को नियमित रूप से करते रहे। इस अभ्यास के प्रभाव को बढ़ाने के लिए आप हल्के वजन का उपयोग भी कर सकते है।

स्तनों में ढीलापन के लिए सरल व्यायाम (Simple exercises)

exercises-tone-breasts

अपनी मां से ब्रा के लिये कैसे पूछे?

सुडौल स्तन प्राप्त करने के लिए हल्के वजन का उपयोग करें। एक व्यायाम बेंच पर लेट कर अपनी पीठ के भार से कंधों को ऊपर उठाने वाले वजन का प्रयोग करे। कम से कम 10 बार ऐसा करे और इसे तीन बार दोहराएँ। बेहतर परिणाम के लिए, नॉटिलस उपकरणों पर इस व्यायाम को करे जिसमें छाती और ऊपरी बांह क्षेत्रों पर ध्यान केंद्रित होता है। ऐसा करने से स्तनों के नीचे और छाती क्षेत्र की मांसपेशियों को शिथिल होने में मदद मिलेगी।

स्तनों को सुडौल बनाने के लिए योगा (Yoga)yogaaaaaaa

नियमित रूप से योगा करते रहे। स्तनों की सुंदरता को बढ़ाने के लिए योगा करते समय स्तनों और ऊपरी बाहों पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए। योगा न केवल स्तन सौंदर्य के लिए बल्कि पूरे शरीर और सभी क्षेत्रों को मजबूत करने के लिए किया जा सकता है। बेहतर परिणाम के लिए आपको ध्यान केंद्रित करने की आवश्यकता है। उचित आसन स्तनों को उच्च और मजबूत बना सकते हैं।

पुश अप (Push-ups se loose breast ke upay hindi me)

woman-pushup-workout

स्ट्रेच मार्क्स दूर करने के लिए बेहतरीन तेल

कम से कम सप्ताह में तीन बार पुश अप करे। आप मानक पुश अप या संशोधित पुश अप कर सकते हैं। मानक पुश अप मे शरीर हवा में उठाया जाता है और संशोधित पुश अप में घुटने मोड़ दिए जाते है और शरीर का सिर्फ़ ऊपरी हिस्सा ज़मीन से ऊपर आता है। ऐसा करने से बेहतर परिणाम मिल सकते हैं । शुरू में आप आराम से पुश अप करे, और फिर आप प्रत्येक सत्र में संख्या बढ़ा सकते हैं।

दृढ़ स्तनों के लिए डंब बेल्स(Dumbbells for firm breasts)

fitness-exercsies-breast-sagging-dumbbell-fly-for-firmer-breasts-THS

लूज ब्रेस्‍ट/शिथिल स्तनों को दृढ़ करने के लिए यह एक और व्यायाम है। चटाई पर लेट जाए और दोनो हाथो में एक एक डंब बेल ले ले। हाथो को सीधा करे। डंब बेल्स आपकी मांसपेशियों को वजन देता है। 2 मिनट के लिए स्थिति रहने के बाद हाथो को अपने शरीर के दोनों पक्षों की तरफ ले। कोहनी को मोड़े नही और फर्श पर पड़ी चटाई पर ना टिके। अपने हाथों को फर्श के स्तर से कुछ इंच ऊपर रखें। अपने हाथो को 10 मिनट के लिए इस मुद्रा मे रखें और फिर इन्हे अपने शरीर की तरफ ले ले। 10 बार प्रत्येक दिन इस अभ्यास को दोहराएँ। यह लूज ब्रेस्‍ट, छाती की मांसपेशियों को मजबूत बनाने के लिए एक अच्छा व्यायाम है।

काया में सुधार करने के लिए साधारण गतिविधियों (General activities to improve physique)

कांख का काला गहरा रंग हल्का करने के लिए घरेलू स्क्रब

अगर आप जॉगिंग या व्यायाम के लिए जाना चाहते हैं, तो यह आपके स्तनों को शिथिल कर देता हैं। आगे झुकना भी स्तनों की शिथिलता ढीले ब्रेस्‍ट का कारण बनता है। इन गतिविधियों से आपके शरीर को मिलने वाले झटको से मांसपेशिया ढीली होती है और उनमे खिंचाव आता है। अगर आप दौड़ने के लिए जा रहे हैं या आपके काम मे आगे झुकने होता हैं, तो इस तरह की गतिविधियों के लिए खेल ब्रा का उपयोग करें। स्तनों के कई आंदोलनों को कम करने के लिए सही आकार का होना चाहिए।

स्पेशल और उपयुक्त ब्रा (Special and appropriate bras)

अगर आप सही आकार की ब्रा का उपयोग कर रहे हैं तो आपको स्तन शिथिल नहीं होने चाहिए। उचित ब्रा का चयन करें और उच्च स्तन रखने के लिए सही समर्थन प्रदान करे। विशेष ब्रा के कप से समर्थन प्रणाली प्राप्त होगी और इन से आपके स्तनों के उठाव में मदद मिलेगी। यह दृढ़ स्तनों के लिए कंधों और कप के नीचे समर्थन के साथ उत्थान के लिए मदद करते हैं।

स्तनों की मालिश और ज़रूरी तेल (Breast massage and essential oils)

एसेंशियल ऑयल स्तनों में कसावट, सुडौल स्तन लाने में काफी कारगर साबित होते हैं। गाजर का तेल, लेमनग्रास, सौंफ, साइप्रस या पुदीने के तेल (carrot oil, lemongrass, fennel, cypress or spearmint oils) आपके स्तनों में कसावट लाने के लिए जाने जाते हैं। जब आप इन तेलों की कुछ बूँदें लेकर अपने स्तनों पर लगाएंगी तो इससे आपके स्तनों में काफी कसावट आ जाएगी। इन तेलों को किसी बेस ऑयल (base oil) या वनस्पति तेल के साथ मिश्रित करके ही स्तनों पर लगाएं। रोज़ाना 15 मिनट ऊपर की ओर मालिश करें। इस तरह मालिश करने से गर्मी पैदा होती है और इससे रक्त का संचार काफी अच्छे से होता है। इससे अंदरूनी कोशिकाओं को शक्ति प्राप्त होती है और आपकी मांसपेशियों में भी लोच आ जाती है।

सुडौल वक्षों के लिए बर्फ की मालिश (Ice massage for firm breasts)

गलत ब्रा साइज या गलत ब्रा पहनना के दुष्परिणाम

यह एक ऐसी प्रक्रिया है, जिसके बलबूते पर आपके वक्ष काफी कसावट प्राप्त कर सकते हैं। इसके लिए बर्फ के 2 टुकड़े लें और 1 से 2 मिनट तक अपने स्तनों की मांसपेशियों पर इनसे मालिश करें। बर्फ के टुकड़ों को स्तनों पर घड़ी की मुद्रा में और फिर घड़ी की उल्टी मुद्रा में घुमाएँ। बर्फ की ठंडक स्तनों की मांसपेशियों में कसावट लाती है। मालिश करने के तुरंत बाद अपने आकार की सही ब्रा अवश्य पहन लें। इससे आपके स्तनों को सही आकार मिलेगा और मांसपेशियों को भी मज़बूती मिलेगी।

ढीले स्तनों के लिए आदर्श आहार (The right diet for firming sagging breasts)

हमारा खानपान हमारे रूप रंग पर काफी प्रभावी रूप से झलकता है। कई बार जवान अवस्था में स्तनों का ढीला पड़ना प्रोटीन (protein) जैसे महत्वपूर्ण पोषक तत्व की शरीर में कमी होना होता है। इससे कोशिकाएं कमज़ोर हो जाती हैं और स्तन ढीला पड़ जाता है। काफी तेज़ी से वज़न घटाने पर भी स्तनों में ढीलापन, स्तन ढीला पड़ जाता है। अतः जब आप अपने वक्षों को कसने की चेष्टा कर रही हों तो इस बात को सुनिश्चित करें कि आपका खानपान पर्याप्त प्रोटीन, विटामिन खनिजों और स्वास्थयकर वसा (protein, vitamins, minerals as well as healthy fats) से भरा हुआ हो। तुरंत वज़न घटाने के तरीके ना अपनाएं क्योंकि ऐसा करने से स्तन काफी ढीले पड़ जाते हैं।

सही मुद्रा प्राप्त करें (Get the right posture)

सही मुद्रा में रहने से स्तनों को आवश्यक सहारा प्राप्त होता है। खराब मुद्रा होने के फलस्वरूप जवानी के दिनों में भी ब्रेस्‍ट लूज, स्तनों के ढीलेपन की समस्या सामने आती है। अतः अगर आप इस समस्या से जूझ रही हैं तो सही मुद्रा अपनाने की ओर विशेष ध्यान दें।

कुछ घरेलू स्तनों के मास्क अपनाएं (Try out some natural homemade breast masks)

कई घरेलू स्तनों के पैक ऐसे होते हैं, जो आपके स्तनों के ढीले पड़ जाने की समस्या को प्रभावी रूप से दूर करने में सक्षम होते हैं। ये मास्क स्तनों की कोशिकाओं को पोषण प्रदान करते हैं। नीचे स्तनों के ऐसे कुछ मास्क्स के बारे में बताया गया है।

खीरे, मक्खन और अंडे के पीले भाग का मास्क (Cucumber, butter and egg yolk mask)

बेहतरीन बॉडी मसाज तथा उनके फायदे

खीरा अपने टोनिंग (toning) के गुणों की वजह से जाना जाता है और अंडे के पीले भाग में प्रोटीन, विटामिन और खनिज भरपूर होते हैं, जो आपके स्तनों की कोशिकाओं को पोषण देते हैं। मक्खन आपकी कोशिकाओं को नमी और पोषण प्रदान करता है।

इस मास्क को बनाने के लिए ग्राइंडर (grinder) में एक मध्यम आकार के खीरे को किसें और इसमें 1 चम्मच गर्म पिघला हुआ मक्खन डालें। अब इस मिश्रण में एक अंडे का पीला भाग मिश्रित करें। इन तीनों को अच्छे से मिलाकर इसके गर्म रहते हुए अपने स्तनों पर लगाएं। यह ज़्यादा गर्म नहीं होना चाहिए। इस पैक का प्रयोग करते समय ऊपर की ओर मालिश करें और इसे आधे घंटे के लिए छोड़ दें। इसके बाद इसे एक गीले और नरम सूती के कपड़े से पोंछ लें। इस प्रक्रिया का पालन रोज़ाना करें।

अंडे की सफेदी और शहद का पैक (Egg white with honey pack se loose breast ka ilaj)

अंडे का सफेद भाग काफी पोषक होता है और यह आपकी त्वचा को टोनिंग का फायदा भी प्रदान करता है। शहद आपके स्तनों की कोशिकाओं को पर्याप्त मात्रा में पोषण प्रदान करता है। इस मास्क को बनाने की विधि नीचे दी गई है।

अंडे का सफेद भाग लें और इसे कम से कम 5 मिनट तक फेंटते रहें। अब इसमें 2 चम्मच शहद डालें और इन दोनों को अच्छे से मिलाएं। इस पैक का प्रयोग अपने स्तनों पर करें और आधे घंटे के लिए छोड़ दें, जिससे ये मिश्रण अच्छे से सूख जाए। अंत में इसे एक गीले सूती के कपड़े से पोंछ लें और धो लें। अच्छे परिणामों के लिए इस पैक का प्रयोग रोज़ाना करें।

ढीले स्तनों के लिए एलोवेरा की मालिश (Aloe vera massage for sagging breasts)

एलोवेरा काफी पोषक प्राकृतिक उत्पाद है जो स्तनों की त्वचा को टोन करने और ढीली ब्रेस्‍ट (dheele breast) में कसावट लाने में काफी कारगर साबित होता है।

इस प्रक्रिया के लिए एलोवेरा की पत्ती लें और इसके अंदर से जेल निकाल लें। अब इस जेल से स्तनों और आसपास के भाग की 10 से 15 मिनट तक मालिश करें। एक बार मालिश हो जाने पर इसे पूरी तरह सूखने दें और फिर इसे पानी से धो लें। अच्छे परिणाम प्राप्त करने के लिए इसका प्रयोग रोज़ाना करें।

Subscribe to Blog via Email

Get Hindi tips to your inbox everyday