Hindi tips for Hair care during pregnancy – गर्भावस्था के दौरान बालों की देखभाल के नुस्खे

बालों का झड़ना आजकल एक आम बात हो गयी है। लम्बे बालों वाली महिलाएं बालों के झड़ने की समस्या से कई कारणों से ग्रस्त होती हैं। बालों की समस्याओं के लिए पर्यावरण के कारक भी ज़िम्मेदार हैं। पर गर्भावस्था के दौरान बालों की समस्या काफी गंभीर हो जाती है।

आपके गर्भ में पल रहा बच्चा कुछ हरकतें प्रारम्भ करता है जिसकी वजह से बालों का झड़ना शुरू होता है। अंगूठे और पैरों की क्रिया से भी ये समस्या हो जाती है। अगर आप बालों की विभिन्न प्रकार से स्टाइलिंग करती हैं तो बालों का झड़ना काफी ज़्यादा हो जाता है।

बाल झड़ने के कारण स्टाइलिंग को कहें ना (No styling)

अगर आपको बालों में विभिन्न प्रकार की स्टाइलिंग करने का शौक है तो इस चीज़ पर नियंत्रण करने का यही सही समय है। गर्भावस्था के दौरान आपको अपने बालों की स्टाइलिंग बंद कर देनी चाहिए। बालों पर गर्म भाप छोड़ना इसके लिए काफी हानिकारक हो सकता है। अगर आप अपने गीले बालों को ना सुखा पाने की वजह से परेशान हैं तो इसको सुखाने का सबसे अच्छा तरीका हलके गर्म या ठंडी हवा के भाप छोड़ना है। आप एक पंखे के नीचे बैठकर अपने बाल अच्छे से सुखा सकती हैं। अगर आप अपने बालों को स्वस्थ रखना चाहती हैं तो कॉस्मेटिक हेयर सीरम से दूर रहे तथा हेयर ड्रायर का प्रयोग न करें।

गर्भावस्था के बाद हिप्स का आकार कम कैसे करें ?

गर्भावस्था के दौरान स्वास्थ्य तेल लगाना (Oiling)

गर्भावस्था के दौरान बालों में रोज़ाना तेल लगाना आपके लिए काफी फायदेमंद रहेगा। अगर आप खुद रोज़ाना बालों में तेल नहीं लगा सकती तो अपने परिवार के सदस्यों से अपने बालों में तेल लगाने तथा मालिश करने के लिए कहें।

आपके शरीर के साथ आपके बालों को भी जड़ से पोषण की आवश्यकता होती है। अतः हफ्ते में कम से कम दो बार सोने जाने से पहले बालों में तेल लगाएं। इससे बाल रातभर पोषित होते रहेंगे तथा धुल जाने के बाद भी मज़बूत और सुन्दर रहेंगे।

केमिकल कॉस्मेटिक का प्रयोग न करें (No chemical cosmetics)

बाज़ार में आपको कई तरह के सौंदर्य प्रसाधन मिल जाएंगे। महिलाओं में इन सौंदर्य प्रसाधनों का प्रयोग करने की तीव्र इच्छा अवश्य जागृत होती है। पर अगर आप गर्भवती हैं तो इन उत्पादों से परहेज़ करें। इन सौंदर्य उत्पादों को बनाने का फॉर्मूला आमतौर पर इन्हें बनाने वाली कंपनियों द्वारा बदल दिया जाता है। वे केमिकल की जांच नहीं करते तथा गर्भवती महिलाओं पर इनके असर की ओर भी ध्यान नहीं देते। अगर आप थोड़ी मात्रा में भी इन प्रसाधनों का बालों पर इस्तेमाल करती हैं, तो आपका शरीर इन्हें सोख लेता है तथा आपके गर्भ में पल रहे बच्चे पर भी खराब असर डालता है।

कई महिलाएं बालों को स्ट्रैट करने के लिए केमिकल और सौंदर्य प्रसाधनों का सहारा लेना चाहती हैं। ये भी गर्भवती महिलाओं के लिए हानिकारक हैं। गर्भावस्था के समय इन सब चीज़ों से परहेज़ करें।

गर्भावस्था के दौरान धातुई स्वाद से छुटकारा

बालों के डाई का प्रयोग (Safety with hair dyes se garbhavastha ki samasya ko na)

आजकल वातावरण में मौजूद प्रदूषण तथा हर चीज़ में मिलावट की वजह से लोगों के बाल काफी सफ़ेद हो रहे हैं। विशेषज्ञों के अनुसार गर्भवती महिलाओं के लिए डाई का प्रयोग करना ज़्यादा असुरक्षित नहीं है, क्योंकि बाल काफी कम मात्रा में डाई को सोखते हैं जो कि गर्भ में पल रहे शिशु के लिए ज़्यादा हानिकारक नहीं होता। परन्तु स्थाई डाई बच्चे के लिए काफी हानिकारक हो सकता है। डॉक्टर भी महिलाओं की गर्भावस्था के पहले ३ महीनों में डाई का प्रयोग बिलकुल वर्जित मानते हैं। इससे बच्चे के विकास पर असर पड़ता है। इसके बजाय आप बालों को हाईलाइट करने के लिए अस्थाई डाई का प्रयोग कर सकती हैं। आप गर्भावस्था के दौरान हेना जैसी हर्बल डाई का प्रयोग कर सकती हैं, क्योंकि यह शिशुओं के लिए बिलकुल हानिकारक नहीं होता है।

गर्भावस्था के दौरान बाल झड़ने से रोकने के तरीके (Ways to stop hair fall during pregnancy)

बच्चे को जन्म देने के बाद बाल काफी तेज़ गति से झड़ते हैं। आप इसे रोकने के लिए बालों को काढ़ने और कंघी करने की प्रक्रिया में थोड़ा परिवर्तन ला सकती हैं। बालों को झड़ने से रोकने के लिए शैम्पू करना और बार बार बालों को कंघी करना बंद करें। आप बालों को काटकर उन्हें स्वस्थ बनाने के लिए हेयर स्पा भी जा सकती हैं। हेयर स्पा के बीच बीच में किये गए उपचार से बालों का झड़ना कम होता है। रोज़ाना स्वास्थ्यकर भोजन करें जिससे कि आपको गर्भावस्था के दौरान तथा उसके बाद भी लम्बे समय तक बालों के झड़ने का सामना करना ना पड़े।

महिलाओं के लिए गर्भावस्था के उपयोगी नुस्खे

बाल झड़ने से रोकने का उपाय है निरंतर ट्रिमिंग (Regular trimming)

बालों के झड़ने का एक मुख्य कारण काफी लम्बे समय तक बाल ना कटवाना भी हो सकता है। कई लोगों की बालों की बढ़त के सम्बन्ध में काफी गलत धारणा बनी हुई है। उनको ये लगता है कि बालों को किनारों से ना काटने से उनकी लम्बाई में वृद्धि होती है। पर यह धारणा पूरी तरह गलत है, क्योंकि बाल सिरों से नहीं, बल्कि जड़ों से बढ़ते हैं। अगर आपके बाल काफी लम्बे हो गए हैं तो इसका सिरा फ्रिज़ी (frizzy) हो जाएगा तथा इससे दोमुंहे बालों की समस्या उत्पन्न होगी। इससे बालों को काफी नुकसान पहुंचता है तथा बालों का गिरना इस समय काफी आम हो जाता है। अतः गर्भावस्था के दौरान भी अपने बालों को नियमित अंतराल पर कटवाना ना भूलें, जिससे कि बालों पर कंघी फिराते समय उनके दांतों के बीच से बाल आसानी से निकल जाएं।

गीले बालों पर कंघी ना करें (No wet comb hai pregnancy me hone wali problem)

अगर आपकी नहाकर निकलने के तुरंत बाद, जब आपके बाल गीले रहते हैं, बालों पर कंघी करने की आदत है तो यही इस आदत को रोकने का सही समय है। जब आपके बाल गीले रहते हैं तो इनकी जड़ें काफी कमज़ोर हो जाती हैं और इस समय आपके बाल आसानी से निकल सकते हैं। अतः जब आप अपने गीले बालों पर कंघी करती हैं तो इससे आपके बालों के झड़ने की संभावना काफी हद तक बढ़ जाती है। इस अवस्था में बालों पर कंघी फिराने के बाद आप पाएंगी कि आपकी कंघी के दांतों के बीच में कई बाल अटके हुए हैं। अतः बालों पर कंघी करने से पहले तब तक प्रतीक्षा करें, जब तक कि वे प्राकृतिक रूप से सूरज की रोशनी या पंखे के नीचे सूख ना जाएं। अगर आप बालों पर तौलिये का प्रयोग करेंगी, तो बालों को सुखाना काफी आसान हो जाएगा।

गर्भावस्था के दौरान स्वस्थ खानपान (Healthy diet)

गर्भावस्था के दौरान कितनी बार डॉक्टर से जांच करवाएं?

जब आप अपने गर्भावस्था काल में होती हैं तो आपके लिए आपका खानपान काफी महत्वपूर्ण साबित होता है। अच्छा और स्वस्थ खानपान आपके बच्चे की, आपकी तथा आपके बालों की सेहत के लिए भी काफी अहम कारक सिद्ध होता है। आपके भोजन में पर्याप्त मात्रा में विटामिन, खनिज एवं प्रोटीन (vitamins, minerals and protein) होना चाहिए, जिससे कि आपके शरीर तथा आपके बालों को भरपूर मात्रा में पोषण मिले। हर तरह के पोषक पदार्थ वाला संतुलित आहार एक गर्भवती महिला के लिए काफी आवश्यक है। इससे ना सिर्फ उसे, बल्कि उसके बालों को भी स्वस्थ रहने में मदद मिलेगी। इन खाद्य पदार्थों में मुख्य हैं सब्जियां, मछली, अनाज, दूध तथा ओमेगा 6 फैटी एसिड्स (Omega 6 fatty acids)।

गर्भवती महिलाओं के लिए खास टिप्स तनावमुक्त रहें (Stress free)

गर्भावस्था के समय के दौरान बालों के झड़ने का एक अहम कारण तनाव होता है। एक गर्भवती महिला बच्चे के जन्म और इससे जुड़े किसी भी नकारात्मक पहलू के बारे में सोच सोचकर काफी चिंताग्रस्त हो जाती है। यह चिंता शुरूआती दौर में उनके लिए काफी परेशानी का कारण बन जाती है। इस तरह चिंता करने और तनाव का शिकार होने से भी बाल झड़ते हैं। आपको इससे बचने के लिए वही काम करने चाहिए, जिन्हें करके आपको ख़ुशी मिलती हो। गर्भावस्था के इस समय में आपको चिंता और तनाव की परिस्थिति से दूर रखने में आपके घरवालों तथा आपके साथी को भी काफी महत्वपूर्ण भूमिका निभानी पड़ती है। क्योंकि इस समय हार्मोनल स्तर (hormonal level) में बदलाव दिखाई देता है, अतः सावधानी से रहें क्योंकि आपके मूड (mood) में बदलाव तनाव को जन्म दे सकता है।

आंवला और नारियल के तेल का पैक (Amla and coconut oil pack)

गर्भावस्था की सबसे पहली निशानियाँ

आंवला एक बेहतरीन प्राकृतिक जड़ीबूटी है, जो आपके बालों के लिए काफी फायदेमंद साबित होता है। एक चम्मच आंवले का पाउडर लें तथा इसे दो चम्मच नारियल के तेल में मिश्रित करें। आप इस मिश्रण में नींबू के रस की एक या दो बूँदें भी मिला सकती हैं। इसके बाद इन सबको अच्छे से मिश्रित करें। अब इस पैक को इस तरह लगाएं कि यह आपके बालों के एक एक हिस्से तथा सिर पर भी अच्छे से लग जाए। इसे सिर पर लगाने के बाद अपनी उँगलियों के सिरों की मदद से अपने सिर की मालिश करें। इस मिश्रण को अपने सिर पर एक रात के लिए रखें और फिर सुबह उठने के बाद इसे एक सौम्य शैम्पू (shampoo) की मदद से अच्छे से धो लें।

Subscribe to Blog via Email

Get Hindi tips to your inbox everyday