Cold home remedies in Hindi – घरेलू उपचार के साथ जुकाम का इलाज कैसे करें?

सर्दी या बहती नाक एक ऐसा चिड़चिड़ा रोग है जो हमारा दिन बर्बाद कर सकता है। जुकाम के लक्षण, भीषण सर्दी से सिरदर्द, शरीर का बढ़ता तापमान, खुरदरा गला जैसी कई तकलीफें हो सकती हैं। सर्दी के लिए इन विधियों में से एक का प्रयास करें।

  • जुकाम का उपचार के लिए भाप ले (Inhale steam)

यह सबसे अच्छा, आसान और प्रभावी तरीका है जो आप घर पर कर सकते है। यह आपकी बहती नाक को कम करेगा। एक बर्तन में उबलता पानी ले और अपना नाक नहीं जले इसका ध्यान रखते हुए भाप ले। राहत के लिए आप एक ह्यूमिडिफाइर का उपयोग कर सकते है या गरम पानी से भी नहा सकते हैं।

  • सर्दी के उपाय के लिए आपकी नाक को अक्सर साफ करे (Blow your nose often)

बलगम सूँघने के बजाय नियमित रूप से अपनी नाक साफ करना महत्वपूर्ण है। क्योंकि यह रोगाणु समाहित कफ कान में ले जाकर कान का दर्द दे सकता है। एक नथुने पर उंगली दबाएँ जबकि आप अन्य साफ़ कर रहे है।

  • जुकाम के घरेलू उपाय के लिए खारे स्प्रे का नाक में उपयोग करें (Use saline nasal spray)

कुछ नमक का पानी बनाकर इसको अपनी नाक पर स्प्रे करे या नाक धो ले, जिससे आपके नाक से विषाणु और जीवाणुओं को हटाने में मदद मिलेगी।.

  • गर्म नमक के पानी से कुल्ला करे (Gargle with warm salt water)

डकार से बचने के घरेलू उपचार

आधा चम्मच नमक 8 औंस गर्म पानी में मिलाकर इससे कुल्ला करे यह आपके गले को नम करने में मदद करेगा। बेहतर परिणाम के लिए यह रोज चार बार करे।

  • जुकाम की दवा के लिए गर्म तरल पदार्थ ले (Take hot liquids)

यह निर्जलीकरण रोकता है और नाक में राहत देता है। यदि आप सर्दी के कारण रात में सो नहीं पा रहे तो गर्म ताड़ी(एल्कोहल) ले जो एक पुराना उपाय है।

या एक कप गर्म हर्बल चाय में एक चम्मच शहद और अगर आप चाहे तो थोड़ी सी व्हिस्की या बोरबॉन मिलाए। याद रखें बहुत ज्यादा शराब झिल्लियों को उत्तेजित करती है और उल्टा असर करती है।

  • एक भाप से भरा शॉवर ले (Take a steamy shower)

भाप से भरा स्नान आपके नासिका मार्ग में नमी बढ़ाकर आपको राहत देगा।

  • अत्यंत मात्रा में तरल पदार्थ लें (Take plenty of fluids)

छालों का प्राकृतिक उपचार

यह आपके जमाव को तोड़ने में और निर्जलीकरण को रोकने में भी मदद करेंगे। यह आपके गले को नम रखेंगे। प्रतिदिन 8 10 गिलास पानी पिए। अधिक तरल पदार्थ को अपने आहार में शामिल करें। कोला, कॉफी और अन्य कैफीन जैसे पेय नहीं ले क्योंकि यह आपको निर्जलीत कर सकते हैं।

  • सर्दी का इलाज के लिए गर्म रहे और विश्राम करे (Stay warm and rested)

यह आपको अधिक ऊर्जा और ठंड के साथ लड़ाई करने के लिए प्रतिरोध शक्ति देगा। एक कंबल के अन्दर रहकर गर्म रहने का प्रयास करें।

  • जुकाम के लक्षण के लिए गर्म पैक लगाए (Apply hot packs)

गर्म पैक दवा की दुकान पर आसानी से उपलब्ध हैं। इसे अपने जमे हुए नासर पर लगाए।

  • एक अतिरिक्त तकिए को अपने सिर के नीचे रखकर, कसकर सो जाओ (Sleep tightly with an extra pillow under your head)

यह जमी हुई नासिका मार्ग से छुटकारा देता है। दवाइयाँ सभी के लिए काम नहीं करती। सर्दी में राहत के लिए ज्यादा दवाइयाँ खाने के बजाय इन में से किसी विधियों का प्रयास करें।

निचे लिखे (jukam ke desi ilaj) कुछ खाद्य पदार्थ सर्दी के दौरान मदद करते है।

1. सर्दी के इलाज के लिए अदरक (Ginger for treating cold)

साइनस के घरेलू उपचार, सुझाव और नुस्खे

कच्चे अदरक की पतली स्लाइस उबलते पानी में डालें। ठंडा होने के बाद इस पानी को पी ले। यह आपको सर्दी से दूर रखकर मचलन से भी राहत देता है।

2. सर्दी के उपाय है शहद और नींबू (Honey and lemon)

चाय में शहद और नींबू की कुछ बूँदें डालें। शहद खांसी दबाता है और नींबू गले की दर्द में आराम दिलाता है। जीवाणुरोधी शहद अगर रात के समय लिया जाए तो सोते समय खांसी से राहत देता है।

3. लहसुन भोजन के पूरक के रूप में (Garlic as food supplement)

यह आपके शरीर से सर्दी दूर रखने के लिए एक अच्छा तरीका है। लहसुन में संक्रमण में मदद करने वाले एंजाइमों को रोकने के गुण है। ठंड के मौसम इसे अपने आहार में शामिल करे। यह आपको फिट रखता है।

4. खांसी की दवा लाल प्याज सूप (Red onion soup)

ज़ुकाम या सर्दी के लक्षणों से पीड़ित व्यक्ति लाल प्याज से बना सूप पी सकते हैं। एक कटोरी में कुछ लाल प्याज के आडें कटे स्लाइस रखो और फिर इस में शहद डालों। 15 घंटे के लिए कंटेनर बंद रखो। इस के बाद आपको सर्दी के लिए एक अच्छा शरबती तरल मिल जाएगा। इस सिरप को दिन में कुछ बार पिए और आपको गले की खराश में राहत मिलेगी।.

5. सर्दी जुकाम का घरेलू उपचार है चिकन सूप (Chicken soup)

चिकन में जुकाम और सर्दी के लिए कुछ ऑक्सीडेंटस् और अन्य विटामिन है। अगर आपको सर्दी के लक्षण हैं तो चिकन सूप तैयार करें और दिन भर में इसे पिए। यह तेजी से सर्दी का उपचार करने में मदद करता है।

6. जुकाम का आयुर्वेदिक इलाज है मसालेदार हर्बल चाय (Spiced herbal tea)

खांसी के लिए घरेलू नुस्खे

सूखा भुना हुआ धनिया, जीरा, मेथी और सौंफ के साथ इस चाय को तैयार करे। इन भुने हुए बीजों की पाउडर बनाऐ। प्रत्येक प्रकार का एक चम्मच ले और उबलते पानी में डालें। 1-1/2 चम्मच शक्कर के खड़े जोड़ें। दूध मिलाकर 5 मिनट के लिए इसे उबालिये। छान कर पी ले। अपने सर्दी के लक्षण पूरी तरह से चले जाने तक अक्सर इसे उबालकर पीते रहिए।

दवाइयाँ हर किसी के लिए काम नहीं कर सकते। सर्दी में राहत के लिए ज्यादा दवाइयाँ खाने के बजाय इन में से किसी विधियों का प्रयास करें। यह सुनिश्चित काम करता है!!

7. ठण्ड के इलाज के लिए युकलिप्टुस का तेल (Eucalyptus essential oil for treating cold)

युकलिप्टुस का तेल आपको ठण्ड के लक्षणों से राहत दिलाने का काम काफी अच्छे से करता है। यह तेल नाक की नली से गन्दगी को दूर करता है और हवा आने जाने की प्रक्रिया को आसान बनाता है। इससे आपको सांस लेने में काफी आसानी होती है और ठण्ड से पीड़ित होने की स्थिति में आपको काफी अच्छा महसूस होता है। इस तेल की भीनी भीनी खुशबू से सिर का दर्द भी दूर होता है, जो कि एक ऐसा लक्षण है जो सर्दी लगने के साथ ही आता है।

8. इसका प्रयोग करने का तरीका (How to use it)

पानी में युकलिप्टुस के तेल की कुछ बूँदें डालकर इससे भाप लें। इससे भाप और भी ज़्यादा प्रभावी बन जाएगी और आपको काफी मात्रा में आराम मिलेगा। आप सीधे ही युकलिप्टुस के तेल की बोतल से ही इसकी खुशबू को हल्के से सूंघ सकते हैं। इससे नाक की नली और हवा आने जाने का रास्ता बिल्कुल साफ़ हो जाएंगे। आप किसी अन्य तेल के साथ युकलिप्टुस के तेल को मिश्रित करके अपने माथे और छाती पर लगा सकते हैं। इससे आपकी नाक का रास्ता साफ़ होगा। अगर आप अपने तकिएया अपने तौलिए में युकलिप्टुस के तेल की कुछ बूँदें डालकर बार बार सूंघते हैं, तो इससे भी काफी आराम प्राप्त होता है।

पीड़ादायी स्तनों के लिए घरेलू उपचार

9. घी और काली मिर्च के साथ तुलसी के पत्ते (Tulsi leaves with ghee and pepper)

यह एक तरह का आयुर्वेदिक उपचार है और सामान्य सर्दी को दूर करने में काफी कारगर साबित होता है। तुलसी के पत्ते अपने एंटी बैक्टीरियल (anti-bacterial) गुणों के लिए जाने जाते हैं। ये आपकी श्वास नली को आराम प्रदान करते हैं जिससे कि नाक की गन्दगी और संक्रमण भी काफी कम हो जाते हैं। नीचे इसका प्रयोग करने की विधि बतायी गयी है।

5 से 6 ताज़ी तुलसी की पत्तियां इकठ्ठा करें इन्हें पानी से साफ कर लें। इसके बाद इन्हें पीसकर एक पेस्ट तैयार कर लें। अब अगर संभव हो तो बिलकुल शुद्ध और पुराना घी तुलसी के इस पेस्ट के साथ मिश्रित कर लें। 1 से 2 काली मिर्चें पीस लें और इस पिसी हुई काली मिर्च को तुलसी और घी के साथ मिश्रित करें। इस मिश्रण को आसानी से कैप्सूल (capsule) के आकार में भी बनाया जा सकता है। इसे लेकर थोड़े से पानी के साथ निगल लें। राहत पाने के लिए इस कैप्सूल को दिन में कम से कम 3 बार लें। आप नाक से हवा आने जाने की प्रक्रिया को सुगम बनाने के लिए तुलसी की पत्तियां चबाना भी शुरू कर सकते हैं।

सामान्य सर्दी जीवाणुओं की मदद से फैला एक संक्रमण है, अतः इस स्थिति में दवाइयों का सेवन करना राहत पाने के लिए ज़्यादा फायदेमंद साबित नहीं होगा। ये दवाइयां आपकी प्रतिरोधक क्षमता में इज़ाफ़ा करेंगी और आपकी संक्रमण से लड़ने में मदद करेंगी, पर इनकी मदद से पूरा आराम प्राप्त करने के लिए आपको कम से कम 6 से 7 दिनों की आवश्यकता होगी। आप  घरेलू नुस्खों के द्वारा भी सर्दी से आराम प्राप्त कर सकते हैं। ये घरेलू औषधियां सर्दी के लक्षण दूर  करने में भी काफी सहायक होती हैं, अतः अगर आपका संक्रमण पूरी तरह से ठीक नहीं भी होता है, तो भी खुद ब खुद आप काफी अच्छा महसूस  करने लगेंगे। लेकिन अगर सर्दी या इसके लक्षणों के पैदा होने की वजह कुछ और ही है, जैसे फेफड़ों का संक्रमण, तो तुरंत डॉक्टर को दिखाना और उनके द्वारा सुझाई गयी दवाइयों को ग्रहण करना काफी आवश्यक है।

योग विशेषज्ञों के अनुसार योग करने से भी सर्दी और इसके लक्षणों से काफी हद तक छुटकारा प्राप्त होता है। विभिन्न प्रकार की योग मुद्राएं जिनमें सांस लेने की विभिन्न मुद्राएं और प्राणायाम शामिल होते हैं, आपकी सर्दी से लड़ने में काफी सहायता करते हैं।

loading...