Tips in Hindi to treat men genital warts at home naturally – घर में पुरुषों के जननांग मे हुए मस्से का इलाज करने के नुस्खे

जननांगो मे मस्से के बढ़ने का कारण जननांगो का स्ँक्रमित होना हो सकता है। जल्द से जल्द इसका उपचार करना बहुत ज़रूरी है नही तो इनका आकार बढ़ता जाएगा। इसे हटाने के बहुत सारे उपचार है। ये कभी कभी असुरक्षित यौन संबंधो के कारण भी हो सकता है।

पुरुषों में यह समस्या जननांग लिंग पर, मूत्रमार्ग, अंडकोश की थैली, ऊपरी जांघों और गुदा और लिंग के भीतरी भाग पर भी हो सकता है।

पुरुषों मे मस्से (जेनाइटल वार्टस) होने के कारण (Reasons for getting genital warts)

मानव पेपिलोमा नामक वायरस इसका प्रमुख कारण होता है जो की गर्भाशय ग्रीवा के कैंसर, गुदा कैंसर या एचपीवी के उच्च जोखिम का कारण बनता है। ओरल सेक्स भी गले और मुंह में और जननांग में इसके होने का कारण है। संक्रमण के ये प्रकार आम हैं और आप संक्रमित होने के बाद भी छह हफ्तों या छह महीनों या वर्षों तक हो सकता है की आपको समझ ही न आए की क्या हुआ है। आप एक या अधिक भागीदारों के साथ यौन संपर्क में हैं, तो जननांग मस्सा होने की संभावना है। तंबाकू और शराब के उच्च उपयोग से भी इस संक्रमण को आप मौका दे सकते हैं।

उपचार और रोकथाम (Treatments and prevention)

मर्दों के लिए गर्मियों में बालों की देखभाल के नुस्खे

अगर इसके आकार में वृद्धि हो रही है तो डॉक्टर से परामर्श करें। लेजर उपचार पूरी तरह से इस जननांग मस्सा को नष्ट कर सकते हैं और अन्य उपचार इलेक्ट्रो सुखाना विधि है जो की अधिक महंगा है।हमेशा सुरक्षित यौन संबंध बनाए। और आपको अच्छी तरह से चेक-अप के लिए अपने साथी को ले जाना चाहिए।

गुप्तांगों के मस्से दूर करने के घरेलू नुस्खे (Home remedies for genital warts – Masse ka ilaj)

जेनाइटल वार्टस के लिए टी ट्री ऑइल (Tea tree oil)

इस उपचार के लिए अच्छी गुणवत्ता वाले टी ट्री ऑइल का प्रयोग करें। थोड़ा सा तेल लें और इसका प्रयोग रुई के कपड़ों पर करें। अब इस तेल का प्रयोग जननांगों पर मस्से पर करें और इसे सूखने दें। इस उपचार का प्रयोग 10 दिनों तक करें और यह सुनिश्चित करें कि आप इसका प्रयोग रोज़ाना करें। आप पाएंगे कि आपके मस्से सफ़ेद होकर गिरने लगे हैं। इस बात को याद रखें कि इस तेल के प्रयोग से आपके गुप्तांग में काफी चिड़चिड़ापन हो सकता है। यह प्राकृतिक है और इस बात की निशानी है कि इसका असर हो रहा है।

विटामिन सी (Vitamin C)

विटामिन सी का एक टैबलेट (tablet) लें और इसे पीसकर एक पाउडर का रूप दे दें। इसमें थोड़ा सा पानी मिलाएं और इसे एक पेस्ट की शक्ल दे दें। अब इसका प्रयोग मस्सों पर करें और इसे 24 घंटों के लिए ढककर रख दें। इस प्रक्रिया से पैपिलोमा वायरस का खात्मा होता है, जो जननांगों पर मस्से की सृष्टि करते हैं।

सेब का सिरका (Apple cider vinegar)

आप सेब के सिरके का प्रयोग कर सकते हैं, क्योंकि यह रूखी और मृत कोशिकाओं को दूर करने में सक्षम साबित होता है। परिणामों को थोड़ा और प्रभावी बनाने के लिए आप इन्हें रुई के गोलों के साथ डुबोकर भी प्रयोग में ला सकते हैं। रुई को चिपकने वाली टेप (tape) से ढकें और कुछ घंटों बाद निकाल लें। इस प्रक्रिया का पालन तब तक करें, जब तक कि ये मस्से गायब ना हो जाएँ।

महिलाओं एवं पुरुषों में सम्भोग के आदर्श साथी की उम्र अलग होती है

जननांगों पर मस्से के लिए लहसुन (Garlic)

लहसुन में एंटी वायरल (antiviral) गुण मौजूद होते हैं और ये गुप्तांगों के मस्सों को ठीक करने में काफी प्रभावी साबित होते हैं। आप इस उपचार के लिए कच्चे या अन्य किसी भी रूप में लहसुन का इस्तेमाल कर सकते हैं। कच्चे लहसुन को मसल लें और इसका प्रयोग प्रभावित भागों पर करें। इसे एक पट्टी से बाँध लें और 24 घंटों के लिए छोड़ दें। कैप्सूल (capsule) के रूप में इसका इस्तेमाल करने के लिए इनका सेवन कुछ दिनों तक करें और अच्छे परिणामों की प्रतीक्षा करें।

प्याज (Onion)

एक प्याज लेकर टुकड़ों में काटें और इनका प्रयोग मस्सों पर करें। अब इसे एक पट्टी से ढक दें। प्याज की वजह से शरीर के रक्त संचार की मात्रा बढ़ जाती है और मस्से अपने आप निकल जाते हैं। आप इसके लिए प्याज के रस का भी प्रयोग कर सकते हैं। इसके टुकड़े काटकर नमक मिला लें और रातभर रख दें। अगले दिन टुकड़ों से रस निकाल लें और इसे मस्सों पर लगाएं। प्याज एंटी माइक्रोबियल (antimicrobial) होता है, जबकि नमक एंटीसेप्टिक (antiseptic) होता है। इन दोनों के मिश्रण से आपके मस्से ठीक हो जाते हैं और गुप्तांग भी स्वस्थ रहता है।

विटामिन इ या कैस्टर ऑइल (Vitamin E or castor oil)

विटामिन इ के तेल और कैस्टर ऑइल का प्रयोग भी मस्सों पर आसानी से किया जा सकता है। ये त्वचा की मरम्मत करते हैं और संक्रमणों को दूर भगाते हैं। अच्छे परिणामों के लिए प्रभावित भाग पर तेल लगाएं और इसपर थोड़ा सा मसला हुआ लहसुन भी लगा लें। इस भाग को ढक लें और इसे कुछ ही दिन में ठीक होता हुआ  देखें।

अल्कोहल (Alcohol)

मस्सों पर अल्कोहल मलने से भी मस्से दूर होते हैं। यह एक लम्बी प्रक्रिया है, क्योंकि इसके प्रयोग से मस्से ठीक होने में एक हफ्ते से एक महीना तक भी लग सकता है। यह समय मस्सों के आकार पर भी निर्भर करता है, पर इसका अच्छे से पालन करने पर यह एक प्रभावी उपचार सिद्ध हो सकता है।

पारदर्शी नेल पेंट (Transparent nail paint)

हेयर फॉल कंट्रोल शैम्पू पुरुषों के लिये

पारदर्शी नेल पेंट बाकी पेंट्स से अलग होते हैं। इसे हर सुबह और हर रात सोने से पहले अपने मस्सों पर लगाएं। कुछ हफ़्तों में ये मस्से निकल जाएंगे।

बेकिंग सोडा (Baking soda)

एक चम्मच कैस्टर ऑइल में पर्याप्त मात्रा में बेकिंग सोडा मिलाकर एक गाढ़ा पेस्ट बनाएं। इस मिश्रण का प्रयोग प्रभावित भाग पर करके इसे पट्टी से ढक दें।

गुप्तांग के मस्से के लिए एलोवेरा (Aloe vera)

एलोवेरा का जेल निकालें और इसका प्रयोग सीधे मस्सों पर करें। इसमें बेहतरीन एंटीबैक्टीरियल (antibacterial) गुण होते हैं, जिनका प्रयोग रोज़ाना करने पर मस्से ठीक हो सकते हैं। इससे मस्से गायब हो जाते हैं और गुप्तांग स्वस्थ रहता है।

डक्ट टेप (Duct tape)

एक शोध के मुताबिक़ डक्ट टेप से भी आपके मस्से दूर हो सकते हैं। यह विधि काफी आसान है और इसे आसानी से प्रयोग में लाया जा सकता है। डक्ट टेप से मस्सों को ढकें और इन्हें एक हफ्ते के लिए छोड़ दें। इसके बाद इसे निकालें और एक एमरी बोर्ड (emery board) की मदद से इसे हटा लें। इससे गुप्तांग के मस्से आसानी से निकल जाएंगे और स्थिति में काफी सुधार आएगा।

विच हेज़ल (Witch hazel se masse khatam karne ka ilaj)

विच हेज़ल में शक्तिशाली एस्ट्रिंजेंट (astringent) होता है, जिनकी मदद से आसानी से मस्से निकल जाते हैं। इसके रोज़ाना इस्तेमाल से ये जल्दी ही निकल जाते हैं। दवाई की दुकान से शुद्ध विच हेज़ल खरीद लें और इसमें डुबोने और लगाने के लिए रुई ले लें। इसे 10 मिनट के लिए छोड़ दें और इसे हटाने के लिए एक साफ और सूखे कपड़े का प्रयोग करें। अच्छे परिणामों के लिए इस प्रक्रिया का पालन 2 हफ़्तों तक हफ्ते में दो बार करें।

मर्दों के लिए गोरापन पाने के टिप्स

प्याज़ (Onion)

प्याज में जीवाणुओं को दूर करने के गुण होते हैं, जिनकी मदद से गुप्तांग के मस्से दूर होते हैं। आप दो तरीकों में से किसी एक का चुनाव कर सकते हैं और इन दोनों ही उपचारों का प्रयोग 50 दिन तक अच्छे परिणाम प्राप्त करने के लिए करना पड़ता है।

  • जननांगों पर दानें, एक प्याज काटें और इसे मस्सों पर लगाएं। इसे किसी पट्टी से कसकर बांधकर रखें। 2 घंटों के बाद पट्टी बदल दें।
  • नमक एस्ट्रिंजेंट के गुण प्रदान करता है और प्याज के साथ मिश्रित हो जाने पर यह एक प्रभावी उपचार बन जाता है। 2 प्याज लें और इनके पतले टुकड़े करें। अब एक चम्मच नमक लें और इसे प्याज के टुकड़ों पर डालें। इसे ढक दें और रातभर के लिए छोड़ दें। अगली सुबह इस मिश्रण को ब्लेंडिंग मशीन (blending machine) में डालकर एक महीन पेस्ट बनाएं। जननांगों पर दानें, इस पेस्ट को मस्सों पर लगाएं और इसे टेप से कस लें।

होम्योपैथिक उपचार (Homeopathic treatment)

मस्सों से छुटकारा पायें, इन घरेलू नुस्खों के अलावा आप होम्योपैथिक उपचारों का भी प्रयोग कर सकते हैं। यह एक बेहतरीन उपचार है और कई सालों से इसका प्रयोग किया जाता है। ऐसी कई दवाइयां हैं जिनका प्रयोग मस्सों को दूर करने के लिए किया जाता है। इनमें से कुछ हैं काली मुर, कॉस्टिकम, एन्टीम क्रूड, मैग्नीशिया सल्फ, नाइट्रिक एसिड (Kali Mur, Causticum, Antim crud, Magnesia Sulph, Nitric Acid) आदि।

Subscribe to Blog via Email

Get Hindi tips to your inbox everyday