Cause and home remedies for itching after bath – नहाने के बाद होने वाली सूखी खुजली के कारण और घरेलू उपाय

कुछ लोगों को नहाने के बाद या पानी के संपर्क में आने के बाद अत्यधिक खुजली की शिकायत होती है। त्वचा संबंधी इस रोग को एक्वाजेनिक प्रूरीटस (Aquagenic Pruritus) कहा जाता है। इसके दौरान त्वचा पर सूखी खुजली के अलावा किसी प्रकार की फुंसी या निशान आदि दिखाई नहीं देते। इस रोग का मुख्य लक्षण यह है की पानी के संपर्क में जाने के बाद कुछ ही मिनट के भीतर शरीर में खुजली शुरू हो जाती है जो एक से दो घंटे तक असर दिख सकती है।

इस रोग में देखा गया है की यह सूखी खुजली बिना किसी चोट के निशान या लाल फुंसी आदि के बिना खासकर शरीर में पेट और कमर के निचले भाग को प्रभावित करती है। डॉक्टरों की मानें तो यह वंशानुगत भी हो सकता है और कई परिवारों में यह पीढ़ी दर पीढ़ी चलने वाला त्वचा संबंधी रोग है।

नहाने के बाद सूखी खुजली के मुख्य कारण (Main Cause of itching after bath)

नहाने के बाद होने वाली सूखी खुजली को सामान्य खुजली मान लेना आपकी बड़ी भूल हो सकती है। वैसे अन्य प्रकार की खुजली की तुलना में कभी कभी यह ज़्यादा कष्टकारी हो जाती है और ऐसे लोगों में इस दौरान बेचैनी और चिड़चिड़ापन दिखाई देता है। यहाँ तक तो फिर भी ठीक है पर इस बीमारी के दौरान अनेक बार तकलीफ इतनी बढ़ जाती है की इसका प्रभाव रोगी के मस्तिष्क पर इस प्रकार पड़ता है कि, वे नहाने से डरते हैं और इसके बाद नहाना लगभग छोड़ ही देते हैं। तो देखा जा सकता है कि यह सामान्य सा दिखने वाला रोग शरीर को प्रभावित करने के साथ ही साथ मनोरोगी भी बना देता है।

पॉलीसिथेमिया वेरा (Polycythemia Vera)

खुद की मालिश करने का सही तरीका और कुछ सुझाव

नहाने के बाद त्वचा में होने वाली खुजली का मुख्य कारण पॉलीसिथेमिया वेरा(Polycythemia Vera) है। यह एक ऐसी अवस्था है जिसमें हमारे शरीर के रक्त में उपस्थित लाल रक्त कणिकाओं (Red Blood Cells) की संख्या में अचानक अत्यधिक वृद्धि हो जाती है, और यह रक्त में उपस्थित श्वेत रक्त कणिका व प्लेटलेट्स को भी बढ़ा देता है। इसका परिणाम होता है की शरीर में रक्त बहुत गाढ़ा हो जाता है जो रक्त के थक्के और रक्तस्त्राव का कारण बनता है। पॉलीसिथेमिया की इस अवस्था में शरीर जब पानी के संपर्क में आता है शरीर में खुजली होने लगती है। यह खुजली ठंडे या गरम दोनों ही प्रकार के पानी में हो सकती है। ठंडे पानी में नहाने की वजह से हुई खुजली में हल्के गरम पानी का प्रयोग कुछ देर राहत देता है।

यह एक प्रमुख और गंभीर कारण है जिसकी वजह से नहाने के बाद शरीर में खुजली की शिकायत देखी जाती है, पानी के संपर्क से होने वाली इस बिमारी को किसी टेस्ट आदि के द्वारा नहीं पहचाना जा सकता, केवल इसके लक्षणों से ही इसे पहचाना जाता है। लेकिन इस समस्या के अलावा कुछ और सामान्य कारण भी हो सकतें हैं जिसकी वजह से नहाने के बाद आपको खुजली की शिकायत होती है।

नहाने के बाद होने वाली खुजली के कुछ सामान्य कारण ये भी हो सकते हैं

Subscribe to Blog via Email

Join 45,326 other subscribers

कठोर पानी (Hard water)

आप नहाने के लिए जिस पानी का प्रयोग करते हैं, सुनिश्चित कर लें की कठोर नहीं है। कठोर पानी का आशय अधिक मात्रा में खनिज तत्वों से युक्त ऐसे पानी से है जिसमें विभिन्न मिनेरल्स के साथ साथ चूना और मैग्नीशियम कार्बोनेट(magnesium carbonate) जैसे तत्व मौजूद होते हैं। यह त्वचा को नुकसान पहुंचा सकते हैं जिसका नतीजा त्वचा में खुजली या रैश (Rash) आदि होता है।

स्क्रब (Scrub)

कभी कभी नहाते समय बहुत ज़्यादा दबाव से घिसने पर त्वचा सूख जाती है और उसमें खुजली होने लगती है। तो हमेशा सावधानीपूर्वक स्क्रब करें और नहाने के बाद सौम्य मॉश्चराइज़र का इस्तेमाल करें।

पैरों के काले धब्बों और निशानों से ऐसे पाएं छुटकारा

साबुन या शैंपू (Soap and shampoo)

नहाने के बाद होने वाली खुजली से आप यदि परेशान हैं तो अपने रोजाना व्यवहार किए जाने वाले साबुन और शैंपू पर ध्यान दें। हो सकता है की आप जिन उत्पादों का प्रयोग कर रहें हैं, वह आपके लिए उपयुक्त ना हो। अगर समस्या बनी हुई है तो डॉक्टर के पास जाने के पहले एक बार अपना साबुन या शैंपू बदल कर देखें।

अत्यधित गरम पानी (Too hot water)

अक्सर देखा जाता है कि, कुछ लोग नहाने के लिए ज़रूरत से ज़्यादा गर्म पानी का इस्तेमाल करते हैं। अत्यधिक गरम पानी आपकी त्वचा के प्राकृतिक तेल को नष्ट कर देता है जिसके पश्चात त्वचा का रूखापन बढ़ जाता है और उसमें खुजलाहट होने लगती है। नहाने के बाद शरीर में खुजली कि एक मुख्य वजह यह भी हो सकती है।

संक्रमण (infection)

संवेदनशील त्वचा पर संक्रमण का खतरा ज़्यादा रहता है। दूषित पानी में माइक्रोब (Microbe) जीवाणुओं कि संख्या में वृद्धि होने से यह कई तरह के रोगों का कारण बनती है। अक्सर स्वीमिंग पूल या घर पर ही नल का पानी किसी प्रकार दूषित हो तो इसकी वजह से शरीर में खुजली और अन्य समस्या हो सकती है। अगर आपकी त्वचा अति संवेदनशील है तो आपको नहाने के पानी का विशेष ध्यान रखना चाहिए।

नहाने के बाद होने वाली खुजली के लक्षण (Symptoms of itching after bath)

जैसा कि हम ऊपर वर्णन कर चुके हैं कि विशेषकर नहाने के बाद खुजली और पानी कि वजह से किसी तरह कि त्वचा संबंधी बीमारी के कोई खास लक्षण नहीं होते। खासकर नहाने के बाद होने वाली सूखी खुजली को किसी डॉक्टरी जांच या टेस्ट के आधार पर नहीं पहचाना जा सकता केवल इसके साधारण लक्षणों के द्वारा ही इसे पहचाना जा सकता है जो नहाने के तुरंत बाद तेज़ खुजली के रूप में सामने आती है। कई लोगों में चुभने वाली खुजली कि समस्या भी देखी गयी है जो सिहरनभरी हो सकती है। खुजली के साथ किसी प्रकार के दाने या फुंसियाँ दिखाई नहीं देते और इसका प्रभाव कुछ लगभग 2 घंटे तक रह सकता है। हल्के गरम पानी का शावर लेने पर क्षणिक राहत मिलती है पर हर किसी को इससे कोई विशेष लाभ नहीं होता। मुंह के भीतरी हिस्सों जैसे जीभ और तालु के साथ हथेलियों पर खुजली का कोई विशेष प्रभाव नहीं देखा जाता पर पानी से होने वाली यह खुजली पेट, नितंब और खासकर पैरों को ज़्यादा प्रभावित करती है।

त्वचा के फोड़े ठीक करने और रोकने के घरेलू उपाय

नहाने के बाद खुजली को दूर करने के घरेलू उपचार (Natural ways to get rid of itching after bath – Khujli Ka Upay)

नहाने के बाद होने वाली खुजली को एंटीहिस्टामिन (Antihistamine) आदि दवाओं के द्वारा काबू में किया जा सकता है। पर अगर आपका शरीर अंदर से स्वस्थ रहता है तो इस प्रकार कि समस्याओं का सामना नही करना पड़ता और अगर ऐसी समस्याएँ उत्पन्न हो रहीं हो तो उन्हें जड़ से मिटाना बेहद ज़रूरी होता है। समस्या के कारणों को उत्पन्न ‘ना’ होने देना ही किसी भी रोग का बेहतर समाधान है।

तो आइये हम इस समस्या से बचने के लिए कुछ घरेलू उपाय अपनाएँ और क्योंकि ये प्राकृतिक प्रयोग बहुत आसान और सुविधाजनक होते हैं।

सोडियम बाई कार्बोनेट (Sodium bicarbonate)

नहाने के पानी में खाने का सोडा या सोडियम बाई कार्बोनेट मिला कर नहाने से इस रोग में राहत मिलती है। सोडियम बाईकार्बोनेट एक अच्छा एंटीबायोटिक होता है जो किसी भी तरह के संक्रमण और त्वचा संबंधी रोगों को दूर करता है। नहाने के बाद होने वाली खुजली को रोकने का यह एक बेहतर प्रयोग है।

खुजली का इलाज एपल विनेगर से (Apple cider vinegar)

सेब से बने विनेगर को गरम पानी के साथ मिलकर उससे नहाने से स्किन इचिंग में राहत मिलती है। इसमें विटामिन सी भरपूर मात्रा में उपस्थित होता है साथ ही एमिनो एसिड और एंटीऑक्सीडेंट्स भी मौजूद होते हैं जो त्वचा संबंधी रोगों को दूर रखने में मदद करते हैं।

स्ट्रेच मार्क्स घटाने के घरेलू नुस्खे

लहसुन (Khujli Ka Desi aur Gharelu ilaj hai Garlic)

लहसुन हृदय रोगों से सुरक्षा के लिए तो जाना जाता ही है पर क्या आप जानते हैं कि यह अपने आप में एक बेहतरीन एंटीऑक्सीडेंट है। रोजाना लहसुन कि कुछ कलियाँ खाने से यह रक्त में उपस्थित श्वेत रक्त कणिकाओं को उत्तेजित करता है। और हमारी अस्थि मज्जा को मजबूत बनाता है।

जंगली कुथ (Burdok)

जंगली कुथ एक प्राकृतिक औषधि है इस पौधे कि जड़ों का प्रयोग शरीर में होने वाली खुजली को जड़ से खत्म करने के लिए किया जाता है। यह शरीर के टॉक्सिन को बाहर निकाल कर खून को साफ करती है।

खुजली ठीक करने के उपाय एलोवेरा के साथ (Aloe vera)

एलोवेरा वैसे तो स्किन को कई तरह से लाभ पहुंचाता है पर शायद आप नहीं जानते होंगे कि यह शरीर में होने वाले संक्रमण से लड़ता है और साथ ही यह एक अच्छा एंटीऑक्सीडेंट (Antioxidant) भी है।

अश्वगंधा (Ginseng)

यह एक ऐसा एंटीऑक्सीडेंट है जो हमारे शरीर के इम्यून सिस्टम को बेहतर करता है, यह एंटीबैक्टीरियल होने के साथ साथ एंटीइन्फ़्लेमेटरी गुणों से भी युक्त होता है। यही वजह है कि, त्वचा संबंधी रोगों में यह विशेष रूप से प्रभावी होता है।

कपूर (Camphor dur kare sukhi khujali)

किसी भी प्रकार कि खुजली में कपूर के बहुत प्रभावी गुण देखे गए हैं। नारियल के तेल में कपूर को मिलाकर लगाने से शरीर कि खुजली में आराम मिलता है।

दोहरी ठुड्डी से छुटकारा पाने के लिए व्यायाम

नीम (Khujli Dur Karne ke Gharelu Upay Neem ke saath)

नीम केवल एक औषधि ही नहीं बल्कि इसके पेड़ का प्रत्येक भाग गुणों का खज़ाना है। किसी भी तरह के चर्म रोगों में सबसे पहले नीम के इस्तेमाल कि सलाह दी जाती है। रोजाना नीम को कॉमन पत्तियों को खाली पेट चबा लीजिये। यह आपके रक्त को साफ कर स्किन इचिंग से राहत देगा।

प्राकृतिक पदार्थों से युक्त लोशन (Natural lotion)

इन घरेलू नुस्ख़ों के अलावा आप चाहें तो एक प्राकृतिक लोशन बाज़ार से खरीद सकते हैं। पुदीना, केलामाइन और कपूर के मिश्रण से बने तेल या लोशन के रोज़ाना प्रयोग द्वारा आप शरीर कि खुजली से राहत पा सकते हैं।

इन घरेलू प्रयोगों के साथ इस बात का ध्यान रखें कि, आपके आस पास कि जगह साफ सुथरी होनी चाहिए, आपके रोज़ाना प्रयोग किए जाने वाले कपड़े धुले और अच्छी तरह सूखे हुये हों साथ ही ध्यान रखें, हमेशा सूती और आरामदायक कपड़ों का ही इस्तेमाल करें।

loading...