How to treat black gums? How to make gums pink – काले मसूड़ों का उपचार, कैसे बनाएँ प्राकृतिक रूप से मसूड़ों को गुलाबी

हमारी मुस्कान की खूबसूरती को बढ़ाने में मसूड़ों की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। अगर मसूड़े स्वस्थ और सुंदर हो तो वह हमारे सम्पूर्ण व्यक्तित्व में चार चाँद लगा देते हैं। मसूड़ों का रंग हल्का गहरा होने पर ही लोग अपने चेहरे और सुंदरता के प्रति आशंकित हो जाते हैं और इसके अलावा मसूड़ों पर दिखने वाले ये काले धब्बेनुमा दाग अशालीन रूप के लिए भी जिम्मेदार होता है।

कुछ स्थिति में काले मसूड़े अस्वस्थता की निशानी मानी जाती है जिनका जल्द से जल्द उपचार करना चाहिए। इसके अलावा ज़्यादातर समय मसूड़ों और मुंह की सही देखभाल न करने की वजह से यह समस्या उत्पन्न होती है। गलत जीवनशैली और सफाई का ध्यान न रखना भी मसूड़ों का कालापन की एक खास वजह हो सकती है।

मसूड़ों में कालापन की कई वजह हो सकती हैं जिनमें से कुछ इस प्रकार हैं,

  • आनुवंशिकता
  • किसी खास दवा द्वारा उपचार
  • धुम्रपान
  • अत्यधिक तनाव
  • मुंह की साफ सफाई का ध्यान न रखना
  • असंतुलित आहार
  • टार्टर (tartar) या प्लाक का ज़्यादा निर्माण

कभी कभी मसूड़े हल्के काले या ग्रे रंग के दिखाई देने लगते हैं ऐसा अक्सर तब होता है जब दांतों को पुनः जमाने के लिए मसूड़ों के उत्तकों में सिल्वर मिश्रित धातु का गलत आरोपण किया जाता है। यह ये दाग मसूड़ों में काले धब्बे के रूप में दिखाई देते हैं।

किसी अच्छे मुख रोग विशेषज्ञ द्वारा सही सलाह और उपचार से इस समस्या को दूर किया जा सकता है। इसके साथ जीवन शैली में कुछ बदलावों और सही देखरेख द्वारा आप काले मसूड़ों की समस्या से छुटकारा पा सकते हैं।

मुंह के स्वास्थ्य के लिए दांतों को ब्रश करने के नुस्खे

  • दांतों पर दिन में कम से कम 2 बार ब्रश करें और साथ ही धागे की सहायता से दांतों के बीच भी सफाई (Flossing) करें।
  • किसी अच्छे माउथवॉश से गारगिल या कुल्ला करें। इसके अलावा आप गुनगुने पानी में नमक मिलाकर भी कुल्ला कर सकते हैं। इसे दिन में दो बार अवश्य करें।
  • तंबाकू या धूम्रपान का सेवन तुरंत रोक दें।
  • ज़रूरी पोषक तत्वों के युक्त भोजन का सेवन करें।

ये कुछ कारण हैं जिनकी वजह से मसूड़े काले होने की समस्या हो सकती है। इन्हें जानकार डॉक्टर द्वारा उचित परामर्श लेना चाहिए।

  • मुंह में संक्रमण
  • मसूड़ों में मृत उत्तकों का जमाव
  • मसूड़े काले होने का रोग
  • एचआईवी /एड्स
  • आंतरिक रक्तस्त्राव

ये सभी स्थितियाँ बहुत ही गंभीर हैं और जल्द से जल्द आपको इसका उपचार करवाना चाहिए। डॉक्टर से परामर्श लेने पर वह आपको कुछ परामर्शों की लिस्ट के साथ कुछ एंटीबायोटिक्स दवाओं के सेवन की सलाह देगा। अगर इनसे आपको फायदा नहीं होता तो हो सकता है की आपको दांत चिकित्सक के पास जाकर अपने मृत उत्तकों को साफ करने की ज़रूरत पड़े, ज़्यादातर स्थितियों में ऑक्सीजन थेरेपी की सलाह दी जाती है।

मसूड़ों को गुलाबी कैसे बनाएँ? (How to make gums pink?)

आपके मसूड़े गुलाबी हैं तो इसका मतलब यह है की आप अपने मुंह और मसूड़ों की साफ सफाई का बेहतर ध्यान रख रहे हैं। इस कुछ उपायों का पालन करके आप स्वस्थ और गुलाबी मसूड़े पा सकते हैं।

मसूड़ों का कालापन दूर करने के घरेलू उपाय

टूथपेस्ट (Toothpaste)

अपने दांतों या मसूड़ों का ध्यान रखते हुये सही किस्म के टूथपेस्ट का चुनाव सोच समझ कर करना चाहिए। ऐसे पेस्ट का इस्तेमाल करें जो खास तौर पर मसूड़ों के स्वास्थ्य को ध्यान में रखकर बनाए गए हों। आपको इसके लिए थोड़ा ज़्यादा व्यय करना पड़ सकता है। पर सेहतमंद मसूड़ों के लिए यह ज़रूरी है।

मुंह के छाले कैसे कम करें?

टूथब्रश  (Toothbrush)

मसूड़ों के लिए ऐसे टूथब्रश को प्राथमिकता दें जिन पर अमेरिकी डेंटल एसोसिएशन की मुहर लगी हो। इसके साथ कुछ और बातों को भी ध्यान में रखना ज़रूरी होता है।

  • आपका टूथब्रश ऐसा होना चाहिए जो मुंह के भीतर कुशलता से काम कर सके।
  • कठोर ब्रश का इस्तेमाल करने से बचें, ये आपके मसूड़ों को नुकसान पहुंचा सकते हैं।
  • सॉफ्ट या मुलायम ब्रश का प्रयोग करें।
  • ध्यान रखें की आपके टुथब्रश का ऊपरी भाग गोल हो। ताकि ब्रिसल्स मसूड़ों को क्षति न पहुंचा सकें।
  • आप दिन में एक बार इलेक्ट्रिक टूथब्रश का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

दोनों वक़्त भोजन के पहले करें ब्रश (Brush before two meals)

वैसे तो माना जाता है कि, भोजन के बाद दोनों समय दांतों पर ब्रश करना चाहिए। पर डेंटिस्ट का सुझाव इसके विपरीत है। वे दांतों से प्लाक को हटाने पर ज़ोर देते हैं जो प्रत्येक दाँत पर जमा होते रहते हैं न कि भोजन के बाद जमा टार्टर को निकालने के लिए।

दांतों की न्यूनतम सफाई ज़रूरी (Minimum cleanup)

दिन में दो बार दांतों को ब्रश करना बहुत ज़रूरी है। आप अधिक लाभ के लिए दिन में तीन बार तक ब्रश कर सकते हैं।

loading...