Best ways to treat the premenstrual syndrome (PMS) – मासिक धर्म से पहले के सिंड्रोम के उपचार

मासिक धर्म उन सभी महिलाओं के जीवन का अहम भाग है जो अपनी युवावस्था के दौर में पहुंच गयी हैं। मासिक धर्म शुरू होने के कुछ दिनों पहले से मासिक धर्म सिंड्रोम की शिकार हो जाती हैं। कभी कभी तो ये लक्षण इतने दर्दनाक होते हैं कि कई महत्वपूर्ण कार्य इनकी वजह से टालने पड़ते हैं। महिलाओं को मासिक धर्म से पहले के सिंड्रोम की वजह से काफी परेशानियां उठानी पड़ती हैं। इसके कुछ लक्षण हैं स्वभाव में बदलाव, चिड़चिड़ापन, भूख लगना, सूजन, कमर में दर्द, शरीर में दर्द आदि।

मासिक धर्म के वक़्त हर महिला अलग अलग शारीरिक स्थितियों से गुज़रती है। उनके महिला बनने से पहले के समय में उनके जीवन में कई प्रकार के परिवर्तन आते हैं। ज़्यादातर लडकियां पहली बार सही प्रकार से मासिक धर्म की प्रक्रिया का अनुभव करने से पहले छोटे छोटे धब्बों का अनुभव करती हैं। कईयों को लम्बे समय तक पेट में दर्द की समस्या से दो चार होना पड़ता है। मासिक धर्म के पहले के समय में कई महिलाओं को कुछ खाने की इच्छा होती रहती है। इसका उपचार औषधियों और घरेलू उपायों दोनों के द्वारा हो सकता है। इन दोनों में से अपने लिए सही प्रक्रिया का चुनाव करना आपके ऊपर है।

मासिक धर्म की समस्या में मदद (How can people get help from PMS?)

आज के दौर में विज्ञान ने इतनी तरक्की कर ली है कि वह कई प्रकार के जटिल रोगों का इलाज करने की क्षमता रखता है। वैसे तो मासिक धर्म कोई बीमारी नहीं है, पर इस परिस्थिति से गुज़र रही महिलाओं की स्थिति काफी परेशानी भरी हो जाती है। क्योंकि यह स्थिति हार्मोनल असमानता (hormonal imbalances) से भी जुड़ी हुई है, अतः ज़्यादातर महिलाएं गर्भनिरोधक गोलियों या तनाव दूर करने वाली गोलियों (birth control pills as well as antidepressant) का सेवन करती हैं। इस स्थिति में प्रयोग में लाई जाने वाली कुछ ख़ास दवाइयां हैं मोट्रिन, पैम्परिन, टाईलेनोल (motrin, pamprin, tylenol) आदि। इनसे आपको कुछ देर के लिए राहत तो मिल सकती है, पर ये मासिक धर्म के उपचार नहीं कहे जा सकते। इससे आपके मासिक धर्म की प्रक्रिया भी नहीं रूकती।

योनी की शुष्कता के लिए घरेलू उपचार

मासिक धर्म के घरेलू नुस्खे – प्राकृतिक उपचार (Home remedies for PMS – Natural cure)

प्रकृति भी आपको मासिक धर्म की प्रक्रिया से निपटने के उपाय प्रदान करती है। कुछ प्राकृतिक उत्पाद ऐसे होते हैं, जो इस स्थिति का सामना करने में आपकी काफी मदद करते हैं। सालों से जड़ीबूटियों के द्वारा कई प्रकार की बीमारियों का इलाज किया जाता रहा है। ऐसा भी कई बार हुआ है कि किसी रोग का इलाज करने में विज्ञान असफल रहा हो, पर जड़ीबूटियों से इलाज के द्वारा उस रोग से छुटकारा पा लिया गया हो। जड़ीबूटियां आपके शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को समझती हैं और इतनी मात्रा में पोषक तत्वों का ही संचार करती हैं, जिससे शरीर की प्रक्रियाएं सुचारू रूप से चलने लगें। आपको इस समस्या को तुरंत बंद करने के भी उपाय मिलेंगे जो कि काफी आकर्षक लगेंगे। पर ये साइड इफेक्ट्स (side effects) से भरे होते हैं। अगर आप दवाइयों का सेवन करना शुरू करती हैं, तो इस समस्या के दोबारा प्रकट होने पर आपको दोबारा दवाइयों पर ही निर्भर रहना पड़ेगा। इससे शरीर में रसायनों की मात्रा में वृद्धि होगी और इसके फलस्वरूप कई प्रकार के साइड  इफेक्ट्स हो सकते हैं।

माहवारी से पहले के सिंड्रोम के घरेलू उपचार (Home remedies of PMS are:)

माहवारी से पहले के सिंड्रोम के लिए मका (Maca for period problem in hindi)

सैंकड़ों सालों पहले इस प्राकृतिक उत्पाद का उर्वरता की दर बढ़ाने के लिए प्रयोग किया जाता था। महिलाओं के हॉर्मोन में अनियमितता की समस्या को दूर करने के लिए सालों से लोगों द्वारा इस उत्पाद का प्रयोग किया जाता है। मासिक धर्म की हर प्रकार की समस्या, इसके लक्षण तथा इसके पहले के सिंड्रोम भी इस अद्भुत उत्पाद द्वारा नष्ट हो जाते हैं। अगर आप कमज़ोर हड्डियों, एड्स तथा कैंसर आदि से जूझ रहे हैं तो ये एक काफी कारगर उपचार है।

मासिक धर्म से पहले के सिंड्रोम के लिए जंगली अरबी (Wild yam)

मासिक धर्म में दर्द के उपाय

इसे डायोस्कोरिया विलोसा भी कहा जाता है। इस प्राकृतिक उत्पाद का बरसों से आँतों की समस्याओं को दूर करने के लिए प्रयोग किया जाता रहा है। जो महिलें मासिक धर्म के पहले के सिंड्रोम की शिकार हैं उन्हें भी जंगली अरबी का पूरा फायदा होता है। प्रसव पीड़ा से जूझती गर्भवती महिलाओं को इसका सेवन करके आराम की प्राप्ति होती है। मासिक धर्म से जुडी दूसरी हर समस्या का इस उत्पाद की सहायता से निदान होता है।

माहवारी से पहले के सिंड्रोम के लिए नींबू का बाम (Lemon balm)

नीम्बू एक प्राकृतिक उत्पाद है जो मानव शरीर की कई समस्याओं को दूर करता है। अगर आप मास्डिक धर्म के सिंड्रोम से मुक्ति पाना चाहते हैं तो आप ये नींबू के बाम की सहायता से कर सकते हैं। क्योंकि इससे सुकून मिलता है अतः नींद ना आने जैसी बीमारी का भी इससे निदान होता है। अलग अलग उम्र की महिलाओं को नींबू का बाम प्रयोग करने के बाद मासिक धर्म की कई समस्याओं से मुक्ति मिली है।

मासिक धर्म से पहले के सिंड्रोम के लिए बरडॉक (Burdock)

ज़्यादातर लोगों को इसका नाम पता होगा क्योंकि यह विभिन्न प्रकार की बीमारियों के साइड इफ़ेक्ट से ग्रस्त लोगों को जलन से छुटकारा दिलाता है। आप इसकी मदद से गुर्दे की कई बीमारियों से निपटकर गुर्दे में स्थायित्व पा सकते हैं क्योंकि इस प्राकृतिक पदार्थ में शरीर की चयापचय क्षमता सुधारने की काबिलियत मौजूद है। एस्ट्रोजन से भी गुर्दे की काम करने की क्षमता बढ़ती है और इससे मासिक धर्म के पहले के सिंड्रोम का इलाज भी होता है।

माहवारी से पहले के सिंड्रोम के लिए क्रोमियम (Chromium)

आप सबने क्रोमियम का नाम अवश्य सुना होगा। इसका रसायन की किताबों में काफी उल्लेख मिलता है। यह आपके रक्तचाप में सुधार लाता है एवं मासिक धर्म के पहले के सिंड्रोम को भी ठीक करता है।

मासिक धर्म का इलाज करने के श्रेष्ठ उपाय (Best ways to treat pre menstrual syndrome)

प्राकृतिक रूप से वक्षों को बढ़ाने के उपयोगी तरीके

व्यायाम (Exercise mahwari ki samasya ke liye)

महिलाओं के मासिक धर्म के समय उसका अपने सही होशोहवास में रहना काफी कठिन होता है। वह काफी अजीब तरह का बर्ताव कर सकती है जैसे बार बार भूख लगना, रोना, चिडचिडापन आदि। पर अगर आप रोज़ाना व्यायाम कर सकें तो यह समस्या आसानी से दूर हो सकती है। ये व्यायाम पुश अप्स (push ups) से लेकर पेट कम करने के व्यायाम तक कुछ भी हो सकते हैं।

दोस्तों और परिवार का सहारा (Support from friends and family)

अगर एक कम वर्ष की महिला मासिक धर्म के पहले की स्थिति का शिकार होती है, तो इस बात का पता उसके माता पिता, परिवारजनों और दोस्तों को भी होना चाहिए। अगर इन सबका सही मार्गदर्शन और अच्छे से  सहारा मिले तो यह समस्या और इससे जुड़े स्वभाव में परिवर्तन आसानी से दूर किये जा सकते हैं। थोड़ी सी देखभाल इस समय काफी महत्वपूर्ण साबित हो सकती है। धीरे धीरे वह इस स्थिति से उबरने में सफल रहेगी। यह वह समय होता है जब एक महिला काफी चिंतित रहती है और उसे कुछ भी अच्छा नहीं लगता। इस समय उसका ध्यान रखने तथा उसकी अच्छी देखभाल करने से उसे काफी मदद मिलेगी।

सही खानपान (Proper diet masik dharm ki pareshani ke liye)

अगर आप मासिक धर्म की प्रक्रिया से गुज़र रही हैं, तो आपको अपने खानपान की ओर भी काफी ध्यान देना होगा। अगर आप अस्वास्थ्यकर भोजन का सेवन करती हैं तो यह इस आदत को छोड़ने का समय है। इस तरह के अस्वास्थ्यकर भोजन की जगह स्वास्थ्यकर भोजन का सेवन करें, जिसमें विटामिन्स, खनिज और फाइबर्स (vitamins, minerals, fibers) मौजूद हों। इस समय उन सभी खाद्य पदार्थों से परहेज करें, जिसमें चीनी की अतिरिक्त मात्रा हो।

loading...

Subscribe to Blog via Email

Get Hindi tips to your inbox everyday