Hindi tips to treat pimples on hands – हाथ पर हुए मुहांसों एवं एक्ने को दूर करने के उपाय

हाथों पर एक्ने या मुहांसों का होना विश्व की सबसे आम त्वचा समस्याओं में से एक है, तथा इस समस्या का समाधान इसके पैदा होने के कारण में छिपा हुआ है। हमारी त्वचा में हज़ारों छोटे छोटे रोमछिद्र होते हैं जिनमें सेबेसियस (sebaceous) ग्रंथियां होती हैं जो प्राकृतिक रूप से सीबम (sebum),जो कि तेल की तरह का एक पदार्थ होता है, उत्पादित करती हैं। कई बार हार्मोनल असमानता (hormonal imbalance) की वजह से सीबम के उत्पादन में बढ़ोत्तरी हो जाती है एवं त्वचा की मृत कोशिकाओं के साथ ये त्वचा के रोमछिद्रों को बंद कर देते हैं। इससे जीवाणु पनपने लगते हैं जो आगे जाकर एक्ने का कारण बनते हैं। हाथों पर एक्ने चिकित्सकीय रूप से गंभीर विषय नहीं है, पर ये काफी परेशानी पैदा करने वाले कारक हैं क्योंकि इस स्थिति में त्वचा काफी बदसूरत सी लगने लगती है।

हाथों पर एक्ने दूर करने के घरेलू उपाय (Home remedies for acne on arms/hands)

चेहरे के काले धब्बों को हटाने के घरेलू उपाय

हाथों की अपेक्षाकृत मोटी चमड़ी में बड़े रोमछिद्र होते हैं जिनसे इनका बंद होना काफी मुश्किल होता है। हालांकि, जब ये असल में बंद हो जाते हैं तो जीवाणु एवं तेल की मात्रा बढ़ जाती है जिससे गंभीर रूप से एक्ने या मुहांसे की समस्या सामने आती है।

हाथों के मुहांसे ठीक करने के लिए पानी एवं नमक (Water and salt to treat pimples on arms)

यह एक काफी प्रभावी उपचार है क्योंकि नमक त्वचा पर तेल के उत्पादन को कम करता है। इसमें केवल दो पदार्थ ज़रूरी होते हैं –  खुरदुरा नमक या समुद्री नमक तथा पानी। आधा कप नमक मिश्रित एक कटोरी गर्म पानी में हाथ डुबोने से रोमछिद्र खुल जाते हैं, जमा हुआ सीबम दूर हो जाता है एवं त्वचा पर सीबम का उत्पादन भी कम हो जाता है।

नमक, दलिये एवं शहद का स्क्रब (Salt, oats and honey scrub)

स्क्रबिंग (Scrubbing) त्वचा की मृत कोशिकाओं को दूर करता है। समान मात्रा में नमक, शहद एवं दलिये का पाउडर लें एवं इसमें थोड़ा सा पानी मिश्रित करें। प्रभावित भाग पर गोलाकार मुद्रा में इससे स्क्रबिंग करने से त्वचा को नमी प्राप्त होगी एवं एक्सफोलिएट होने में भी सहायता मिलेगी। शहद में प्राकृतिक एंटीबायोटिक गुण होते हैं जो जीवाणुओं का विकास कम करते हैं, जबकि दलिये के पाउडर का दानेदार स्वरुप नमक के साथ मिलकर एक्सफोलिएशन की प्रक्रिया में सहायता करता है।

हरी या गुलाबी मिट्टी (Green or pink clay)

छाती पर मुहांसों के लालपन एवं छाती के एक्ने से बचने के उपाय

क्योंकि अतिरिक्त सीबम ही एक्ने होने का प्रमुख कारण होता है, अतः प्रभावित भाग पर हरी या गुलाबी मिट्टी का पेस्ट लगाने से त्वचा सूख जाती है। इस बात का ध्यान रखें कि यह उपचार कम अंतराल में ना किया जाए, क्योंकि मिट्टी में त्वचा के प्राकृतिक तेल छीन लेने की आदत होती है।

चीनी, शहद, कॉर्नस्टार्च एवं योगर्ट (Sugar, honey, cornstarch and yogurt)

समान मात्रा में चीनी, शहद एवं कॉर्नस्टार्च तथा दोगुनी मात्रा में सादा योगर्ट मिश्रित कर लेने से आपकी त्वचा पर चमत्कारी रूप से प्रभाव पड़ता है। शहद में प्राकृतिक एंटीबायोटिक (antibiotic) गुण होते हैं जो चीनी के दानेदार स्वरुप एवं नमी प्रदान करने वाले योगर्ट के साथ मिलकर ना सिर्फ एक्ने को कम करते हैं, बाकि त्वचा में नमी का संचार करके इसे एक बेहतरीन दमक प्रदान करते हैं। योगर्ट में मौजूद लैक्टिक एसिड (lactic acid) त्वचा की मृत कोशिकाओं को भी दूर करता है।

कमफ्रे (Comfrey)

कमफ्रे एक पौधा होता है जिसकी पत्तियों में प्राकृतिक रासायनिक तत्व, जैसे रोसमारिनिक एसिड एवं अल्लान्टोइन (rosmarinic acid and allantoin), होते हैं। ये सूजन कम करते हैं एवं त्वचा की कोशिकाओं को दोबारा जीवंत करते हैं। इसका सबसे आसान तरीका कमफ्रे की ताज़ा पत्तियों को कुछ मिनटों तक उबालना तथा प्रभावित भाग पर दिन में दो बार लगाना है।

कैलेंडुला (Calendula)

ठुड्डी पर से एक्ने एवं मुहांसों का लालपन कैसे हटाएं?

कैलेंडुला या मैरीगोल्ड एक और ऐसा पौधा है जिसमें जलनरोधी गुण होते हैं। इमल्सीफाइंग वैक्स (emulsifying wax), पानी, ग्लिसरीन (glycerin) तथा सूखा कैलेंडुला लें एवं इसे अच्छे से उबाल लें। इसके बाद इसे छानकर बना हुआ पेस्ट निकाल लें। यह पेस्ट एक्ने से लड़ने में आपकी मदद करता है। ग्लिसरीन त्वचा में नमी का सुचारू रूप से संचार करती है क्योंकि रूखी त्वचा के फलस्वरूप भी एक्ने या मुहांसे हो जाते हैं, तथा कैलेंडुला के जलनरोधी गुण सूजन को कम करते हैं।