Hindi tips to get rid of pimple redness on chest – छाती पर मुहांसों के लालपन एवं छाती के एक्ने से बचने के उपाय

आमतौर पर एक्ने सीबम (sebum) के अतिरिक्त उत्पादन एवं त्वचा की मृत कोशिकाओं की वजह से रोमछिद्रों के बंद हो जाने की वजह से होता है। छाती का आने या छाती पर मुहांसे होना एक सामान्य समस्या है, और जिन व्यक्तियों को काफी कार्यशील रहने की वजह से काफी अधिक पसीना आता है, वे छाती पर एक्ने की समस्या से काफी मात्रा में जूझते हैं। हालांकि छाती का एक्ने सबको नहीं दिखता, पर यह दाग धब्बे पैदा कर सकता है एवं खासकर गर्मियों में काफी परेशानीकारक होता है जब आप अपनी त्वचा के कुछ भाग को खुला रखना चाहते हैं।

छाती पर लालपन या मुहांसों को दूर करने के उपाय (Remedies for pimple or acne redness on chest)

आयुर्वेदिक या आवश्यक तेल (Herbal or essential oils)

चेहरे के काले धब्बों को हटाने के घरेलू उपाय

आवश्यक तेलों में एंटीबैक्टीरियल या एंटीसेप्टिक (antibacterial or antiseptic) गुण होते हैं। केवल किसी भी कैरियर ऑइल (carrier oil) जैसे जैतून, प्रिमरोज़, हेज़लनट (primrose, hazelnut), बादाम, सूरजमुखी, अंगूर के बीज आदि के एक औंस में पुदीने, टी ट्री (tea tree), कैलेंडुला, लैवेंडर (calendula, lavender) जैसे आवश्यक तेलों की दस बूँदें डालें। इसका प्रयोग प्रभावित भाग में धीरे धीरे करें। हमेशा संवेदनशीलता की जांच कर लें। 8 औंस पानी में एक बूँद आवश्यक तेल डालें, इसका थोड़ा भाग अपने चेहरे पर लगाएं एवं एक घंटे प्रतीक्षा करें। कोई प्रतिक्रिया ना होने पर ही इसका प्रयोग करें।

क्लीन्ज़र (Cleanser)

सैलिसिलिक एसिड (salicylic acid) युक्त क्लीन्ज़र एक्ने के खिलाफ काफी प्रभावी सिद्ध होते हैं क्योंकि इनमें शेडिंग (shedding) तत्व होते हैं। अपनी त्वचा को एक एक्सफोलिएटिंग (exfoliating) दस्ताने एवं क्लीन्ज़र से एक्सफोलिएट करें। त्वचा को एक्सफोलिएट करने से सभी मृत कोशिकाएं निकल जाती हैं। दस्ताने का प्रयोग कुछ महीनों से अधिक समय तक ना करें क्योंकि ये दस्ताना लम्बे समय तक प्रयोग करने के बाद जीवाणुओं के पनपने का स्थल बन जाता है। इसके अलावा, ज़्यादा कठोरता से एक्सफोलिएट ना करें क्योंकि इससे जलन एवं लालपन बढ़ सकता है और त्वचा रूखी भी हो जाती है।

सेब का सिरका (Apple cider vinegar)

सेब का सिरका एंटीबैक्टीरियल एवं एंटीसेप्टिक गुणों से युक्त होता है जो एक्ने के लालपन को कम करके इसका इलाज भी करते हैं। बराबर मात्रा में सेब के सिरके एवं पानी को लेकर एक प्राकृतिक टोनर (toner) का निर्माण करें। इस टोनर का प्रयोग प्रभावित भाग पर अच्छे से करें और इसे ना धोएं। यदि इसे किसी ठन्डे एवं सूखे स्थान पर रखा जाए तो टोनर काफी हफ़्तों तक सही स्थिति में रहता है। प्रयोग करने से पहले टोनर की शीशी को अच्छे से हिलाना ना भूलें।  

एलो वेरा (Aloe vera)

ठुड्डी पर से एक्ने एवं मुहांसों का लालपन कैसे हटाएं?

एलो वेरा जेल (gel) में एंटीसेप्टिक एवं एंटीबैक्टीरियल गुण होते हैं जो ना सिर्फ सूजन एवं लालपन कम करते हैं, बल्कि एक्ने को ठीक भी करते हैं। अले वेरा जेल दुकान से भी खरीदा जा सकता है या फिर प्राकृतिक रूप से भी प्राप्त किया जा सकता है। यदि आपके घर के आसपास एलो वेरा का कोई पौधा है तो इसका थोड़ा सा अंश काटकर एक चाकू की मदद से बाहरी हरी त्वचा एक तरफ से काट लें एवं जेल बाहर निकाल लें।

नमक स्नान (Salt-bath)

गर्म पानी भरें एवं इस टब में एक कप समुद्री नमक डाल दें। अब प्रभावित भाग को इस पानी में डुबोएं। नमक रोमछिद्रों को साफ़ करने में सहायता करता है एवं एक्ने पैदा करने वाले जीवाणु के विकास को कम करता है। यदि आपके लिए नमक स्नान के उपचार का प्रयोग करना मुश्किल है तो आप नमक की सेंक का प्रयोग कर सकते हैं। एक कप गर्म पानी, जिसमें तीन चम्मच समुद्री नमक मिला हुआ हो, में एक नर्म कपड़े का टुकड़ा डालें। इसे प्रभावित भाग पर कुछ मिनटों के लिए रखें एवं इसके बाद धो दें। आप नमक स्नान एवं नमक सेंक के पानी में आवश्यक तेल की कुछ बूँदें डाल दें।

टॉपिकलजिट जैपर” (Topical “zit zapper”)

इन क्रीमों में 0.5-2% मिश्रण सैलिसिलिक एसिड का होता है जो शेडिंग तत्व का कार्य करते हैं एवं एक्ने को दूर करते हैं। एक्ने से प्रभावित भगा पर क्रीम लगाने से लालपन एवं सूजन कम होता है, क्योंकि यह क्रीम काफी तेज़ी से एक्ने को सुखा देती है।

एस्पिरिन (Aspirin)

मुहांसों के लालपन से 5 मिनट में छुटकारा पाने के उपाय

यह औषधि एक्ने पर जादुई रूप से काम करती है। दो पिसे हुए एस्पिरिन को एक चम्मच पानी तथा एक चम्मच शहद के मिश्रण में डालें। इन सबको अच्छे से मिलाएं एवं एक्ने पर लगाएं। एस्पिरिन में सैलिसिलिक एसिड भी होता है, जबकि शहद में एंटीबायोटिक (antibiotic) गुण होते हैं। ये दोनों मिलकर ना सिर्फ सूजन एवं लालपन कम करते हैं, बल्कि एक्ने भी तेज़ी से ठीक करते हैं।