Hindi tips to use neem oil for dandruff – नीम के तेल से खुश्की दूर करने के उपाय

जब बात घर पर विभिन्न रोगों के इलाज की हो तो नीम का प्रयोग काफी आम है। खुश्की का इलाज करने में नीम का तेल काफी लाभदायक साबित होता है। हालांकि बाज़ार में खुश्की एवं बालों की अन्य समस्याओं का इलाज करने के लिए कई ब्रांड्स (brands) के विभिन्न उत्पाद उपलब्ध हैं, पर इनके प्रयोग से स्थिति और भी बदतर हो जाती है। अतः खुश्की का इलाज करते समय बालों के उत्पाद खरीदने के वक्त हमें काफी सावधान रहना चाहिए। इसके अलावा, खुश्की का इलाज करने हेतु प्राकृतिक उत्पादों का प्रयोग ही श्रेयस्कर सिद्ध होता है। नीचे कुछ ऐसे तरीके दिए जा रहे हैं जिनकी मदद से आप खुश्की का इलाज कर सकते हैं।

डैंड्रफ़ के लिए नीम के तेल का उपयोग कैसे करें? (How to use neem oil for dandruff?)

खुश्की दूर करने के लिए सेब का सिरका एवं नीम का तेल (Apple cider vinegar and neem oil for treating dandruff)

डैंड्रफ दूर करने के बेहतरीन घरेलू उपाय

जब स्वास्थ्य एवं त्वचा से जुड़ी समस्याओं की चिकित्सा की बात आए तो सेब के सिरके का कई प्रकार से प्रयोग किया जा सकता है। नीम के तेल के साथ सेब के सिरके का प्रयोग करने से खुश्की की समस्या को दूर होते देर नहीं लगती। इस उपचार के लिए, थोड़ा सा सेब का सिरका लें एवं अपने सिर की त्वचा पर इसका प्रयोग करें। कुछ देर के लिए इसे अपने सिर की त्वचा पर ही रहने दें एवं इसके बाद अच्छे से सिर धो लें। बालों को आंशिक रूप से सूखने दें एवं अपने सिर की त्वचा पर नीम का तेल लगाएं। प्रक्रिया पूरी होने पर अपने बालों को एक साफ़ तौलिये से पोंछ लें।

खुश्की के लिए नीम के तेल का शैम्पू (Neem oil shampoo for dandruff)

यह उपचार सबसे आसान है एवं काफी बेहतरीन परिणाम प्रदान करता है। इस विधि के लिए अपना सामान्य शैम्पू एवं थोड़ा सा नीम का तेल लें। अपनी हथेली पर अपने बाल धोने के लिए पर्याप्त शैम्पू लें एवं इसमें करीब आधा चम्मच नीम का तेल मिश्रित कर दें। इन दोनों उत्पादों को अच्छे से मिश्रित करके एक समान मिश्रण तैयार करें एवं इस मिश्रण का प्रयोग अपने बालों पर करें। आप सामान्य रूप से ही अपने बालों को धोएं एवं इसके बाद इस मिश्रण को धो लें। बेहतर परिणामों के लिए इस विधि का प्रयोग हफ्ते में तीन बार करें।

जैतून एवं नीम का तेल (Olive oil and neem oil)

शुद्ध नीम के तेल का प्रयोग सिर की त्वचा पर मौजूद खुश्की के लिए करना ठीक नहीं होगा क्योंकि यह आपके सिर की त्वचा के लिए काफी कठोर सिद्ध होगा। अतः हमारा सुझाव यह है कि इसे किसी प्रकार के कैरियर (carrier) तेल के साथ मिश्रित कर दिया जाए। इस विधि के लिए आपको बराबर मात्रा में जैतून एवं नीम के तेलों की आवश्यकता होगी। इन दोनों तेलों को अच्छे से मिश्रित करें एवं सिर पर लगाए जाने वाले किसी भी अन्य सामान्य तेल की तरह इसका प्रयोग अपने सिर की त्वचा पर करें। परन्तु आपके लिए इस तेल को अपने बालों पर कम से कम 2-3 घंटों तक लगाए रखना काफी आवश्यक है। अब अपने बालों को किसी सामान्य शैम्पू से धो लें एवं कंडीशनर (conditioner) का प्रयोग करें।

दही एवं नीम का तेल (Curd and neem oil)

खुश्की की समस्या को लिस्ट्रीन से दूर करने के उपाय

हम सभी जानते हैं कि दही खुश्की का इलाज करने के लिए एक काफी प्रभावी तत्व होता है। जब आप दही में नीम के तेल की कुछ बूँदें डालते हैं तो इसका प्रभाव और भी ज्यादा बढ़ जाता है। इस विधि के लिए नीम के तेल की 3 से 4 बूँदें लें, इन्हें आधे कप दही में डालें और अच्छे से मिश्रित करें। इस मिश्रण का प्रयोग अपने सिर की त्वचा पर करें और कम से कम 20 मिनट तक इसे सिर पर ही रहने दें। अपने सामान्य शैम्पू से इसे धो लें। बेहतर परिणामों के लिए इस प्रक्रिया को हफ्ते में एक बार दोहराएं।

नीम एवं बादाम/नारियल का तेल (Neem oil and almond oil/coconut oil)

शुद्ध नीम के तेल का प्रभाव आपके सिर की त्वचा के लिए अत्याधिक रूप से कठोर भी साबित हो सकता है। अतः सिर पर प्रयोग करने से पहले नीम के तेल को जैतून, बादाम या नारियल के तेल जैसे अन्य तेलों के साथ मिश्रित करना हमेशा ही श्रेयस्कर होता है। हालांकि हल्की मात्रा में अशुद्ध नीम के तेल का प्रयोग सिर की त्वचा पर किया जा सकता है, परन्तु सुनिश्चित करें कि आप नीम का तेल लगाने के एक घंटे के बाद अपने बालों को शैम्पू से धोएं।