Tips for stretch marks in Hindi – स्ट्रेच मार्क्स घटाने के घरेलू नुस्खे

स्ट्रेच मार्क्स लंबे घाव के निशान जैसे होते हैं जो कि आमतौर पर पैर, हाथ, पृष्ठ भाग पर तथा छाती एवं पेट में होते हैं। ये निशान सामान्य से ज़्यादा सफ़ेद होते हैं एवं इनके होने के पीछे कई कारण हो सकते हैं। इनमें से कुछ कारण हैं प्रेग्नेंसी, बढ़ती उम्र के साथ मांसपेशियों का विकसित होना तथा वज़न का बढ़ना आदि। प्रेगनेंसी के दौरान जैसे जैसे गर्भ का विकास होता जाता है स्ट्रेच मार्क्स साफ़ नज़र आने लगते हैं. होने वाली माँ को गर्भधारण से जितनी ख़ुशी मिलती है, डिलीवरी के बाद यही प्रेगनेंसी के निशान परेशानी का सबब बन जाते हैं और जिसकी वजह से कई ड्रेसेस को पहनने में झिझक होने लगती है.

किशोरों को अक्सर पैरों में बढ़ते दर्द की शिकायत रहती है जो कि स्ट्रेच मार्क्स में वृद्धि करता हैं। हॉर्मोन में परिवर्तनों की वजह से युवा किशोरों को स्ट्रेच मार्क्स की शिकायत ज़्यादा रहती है। परन्तु इन निशानों से घरेलू विधियों द्वारा ही आसानी से निपटा जा सकता है।

गर्भावस्था के समय महिलाओं के पेट पर ऐसे दाग आ जाते हैं, जिनकी वजह से वे ना तो अपनी पसंद के कपड़े पहन पाती हैं, बल्कि खुद की सुन्दरता को भी दिखा नहीं पाती हैं। गर्भावस्था के अलावा वज़न का अचानक बढ़ना या घटना, बढ़त में तेज़ी, आनुवांशिक कारक, तनाव और शरीर की अवस्था में बदलाव की वजह से भी स्ट्रेच मार्क्स होते हैं।

स्ट्रेच मार्क्स त्वचा पर महीन रेखाओं के रूप में दिखते हैं। ये आमतौर पर पेट में होते हैं, पर जाँघों, हाथों के ऊपरी भाग, कूल्हों और अन्य भागों पर भी हो सकते हैं।

पलकों की गिल्‍टी ठीक करने के घरेलू नुस्खे

स्ट्रेच मार्क्स हल्का करने के घरेलू नुस्खे (Home remedies to lighten stretch marks)

एसेंशियल ऑइल (Essential oil)

एसेंशियल ऑइल में त्वचा पर प्रेगनेंसी के दौरान पड़ने वाले दाग और स्ट्रेच मार्क्स को कम करने का गुण पाया जाता है. एसेंशियल ऑइल की 4 से 6 बूंदों को ओलिव ऑइल या कोकोनट ऑइल के साथ मिक्स कर प्रभावित हिस्से में अच्छी तरह मसाज करें. इसके नियमित प्रयोग से प्रेगनेंसी के स्ट्रेच मार्क्स हल्का पड़ जायेंगे और धीरे धीरे चले जायेंगे.

वनस्पति तेल से मसाज (Massage with vegetable oil)

वनस्पति तेल हर रसोईघर में उपलब्ध होता है क्योंकि ये खाना बनाने की प्रक्रिया में एक अहम भूमिका निभाता है। त्वचा का खिंचाव (twacha ka khichaw), गर्भवती महिलाओं को पहले कुछ महीनों में तेल द्वारा स्नान कराया जाता है। गर्भवती महिलाओं के पेट के पास स्ट्रेच मार्क्स आसानी से नज़र आ जाते हैं परन्तु अगर उनपर तेल की मालिश की गई तो ये स्ट्रेच मार्क्स को कम करने सकते हैं।

अंडे का सफ़ेद भाग (Egg white)

सभी जानते हैं कि अंडे का सफ़ेद भाग कई तरीकों से कारगर होता है। अंडे के बाहरी भाग में मौजूद प्रोटीन स्ट्रेच स्ट्रेच मार्क्स हल्का करने में काफी सहायक होता है। 2 कच्चे अंडे लें और उन्हें तोड़कर अंडे का सफ़ेद भाग अलग कर लें। अब इसे स्ट्रेच मार्क्स से प्रभावित भाग पर लगाएं । जैसे ही अंडे का बाहरी भाग पूरी तरह सूख जाए,इसे धोकर एक हल्का मॉइस्चराइज़र प्रयोग करें।

विटामिन इ का तेल (Vitamin E oil)

विटामिन इ के तेल में एंटीऑक्सीडेंट (antioxidant) के गुण होते हैं, जो कोलेजन (collagen) को क्षतिग्रस्त होने से बचाते हैं। इसके क्षतिग्रस्त हो जाने से त्वचा को काफी नुकसान हो सकता है। इसके लिए रोजाना 15 से 20 मिनट तक अपने स्ट्रेच मार्क्स पर विटामिन इ के तेल से मालिश करें। यह तेल स्ट्रेच मार्क्स को कम करता है और अगर इसका प्रयोग अच्छे से किया जाए तो स्ट्रेच मार्क्स को दूर करने की भी क्षमता रखता है। विटामिन इ का तेल एक बेहतरीन मोइस्चराइज़र (moisturizer) भी होता है, जिससे त्वचा नर्म मुलायम होती है। इसकी मालिश से रक्त का संचार भी अच्छे से होता है, जिससे स्ट्रेच मार्क्स दूर होते हैं। यह त्वचा की लोच और त्वचा की खूबसूरती में इजाफा करता है।

साँसों की बदबू हटाने के घरेलू नुस्खे और पाए ताजी सांसे

नींबू का रस (Lemon juice)

सदियों से नींबू का प्रयोग त्वचा के स्ट्रेच मार्क्स हल्का करने के लिए किया जाता रहा है। अगर आप भी स्ट्रेच मार्क्स की समस्या से जूझ रहे हैं तो नींबू के रस का प्रयोग आपके लिए कारगर सिद्ध हो सकता है। यहां ताज़े नींबू का प्रयोग ज़्यादा फायदेमंद है। नींबू का एक टुकड़ा काटें और प्रभावित भागों पर नींबू का रस निचोड़कर लगाएं। इसे 10 मिनट तक लगाकर रखें एवं उसके बाद गरम पानी से धो लें।

चीनी (Sugar)

अपने प्राकृतिक सफ़ेद रूप में चीनी स्ट्रेच मार्क्स घटाने के काफी कारगर उपाय है। 1 चम्मच चीनी में बादाम का तेल और नींबू के रस की कुछ बूँदें मिलाकर उसे स्ट्रेच मार्क्स पर लगाने से काफी प्रभावी असर होता है। इस प्रक्रिया को लगातार 1 महीने तक प्रयोग में लाने पर प्रभाव देखने को मिलता है।

विटामिन के (Vitamin K)

विटामिन के आपके शरीर से दाग धब्बे हटाने का सबसे अच्छा पोषक तत्व होता है। हरी सब्जियों जैसे खीरे, बंदगोभी, पालक और प्याज में काफी मात्रा में विटामिन के होता है। हरी सलाद का सेवन रोजाना करने से मार्क्स से छुटकारा प्राप्त होता है।

एलोवेरा जेल (Aloe vera gel)

खुजली को ठीक करने के घरेलू नुस्खे

शरीर पर स्ट्रेच मार्क्स आने का मतलब है शरीर का अपनी प्राकृतिक लचक खो बैठना। एलोवेरा जेल आपको इस प्राकृतिक लचक खो देने की वजह से शरीर में आनेवाले स्ट्रेच मार्क्स घटाने के लिए करता है। आप इस जेल को एलोवेरा के पौधे की पत्ती तोड़कर प्राप्त कर सकते हैं। इसकी पत्ती में एक चिपचिपा पदार्थ होता है जो शरीर की किसी भी प्रकार की तकलीफ चाहे वो अंदरुनी हो या बाहरी उसे ठीक करने में काफी प्रभावी है। यह आपको त्वचा की किसी भी प्रकार की बीमारी से बचाता है। 1 कप एलोवेरा में 2 चम्मच विटामिन इ का तेल मिलाइए। इस मिश्रण को तब तक लगाइए जब तक त्वचा इसे पूरी तरह सोख न ले। रोज़ाना प्रयोग करने से आप अपनी त्वचा में फर्क अनुभव कर पाएंगे।

कोकोआ मक्खन (Cocoa butter)

शरीर के स्ट्रेच मार्क्स पर कोको मक्खन लगाने से दाग कम होते हैं। स्ट्रेच मार्क्स वाले भागों पर दिन में दो बार कोकोआ मक्खन से मसाज करें और 1 महीने में ही आप फर्क देख पाएंगे। कोकोआ मक्खन त्वचा को नमी देकर लचीला बनाता है जिससे स्ट्रेच मार्क्स को कम हो जाती है।

कॉफ़ी (Coffee)

कॉफ़ी में ऐसे गुण होते हैं जो दाग धब्बों को दूर करते हैं और त्वचा की रंगत में निखार लाते हैं। कॉफ़ी के कुछ दानों को लें और इन्हें पर्याप्त मात्रा में गर्म पानी के साथ पीसकर एक गाढ़ा और महीन पेस्ट तैयार करें। आप पानी बिना मिलाए भी कॉफ़ी को पीस सकते हैं। इसमें एलो वेरा जेल को मिश्रित करें और 3 से 5 मिनट तक इस मिश्रण से स्ट्रेच मार्क्स पर अच्छे से गोलाकार मुद्रा में मालिश करें। इसे कम से कम 15 से 20 मिनट तक रखकर एक गर्म कपड़े या तौलिये से पोंछ लें। इसके बाद इसे पानी से धो लें। इसपर मोइस्चराइज़र के रूप में जैतून के तेल का प्रयोग करें और 1 महीने तक रोज़ाना इस प्रक्रिया का पालन करें। कॉफ़ी सेल्युलाईट (cellulite) दूर करने में भी आपकी सहायता करती है।

एसिडिटी के उपचार के आयुर्वेदिक घरेलू नुस्खे

वैकल्पिक तौर पर कुछ कॉफ़ी के कुछ दानों को पीस लें और इसमें थोड़ा सा कोलेजन लोशन (collagen lotion) मिश्रित करें। आप किसी अन्य अच्छी गुणवत्ता वाले आयुर्वेदिक लोशन को भी इसमें मिश्रित कर सकते हैं। गोलाकार मुद्रा में इस पेस्ट को अपनी त्वचा पर रगडें और इससे तब तक मालिश करें, जब तक कि यह त्वचा में घुल ना जाए। इसे पानी से धो लें। रोज़ाना दो बार नहाने से पहले इसका प्रयोग करें।

आलू का रस (Applying potato juice)

घर बैठे स्ट्रेच मार्क्स घटाने के लिये यह सबसे अच्छा नुस्खा है। सिर्फ आलू के रस को प्रभावित भागों में लगाएं या आलू को दो भाग में काटें और कटे स्लाइस को प्रभावित भागों पर रगड़ें। जब ये सूख जाए तो इसे पानी से धो लें। आलू में कई तरह के विटामिन एवं मिनरल्स होते हैं जो स्ट्रेच मार्क्स पर सीधा असर करके उसे कम कर देते हैं।

मॉइस्चराइज़र्स (Moisturizers)

नहाने के बाद मॉइस्चराइज़र्स का रोज़ाना प्रयोग करने से स्ट्रेच मार्क्स को कम हो जाते हैं। इसके लिए आपको वो मॉइस्चराइज़र खरीदने पड़ेंगे जिनमें कोको मक्खन और विटामिन सी भरपूर मात्रा में हो। अपने स्तन, पेट तथा पृष्ठ भाग में मॉइस्चराइज़र लगाएं जहाँ स्ट्रेच मार्क्स होने की ज़्यादा संभावना होती है।

तेल की मालिश (Oil massages)

तेल की मालिश सदियों से लोग स्ट्रेच मार्क्स हटाने और मृत कोशिकाओं को दूर करने के लिए करते आ रहे हैं। यह रक्त के संचार में भी वृद्धि करता है तथा त्वचा के स्वरुप को नर्म और स्वस्थ बनाता है।

चेहरे के दाग धब्बे के इलाज के लिए घरेलू नुस्खे

इसके लिए इन बताये गए तेलों को अलग अलग या एक साथ लें – वीट जर्म ऑइल (wheat germ oil), बादाम का तेल, विटामिन इ का तेल, तिल का तेल, जैतून का तेल, नारियल का तेल, कैस्टर ऑइल (castor oil) या आपकी मर्ज़ी का कोई अन्य तेल। इस तेल से अपने शरीर के प्रभावित भागों पर मालिश करें और इसे नहाने से पहले एक घंटे के लिए छोड़ दें। इसे साफ़ करने के लिए बेसन के स्क्रब (scrub) का प्रयोग करें।

जैतून का तेल (Olive oil)

यह त्वचा को पोषण देने वाला कारक है, जो त्वचा को नमी देकर स्वस्थ बनाकर रखता है। इसमें कई तरह के एंटीऑक्सीडेंट और पोषक तत्व होते हैं, जो त्वचा की कई समस्याओं से आपको निजात दिलाते हैं। शुद्ध और गर्म जैतून के तेल से प्रभावित भागों में मालिश करने से रक्त का संचार बढ़ता है तथा स्ट्रेच मार्क्स भी काफी कम होते हैं। इस तेल को लगाकर आधे घंटे के लिए छोड़ दें, जिससे कि सारे पोषक तत्व शरीर में समा जाएं।

स्ट्रैविटामिन सी (Vitamin C)

खाने में विटामिन सी की ज़्यादा मात्रा लेने से स्ट्रेच मार्क्स को कम किया जा सकता है।

पानी (Water)

पानी में त्वचा को नमी देने और त्वचा के रोमछिद्रों को पोषण देने के कुदरती गुण होते हैं जिससे कि चेहरे की लचक बनी रहती है और स्ट्रेच मार्क्स नहीं होते। हर आधे घंटे में पानी पियें।

अवोकेडो, जोजोबा और मीठे बादाम का तेल (Avocado, jojoba, and sweet almond oil)

मांसपेशियों के दर्द को ठीक करने के घरेलू नुस्खे

तेल के उपचार से स्ट्रेच मार्क्स दूर होते हैं। इसका मुख्य कारण तेल में मौजूद प्रभावी तत्व हैं जो गर्भावस्था के समय के पश्चात स्ट्रेच मार्क्स से आपको छुटकारा दिलाते हैं। अवोकेडो में कई पोषक गुण और वसा की मात्रा होती है और यह स्ट्रेच मार्क्स को हल्का करने में सहायक होता है। जोजोबा का तेल, अवोकेडो और मीठे बादाम का तेल लें। इसमें लैवेंडर और कैमोमाइल तेल की कुछ बूँदें मिश्रित करें। इन्हें अच्छे से मिलाएं और स्ट्रेच मार्क्स पर लगाएं। यह एक शक्तिशाली उत्पाद है जो प्रभावी रूप से स्ट्रेच मार्क्स को दूर करता है।