How to get rid of wrinkles under bum – कूल्हों के नीचे से झुर्रियों को कैसे दूर करें?

अगर आपने अपने कूल्हे (bum) के नीचे स्ट्रेच मार्क्स (stretch marks) , त्वचा के रंग में अनियमित (uneven skin tone) और रफ़ पैच (rough patches) देखे है तो आप सही आर्टिकल पढ़ रही है। कुछ 92% महिलाओं को सेल्युलाईट (cellulite) है। सेल्युलाईट एक फैट सेल्स है जो कोलेजन टिश्यू (collagen tissue) के उपरी परत के नीचे पाए जाते है, जो की त्वचा के मांसपेशियों से जुड़े हुए है।

हाल ही की रिसर्च के अनुसार, महिलाओं का संरचना वर्टीकल कलेक्टिव टिश्यू (vertical collective tissue) के संरचने की तरह है जो बैड के स्प्रिंग मत्त्रेस (spring mattress) जैसे होते है और पुरुषों के फैट सेल्स कोणीय (angled) होते है जिस से कम प्रेशर बनता है। त्वचा विशेषज्ञ (dermatologist) का कहना है की कभी- कभी सेल्युलाईट का बनना भी सामान्य है। कम ब्लड सर्कुलेशन के कारण सेल्युलाईट बढ़ते है।

लोग हमेशा स्वप्ना देखते है की उनके भी सही आकार के बट (butt) हो सकते है, लेकिन बुत कम लोग उमको पाने के लिए कोशिश करते है। ऐसा कोई सीधा उपाय नहीं है जिस से सेल्युलाईट को घटा सके लेकिन कुछ उपाय है, अगर रोजाना उनका पालन किया जाए तो ज़रूर सेल्युलाईट से छुटकारा पाया जा सकता है।

यह केवल व्यायाम नहीं है (It’s not just the exercise)

जब आप सेल्युलाईट को घटाने की ठान लेते है तो यह बिना लाइफ स्टाइल बदले मुमकिन नहीं है। अगर आप सही आहार ले और कुछ व्यायाम करे तो आप श्रेष्ठ परिणाम प्राप्त कर सकते है। इसका यह मतलब नहीं की आप भूखे रहे क्यूंकि भूखे रहने से शरीर के गतिविधियों में अड़चन पड़ती है।

एक स्वस्थ आहार आपके सेल्युलाईट को नियंत्रित रखती है। उदहारण के लिए, ज्यादा नमक खाने से फैट फुल सकता है और इस कारण सेल्युलाईट शरीर में बढ़ सकते है। खाना जिन्मे ज्यादा कार्बोहायड्रेट हो जैसे की चावल और ब्रेड को अपने आहार में ना मिलाये। यह ध्यान रखें की आप ज्यादा सब्जियां और फल का सेवन कर रही है क्यूंकि इनमे पौष्टिक तत्व होते है।

और जैसे की पहले बताया गया था की व्यायाम भी आवश्यक है।

Subscribe to Blog via Email

Join 45,327 other subscribers

फिश स्पा थेरेपी क्या है? फिश स्पा थेरेपी के स्वास्थ्य लाभ

  1. अपने रोजाना के खाने की आदतों को बदले। दिन में 6 बार खाए। आप 3 घंटे से ज्यादा खाली पेट नहीं रह सकती अर्थात आपको हर 3 घंटे के बाद खाना होगा। आपको अपना पेट स्वस्थ खानों से भरना होगा। फ़ास्ट फ़ूड जैसे की फ्रेंच फ्राइस (french fries) और KFC चिकन से आप अपने सेल्युलाईट को बढ़ावा देती है, इसलिए इन फ़ूड से दूर रहें। रोजाना हर 3 घंटे के बाद खाने से आप अपने शरीर में ब्लड सर्कुलेशन को सुधारती है और इस कारण अपने वजन को सही नियंत्रित रख पाती है। इन सब से आपका शरीर फैट को एनर्जी के रूप में उपयोग करना शुरू कर देगा।
  2. दूसरी चीज़ जिसका आपको पालन करना होगा वो है की आपको अपने रोजाना के आहार से कार्बोहायड्रेट (carbohydrate) की मात्रा को घटाना होगा। अपने खाने में शुगर, कूकीज (cookies) , वाइट ब्रेड (white bread) , वाइट पास्ता (white pasta) , आलू , और अन्य को कम मिलाये। आप इन चीजों का उपयोग कम कर सकते है लेकिन ज़रूरी नहीं की आप इनको अपने आहार में बिलकुल भी ना मिलाये।
  3. तीसरी चीज़ जो आपको करनी है वो है अपने आहार में प्रोटीन (protein) की मात्रा को बढाए। रिसर्च के अनुसार अगर आप सुबह प्रोटीन की मात्रा को बढाते है तो आप अपने मेटाबोलिस्म को 30% से बढ़ा पाते है। इसलिए उबले हुए अंडे , केले , पीनट बटर (peanut butter) , दही और अन्य सेहतमंद प्रोटीन का आहार आप खा सकते है। इस से आप पूरे दिन एनर्जी से भरपूर रहेंगे और साथ ही सुस्त महसूस नहीं करेंगे।
  4. अपने पानी की मात्र को बढाए। यह सबसे महत्वपूर्ण आहार है। लेकिन आपको दिन में कितना पानी पीना चाहिए, इस पर भी परिणाम निर्भर है। आपको रोजाना 2 से 5 लीटर पानी पीना चाहिए।

कार्डियो ट्रेनिंग (Cardio training wrinkle hatane ke upay)

फैट को घटाने के लिए और बम (bum) को सेल्युलाईट से दूर रखने के लिए आपको अपने मांसपेशियों को काम पर लेना होगा अर्थात आपको कुछ कार्डियो (cardio) सम्बंधित एक्सेरसाईस को करना होगा। आपको उन स्थानों पर ध्यान देना होगा जहाँ आपको सेल्युलाईट घटाना हो। बहुत से उपाय है जिन से आप कार्डियो व्यायाम कर सकते है लेकिन स्विमिंग, रनिंग (running) और एल्लिप्तिकल (elliptical) श्रेष्ठ कार्डियो वर्कआउट है। आप यह ठान ले की हफ्ते में आप कार्डियो व्यायाम को 4 से 5 बार करें और हर बार 1 घंटे से कम के लिए ना करें।

श्रेष्ठ बट (हिप) एक्सेरसाईस (Perfect butt exercises)

maxresdefault-3

कार्डियो व्यायाम के अतिरिक्त और भी व्यायाम है जो केवल बट (buttock) स्थान पर असर दिखाते है, जिन्हें अगर आप अपने रोजाना के वर्कआउट में जोड़ेंगे तो एक बेहतर परिणाम पा सकेंगे। श्रेष्ठ हिप्स सम्बंधित व्यायाम समय से समय अलग रहते है, लेकिन सबसे श्रेष्ठ व्यायाम है स्कवैट (squat) और लंजस (lunges)। आप कितनी बार इन व्यायाम को करती है उस पर भी परिणाम निर्भर रहता है। शुरुआत के लिए आप दिन में स्कवैट को 5 सेट में करें और हर सेट में इन्हें 10 बार दोहराए। इसका यह मतलब है की समय रहते आप दिन में 50 स्कवैट या लंजस करे। हर सेट के बीच 30 सेकंड का गैप होना चाहिए।

सूर्य नमस्कार आसन, स्वास्थ्य लाभ प्रदान करते हैं।

डंबल स्कवैट (Dumbbell squats hip ke niche wrinkle ke liye)

dumbbell-squat

नितंबों के लिए स्कवैट (squat) श्रेष्ठ है लेकिन आप डंबल (dumbbell) के उपयोग से बेहतर परिणाम पा सकते है। आपको यह करना है की पहले कम वजन के डंबल से शुरू करें। दोनों हाथो में 2.5 पाउंड (pound) के दो डंबल ले। फिर अपने हाथो को एक डायरेक्ट एंगल (direct angel) में रखे, इनकी उंचाई कंधो के सामान्य होनी चाहिए। अपनी पीठ को सीधी रखें, अपने पैरो को आराम से फर्श पर बनाए रखे और स्कवैट करना शुरू करें। आप इन्हें 3 सेट में करें और हर सेट में 10 से 12 बार इसे दोहराए।

किकबैक (Kickbacks)

2015-02-77ead258ffdf5d419d46fc6f70a50f52-1

जिम में साइकिलिंग व्यायाम के स्वास्थ्य लाभ

नितंब के लिए किकबैक (kickback) से आप अपने बट के मांसपेशियों को आकार दे सकती है, इसलिए इस व्यायाम को भी श्रेष्ठ माना गया है। पहले एक चटाई (mat) ले, फिर अपने हाथो को अपने घुटनों पर रखे और आपकी पीठ फर्श के समानांतर (parallel) होनी चाहिए। अब घुटनों को मोड़ते हुए धीरे से अपने दाईने पैर को हवा में उठाये और ध्यान रखे की आपकी जांघ आपके बट से डायरेक्ट एंगल (direct angel) में होनी चाहिए। इस तरह शुरू करें। अब इस प्रक्रिया को बाएं (left) पैर से दोहराए। इस व्यायाम को रोजाना करने से आप देख सकेंगी की आपके शरीर से सेल्युलाईट कम होने लगे है। इस प्रक्रिया में भी आपको दोहराने की आवश्यकता है। आपको 3 सेट करने होगे और हर सेट में एक पैर पर इस प्रक्रिया को 20 बार दोहराना होगा। समय रहते आप अपने बट (butt) के आकार को पसंद करने लगेंगी।

loading...