Natural remedies to treat back pain at home – कमर दर्द के घरेलू नुस्खे

कमर दर्द (Back pain in Hindi) किसी भी उम्र के व्यक्ति को परेशान कर सकता है फिर वह महिला हो या पुरुष.हम में से लगभग प्रत्येक व्यक्ति एक या अधिक बार कमर दर्द का शिकार होता ही है. कमर के निचले, मध्य और ऊपर की तरफ दर्द के साथ साइटिका का दर्द भी एक आम बिमारी है. मेरुदंड में गड़बड़ी, कमजोर मांसपेशियां, गलत पोजीशन में सोने या पोषण में कमी की वजह से कमर दर्द हो सकता है, इसके अलावा अधिक तनाव में रहने और चिंता करने से भी यह समस्या दिखाई देती है.

कमर दर्द का घरेलू इलाज (Remedies to treat back pain in Hindi)

ध्यान रखें (Remember)

कभी भी बहुत भारी सामान या कोई भरी भरकम वस्तु उठाने के पहले सावधान रहे. ज़रूरत से ज्यादा वजन उठाना कमर दर्द का कारण बन सकता है और अधिकांशतः यह देखा जा सकता है. जब कुछ भरी चीज उठायें तो घुटनों को मोड़ कर बैठने की मुद्रा बना लें. अपने हाथ और कोहनी तक का सहारा लेते हुए भरी चीज को उठायें.

मालिश (Massage)

अगर कमर दर्द हो तो मालिश या मसाज एक बहुत अच्छा घरेलू इलाज है. प्रभावित हिस्से में हलकी मसाज लें. किसी हर्बल ऑइल की मदद से मसाज लेनी चाहिए लेकिन हमेशा ध्यान रखें कि मसाज में दबाव नहीं होना चाहिए.

गेंहू के द्वारा उपचार  (Wheat treatment)

एक कप गेंहू में रात भर के लिए पानी में भिगो कर रख दें.दुसरे दिन इस भीगे हुए गेंहूं को  धनिये और खस (Cuscus grass) के साथ मिलाकर पीस लें. एक कप दूध के साथ इस मिश्रण को उबाल लें और कुछ नमिनट तक उबालने पर जब यह गाढ़ा हो जाये तो इसे दिन में दो बार सेवन करें.

अदरक (Ginger)

अदरक में दर्दनाशक और जलनरोधी गुण पाया जाता है. कमर दर्द में इसके सेवन से बहुत लाभ मिलता है. अदरक के टुकड़े को पीस कर पेस्ट बना लें और प्रभावित हिस्से में इs पेस्ट को लगा कर रखें. इसके अलावा अदरक का प्रयोग खाने के साथ या चाय आदि में भी कियता जा सकता है.

बर्फ (Ice pack)

कमर दर्द में सेंक का प्रभाव बहुत आराम प्रदान करने वाला होता है. कमर दर्द और सूजन को कम करने के लिए बर्फ की सेंक ली जा सकती है. इसे घर में तैयार करने के लिए बर्फ के टुकड़ों को एक प्लास्टिक बैग में भरें और एक तौलिये में लपेट कर इसे सेंक के रूप में लें.

Subscribe to Blog via Email

Join 45,326 other subscribers

बलूत का गोंद (Oak tree gum)

ओक ट्री गम या बलूत के पेड़ से निकलने वाले गोंद का प्रयोग कमर दर्द में बेहतरीन होता है इसके फायदों को देखते हुए आज बाज़ार में यह पाउडर के रूप में भी पाया जाता है. सुबह खाली पेट में एक चम्मच ओक ट्री गम का सेवन करने से दर्द में लाभ होता है.

बैठने की मुद्रा (Sitting position)

बैठने की गलत मुद्रा भी कमर दर्द का कारण होती है. अगर आप गलत तरीके से बैठते हैं तो इसका असर कमर और स्पाइन पर पड़ता है. लगातार एक ही स्थिति में बैठे रहने से भी कमर की तकलीफ हो सकती है. अगर आपको काम के दौअर्न अधिक देर बैठे रहने की ज़रूरत पड़ती है तो थोड़े थोड़े अन्तराल में उठकर चलना फिरना करें, इसके अलावा इस दौरान हलकी एक्सरसाइज भी की जा सकती है.

तुलसी (Basil leaves)

तुलसी में दर्दनिवारक गुण पाए जाते हैं जो कमर दर्द में राहत देता है. रोजाना 8 से 10 तुलसी के पत्तों को एक कप पानी में उबाल लें, जब पानी आधा रह जाये तो इसे ठंडा कर लें. इसमें एक चुटकी नमक मिलाकर दिन में दो बार पीने से कमर का दर्द कम होता है.

खसखस (Poppy seeds)

खसखस कमर दर्द का घरेलू उपाय है जो दर्द को कम करता है. खसखस को मिश्री के साथ मिलाकर पीस लें. अब इसे दिन में दो चम्मच सुबह शाम लें. इससे कमर का दर्द कम होता है.

दूध (Milk)

दूध कैल्शियम का एक प्रमुख स्रोत है, कैल्शियम की कमी की वजह से कमर दर्द हो तो नियमित रूप से दूध का सेवन ज़रूरी होता है. आप दूध में शहद मिला कर भी पी सकते हैं. शहद दूध को मीठा स्वाद देने के साथ कमर दर्द में भी राहत देता है.

योग (Yoga)

कमर दर्द को प्राकृतिक रूप से कम करने के लिए योग बहुत फायदेमंद क्रिया है. योग कमर के साथ पूरे शरीर को स्वस्थ रखने में भी मदद करता है इससे शरीर फिट भी बना रहता है. किसी योग प्रशिक्षक की देखरेख में योग करना बेहतर होता है.

loading...