Tips to improve the skin elasticity? – त्वचा की लचक को सुधारने के लिए सुझाव

त्वचा में खींचाव के बाद पहले की पोजीशन में वापस आने की क्षमता को स्किन इलास्टिसिटी / त्वचा की लचक कहते है। स्वस्थ त्वचा में ज्यादा लचक रहती है बल्कि अस्वस्थ त्वचा और सुस्त त्वचा कम लचक वाली होती है। जैसे ही हमारी उम्र बढती है, हमारी त्वचा से लचक कम होती जाती है जिस कारण झुर्रियां, स्पॉट और ब्लैकहैड त्वचा पर उत्पन्न होने लगते है। वातावरण के अनेक कारक के कारण भी त्वचा की लचक कम होती है।

जब एक व्यक्ति की त्वचा से लचक कम होती है तब उनकी त्वचा पर कुछ विशेष परिस्थिति को देखा जाता है। इसे एलास्तोसिस (elastosis) कहते है। त्वचा पर से लचक तब भी कम हो जाती है जब वो व्यक्ति ज्यादा समय सूरज की हानिकारक किरणों में बिताता है। अगर कोई व्यक्ति ज्यादा वजन घटाता है तब भी उसकी त्वचा से इलास्टिक / लचक कम हो जाती है। नीचे इस आर्टिकल में कुछ तरीको को दर्शाया गया है जिस से आप अपने त्वचा की लचक को बनाए रख सकते है।

आपने अनेक प्रकार की त्वचा सम्बंधित समस्या का सामना किया होगा जो मौसम के कारण या अन्य सम्बंधित समस्या के कारण उत्पन्न हुए होते है। जब आपको लगता है की आपकी त्वचा ज्यादा लचकदार नहीं है तो आपको टोनिंग की तैयारी करनी चाहिए।

अगर आप मार्किट में से त्वचा की इलास्टिसिटी को बनाए रखने के स्किन केयर लोशन को खरीदने जायेंगे तो वो आपको कुछ ज्यादा ही महंगा पड़ सकता है। व्यक्ति की बढती उम्र में एजिंग के संकेत एक प्राकृतिक परिस्थिति है। लेकिन आज कल अनेक तरीकों है जिन से आप अपने त्वचा की लचक को बढ़ा सकते है।

त्वचा की लचक आपके लिए सबसे महत्वपूर्ण है क्योंकि इस कारण त्वचा कोमल, फ्रेश और आकर्षित दिख सकती है। लेकिन आज कल प्रदूषण और अन्य कारको के कारण त्वचा की लचक अधिक मात्रा में घटती जा रही है। लोग आज कल अपनी त्वचा पर झुर्रियों को उत्पन्न होते हुए देख रहे है जिस से उनकी सुन्दरता पर असर पड़ता है।

हमे ऐसे कुछ तरीको को ढूँढना चाहिए जिस से हम हमारी त्वचा की लचक को बरकरार रख सकें। नीचे कुछ सुझाव को दर्शाया गया है जिस से आप अपनी त्वचा की लचक को सुधार सकते है।

Subscribe to Blog via Email

Join 45,326 other subscribers

त्वचा की लचक को सुधारने के तरीके (Ways to improve skin elasticity)

चेहरे पर कसाव के लिए मांसपेशियों के व्यायाम (Muscle exercises)

त्वचा की देखभाल के लिए बदलते द्रष्टिकोण – डीसिम

आज कल अनेक मांसपेशियों की एक्स्सरसाईस है जिस से आप अपने मांसपेशियों को टाइट कर सकते है। आपको यह पता होना चाहिए की व्यक्ति की त्वचा एक जीवित अंग है। फैट की परत इसलिए आवश्यक है क्योंकि यह हड्डी और मांसपेशियों को ढकती है। जैसे मांसपेशियां सिकुड़ने लगती है इसका असर त्वचा पर भी पड़ता है। इसलिए रोजाना व्यायाम करने से आप अपने मांसपेशियों को टाइट कर सकती है और इस तरह अपनी त्वचा को आकर्षित दिखा सकती है। व्यायाम से त्वचा कोमल बन जाती है और इस तरह झुर्रियां भी कम होने लगती है।

धूम्रपान ना करें (Don’t smoke)

आज कल लाइफस्टाइल के बदलाव के कारण बहुत से लोग धूम्रपान कर रहे है। पहले धूम्रपान केवल पुरुष करते थे, लेकिन आज कल इसे महिलाए भी करने लगी है। इस धूम्रपान की बुरी आदत से त्वचा के अंदर मौजूद ब्लड वेसल सिकुड़ने लगते है। इस से त्वचा की परत से अनिवार्य पोषण और ऑक्सीजन कम होने लगता है। ज्यादा धूम्रपान करने से त्वचा सुस्त पड़ जाती है। अगर आपको धूम्रपान की आदत है तो आपके मुंह और आँख के पास झुर्रियां उत्पन्न होने लगती है। इसलिए बेहतर होगा की आप धूम्रपान की आदत को त्याग दें।

हानिकारक प्रोडक्ट से दूर रहें (Avoid harsh products)

अनेक प्रकार के हानिकारक प्रोडक्ट आपकी त्वचा को सुस्त और रूखी बना देते है जो बहार से नज़र आ सकती है। अगर आप हानिकारक प्रोडक्ट, साबुन और मेकअप का उपयोग दिनभर करती अहि तो आपकी त्वचा पर आसानी से झुर्रियां उत्पन्न हो सकती है। आप इसके बजाय कुछ उपयोगी घरेलु नुस्खे को अपनाकर अपनी त्वचा को मोइस्चराइज़ रख सकती है और साथ ही सुन्दर भी लग सकती है। अगर ज्यादा मेकअप का उपयोग किया जाता है तो आपकी त्वचा के पोर ब्लॉक होने लगते है। आपकी त्वचा आपको बहुत से संकेत देगी जिस से आप जान सकते है की कुछ तो गलत हो रहा है। इसलिए अपनी त्वचा की लचक को सुधारने के लिए आपको कॉस्मेटिक प्रोडक्ट का उपयोग कम करना होगा।

शरीर की गति (Movement of body)

शरीर की गति एक आवश्यक कारक है जिस से आप अपनी त्वचा की लचक को फिर से प्राप्त कर सकते है। यह मांसपेशियों के मांस को बढाने में सहयोगी है। यह शरीर में खून की मात्रा को बढ़ाता है और त्वचा को सही मात्रा में पोषण और ऑक्सीजन प्रदान करता है। ऑक्सीजन के सप्लाई के कारण त्वचा पर से विषाक्त पदार्थ दूर हो जाएंगे और इस तरह हॉर्मोन संतुलित बने रहेंगे। अगर आपकी त्वचा बहार से सही गति को बनाए रखती है तो आपके शरीर का मेटाबोलिस्म बढ़ सकता है। इस तरह लचक अपने आप बढ़ जायेगी। शरीर की गति से सेरोटोनिन की मात्रा, एन्दोर्फिंस की मात्रा को बढ़ाया जा सकता है। यह आपके शरीर में फ्री रेडिकल पर नियंत्रित बनाए रख सकता है जिस से आपके शरीर को कोई हानि नहीं पहुँचेगी। अपनी त्वचा की लचक को बढाने के लिए आपको ताज़ा खाना ही खाना चाहिए।

ढीली त्वचा में कसाव लाने के लिए सप्लीमेंट (Supplements)

त्वचा की देखभाल के लिए सही सनस्क्रीन का चुनाव कैसे करें?

बढती उम्र के साथ अगर आपको अपनी त्वचा की लचक को बढ़ाना है और सुधारना है तो आपको सप्लीमेंट का उपयोग करना चाहिए। यह सप्लीमेंट आपकी त्वचा के टोन को सुधारेंगे और त्वचा को जितना हो सके उतना स्ट्रेच करेंगे। लेकिन यह सप्लीमेंट को आर्टिफीसियली बनाया जाता है तो इसका प्रभाव एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति पर अलग हो सकता है। यह सप्लीमेंट में विटामिन c भरपूर रहेगा जिस कारण त्वचा साफ़ और झुर्रियों से दूर रहेगी। इन सप्लीमेंट का सेवन करने के बाद आप झुर्रियों का कम शिकार बनेंगे और साथ ही त्वचा आपकी जवान दिखने लगेगी।

त्वचा की लचक / इलास्टिसिटी के लिए क्रीम (Skin elasticity creams)

आप आज कल लोकल से लेकर ब्रांडेड क्रीम को मर्केट से उपलब्ध कर सकते है जो आपकी त्वचा की लचक बढाने में सहयोगी होगी। इन त्वचा की लचक बढाने वाली क्रीम में विटामिन A और रेटिनॉल मौजूद होता है जो बढती उम्र के कारण त्वचा की लचक को कम होने से रोकेंगे। बेहतर होगा की आप उन क्रीम का चुनाव करें जिसमे विटामिन A मौजूद रहता है क्योंकि यह आपकी त्वचा की लचक को सुधारेंगे साथ ही आपकी त्वचा को खतरनाक कैंसर के रोग से भी सुरक्षित रखेंगे। इसमें एंटी ऑक्सीडेंट भी मौजूद होते है जो त्वचा की परत में कोलेजन की मात्रा को बढ़ाएंगे। इस से आपकी त्वचा से फाइन लाइन्स और झुर्रियां दूर हो जायेंगी। आप विटामिन A को प्राकृतिक रूप से भी प्राप्त कर सकते है उसके लिए आपको विटामिन A से भरपूर फलों को खाना होगा।

सूरज से दूर रहें (Stay away from sun se twacha me kasaw)

त्वचा की लचक कम होने का सबसे मुख्य कारण सूरज है। अगर आप ज्यादा समय सूरज की किरणों में बिताते है तो आपकी त्वचा की लचक कम हो सकती है। अगर आपको अपनी त्वचा की लचक को फिर से पाना है तो बेहतर होगा की आप सूरज से दूर रहें। जब तापमान ज्यादा है तो घर से बहार ना निकलें। दोपहर में सूरज की किरणों का प्रभाव ज्यादा होता है। जब ज्यादा धुप पड़ रही होती है या तापमान अधिक होता है तब आपको घर से बहार नहीं आना चाहिए। इसलिए घर से बहार निकलने के लिए आपको सुबह या शाम का इंतज़ार करना होगा। अगर आप अधिक तापमान में रोड पर चल रहे है तो बेहतर होगा की आप अपने साथ छत्री को लेकर चलें।

ढीली त्वचा में कसाव लाने के लिए सर्जरी (Surgery)

एक और तरीका जिस से आप पानी त्वचा की लचक को सुधार सकते है वो है सर्जरी। जब आप मोटे व्यक्ति से पतले बन जाते है तब आपकी त्वचा बहुत ही रस भरे बनावट को खो देती है जिस कारण आपकी त्वचा में लचक नहीं रहती है। इस परिस्थिति में त्वचा को टाइट बनाना मुश्किल हो जाता है। उदहारण के लिए अगर एक व्यक्ति का वजन 120 kg है और वो अब 85 kg का है तो उसकी त्वचा अब पहले की तरह टाइट नहीं रह सकती। इस कारण त्वचा का मांस सिकुड़ जाता है और इस ही कारण उस व्यक्ति की त्वचा पर झुर्रियां उत्पन्न होने लगते है जैसे बड़े उम्र के व्यक्ति में होता है। इसलिए बाकी तरीको के साथ त्वचा की लचक को बढाने के लिए आप सर्जरी भी करा सकते है जिस से त्वचा पर से झुर्रियां दूर हो जाएंगी।

फल और सब्जियाँ (Fruits and vegetables)

बरसात के दिनों में त्वचा की देखभाल कैसे करें?

अनेक फल और सब्जियाँ एंटी ऑक्सीडेंट से भरपूर होती है जिस से आप अपने शरीर से अधिक ऑक्सीडेंट को निकाल सकते है। फ्री रेडिकल एक और कारण है जिस से त्वचा की लचक कम होने लगती है। अगर आप ताज़े फल और सब्जियों का सेवन कर सकते है तो आप अपने शरीर से इन फ्री रेडिकल को निकाल सकते है। कुछ फल और सब्जियाँ जिन्मे यह क्षमता होती है वो है संतरे, ब्लूबेर्री, हरे पत्ते की सब्जियाँ। यह भी अनिवार्य है की आप उन फल और सब्जी का सेवन करें जो जूस और पानी से भरपूर हो। इस से त्वचा स्वस्थ और लचकदार बनती है। इन फलों का सेवन करने के बाद आपको अनिवार्य पोषण भी प्राप्त होते है। अपनी त्वचा को नियंत्रित बनाए रखने के लिए और झुर्रियों को त्वचा से दूर रखने के लिए आपको रोजाना एक फल का सेवन करना चाहिए। इन फलों के कारण आपकी त्वचा की लचक फिर से लौट आती है।

ढीली त्वचा में कैसे लाएं एसेंशियल आयल से (Essential oils)

लोग अनेक प्रकार के मोइस्चराइज़र और क्लेंसेर का उपयोग अपनी त्वचा के लिए करते आ रहे है लेकिन उन्हें यह नहीं पता की इनमे से कौन सा तरीका श्रेष्ठ है। इन प्रोडक्ट से जुड़े साइड इफ़ेक्ट को भी ध्यान में रखना चाहिए। अनिवार्य/ एसेंशियल आयल भी एक महत्वपूर्ण चीज़ है जो त्वचा की लचक को सुधार सकती है। आपको कुछ एसेंशियल आयल जैसे जोजोबा आयल, ओलिव आयल, लैवेंडर आयल और अन्य का मिश्रण लेना होगा और इनसे सही मिश्रण को बनाना होगा। इस मिश्रण को अपने चेहरे और हाथ पर लगाने से आप अपनी त्वचा की लचक को फिर से बढ़ा सकते है और इस तरह इस से सहायता प्राप्त कर सकते है।

आहार में प्रोटीन (Protein in diet se twacha me kasawat)

अगर आपके शरीर में सही मात्रा में प्रोटीन नहीं है तो अब सही समय है की आप अपने शरीर में प्रोटीन की मात्रा को बढाए। इसके लिए आपको अपने आहार में प्रोटीन को मिलाना होगा। सेल्स के मैट्रिक्स प्रोटीन से बने होते है। इसलिए त्वचा की सही लचक को प्राप्त करने के लिए आपको प्रोटीन के साथ सही कोलेजन की भी आवश्यकता है। इसके लिए आपको उन खानों के पदार्थ का उपयोग करना चाहिए जिन्मे ज्यादा मात्रा में प्रोटीन मौजूद होता है जैसे की अंडे, सारडाइन, बादाम और पीनट बटर।

फिश आयल (Fish oil)

एक और सामग्री जो त्वचा की लचक को बढाने के लिए क्षक्षम है वो है फिश आयल। आप मार्किट में उपलब्ध सी फिशेस से इन आयल को एक्सट्रेक्ट कर सकते है। आप डिपार्टमेंटल स्टोर से रेडीमेड फिश आयल भी प्राप्त कर सकते है। मेडिकल स्टोर में फिश आयल कैप्सूल भी मौजूद होते है। इनसे आप अपनी त्वचा की लचक को प्राप्त कर सकते है और उन्हें सही आकार प्रदान कर सकते है। लेकिन इसके लिए आपको सही डोसेज को बनाए रखना होगा जिसके लिए आपको फिजिशियन से परामर्श लेना होगा और सही डोसेज में इन कैप्सूल का सेवन करना होगा।

loading...