ब्रेस्ट बढ़ाने के लिए आयुर्वेदिक उपाय, व्यायाम – Stan badhane ke liye ayurvedic dawa aur vyayam

बहुत सी लड़कियों अपन स्तनों के आकार को लेकर बहुत चिंतित रहती हैं। आपके पास जो हैं उसे सोच के हमेशा खुश रहना चाहिए। आपके लिए आपका शरीर बहुत महत्वपूर्ण हैं यह हमेशा स्वस्थ्य और मजबूत रहने के साथ साथ आपको हमेशा आत्मविश्वास से पूर्ण और खुबसूरत भी दिखना चाहिए। अगर आप अपने स्तनों का आकर सच में बढ़ने चाहते हैं तो इसके लिए कई उपचार यहाँ दिए हुए हैं जो आजमाने में बहुत सरल और सुविधाजनक है। ब्रेस्ट का आकार बढ़ाने के आसान तरीके इस प्रकार हैं,

ब्रेस्ट का आकार बढ़ाने के आसान तरीके और स्तनों को बढाने के तरीके (How to increase bust size at home)

जो सबसे पहला तरीका हैं स्तनों को बढाने का वो हैं रोज़ व्यायाम करना। आपको रोजाना व्यायाम और संतुलित आहार लेना चाहिए। पुश अप्स से एक बहुत अच्छा व्यायाम हैं जो आपके स्तनों के आकार को बड़ा सकता हैं।  यह व्यायाम आपकी छाती के हिस्से को बढाती हैं जिसकी वजह से आपके स्तन भी बढ़ जाते हैं। दिन भर में कम से कम 15 के क्रम में 3 बार पुश उप्स करने चाहिए। ज़मीन पर पैर पेट के बल लेट जायें और अपने हाथों को अपने बगल में मोड़ के रखें। जब बगल में सेट हो जायें तो आपके हाथ आप उन पर जोर दे कर अपने शरीर को ऊपर और नीचे उठा सकते हैं। याद रखें की व्यायाम करते वक्त आपके पैर जमीन में ही टिके रहे। आप डम्बबेल भी उठा सकते हैं अपने स्तनों को बढ़ाने के लिए। आप ज़मीन पर लेट जायें और डम्बबेल उठा के अपनी छाती पर रखें इस व्यायाम को 6 और 12 के क्रम से 3 बार करें एस्ट्रोजन युक्त भोजन करे। इसोमेत्रिक व्यायाम स्तनों को बाधा करने के एक और तरीके का व्यायाम हैं आप जमीं पे खड़े हो जायें और पैरों को इतना खोल लें जितने आपके कन्धों की चौडाई हैं अपनी बाखीं को आगे की तरफ लायें और नहाने वाली तौलिये को हाथ में पकडे और दोनों तरफ से खींचे इसे कम से कम ३ बार करें। इन व्यायाम को करने से निश्चित ही आपके स्तनों का आकर बढ़ जायेगा।

छोटे स्तनों को बड़ा प्रतीत करवाने के नुस्खे

स्तन का आकार बढ़ाने के उपाय में भोजन का विशेष महत्व है। स्तन का आकार बढ़ाने वाले आहार, एस्ट्रोजन की मात्रा अपने खाने में बढ़ा सकते हैं जैसे की सोया उत्पादों को आप निश्चित ही अपने आहार में शामिल करें। एस्ट्रोजन की मात्र बढ़ने के लिए आप टोफू, सोया बीन्स, सोया चीज आदिका सेवन कर सकते हैं। बाज़ार में एस्ट्रोजन के लिए बहुत दवाइ भी मिलती हैं आप उनका सेवन भी कर सकते हैं।

अगर आपका वजन बढेगा तो आपके स्तनों का आकर भी बढ़ जायेगा तो इसलिए संतुलित आहर लें। ब्रेस्ट लूस होना भी एक समस्या है इसीलिए लिए जाने वाले आहार का खास ध्यान रखें।

मसाज से स्तन बढ़ाने का प्राकृतिक उपाय (स्तनों का आकार बढ़ाने के लिए मालिश)

अगर आप घर पर अपने स्तनों का आकार बढ़ाना चाहती हैं और इसके लिए केवल प्राकृतिक तरीका अपनाना चाहती हैं जो आसान भी हो, तब आपको मसाज या मालिश का सहारा लेना उपयोगी हो सकता है। मालिश से रक्त परिसंचरण या ब्लड सर्कुलेशन बढ़ता है और मांसपेशियों में भी उपरी दबाव की वजह से विकास होता है। ब्रेस्ट मसाज के लिए आप किसी भी प्राकृतिक और शुद्ध तेल  का इस्तेमाल कर सकती हैं, इसके लिए नारियल, जैतून, सरसों या बादाम का तेल लिया जा सकता है। अपने हाथों में तेल लेकर स्तनों पर गोल घुमाते हुए हलके दबाव के साथ मसाज करें। मसाज में हाथों को क्लॉक वाईस घुमाएं। इस प्रक्रिया को दिन में दो बार नियमित रूप से करने पर स्तन का आकार बड़ा होता है।

गर्भावस्था के दौरान भी स्तनों का आकार बढ़ जाता हैं।

ब्रेस्ट बड़ा करने के लिए मेकअप भी एक अच्छा विकल्प हो सकता है। लेकिन यह तभी संभव हैं जब आपने गहरे गले के कपडे पहने हों। लेकिन इसकी आदत न डालें क्यूंकि हर मौके पर यह उपाय अच्छा नहीं लग सकता। आप मेक अप में कसीलर का इस्तेमाल कर सकते हैं अगर आपके पास नहीं हैं तो उसकी जगह पे आप गहरे रंग का ऑय शैडो इस्तेमाल कर सकते हैं।

पुश अप ब्रा पहनने से आपके स्तन और बढे लगते हैं। आप अपने सामान्य आकार से ज्यादा का भी ले सकते इससे आपके स्तन का आकर भी बढ़ा हुआ प्रतीत होता हैं। चेस्ट टाईट करने के तरीके में ब्रा आपकी मदद कर सकती है। आपको ऐसी ब्रा पहने के बाद अच्छा महसूस होगा और आप उसके ऊपर जब कोई टॉप या ब्लाउज पहनेंगे तो आपका आत्मविश्वास और बढ़ जायेगा।

आप बाज़ार से चिकन फिल्लेट्स भी kharid सकते हैं इनके इस्तेमाल से आपके स्तन गोल और सुडोल दिखेंगे। वह आपकी त्वचा के ही रंग के और पारदर्शी रंग के आते हैं तो कोई पता नहीं कर सकता की आपने क्या इस्तेमाल किया हुआ हैं।

आप अपने स्तनों को बढ़ने के लिए बाज़ार में मिलने वाली क्रीम भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

Subscribe to Blog via Email

Join 44,900 other subscribers

कुछ और तरीके भी हैं जिससे की आप अपने स्तनों को बढ़ा सकते हैं जैसे की सर्जरी, इलेक्ट्रिकल एकुपंक्चर, फिल्लेर्स जैसे की इंजेक्टशन आदि। जो हमने ऊपर इस लेख में उपाय बताएं हैं उनका कोई विपरीत प्रभाव नहीं हैं।

खूबसूरत ब्रेस्ट प्राप्त करने के टिप्स

Stan badhane ke liye ayurvedic dawa (ब्रेस्ट बढ़ाने के लिए आयुर्वेदिक उपाय)

स्तनों का आकार हर महिला के क्षेत्र में अलग हो सकता है।  यदि आप प्राकृतिक तरीकों से अपने स्तनों के आकार में वृद्धि चाहती हैं, तो इसके कुछ तरीके नीचे दिए गए हैं –

जैतून का तेल (stan ka aakaar badhane ke Olive Oil)

जैतून का तेल पोषक तत्वों का बेहतरीन स्त्रोत है और रक्त का संचार बेहतर करने के लिए जाना जाता है। इसमें फ़यटोएस्ट्रोजन्स (phytoestrogens) होते हैं जो आपके शरीर में एस्ट्रोजेनिक (estrogenic) गतिविधि की नकल करते हैं और इसी वजह से इनका प्रयोग आपके स्तनों का आकार बढ़ाने में किया जा सकता है। थोड़ा सा जैतून का तेल (तकरीबन 2 चम्मच) लें और इसे अपनी हथेलियों के बीच रगड़ें। इसके बाद इससे अपने स्तनों पर हल्के हाथों से 5 से 10 मिनट तक मालिश करें। इस विधि का प्रयोग दिन में एक से दो बार करें।

जंगली रतालू (stan ka aakar badhane ke Wild Yam)

जंगली रतालू का आमतौर पर प्रयोग स्तनों की कोशिकाओं का स्वास्थ्य बनाये रखने के लिए किया जाता है। यह महिलाओं के प्रजनन आधारित स्वास्थ्य के लिए काफी फायदेमंद होता है। जंगली रतालू में डायोसजेनिन (diosgenin) नामक फाइटोएस्ट्रोजन (phytoestrogen) होता है जो स्तनों की कोशिकाओं की बढ़ोत्तरी में सहायता करता है। 2 चम्मच जंगली रतालू की जड़ को एक कप पानी में डालें एवं एक पतीले में इसे उबलने दें। 5 मिनट तक इसे उबालने के बाद उतार लें। इसके ठंडा होने से पहले इसका सेवन कर लें। आप इसमें स्वाद के लिए वैकल्पिक तौर पर शहद का मिश्रण कर सकते हैं। इसका प्रयोग दिन में कम से कम दो बार करें।

ब्रेस्ट का आकार बढ़ाने के लिए दोंग काई की जड़ (Dong quai root)

यह शरीर के हॉर्मोन (hormone) पर नियंत्रण रखने का सबसे प्रभावी उपचार माना जाता है। यह कई बीमारियों से लड़ने में आपकी सहायता करता है, तथा इसका सेवन करने से आपको अपने स्तनों का आकार बढाने में भी काफी मदद मिलती है।

छाती बढाने के देसी इलाज के लिए लाल दूब (Desi ilaj for breast size increase with red clover)

यह खाद्य पदार्थ कैल्शियम, फॉस्फोरस, क्रोमियम, पोटैशियम और विटामिन सी (calcium, phosphorus, chromium, potassium, and vitamin C) का काफी बेहतरीन स्त्रोत होता है। यह हॉर्मोन को कार्यशील बनाने वाले एक तत्व, जिसे आइसोफ्लावोंस (isoflavones), से भी पूरी तरह भरपूर होता है। यह तत्व स्तनों का आकार बढाने के कार्य में भी आपकी काफी सहायता करता है।

स्तनों का आकार बढाने के लिए और स्तन बढ़ने के घरेलू उपाय मेथी के बीज से (Stan badhne ke gharelu upai with fenugreek seed in Hindi)

मेथी के बीज के अंश का सेवन करने से हमें फाइटोएस्ट्रोजन की प्राप्ति होती है, जिसके फलस्वरूप हमारे स्तन की ग्रंथियों में काफी बढ़त दर्ज की जाती है। आप मेथी के बीजों के अंश का प्रयोग कई प्रकार के भोजन बनाने की प्रक्रिया में कर सकते हैं।

ब्रेस्ट बढ़ाने के लिए हॉप का फूल (Sthan ka aakar badana ke liye hop flower )

यह फूल फ्लेवनॉइड्स (flavonoids) का काफी अच्छा स्त्रोत होता है, जिसके फलस्वरूप स्तन की ग्रंथियों का विकास काफी तेज़ी से होता है तथा हॉर्मोन के उत्पादन की गति भी काफी सुचारू रूप से चलती रहती है। छाती बनाने के उपाय, आप कई प्रकार के व्यंजनों में हॉप के फूल का इस्तेमाल करके इसके स्वाद का आनंद ले सकते हैं, एवं इसके गुणों से फायदा भी प्राप्त कर सकते हैं।

छाती बढाने का उपाय

स्तनों का आकार बढ़ाने के लिए सॉ पाल्मेटो बेरी (breast ke liye Saw palmetto berry bade)

यह एक प्रकार का तेल है, जिसमें फाइसोस्टेरोल्स (physosterols) पाए जाते हैं। यह तेल आपके स्तन की ग्रंथियों की बढ़त में काफी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है और उन्हें सकारात्मक रूप से प्रभावित करता है। इसी वजह से स्तनों को बड़ा करने की प्रक्रिया में इस तेल का काफी अहम योगदान होता है।

छाती बनाने के उपाय डेण्डीलायन की जड़ें (Dandelion root se bade satan kaise dikhaye)

यह जड़ स्तनों की नयी कोशिकाओं और तंतुओं के उत्पादन की प्रक्रिया के दौरान काफी महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। इसी कारण से स्तनों को बड़ा करने के पीछे इस जड़ का काफी अमूल्य योगदान होता है।

छाती बनाने के तरीके और स्तनों को बड़ा करने के लिए व्यायाम (Exercises for breast enlargement)

ऐसे कुछ व्यायाम भी हैं, जिनका सृजन स्तनों के आकार को बढ़ाने के लिए किया गया है।

छाती बनाने के तरीके के लिए पुश अप्स (Push-ups se bade vaksh)

पुश अप की मदद से आपके स्तनों का आकार बढ़ने में काफी मात्रा में मदद मिलती है। इस व्यायाम को करने से आपकी छाती का भाग मज़बूत और काफी चौड़ा होता है, जिसके फलस्वरूप आपके स्तन बड़े और आकर्षक हो जाते हैं। पुश अप का व्यायाम करने के लिए आपको पेट के बल ज़मीन पर लेटने से शुरुआत करनी होगी। इस समय अपने हाथों को किनारों पर मोड़कर रखें तथा हथेलियों को सीधे तरीके से ज़मीन पर रखे रहें। अब अपने शरीर का ऊपरी हिस्सा उठाएं। ध्यान रखें कि इस समय आपके घुटने और बाँहें बिलकुल सीधे रहने चाहिए। अब अपने शरीर को तब तक आगे धकेलें, जब तक आपकी बाँहें सीधी ना हो जाएं। अब धीरे धीरे वापस ज़मीन पर आएं और इस प्रक्रिया को दोबारा अच्छे से दोहराएं।

स्तनों का आकार बढ़ाने के लिए वाल प्रेस (Wall press)

वाल प्रेस या दीवारों को धकेलने का व्यायाम आपके स्तनों का आकार बढ़ाने के सबसे प्रभावी व्यायामों में से एक माना जाता है। इस व्यायाम को नियमित रूप से करने के फलस्वरूप आपकी छाती की मांसपेशियों की प्रभावी रूप से बढ़त होती है तथा उनमें काफी मज़बूती भी आती है। इस व्यायाम को करने के लिए एक दीवार के सामने खड़े हो जाएं और अपनी हथेलियों को सीधे रूप से दीवार के ऊपर रख दें। अब अपनी कोहनियों को मोड़े बिना दीवार की विपरीत दिशा में धक्का दें। इसी अवस्था में 10 सेकंड तक रहें तथा इसके बाद एक छोटा सा अंतराल लें। इस प्रक्रिया को 15से 20 बार दोहराएं।

गर्भावस्था के बाद स्तनों को सुडौल कैसे रखें?

छाती बढाने के लिए लिए योग (ब्रेस्ट बड़ा करने के Yoga)

छाती बनाने के तरीके, योग की कई मुद्राएं होती हैं जैसे भुजंगासन, गोमुखासन, वृक्षासन आदि, जिनकी मदद से आप अपने स्तनों का आकार बढ़ाकर उन्हें काफी आकर्षक बना सकती हैं।

ब्रेस्ट आकार बढ़ाने के लिए व्यायाम (stan ka aakar badhane ke vyayam with photos)

breast_exersizes

loading...