Tips and ideas to make your relationship stronger – टिप्स और उपाय से अपनी रिलेशनशिप को मजबूत बनाएँ

जैसे जैसे महीने और साल गुज़रते जाते हैं, लोग अपनी नीरस रिलेशनशिप में ढलते चले जाते हैं। वे रिश्तों में अपनी विचारशीलता, धैर्य, शिष्टता, समझदारी और सामान्य सी कोशिश को खो बैठते हैं। इनका परिणाम यह होता है की उनके रिश्ते कमजोर पड़ जाते हैं। अंत में आपको अपने रिश्तों को मजबूत करने के लिए उन पर काम करना पड़ता है। यहाँ हम आपको रिलेशनशिप को मजबूत और बेहतर बनाने के लिए कुछ सुझाव और उपाय दे रहे हैं।

किसी रिश्ते में रहने का मतलब एक प्रकार के ठहराव की तरह होता है। पर इसे लगातार बेहतर बनाने की कोशिश और इस पर ध्यान देते रहना बहुत ही कठिन काम है। अगर आपकी नई नई शादी हुई है या ऐसे लोग जो किसी तरह की दूरियों के साथ एक रिलेशनशिप हो, उनके रिश्तों में मजबूती के लिए हम आपको कुछ केप्सुल्स दे रहें हैं।

शेयर करें (Shairing)

आपका प्यार, आपका डर, आपकी समस्या और आपकी ज़िम्मेदारी सभी बातों को अपने पार्टनर के साथ बाटें। अपनी निजी मामलों से उसे दूर रखना उसे अपनी जिंदगी से बाहर रखना है।

वित्तीय मामलों पर बहस ना करें (Don’t argue over financial)

वित्तीय मामलों को लेकर झगड़ना और एक दूसरे पर उंगली उठाना या फिर फिर कहना की घर की जरूरतों को पूरा करने के लिए तुम पैसे नहीं कमा रही हो, या फिर कुछ और बहस। उपायों को आज़माकर आप बचत कर सकते हैं और इस बात पर चर्चा करें कि, कैसे और अधिक पैसे कमाए जा सकते हैं।

अपने प्यार को प्राथमिकता दें (Make your loved one as your first priority)

जब आप दोनों चर्चा कर रहें हों और उसी दौरान कोई फोन कॉल आ जाए तो उसे तब तक बिलकुल ना उठाएँ जब तक आपके पार्टनर की पूरी बात खत्म ना हो जाए। उसके बाद ही फोन उठाएँ या कॉल बैक करें।

सरप्राइज़ कॉल करें (Make a surprise call)

बस ऐसे ही अचानक उसे फोन कॉल करें और आइ लव यू बोलें।

Subscribe to Blog via Email

Join 45,331 other subscribers

दोस्त और हमसफर बनें (Be a friend and a partner)

अपने पार्टनर के साथ बेस्ट फ्रेंड की तरह बर्ताव करें , उन बातों को परे रखें जो आप अपने बेस्ट फ्रेंड से नहीं कह सकते।

थैंक यू बोलें (Say thank you)

प्यार और परवाह की हर उस बूंद के लिए उसे थैंकयू बोलें जिसकी बारिश वो आप पर करता रहता है। हर बात के लिए अलग से थैंक यू कहें।

उसके परिवारवालों की आलोचना ना करें (Don’t criticize his family members)

अगर वो अपने परिवार का कोई मुद्दा उठाए तो आपके पास अगर कोई अच्छी राय हो तो आप दें, आलोचना ना करें।

बिस्तर में भोजन परोसें (Serve the food in bed)

अगर आपका साथी दिन दिन भर काम की अधिकता की वजह से थका हुआ है और बार बार बिस्तर पर लेटता हो तो आप आज खाना उन्हे बिस्तर पर ही परोस दें।

पहचानें व प्रोत्साहित करें (identify and appreciate)

अगर आपके पार्टनर किसी भी काम जैसे पढ़ाई, अपने काम या घर को व्यवस्थित रखनें जैसे कार्यों को अच्छी तरह करते हैं या उन कामों में अच्छे हैं तो उनकी इस क्षमता को पहचानकर आप अपने तरीके से उन्हें प्रोत्साहित करें।

अर्थपूर्ण बातें करें (Make a meaningful conversation)

अपने साथी के करीब रहकर अच्छा समय व्यतीत करें। कोशिश करें की आपके बीच होने वाली बातें अर्थपूर्ण और यादगार हो।

क्षमा मांगें (apologize)

उनसे माफी मांगें। आपको जब भी महसूस हो की आपके द्वारा कुछ गलत हुआ है तो इस बात के लिए उनसे क्षमा मांगें।

अपने पार्टनर को उनके लिए समय दें (Give time to your partner to play)

कुछ लोगों को टीवी या कम्प्युटर पर गेम खेलना या चिपके रहना पसंद होता है, पर वहीं कुछ लोगों को इन उपकरणों पर गेम खेलना अच्छा नहीं लगता। तो अपने साथी को खेलने का समय दें और जब वो उनके साथ खेल रहें हों तब उन्हें उन प्रत्येक क्षण का आनंद लेने दें। इससे आपका रिश्ता मजबूत होता है और आपने उन्हें उनके लिए जो समय दिया, इसके लिए वह आपकी सराहना करेंगे।

पूरी बात कहने दें (Let your spouse complete the talk)

इससे पहले की, हमारे पार्टनर वास्तव में हमसे क्या कहना चाहते हैं, पूरी बात सुने बिना ही हम में से बहुत से लोग अपनी बात शुरू कर देते हैं। उन्हें अपनी बात पूरी कर लेने दें उसके बाद आप अपनी बात शुरू करें।

उन्हें बताएं (Tell him/her)

आपके साथी को यह जानने का मौका दें की आप किस तरह बड़े हुए हैं। आप किस तरह की संस्कृति का पालन करते हैं और आपके आस पास आपको कैसा माहौल मिला है। इससे उन्हें आपकी उन बातों को समझने में मदद मिलेगी जिनके लिए कभी उन्होनें आपके साथ ऊंची आवाज़ में बात की हो, और जो गलतियाँ आपसे अनजाने में हुई हों।

अपने साथी पर विश्वास रखें (Trust your partner)

उन्हें अपनी इच्छाओं के साथ स्वतंत्र रहनें दें। हमेशा ना पूछतें रहें की वो कहाँ गए थे, कब बाहर गए। उन पर विश्वास रखें और अपने इस विश्वास का अहसास उन्हें दिलाएँ।

अलग अलग समय व्यतीत करें (spend time apart)

रिलेशनशिप पूरी तरह से एक प्रकार का संतुलन ही है। यद्यपि यहाँ हम अपनी ही बात का प्रतिवाद कर रहें हैं। आपको यह भी पता होना चाहिए की आपको एक दूसरे के साथ क्वालिटी टाइम बिताना चाहिए पर, लगातार लंबे समय तक लगातार प्यार करते हुये एक दूसरे के साथ रहना आपकी रिलेशन शिप के लिए अच्छा नहीं होता । ऐसा हो सकता है कि, आप पाएँ की आपके प्रति आपके साथी का व्यवहार चिड़चिड़ा होता जा रहा है जिसकी आपने कल्पना ना की हो। इसके अलावा आपके रिश्ते में भी बोरियत की शुरुआत हो जाती है। अगर आपके अपने कोई शौक या दिलचस्पी है तो आप पाएंगे कि, आप ज़्यादा सेहतमंद , उत्साहित, और संतुलित हैं, और इनका प्रभाव आपके रिश्तों पर भी पड़ेगा। कुछ समय अपने पार्टनर से दूर बिताने कि यह चालाकी परिभाषित करती है कि, “कितना समय” आप अपने पार्टनर से अलग रहना चाहते हैं? अगर कभी आप यह करने के लिए तैयार होते हैं तो कुछ ऐसा करें जो रोमांचक हो। यह कोई चैरिटी का काम हो सकता है, दोस्तों के साथ कोई पिकनिक या कोई मैराथन।

करें ज़्यादा सेक्स  (Make more love)

एक लंबे और उबाऊ दिन के बाद क्या कोई नहीं चाहेगा कि कोई उन पर प्यार कि बारिश करे। वो इसे एक से ज़्यादा बार भी चाह सकतें हैं। तो अगर यह अनरोमांटिक लगता है तो हफ्ते में कुछ और ज़्यादा बार आर आप इसे बेहतर बना सकते हैं। सेक्स केवल कुछ समय कि फुर्ती या उन्माद नहीं होता बल्कि इससे आपके रिश्तों को भी लाभ मिलता है। सेक्स क्रिया के दौरान ऑक्सीटोसिन नामक हॉर्मोन का स्त्राव होता है जिसे “लवड्रग” कहते हैं, यह प्रेम के एहसास को बढ़ाने में मदद करता है। यही वजह है जिसके कारण एक स्त्री और पुरुष के बीच संबंध और भी प्रगाढ़ हो जाते हैं। यह हमें आरामदायक स्थिति के साथ एक दूसरे के बीच विश्वास के एहसास को भी स्थापित करता है। हालांकि आपको यह विश्वास होना चाहिए कि आप और आपके साथी इससे और अधिक पाने के लिए इसे प्राथमिकता दे रहें हैं। इसके अलावा सेक्स आपको अपने साथी के प्रति उदार भाव को भी बढाने में मदद करता है। अगर आप सेक्स के लिए बहुत थके हुये हैं तो इसे सुबह सबसे पहले या फिर घर पहुँचते ही सबसे पहले करें।

मामूली बातों पर उदास न हों (Do not get upset over trivial matters)

हो सकता है कि आपको याद न हो कि कितनी बार आपने अपने साथी से नाश्ते के बाद प्लेट साफ कर के रखनें को कहा हो या आपने कितनी बार बोला हो कि वो अपने मोज़े घर में इधर उधर न रखें। पर आपको इन छोटी छोटी बातों के लिए बहस नहीं करनी चाहिए, अगर आप अपने साथी से नाराज़ हों तो अपने गुस्से को बाहर निकाल दें और अपने आप को विश्वास दिलाएँ कि ऐसा वापस नहीं होगा। ये मामूली बातें उस लायक नहीं होतीं जिन पर बहस कि जाए। इसके अलावा भी कई रास्ते हैं जिनसे रिलेशनशिप को और मजबूत किया जा सकता है। हालांकि ये तरीके बहुत सरल हैं।

अपने साथी कि विशिष्टता को स्वीकार करें (Accept your partner’s uniqueness)

कई ऐसे अवसर होते हैं जब लोग यह सोचतें हैं कि काश हमारा साथी और थोड़ा पतला, थोड़ा और रोमांटिक या और धनी होता। अपनी महत्वकांक्षाओं कि ओर देखें और खुद से पूछें कि, वे वास्तविक हैं या नहीं? यह आपकी लंबे समय कि निराशा और कुंठा को सही राह दिखा सकता है, जो मुख्य कारण है , किसी रिलेशनशिप कि असफलता का। अगर आप अपने रिश्ते को मजबूत बनाना चाहते हैं तो आपको अपने साथी कि विशिष्टताओं को स्वीकार करना सीखना होगा।

खुश रहें (Keep it light)

हँसना एक अभ्यास है, जो स्वभाव से बहुत ही ज़्यादा रूहानी है। यह औषधि कि तरह काम करता है और आपके शादीशुदा जीवन को खुशियों से भर देता है। अगर आप अपने रिलेशनशिप को ऐसे ही बनाए रखना चाहते हैं तो आपको अपने रिश्ते के विवेकशील और आमोद-प्रमोदपूर्ण पक्ष को संतुलित रखना चाहिए। अपने रिलेशनशिप को चलाने के लिए आपको कुछ बातें सुनिश्चित कर लेनी चाहिए, हालांकि, जो भी हो खेलना कभी न भूलें। किसी खेल के आनंद को फिर से खोजने कि कोशिश कीजिये। हास्य फिल्में देखें, बर्फ में एक दूसरे के साथ खेलने का प्रयास कर सकतें हैं। अमीन पर घसीटते हुये सामान्य मौजमस्ती किजिए।

ईमानदार रहें (Have Integrity)

जब आप ईमानदार होते हैं तब आपके विचार और आपके कार्य एक समान होते हैं। यह ज़रूरी है, क्योंकि लोग तब आप पर भरोसा करेंगे जब आप में यह विशिष्टता होगी। आपकी ईमानदार राय कि वजह से लोग आप पर विश्वास कर सकते हैं, और साथ ही उन वादों या बातों पर भी भरोसा कर सकते हैं जो आपने उनसे किए हैं। जब आप ईमानदार होते हैं तो अपने आप ही आपके रिश्ते मजबूत हो जाते हैं और चुनौतीपूर्ण भी। अपनी ईमानदारी को क़ायम रखना महत्वपूर्ण होता है।

loading...