Hindi remedies for bad breath – साँसों की बदबू के घरेलू उपचार

आप कई ऐसे लोगों के संपर्क में आए होंगे जिन्हें साँसों की बदबू की समस्या है। सुबह उठते ही साँसों की बदबू का होना काफी आम है,परन्तु उस व्यक्ति के पास खड़ा होना भी काफी कठिन है जिसके मुंह से बात करते समय भी बदबू आती हो। साँसों की बदबू मुंह के अंदर जीवाणु एवं बैक्टीरिया मौजूद होने की वजह से होती है। अगर आप अपने मुंह की सफाई करें तो साँसों की बदबू से छुटकारा पा सकते हैं। आप टंग क्लीनर और माउथ वाश की सहायता से साँसों की बदबू से छुटकारा पा सकते हैं।

साँसों की बदबू के कारण (Causes of bad breath)

मुंह की बदबू – मुंह सूख जाना (Dry mouth)

अगर आपका मुंह लम्बे समय तक सूखा रहता है तो आपको साँसों की बदबू होने का ख़तरा रहता है। मुंह में लार की मात्रा कम होने से आपका मुंह सूख जाता है। मुंह की बदबू (Mooh ki badboo), रात को सोने के समय भी आपका मुंह सूख जाता है क्योंकि मुंह में लार की मात्रा कम होने से आपके मुंह के अंदर का कार्य बंद रहता है। मुंह सूखने के कई कारण होते हैं :-

1. किसी दवाई के साइड इफ़ेक्ट।

टिनीटिस के कारण, लक्षण एवं उपचार

2. गले और सिर के भागों में रेडियोथेरेपी की प्रक्रिया जारी रखना।

3. शरीर में पानी की कमी होना।

4. किसी बीमारी के लक्षण दिखना।

सांस की दुर्गंध – धूम्रपान (Smoking)

अत्याधिक धूम्रपान की वजह से भी साँसों में बदबू की समस्या हो जाती है। यह बदबू ऐशट्रे जैसी होती है। अगर आप धूम्रपान की इस बदबू को हटाना चाहते हैं तो धूम्रपान छोड़ना सबसे बढ़िया तरीका होगा। अगर आप चेन स्मोकर हैं तो आपको मसूड़ों की भी समस्या हो सकती है।

खाना,दवाई एवं पेय पदार्थ (Food, medicine and drinks)

केमिकल युक्त भोजन आसानी से आपके रक्त की धारा में प्रवेश कर जाते हैं जो कि फेफड़ों से सांस द्वारा निकलते हैं। ऐसे कई लोग है जिन्हें लहसुन की गंध, शराब एवं चटपटे खाने की आदत होती है। अगर आप शराब पोईते हैं तो आपके मुंह से बदबू आना स्वाभाविक है। यह बदबू अस्थाई होती है और ठीक हो सकती है अगर आप कुछ ख़ास प्रकार के भोजनों से परहेज़ करें। अगर आपकी दवाइयों से भी बदबू आती है तो आज ही अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

साँसों की बदबू हटाने के तरीके (Ways of avoiding bad breath)

मुँह की दुर्गन्ध – मुंह की सफाई (Oral hygiene)

दिन में 2 बार ज़रूर ब्रश करें जिससे दांतों और मसूड़ों की समस्या समाप्त हो जाए। अगर किसी को मसूड़ों से खून निकलने की समस्या है तो नरम ब्रिसल वाले टूथब्रश का प्रयोग करें। साथ ही साथ आपके टूथपेस्ट में फ्लोराइड की मात्रा होनी चाहिए। ब्रश करने में कम से कम 2 मिनट अवश्य लगाएं। दांतों, मसूड़ों,जीभ तथा मुंह के अन्य भागों पर पूरा ध्यान दें। अपने टूथब्रश पर भी ध्यान दें और इसे हर 3 से 4 महीने में बदलते रहे।

टॉन्सिल स्टोन एवं साँसों की बदबू हटाने के घरेलू उपाय

मुँह की दुर्गंध – खानपान (Food and drinks)

आमतौर पर साँसों की बदबू की समस्या बैक्टीरिया के मौजूद रहने की वजह से होती है। मुंह से बदबू आना, अगर आप भी ऐसी समस्या के शिकार हैं तो चीनी युक्त पदार्थ और भोजन इसके मुख्य ज़िम्मेदार हैं। यह वह समय है जब आपको ऐसे भोजन से परहेज करना चाहिए। दांतों की सड़न इसका मुख्य कारण है। एसिड युक्त भोजन भी इसका कारण हो सकता है।

आपको एसिड युक्त भोजन से भी परहेज करना चाहिए। अगर आप किसी तरह का एसिड युक्त पेय पदार्थ पीते हैं तो इसे छोड़ दें। इस पेय पदार्थ को अपने दांतों के पास लम्बे समय तक ना रखें।

माउथ वाश (Mouth wash)

अगर आपके साँसों में बदबू (muh ki badboo) है तो सिर्फ दांत और जीभ को साफ़ करने से काम नहीं चलेगा। आपको माउथ वाश का इस्तेमाल करना चाहिए। माउथ वाश में मौजूद केमिकल का मुख्य उद्देश्य आपके मुंह पर हमला करने वाले बैक्टीरिया को ख़त्म करना है। अगर आपको लगता है कि आपको घरेलू उपायों से लाभ नहीं हो रहा है तो आज ही किसी डेंटिस्ट को दिखाएँ।

Subscribe to Blog via Email

Get Hindi tips to your inbox everyday