How to prevent oily face after applying makeup? – मेकअप के बाद त्वचा को तैलीय बनने से बचाने के उपाय

जिन लोगों की त्वचा तैलीय होती है, उनके चेहरे से काफी मात्रा में तेल निकलता है। वे अच्छे से अपने चेहरे पर मेकअप का भी प्रयोग नहीं कर सकते। अतिरिक्त तेल की वजह से आपका मेकअप खराब होने की संभावना होती है। अतः तैलीय त्वचा वाली महिलाओं के लिए मेकअप लगाने की प्रक्रिया थोड़ी सी अलग होती है।

आप या तो मेकअप लगाने से पहले अपनी तैलीय त्वचा का उपचार कर सकती हैं या फिर ऐसा मेकअप लगा सकती हैं जो कि आपकी तैलीय त्वचा के साथ मेल खाए। तैलीय त्वचा जब मेकअप के संपर्क में आती है तो इसे कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है। तैलीय त्वचा वाली महिलाओं को अपना मेकअप पिघलने की काफी समस्या होती है।

यह एक ख़ास तरह की त्वचा का प्रकार है जहां मेकअप काफी तेज़ी से ऑक्सीडाइज (oxidize) हो जाता है। पर आपने कई तैलीय त्वचा वाली महिलाओं को आकर्षक मेकअप लगाए भी देखा होगा। अतः मेकअप को सही प्रकार से लगाने और तेल दूर करने की तकनीक वास्तव में काम करती है। आपको कुछ तरीके आने चाहिए जो तैलीय त्वचा पर काम करते हैं।

तैलीय त्वचा वाले लोगों को कुछ गंभीर समस्याओं का सामना करना पड़ता है। चेहरे के तैलीय सीबम (sebum) से तेल निकलने से आपकी सुन्दरता पर काफी ज़्यादा फर्क पड़ता है। आपको तब कैसा लगेगा जब आप किसी कार्यक्रम में जाएं और आपके चेहरे पर अतिरिक्त तेल का हमला हो जाए। यह अतिरिक्त तैलीय और चिपचिपा दिखेगा।

मेकअप लगाने के बाद भी आपका तैलीय चेहरा उसी तरह रहेगा। ऐसे कुछ तरीके और तरकीबें हैं जिनकी मदद से आपकी त्वचा से तेल को दूर किया जा सकता है, जिससे कि मेकअप लगाने के बाद यह दिख ना सके।

तैलीय त्वचा के मेकअप पर तेल आने से रोकने के उपाय (Tips to prevent oil on oily face makeup)

सबसे पहले त्वचा को साफ करें (Cleansing your skin first)

अगर आप अपनी तैलीय त्वचा पर से तेल और गन्दगी को निकाले बिना ही मेकअप लगाने की सोच रही हैं तो यह एक गलत कदम होगा। सबसे पहले आपको अपना चेहरा साफ़ करने के लिए एक क्लीन्ज़र का प्रयोग करना होगा.आजकल बाज़ार में कई तरह के क्लींजिंग (cleansing) उत्पाद उपलब्ध हैं। आप इनमें से किसी का भी चुनाव कर सकते हैं और अपना चेहरा साफ़ कर सकते हैं। एक अच्छी गुणवत्ता के क्लीन्ज़र का ही प्रयोग करें जिससे आपके त्वचा की गुणवत्ता भी अच्छी बनी रहे।

Subscribe to Blog via Email

Join 45,326 other subscribers

बरसात में महिलाओं को ख़ूबसूरत बनाये रखने के लिये मेकअप टिप्स

त्वचा की प्रिमिंग करना (Priming up the skin se oliy skin ka makeup)

मेकअप लगाने के बाद त्वचा से तेल को दूर करने का एक और तरीका है चेहरे की प्रिमिंग। तैलीय त्वचा वाले लोगों के चेहरे पर एक ऐसा भाग रहता है जहां तेल का जमाव सबसे ज़्यादा होता है। इन भागों में T – ज़ोन (T-zone), जिसमें माथा और नाक आते हैं, शामिल हैं। असल मेकअप लगाने से पहले इन भागों की सबसे पहले प्रिमिंग कर लें। त्वचा की प्रिमिंग तेल निकलने के रोमछिद्रों (pores) को बंद करने में आपकी मदद करती है जिससे कि आप आसानी से अपनी त्वचा का तैलियपन दूर कर सकें। इससे आपके चेहरे का मेकअप लम्बे समय तक चलेगा।

बाज़ार में विभिन्न प्रकार के मेकअप प्राइमर (primer) मौजूद हैं जो त्वचा के विभिन्न स्वरूपों के लिए उपलब्ध हैं। अगर आपकी त्वचा तैलीय है तो आपको ऐसे मेकअप प्राइमर का चुनाव करना चाहिए जो कि तैलीय त्वचा के लिए बना हो। यह चमक और तेल से रहित होने चाहिए।

आँखों के मेकअप की तैयारी (Eye makeup preparation)

आँखों का मेकअप आपके चेहरे का काफी महत्वपूर्ण भाग है क्योंकि यह आँखों की चौड़ी रेखाओं, मोटी आई शैडो (eye shadow) आदि से आँखों को उभार देता है। तैलीय त्वचा वाली महिलाओं की आँखों के पास कुंचित त्वचा होती है जिससे वे काफी अनाकर्षक लगती हैं। आँखों के इन कुंचित भागों को दूर करने के लिए आपको सिर्फ प्रिमिंग आई लिड्स (eye lids) का प्रयोग बंद करने की आवश्यकता होती है। जिन महिलाओं कीआँखों के नीचे काले घेरे होते हैं, उनमें अपने आँखों के मेकअप की प्रिमिंग की आदत होती है। पर तैलीय त्वचा वाली महिलाओं को इस आदत को ज़्यादा बढ़ावा नहीं देना चाहिए। आपको ऐसे प्राइमर का प्रयोग करना चाहिए जो सिर्फ आँखों की पलकों के लिए हों। इससे आपके चेहरे के तेल को सोखने में मदद मिलेगी और यह आपके आई लाइनर (eye liner) तथा आई शैडो (eye shadow) के लिए सही बेस (base) साबित होता है।

स्किन की देखभाल – फाउंडेशन का प्रयोग (Foundation application)

तैलीय त्वचा की महिलाओं के मेकअप का अगला चरण है फाउंडेशन का सही इस्तेमाल। त्वचा के हर तरह के मेकअप के लिए आपको असल मेकअप के पहले अपने चेहरे पर बेस का प्रयोग करना चाहिए। हर तरह की त्वचा के लिए फाउंडेशन भी अलग होना चाहिए। ऐसे कई फाउंडेशन हैं जो जल्दी ही फीके पड़ जाते हैं। अतः आपको फिर से टचअप (touch up) करना पड़ता है। आपको अच्छी गुणवत्ता के फाउंडेशन का प्रयोग करना चाहिए जिससे कि यह फीका ना पड़ जाए। तैलीय त्वचा का फाउंडेशन चमकदार नहीं होना चाहिए और त्वचा पर भारी भी नहीं लगना चाहिए। अगर आपकी त्वचा तैलीय है तो सबसे अच्छा फाउंडेशन पाउडर (powder) वाला फाउंडेशन होता है।

ब्लैकहैड और वाइटहेड को निकालने के लिए मार्किट में उपलब्ध श्रेष्ठ स्क्रब

अच्छी गुणवत्ता का फेस पाउडर (Quality face powder for taily twacha)

सही प्रकार से फाउंडेशन का प्रयोग करने के तुरंत बाद अगला कदम चेहरे पर फेस पाउडर का प्रयोग करना है। तैलीय त्वचा के लिए यह कदम उठाना काफी ज़रूरी है, क्योंकि यह पाउडर त्वचा की परत से अतिरिक्त तेल सोखने के लिए काफी ज़रूरी है। आप बाज़ार में कई तरह के तेल मुक्त फेस पाउडर प्राप्त कर सकती हैं जो कि खासतौर पर तैलीय त्वचा वाले लोगों को ध्यान में रखकर बनाए गए होते हैं। पर अच्छी कंपनी का फेस पाउडर खरीदना भी एक ज़रूरी कदम है। ये पाउडर आपके चेहरे पर तैलीय त्वचा के फलस्वरूप आई अतिरिक्त चमक को दूर करते हैं। इसके अलावा आपका फाउंडेशन भी लम्बे समय तक चलेगा।

मैट फिनिश वाले ब्लशेस (Blushes with matte finish)

क्योंकि आपकी त्वचा का स्वरुप तैलीय है, अतः आपके लिए मैट फिनिश वाले ब्लश का प्रयोग करना काफी ज़रूरी होता है। यह भी आजकल बाज़ार में आसानी से उपलब्ध है। रूखी या सामान्य त्वचा वाले लोग शिमर (shimmer) का प्रयोग भी कर सकते हैं। पर तैलीय त्वचा के लिए इसका प्रयोग बिल्कुल वर्जित है। क्योंकि शिमर से हमेशा चमक प्राप्त होती रहती है, अतः तैलीय त्वचा वाले लोग हमेशा ही चेहरे पर अतिरिक्त तेल का अनुभव करेंगे। इसके लिए सबसे अच्छा उपाय यही है कि मेकअप के लिए शिमर का प्रयोग पूरी तरह बंद कर दिया जाए। क्रीम (cream) के विकल्पों का प्रयोग करने की बजाय पाउडर वाले ब्लश ज़्यादा सही साबित होंगे।

मेकअप टिप्स – तेल मुक्त मेकअप (Oil free makeup)

अगर आपकी त्वचा तैलीय है तो तेल मुक्त मेकअप का प्रयोग एक विकल्प साबित हो सकता है। क्योंकि तैलीय त्वचा वाले लोगों के चेहरे से सामान्य के मुकाबले ज़्यादा तेल रिसता है, अतः तेल युक्त मेकअप उनके लिए अभिशाप के समान होता है। ऐसे मेकअप के उत्पादों का प्रयोग ज़्यादा अच्छा होता है जो पूरी तरह से तेल से मुक्त होते हैं। तैलीय त्वचा वाले लोगों को ऐसे टोनर (toner) का प्रयोग करना चाहिए जिसमें ग्लाईकोलिक एसिड (glycolic acid) मौजूद हो। इसके अलावा जिस उत्पाद में सैलिसिलिक एसिड (salicylic acid) मौजूद होता है, वह भी तैलीय त्वचा के लिए काफी अच्छा होता है। आप बाज़ार में खनिज युक्त मेकअप भी प्राप्त कर सकते हैं जो अजैविक खनिज पदार्थों से भरे होते हैं। ये खनिज पदार्थ आमतौर पर तेल मुक्त होते हैं।

अतिरिक्त तेल सोखना (Absorbing excess oil)

दिवाली ब्यूटी टिप्स, बनाएँ इस दिवाली खुद को और भी खूबसूरत

जब भी आप कहीं बाहर जाएं तो अपने साथ टिश्यू पेपर या ब्लॉटिंग पेपर (tissue paper or blotting paper) हमेशा रखें। तैलीय मेकअप के नुस्खों के साथ मेकअप का प्रयोग करने पर भी आपके चेहरे पर तेल का जमाव रह जाता है। आप अपने चेहरे से अतिरिक्त तेल को सोखने के लिए टिश्यू पेपर या ब्लॉटिंग पेपर अपने साथ रखें। आप अपने चेहरे से अतिरिक्त तेल निकालने के लिए मिट्टी के मास्क का भी प्रयोग कर सकती हैं। अपनी त्वचा को साफ़ सुथरा बनाए रखने के लिए इसका प्रयोग हफ्ते में एक बार किया जा सकता है। बाज़ार में तेल को सोखने वाली औषधियां भी उपलब्ध हैं। आप इनका फायदा उठा सकती हैं।

आँखों की देखभाल (Peepers prep for twacha ki dekhbhal)

तैलीय त्वचा वाली महिलाओं की आँखों के ऊपर मेकअप का प्रयोग करेने के बाद झुर्रियों जैसी स्थिति उत्पन्न हो जाती है, क्योंकि तेल का रिसना एक जगह से संकुचित हो जाता है तथा मेकअप के साथ मिश्रित होकर इस समस्या को जन्म देता है अतः अपनी आँखों की पलकों को कंसीलर (concealer) से प्राइम ना करें। आप प्राइमर बाज़ार से प्राप्त कर सकती हैं जो खासतौर पर आँखों की पलकों के लिए बने होते हैं। आप इसे ऐसी स्थिति में प्रयोग में ला सकती हैं।

अतिरिक्त फेस पाउडर से करें तौबा (No excess face powder)

अगर आपकी त्वचा तैलीय है और आप मेकअप का प्रयोग करना चाहती हैं तो चेहरे पर अतिरिक्त पाउडर का प्रयोग ना करें। महिलाओं में इस पाउडर का प्रयोग करने की आदत होती है, क्योंकि उन्हें लगता है कि पाउडर तेल सोख सकता है और सामान्य एवं सुन्दर त्वचा प्रदान करता है। पर यह बिल्कुल ही गलत धारणा है। अगर आप फेस पाउडर का अतिरिक्त प्रयोग करेंगी तो ऐसा भी हो सकता है कि ये आपके रोमछिद्रों को और भी ज्यादा प्रभावित करके और भी अतिरिक्त तेल बाहर निकाले। अतः सिर्फ उस जगह पाउडर की एक परत लगाएं जहां चमकीला भाव दिख रहा है।

मैटीफाइंग प्राइमर्स (Mattifying primers)

असल मेकअप का प्रयोग करने से पहले एक परत या प्राइमर का इस्तेमाल करना काफी आवश्यक होता है। यह प्राइमर चेहरे के स्वरुप और लोगों की त्वचा के प्रकार के आधार पर भिन्न होता है। अतः अगर आपकी त्वचा का स्वरुप तैलीय है तो असल मेकअप के पहले बेस के रूप में मैट फिनिश वाले प्राइमर का प्रयोग बेहतर होता है। यह चमक को सोखता है तथा आपको सारे दिन दमकती हुई और आकर्षक बनाकर रखता है। अगर आप किसी पार्टी (party) में भी जा रही हों तो भी यह आपके तेल से दूर रहने का सबसे अच्छा विकल्प साबित होता है।

loading...