How to prevent constipation naturally during pregnancy? – गर्भावस्था के दौरान कब्ज से छुटकारा पाने के लिए प्राकृतिक उपचार

कई महिलाओं को नियमित रूप से कब्ज की शिकायत होती है लेकिन जब वह गर्भवती होती हैं, तो यह परेशानी और भी अधिक बढ़ जाती है। आमतौर में कई महिलाओं को कब्ज की समस्या इतनी गंभीर हो जाता हैए कि वह गर्भधारण भी नहीं कर पाती है। यह समस्या हार्मोन के कारण ही होती है।

प्रोजेस्टेरोन हार्मोन (progesterone hormone) गर्भावस्था के दौरान मांसपेशी के स्मूथ कामकाज का ख्याल रखती है। इससे मां और बच्चे दोनों को आराम मिलता है। इसी के साथ यह हार्मोन आंतों को मजबूत बनाने के साथ ही भोजन पाचन प्रणाली से धीरे धीरे गुजरता है। जैसे जैसे बच्चा बढ़ता है, खाना पचाने की शक्ति कम होती रहती है।

कब्ज के कारण, पेट की सिस्टम के अलावा बढ़ती हुई गर्भाशय भी मां के लिए बाधा बनती जाती है। इसके साथ ही विटामिन और आयरन की गोलियों का सेवन करना चाहिए। जो कि चिकित्सक द्वारा सुझाव दिया जाता है। लेकिन इन दवाओं का सेवन सिर्फ मां और बच्चे के बेहतर स्वास्थ्य के लिए होता है। बाद में विटामिन और आयरन (iron) की कमी के कारण बच्चे या मां को किसी भी तरह की परेशानी ना हो, इस वजह से इन सभी दवाओं का सेवन करवाया जाता है।

गर्भवती महिला का खान पान, आइए आपको कुछ ऐसी ही प्राकृतिक उपचारों के बारे में बताते हैं, जो कि कब्ज को रोकने में काफी मददगार होते हैं।

रोजाना डाइट में उच्च फाइबर युक्त फूड लें (Adding high-fiber foods in the daily diet)

गर्भावस्था के दौरान आने वाले विभिन्न सपने

ऐसा माना जाता है कि गर्भवती महिलाओं को रेशेदार खाद्य पदार्थो का सेवन करना चाहिए। फाइबर ना केवल कब्ज से राहत दिलाता है, बल्कि यह गर्भवती महिला के शरीर में एंटीऑक्सीडेंट (antioxidants) और विटामिन (vitamin) को भी जोड़ने में मदद करता है। आमतौर पर, चिकित्सक गर्भवती महिलाओं को स्वस्थ रहने के लिए रोजाना कम से कम 25 से 30 ग्राम फाइबर खाने की सलाह देते हैं। कई महिलाएं गर्भावस्था के दौरान काफी कमजोर होती हैं, उन्हें इस दौरान फाइबर की कमी को पूरी करने के लिए सप्लिमेंट का सेवन करना होता है। यह सप्लिमेंट (suppliments) भी डॉक्टर के सुझाव पर ही ली जाती है।

पेट साफ रखने के उपाय, ओट्स की एक कटोरी में स्ट्राबैरी (strawberry) डालकर आप इसका सेवन कर सकती हैं, ऐसा करने से स्वास्थ्य तो बनेगा ही, इसकी के साथ ही आपको कब्ज से भी राहत मिल जाएगी। इसके साथ ही आप बगीजे में उगाई हुई ताजा सब्जियों, सेम, मसूर की दाल, अनाज, मटर आदि का सेवन कर सकती हैं। इन सभी चीजों का सेवन करने से भी गर्भवती महिला कब्ज से निजात पा सकती है।

Subscribe to Blog via Email

Join 45,326 other subscribers

कैमोमाइल चाय (Chamomile tea)

कैमोमाइल चाय का सेवन करने से आंतों और पूरे शरीर को शांत करने में काफी मददगार होता है। यहां तक की वह जो गर्भवती नहीं हैं, इस चाय का सेवन कर तनाव और चिंता से छुटकारा पा सकते हैं, यह एक प्राकृतिक डिंक हैं, जो कि आसानी से कब्ज से निजात पाने में मदद करती है। कई सदियों से से गर्भवती महिलाएं अपनी पूरे शरीर को शांत करने के लिए कैमोमाइल चाय का सेवन कर रहीं हैं।

डॉक्टर से पूछकर आप भी इस चाय का सेवन रोजाना कर सकती हैं। इसका सेवन सिर्फ और सिर्फ डॉक्टर से पूछ कर अन्यथा यह भू्ण के लिए हानिकारक हो सकता है।

तरबूज का जादू (Watermelon magic)

गर्भावस्था के दौरान खानपान की व्यवस्था

तरबूज एक ऐसा उपचार है जो कि गर्भवती महिलाओं को कब्ज से निजात दिलाने में काफी असरदार रहता है। और यह कब्ज से निजात पाने का आसान और अच्छा उपाय है। महिलाओं को तरबूज के बीजों से बनी चाय को उबालकर पीने से कब्ज से आसानी से राहत मिल जाती है। लेकिन आजकल विशेषज्ञ रोजाना फल खाने की सलाह देते हैं, जिससे कब्ज से आसानी से निजात पाया जा सकता है। रसदार फल तरबूज शरीर में पानी की कमी को पूरा करता है और डॉक्टर्स भी गर्भवती महिलाओं को कब्ज से निजात पाने के लिए तरबूज की सलाह देते हैं।

गतिविधियों में रहे (Stay in activities)

गर्भवती महिलाओं को ऐसी सलाह दी जाती है कि उन्हें एक ही जगह पर बैठना चाहिए और हर समय सिर्फ आराम ही आराम करना चाहिए। कब्ज कैसे दूर करे, लेकिन ऐसा बिल्कुल ना करें, गर्भवस्था के दौरान घुमना फिरना और कामकाज में लगे रहना सही रहता है। फिर चाहे आप कामकाजी महिला हैं, या फिर घर पर रहती हो, काम करती रहें और खूद को किसी ना किसी गतिविधियों में व्यस्त रखने की कोशिश करें।

कई ऐसी केंद्र हैं,जहां पर जाकर आप योगा या एक्सरसाइज (exercise) कर सकती हैं। ऐसे में आप अपने पार्टनर को भी अपने साथ इन केंद्रों पर लेकर जा सकती हैं।

इसके अलावा आप जिम और स्विमिंग (swimming) कर सकती हैं। चलना फिरना इस समय काफी सही रहता है। आप चाहे तो एरोबिक एक्सरसाइज (aerobic exercise) भी कर सकती हैं।

खूब सारा पानी पिएं (Drink a lot of water)

गर्भावस्था के दौरान अक्सर महिलाएं डिहाईड्रेशन (dehydration) से पीड़ित हो जाती हैं। कई बार पानी की कमी उनके शरीर के लिए काफी परेशानी पैदा कर देता है। अगर आप पानी पीना बंद कर दें तो ऐसे में आपको कब्ज जैसी गंभीर परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। अगर आप इस परेशानी से निजात पाना चाहते हैं तो इस दौरान ज्यादा से ज्यादा पानी का सेवन करते रहिएं।

गर्भावस्था के दौरान महिलाओं के लिए सर्वोताम सुझाव

कब्ज का घरेलू उपचार, ऐसा भी नहीं है कि आप सिर्फ और सिर्फ पानी का ही सेवन करें। महिलाओं को इस दौरान शोरबा (broth),फलों का जूस, स्मूथिज (smoothies), मिल्क शेक (milk shake) और दूध का सेवन भी करना फायदेमंद रहता है। इन सभी चीजों का सेवन करने से भी पाचन तंत्र मजबूत रहता है और शरीर में पानी की कमी भी पूरी होती है।

एक गर्भवर्ती महिला को कब्ज से निजात पाने के लिए कम से कम 12 औंस पानी का सेवन करना चाहिए। इससे आंत चिकनी हो जाती है और नौ महीनों के दौरान कभी भी कब्ज जैसी समस्या का सामना नहीं करना पड़ता है।

जुलाब हानिकारक हो सकता है (Laxatives can be harmful)

जुलाब और दस्त की मदद से कब्ज से छुटकारा पाना किसी तरह से भी प्राकृतिक नहीं माना जाता है। एक गर्भवती महिला को जब तक चिकित्सक द्वारा कोई सुझाव ना दिया जाएं, तब तक किसी भी तरह के उपचार का पालन ना करें। आजकल कुछ कंपनियां प्राकृतिक तरीके से इस समस्या से निजात पाने के लिए कई तरह की दवाईयां बना रहीं हैं,जो कि जुलाब के माध्ययम से पेट को साफ करने में मददगार होती हैं।

गर्भावस्था के दौरान प्राकृतिक तरीके से कब्ज को रोकने के कई तरीके हैं। ऊपर बताएं गए सुझाव कई बार कब्ज के लिए प्रभावी समाधान रहे हैं। इसलिए यह गर्भवर्ती महिलाओं के लिए कब्ज के दौरान काफी फायदेमंद होते हैं।

loading...