Hindi remedies for dandruff – रूसी से छुटकारा पाने के सर्वश्रेष्ठ घरेलू नुस्खे

रूसी हर उम्र के लोगों के लिए एक बड़ी और झुंझलाहट भरी समस्या है। अगर यह समस्या बड़ी हो जाती है तो आपको त्वचा-रोग विशेषज्ञ के पास भी जाना पड़ सकता है। रूसी की वजह से सर की त्वचा शुष्क, झड़ती हुई और खुजली भरी हो जाती है। खुजली से भरी त्वचा जहाँ परेशान कर सकती है वहीं जहाँ-तहाँ गिरते सफेद कण पैदा कर सकते हैं।

रूसी होने के कई कारण हो सकते हैं जैसे कि कम खाना, व्यक्तिगत सफाई की कमी, पोषण की कमी, हार्मोन असंतुलन, प्रदूषण, जल्दबाजी में बाल धोना, मौसम का बदलना, तनाव, परेशानी इत्यादि। लेकिन अगर आप सावधान रहेंगे तो आप रूसी-मुक्त बाल पा सकते हैं। यह समस्या सर्दियों में ज्यादा होती है क्योंकि इस समय त्वचा शुष्क और झड़ने वाली हो जाती है। कुछ लोग प्राकृतिक उपचारों पर निर्भरता नहीं दिखाते क्योंकि इनका असर धीमे होता है लेकिन रूसी को जड़ से खत्म करना है तो आपको थोड़ा वक्त तो देना ही होगा। इन प्राकृतिक उपचारों को अपनाने के लिए सब्र बहुत जरूरी है।

रूसी का कारण है त्वचा पर मृत कोशिकाओं की ज्यादा वृद्धि। अगर यह कोशिकाएं जल्दी मृत होने लगें तो कुछ लोगों के लिए रूसी का कारण बन सकता है। शुष्क त्वचा वाले व्यक्तियों में यह ज्यादा पाया जाता है। ज्यादा गर्म कमरे में रहने से या सर्दियों में खुजली और त्वचा झड़ने की समस्या अधिक होती है। शुष्क त्वचा पर होने वाली रूसी तैलीय नहीं होती। इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप कितनी बार अपने बाल धोते हैं बल्कि यह सिर की त्वचा के प्रकार पर निर्भर करता है। इनकी बहुतायत मौसम पर निर्भर करती है जैसे कि सर्दियों में यह समस्या बढ़ जाती है। अगर आपको रूसी है तो अत्यधिक तीव्र तापमान में जाने से बचें।

रूखे बालों के कारण और इन्हें ठीक करने के नुस्खे

सेबोरोहिक डर्मेटाइटिस सिर में होने वाला एक इंफेक्शन है जिसमें त्वचा लाल, झड़ती हुई और खुजलीदार हो जाती है और यह बीमारी रूसी की अधिक खतरनाक स्थिती है और शरीर के दूसरे हिस्सों जैसे सीने और चेहरे पर भी फैल सकता है।

बाजार में कई शैम्पू उपलब्ध हैं और घरेलू उपचारों से भी आप फायदा उठा सकते हैं जिनके कोई अतिरिक्त दुष्प्रभाव नहीं हैं।

रूसी के घरेलू उपचार (Home remedies for dandruff)

बाजार में बहुतायत में मौजूद सारे उत्पाद रूसी हटाने के लिए प्रभावकारी नहीं हैं। नीचे दिए गए नुस्खों के इस्तेमाल से आप रूसी से जल्दी छुटकारा पा सकते हैं।

  • मेथी के बीजों को रात भर भिगोकर सुबह पीस लें। इस पेस्ट को सिर की त्वचा पर लगाकर 30 मिनट के लिए छोड़ दें। इसके बाद अच्छे से बालों को धोएँ।
  • दही रूसी हटाने में बिल्कुल जादू की तरह काम करती है। इसे सिर पर 30 मिनट तक लगाएँ और उसके बाद बाल धो दें।
  • एक चुकंदर को मिनरल युक्त पानी के साथ उबालें और इस पानी का उपयोग सिर की मालिश के लिए करें। इसके बाद इसे रात भर ऐसे ही रहने दें और सुबह गर्म पानी से धोएँ। अच्छे परिणाम के लिए रोज इस्तेमाल करें।
  • 2 चम्मच बेसन और 1 चम्मच दही लें। इन्हें मिलाकर सिर पर लगाएँ। इसे 10 मिनट तक रहने दें और फिर इसी मिश्रण से बाल धोएँ। इससे रूसी जल्दी और प्रभावी तरीके से जाएगी।
  • एपल साइडर विनेगर और मिनरल युक्त पानी को बराबर मात्रा में मिलाएँ। सिर पर लगाकर 1 घंटे के लिए छोड़ दें और बाद में गर्म पानी से साफ़ करें।
  • हल्दी भी रूसी दूर करने में कामयाब है। एक चम्मच हल्दी पाउडर व दो चम्मच गर्म पानी को मिलाएँ और इसका प्रयोग शैम्पू के बाद बालों पर करें।
  • एलोवेरा का जेल बालों में लगाकर तीस मिनट बाद धो दें।

एक दिन के लिए बालों को स्ट्रेट कैसे बनाएं?

  • नीम की पत्तियाँ: हलांकि यह एक पुराना नुस्खा है लेकिन परिणाम जल्दी मिलेंगे। नीम में एंटीसेप्टिक, बैक्टीरिया रोधी, जैव रोधी और फंगस रोधी गुण होते हैं। नीम की पत्तियों को उबालकर इस पानी को बाल धोने में इस्तेमाल करें।
  • सिर पर नारियल तेल और नींबू के रस के मिश्रण की मालिश करें और 2 घंटे बाद धो दें।

अपनी जिंदगी से इस बीमारी को बाहर निकालने के लिए इन नुस्खों का इस्तेमाल करें।

डैन्ड्रफ को नीम्बू की मदद से करें दूर (Dandruff home remedy #1 – Treat dandruff with lemon)

आप नींबू की मदद से आसानी से डैन्ड्रफ को दूर कर सकते हैं। यह डैन्ड्रफ तथा इससे जुड़ी समस्याओं जैसे एक्ने (acne) तथा सिर की खुजली को दूर करता है। परन्तु नींबू के रस का प्रयोग सीधे अपने सिर पर ना करें, क्योंकि इसमें मौजूद सिट्रिक एसिड (citric acid) आपके सिर को नुकसान पहुंचा सकता है। इसमें कुछ और उत्पाद भी मिश्रित करें। आधे नींबू को निचोड़कर पानी में मिलाएं, इस मिश्रण से सिर की मालिश करें और 15 से 20 मिनट के लिए छोड़ दें। इसके बाद इसे सादे पानी से धो लें। यह सामान्य उपचार डैन्ड्रफ के लिए ज़िम्मेदार चिपचिपेपन को दूर करता है

वैकल्पिक तौर पर 4 से 5 नींबू के छिलके उतारें और इन्हें एक गिलास पानी के साथ उबालें। इसे कमरे के तापमान तक आने दें और फिर सिर पर लगाएं। इसे 10 से 15 मिनट तक छोड़ने के बाद धो दें। नींबू का यह उपचार आपके डैन्ड्रफ युक्त सिर पर काफी अच्छा काम करता है और हफ्ते में दो बार इसका इस्तेमाल किये जाने पर आपकी डैन्ड्रफ की समस्या जड़ से सुलझ जाती है।

सेब के सिरके से डैंड्रफ के उपाय (Drusi hatane ke upay in hindi with apple cider vinegar treatment for dandruff)

सेब के सिरका ना सिर्फ आपके भोजन को स्वादिष्ट बनाता है, बल्कि आपके सिर से डैन्ड्रफ को भी दूर करता है। थोड़ी सी मात्रा में सेब का सिरका उँगलियों में लें और इससे सिर की मालिश करें। इसे 15 से 20 मिनट के लिए छोड़ दें और फिर एक सौम्य शैम्पू से इसे धो लें। यह सिर की मृत कोशिकाओं को दूर करता है। वैकल्पिक तौर पर दो चम्मच सेब के सिरके को दो चम्मच पानी के साथ मिश्रित करें। इन्हें अच्छे से मिलाएं और अपने सिर पर लगाएं। इसे रातभर छोड़ दें और अगली सुबह बेबी शैम्पू या एंटी डैन्ड्रफ शैम्पू (baby shampoo or anti-dandruff shampoo) से धो लें।

अरंडी के तेल से त्वचा तथा बालों की देखभाल के लाभ

अंडे से डैन्ड्रफ का उपचार (Dandruff home remedy #3 – Fight dandruff with egg)

आप साबुत अंडे की मदद से भी डैन्ड्रफ को दूर भगा सकते हैं। एक पात्र में एक अंडा लें और इसे एक से दो मिनट तक अच्छे से फेंटें। अपने सिर और बालों पर अंडे का प्रयोग करें, एक घंटे के लिए छोड़ दें और फिर बालों को धो लें। इस उपचार का प्रयोग 4 से 5 बार करने पर आपके बालों से डैन्ड्रफ पूरी तरह चला जाएगा, क्योंकि अंडा सिर की पपड़ीदार त्वचा को निकाल देता है। सिर को साफ़ करने के साथ ही अंडा बालों में चमक भी ले आता है।

बेकिंग सोडा से रुसी हटाने के उपाय (Dandruff home remedy #4  with baking soda)

बेकिंग सोडा आसानी से डैन्ड्रफ का इलाज करता है। यह डैन्ड्रफ को पैदा करने वाले फंगी (fungi) का उत्पादन कम करता है। सिर्फ अपने बालों को गीला करें और सिर पर बेकिंग सोडा का प्रयोग करें और कुछ देर बाद बालों को पानी से धो लें। शुरुआत में वैसे तो आपके बाल रूखे हो जाएंगे, पर कुछ समय के बाद आपको इससे अच्छे परिणाम प्राप्त होंगे।

जैतून के तेल से डैन्ड्रफ का इलाज (Dandruff home remedy #5 with olive oil)

रात को सोने से पहले गर्म जैतून के तेल को सिर पर लगाकर सोयें और सुबह एक सौम्य शैम्पू की मदद से इसे धो लें। इससे सिर का सूखापन दूर होता है और यह एक प्राकृतिक मोइस्चराइज़र (moisturizer) का भी काम करता है।

जड़ीबूटियों से रुसी का उपचार (Dandruff ka desi ilaj with herbs)

गर्भावस्था के दौरान बालों की देखभाल के नुस्खे

तुलसी और आंवला के पाउडर का एक पेस्ट बनाएं। इसका प्रयोग अपने सिर की त्वचा पर करें और आधे घंटे के लिए छोड़ दें। इसके बाद इसे गुनगुने पानी से धो लें और सिर को अच्छे से पोंछ लें। तुलसी में मौजूद औषधीय गुण डैन्ड्रफ को प्रभावी रूप से दूर करते हैं। अच्छे परिणामों के लिए दिन में दो बार इस पैक का प्रयोग करने की कोशिश करें।

डैन्ड्रफ के कारण (Cause of dandruff)

मलासेजिया फंगस (malassezia fungus) डैन्ड्रफ का कारण होता है। डेंड्रफ के कारण, यह सिर की त्वचा की छाया में ही पलता बढ़ता है। आमतौर पर डैन्ड्रफ दो तरह के होते हैं – एक सिर के सूखेपन की वजह से पैदा होता है और दूसरा सिर की त्वचा में अतिरिक्त तेल के उत्पादन से। ऐसा होने के कुछ कारण हैं : –

  • असंतुलित खानपान
  • तनाव और बीमारी
  • सही प्रकार से शैम्पू ना करना
  • बालों पर अच्छे से ब्रश (brush) ना करना

सफ़ेद सिरके से डैन्ड्रफ का इलाज (Home remedy #7 with White vinegar)

आपके घर में सफ़ेद सिरका, जो सफ़ेद रंग का होता है, ज़रूर होगा। यह डैन्ड्रफ दूर करने की काफी अच्छी विधि है, क्योंकि इसमें एसिटिक एसिड (acetic acid) होता है जो सिर में फंगी और बैक्टीरिया के उत्पादन को रोकता है। पर इसे  मिलाने और लगाने की एक ख़ास प्रक्रिया है।

विधि (Procedure)

बालों की देखभाल के नुस्खे

एक चम्मच सफ़ेद सिरके को तीन चम्मच पानी के साथ मिलाएं। इस मिश्रण के साथ अपने बाल धोएं। वैकल्पिक तौर पर सिरके का प्रयोग अपने सिर पर करें और एक कपड़े या तौलिए की मदद से अपने सिर को ढक लें। इसे रातभर रखें और सुबह बालों को धो लें। इससे आपके सिर से प्राकृतिक रूप से डैंडरफ चला जाएगा।

भारतीय नीम से डैंडरफ का इलाज (Dandruff home remedy #8 with Indian Lilac)

आज भी कई लोग नीम के गुणों से अंजान हैं। क्योंकि इसमें एंटीसेप्टिक और एंटीबैक्टीरियल (anti septic as well as anti bacterial) दोनों ही गुण होते हैं, अतः इसके प्रयोग से डैंडरफ दूर करना पूरी तरह संभव है। नीम बालों के झड़ने, सिर की त्वचा के पपड़ीदार होने, खुजली होने आदि समस्याओं से आपको मुक्ति दिलाता है

विधि (Procedure)

सबसे पहले एक पात्र में 4 कप पानी लें और इसे उबालें। अब इस पानी में एक मुट्ठीभर नीम की पत्तियां डाल दें। पानी के उबलने और हरा होने तक इंतज़ार करें। अब इस मिश्रण को ठंडा करें और इसे छान लें। इसे अच्छे से जमा करके रखें और हफ्ते में इसका दो बार प्रयोग करें।

मिर्च और दही का मिश्रण (Dandruff home remedy #9 with Pepper and yogurt)

दही में कई स्वास्थ्य गुण होते हैं, क्योंकि इसका स्वास्थयकर बैक्टीरिया आपको कई तरह की बीमारियों से बचाता है। क्योंकि मिर्च एंटी फंगल (anti fungal) होती है, अतः सिर की त्वचा में धारियां आने की समस्या को यह दूर करती है।

विधि (Procedure)

सर्दियों के मौसम में बालों की देखभाल

सबसे पहले दो चम्मच काली मिर्च के बीज लें और इन्हें पीस लें। एक बार जब ये पाउडर बन जाए तो इसमें एक कप दही मिश्रित कर लें। इन दोनों को अच्छे से मिलाएं और अपने सिर पर लगाएं। इसे लगाते समय काफी सावधान रहें और ध्यान रखें कि यह बालों पर ना लग जाए। इसे एक घंटे तक सिर पर रखें और धो लें। इसे हटाने के लिए एक सौम्य शैम्पू का प्रयोग करें।

एलोवेरा से डैंडरफ का इलाज (Dandruff home remedy #10 with Aloe vera)

क्योंकि एलोवेरा में प्राकृतिक एंटी फंगल और एंटी बैक्टीरियल गुण होते हैं, अतः यह आपकी त्वचा के प्रोटीन (protein) को तोड़ने तथा मृत त्वचा की परत को निकालने में काफी मदद करता है। अगर इस परत को शुरूआती समय में साफ़ ना किया गया तो यह डैंडरफ का कारण बन सकता है।

विधि (Procedure)

एलो वेरा की पत्तियों से जेल (gel) इकठ्ठा करें और इसका प्रयोग अपने सिर पर करें। इसे 15 मिनट तक सिर पर रहने दें और इसे एक सौम्य शैम्पू की मदद से अच्छे से धो लें। इसका रोज़ाना प्रयोग करने पर आपको अच्छे परिणाम प्राप्त होंगे।

बालों की देखभाल के नुस्खे अदरक से (Ginger se dandruff treatment in hindi)

क्योंकि अदरक में जलनरोधी गुण होते हैं और यह बालों की बढ़त में सहायक होता है, अतः यह सिर में रक्त का संचार बढ़ाने के लिए भी जाना जाता है। अदरक में मौजूद तत्व पूरी तरह डैंडरफ को दूर करते हैं।

विधि (Procedure)

बालों की देखभाल में सामान्य गलतियाँ और इनसे बचाव

सबसे पहले अदरक को अच्छे से छीलकर किस लें। अब एक पतला कपड़ा लें और इसमें किस हुआ अदरक डालें। इस कपड़े को निचोड़कर अदरक का रस निकालें। अब इसमें तिल का तेल डालें और इसका मिश्रण तैयार करें। इस मिश्रण का प्रयोग अपने सिर पर करें, इसे कुछ देर के लिए छोड़ दें और एक सौम्य शैम्पू से बालों को धो लें।

डैंडरफ के कारण (Causes of dandruff)

  • मृत कोशिकाओं का निकलना एक सामान्य प्रक्रिया है क्योंकि त्वचा की कोशिकाएं लगातार बढ़ती रहती हैं। डैंडरफ की स्थिति में ये कोशिकाएं और भी तेज़ी से गिरती हैं। सिर में मौजूद तेल त्वचा की कोशिकाओं को जकड़कर रखता है और इसलिए ये सफ़ेद दानों की तरह दिखते हैं।
  • डैंडरफ होने के अन्य कारण हैं रूखी त्वचा, किसी ख़ास तेल या लोशन (lotion) को सहन ना कर पाना, सोराइसिस और एक्जिमा (psoriasis and eczema) जैसी त्वचा की समस्याएं, त्वचा में जलन की समस्या।
  • तनाव, हॉर्मोन्स (hormones), सिर में तेल की ज़्यादा मात्रा होना या प्रतिरोधक क्षमता के कम होने की वजह से भी डैंडरफ हो सकता है।

डैंड्रफ या रूसी दूर करने के कुछ और आयुर्वेदिक उपाय (Few more ayurvedic home remedies for dandruff)

रुसी का उपचार नारियल तेल से (Coconut oil for dandruff)

नारियल तेल अपने एंटी फंगल गुणों की वजह से डैंडरफ को दूर करने में सक्षम होता है। यह रूखी त्वचा को भी नमी देता है और खुजली दूर करता है। नीम्बू के रस और नारियल के तेल को मिश्रित करें और इसे अपने सिर पर कुछ देर के लिए घिसें। 20 मिनट के बाद बालों को धो लें।

शुद्ध जैतून का तेल (Extra virgin olive oil se dandruff ka gharelu ilaj)

बालों की देखभाल के लिए घरेलू हेयर कंडीशनर

सिर के सूखेपन को दूर करने के लिए शुद्ध जैतून के तेल का प्रयोग किया जा सकता है। अपने सिर पर जैतून के तेल से मालिश करें और सिर को गर्म तौलिए से ढक दें। इसे 45 मिनट तक छोड़ने के बाद बालों को कंडीशन (condition) कर लें।

टी ट्री ऑइल (Tea tree oil in controlling dandruff)

टी ट्री ऑइल में बेहतरीन एंटी फंगल गुण होते हैं जो डैंडरफ का उपचार करने में आपकी सहायता करते हैं। बालों को धोने के समय अपने शैम्पू में टी ट्री ऑइल की कुछ बूँदें मिश्रित कर लें। आप इस तेल को जैतून या नारियल के तेल में मिश्रित करके भी इस्तेमाल में ला सकते हैं। इसे बालों पर लगाएं और धोने से पहले 30 मिनट तक या रातभर छोड़ दें।

एस्पिरिन (Dandruff control with aspirin)

एस्पिरिन में मौजूद सैलिसिलिक एसिड (salicylic acid) आपके सिर की मृत कोशिकाएं निकालकर डैंडरफ को दूर करता है। शैम्पू में दो एस्पिरिन पीसकर डालें और बालों को इस मिश्रण से धोएं। वैकल्पिक तौर पर 3 एस्पिरिन पीसें और इसे एक चम्मच सिरके में मिश्रित करें। इस मिश्रण से बालों की मालिश करें। इसे आधे घंटे के लिए छोड़ दें और फिर बाल अच्छे से धो लें। एस्पिरिन की तरह लिस्ट्रीन (Listerine) का प्रयोग भी डैंडरफ दूर करने में किया जा सकता है, क्योंकि इसमें एंटी फंगल गुण और अल्कोहल (alcohol) होते हैं।

रुसी हटाने के उपाय हेना से (Henna se dandruff ke nuskhe)

हेना के सूखे पत्तों का डैंडरफ एवं बालों की अन्य समस्याएं दूर करने में इस्तेमाल किया जाता रहा है। यह सिर के तैलीयपन को कम करता है और एक कंडीशनर (conditioner) का फायदा भी देता है। इससे डैंडरफ भी काफी कम हो जाता है। हेना पाउडर, आंवला, चाय पाउडर और नीम्बू के रस का मिश्रण करें और इसे सिर पर लगाएं। इसे एक घंटे के लिए छोड़ दें और इसके बाद धो लें।

तुलसी के पत्ते (Basil leaves se desi nuskhe for dandruff in hindi)

तुलसी के पत्ते उन प्राकृतिक उत्पादों में से एक हैं जो डैंडरफ को दूर कर सकते हैं। इसमें मौजूद एंटी बैक्टीरियल और एंटी फंगल गुण डैंडरफ का इलाज करते हैं और सिर की त्वचा के स्वास्थ्य में वृद्धि करते हैं। तुलसी के पत्तों और आंवले को मिश्रित करके एक महीन पेस्ट बनाएं और बालों पर लगाएं। इसे आधे घंटे तक छोड़कर ताज़े पानी से धो लें।

Subscribe to Blog via Email

Get Hindi tips to your inbox everyday