Hindi tips to use ear wax candles – इयर कैण्डल के प्रयोग द्वारा कान का मोम (कान का मैल) को निकालने की सामान्य प्रक्रिया

बहुत से लोगों को अपने कान को साफ न करने के कई कारण हो सकते हैं। कुछ आलसी होते हैं, कुछ डरे होते है, और कुछ लोग, उन आसान तरीकों को प्रयास करने की कोशिश ही नहीं करते है जो आपके कान को साफ कर सकते हैं। आपको अपना शरीर साफ और स्वस्थ रखना चाहिये जिससे आप बहुत सारी बीमारियों और संक्रमण से बच सकते हैं।

ऐसे कई तरीके है जिनके द्वारा आप अपने कानों की सफाई कर सकते हैं। अगर आप डॉक्टर के पास जाते हैं तो वह एक ऐसे औजार का इस्तेमाल करता है जिसके द्वारा कुछ ही सेकेंड में आपके कान साफ हो जाते हैं। लेकिन आप डॉक्टर के पास जायें ही क्यों जब आप घर पर ही साधारण तरीकों से अपने कान को साफ कर सकती है। कई सामान्य तरीकों में से एक घर पर कान साफ करने का तरीका इयर कैण्डल है।

सदियों से यह तरीका बिना किसी दुष्प्रभाव के लोगों द्वारा प्रयोग में लाया गया है। लोग अपने सहयोगियों की मदद से इस तरीके का उपयोग कर सकते हैं। यदि आपके कान में किसी प्रकार की चोट या कोई गम्भीर बिमारी है तो इस तरीके का उपयोग न करें। इयर कैण्डल का सही तरीके से उपयोग सुरक्षित है और आपके कान से गंदगी, कान के मोम को हटाने के लिये प्रभावी तरीका है।

कानों में गन्दगी का जमना ज़्यादातर लोगों के लिए काफी सामान्य समस्या साबित होता है। कई बार आपको कानों में भारीपन का अनुभव होता है या फिर आपको सुनने में तकलीफ होती है या फिर आपके कान में दर्द होता है। ऐसे समय कान से गन्दगी दूर करना काफी आवश्यक हो जाता है। कानों से गन्दगी निकालने के कई तरीके हैं और इयर कैंडल इनमें से एक है।

इस विधि की सुरक्षा को लेकर काफी विवाद हैं। कई डॉक्टरों का कहना है कि इस विधि से कानों से गन्दगी निकालने के फलस्वरूप जलने, कानों के बंद हो जाने, कान के पर्दों के फट जाने और कानों के संक्रमण की समस्याएं सामने आई हैं। बार ज़्यादातर आयुर्वेदिक चिकित्सक इस विधि को सुरक्षित और कानों के स्वास्थ्य को बरकरार रखने के लिए काफी प्रभावी मानते हैं।

कोहनी और घुटनों का कालापन दूर करने वाली कुछ बेस्ट क्रीम

कानों की कैंडलिंग क्या है? (What is ear candling?)

कानों की कैंडलिंग कानों से गन्दगी निकालने की एक प्रक्रिया है, जिसके अंतर्गत फैब्रिक ट्यूब (fabric tube) से बनी और मोम में भिगोई गयी एक खोखली मोमबत्ती को कानों के अन्दर रखा जाता है। इसके बाद इस मोमबत्ती को जलाया जाता है और इसे 15 मिनट तक जलने दिया जाता है। एक भूरे रंग का मोम जैसा पदार्थ, जिसे कान की गन्दगी, अशुद्धियों और बैक्टीरिया (bacteria) का ढेर माना जाता है, इस प्रक्रिया के अंत में बची हुई मोमबत्ती में लगा हुआ मिलता है। कानों की कैंडलिंग की प्रक्रिया आमतौर पर सौन्दर्य विशेषज्ञों, वैकल्पिक उपचार के विशेषज्ञों या घर पर किसी व्यक्ति की सहायता से पूरी की जाती है। इस विधि का कई बार साइनस (sinus) के दर्द से छुटकारा दिलाने, कानों के संक्रमण को ठीक करने और वर्टिगो (vertigo) से मुक्ति दिलाने के लिए भी किया जाता है।

मोमबत्ती की मदद से कान की मैल हटाना (Using a Candle to Remove Wax or kaan ki mail)

आप कानों की कैंडलिंग अकेले पूरी नहीं कर सकते। इस प्रक्रिया को पूरा करने के लिए आपके साथ एक सहायक का रहना भी काफी आवश्यक है। इससे कानों के जलने या इस प्रक्रिया के दौरान अन्य किसी भी प्रकार की समस्याएं पैदा होने की संभावनाएं कम रहेंगी। मोमबत्ती को कैंची की सहायता से कानों में डालने लायक आकार प्रदान करें। इसका खुला भाग आपके कान में जाने लायक बड़ा होना चाहिए। संक्रमण के खतरे को पूरी तरह दूर करने के लिए अपने हाथों और कानों को कैंडलिंग की प्रक्रिया से पहले अच्छे से धो लें। अपने सिर में गर्मी और आंच को पहुँचने देने से बचाने के लिए सिर को एक गीले तौलिये से ढककर रखें।

सीधे बैठें (Sitting straight)

खुद की मालिश करने का सही तरीका और कुछ सुझाव

कुर्सी पर सीधे बैठ जाएं और जबड़ों, माथे, सिर की त्वचा और कानों के पीछे के भाग की अच्छे से मालिश करें। इससे रक्त के संचार में काफी वृद्धि होगी। अपने कानों के ऊपर छेद वाली कागज़ की एक प्लेट (plate) रखें। यह छेद आपके कानों की मोमबत्ती जितना ही होना चाहिए। अब इस मोमबत्ती का एक सिरा अपने कानों में और दूसरा सिरा कागज़ की प्लेट के छेद में डालें। अब मोमबत्ती का बड़ा वाला सिरा जलाएं। इससे आंच धीरे धीरे आपके कानों में जाएगी। मोमबत्ती के स्थान पर सही प्रकार से गौर करते रहें।

मोमबत्ती जलनी चाहिए (Candle must burn)

मोमबत्ती कम से कम 15 मिनट तक जलनी चाहिए, पर हर 2 इंच के बाद मोमबत्ती को छोटा करते रहें जिससे इसकी राख कानों पर गिरने ना पाए। आप एक पानी के पात्र में मोमबत्ती डालकर इसे छोटा कर सकते हैं और फिर इसे कान में डाल सकते हैं। मोमबत्ती निकालें और इसके बचे हुए भाग पर गन्दगी के अवशेष देखें। अब कानों के इस भाग को एक सूती के कपड़े की मदद से ध्यान से साफ़ करें। अगर आपके दोनों कानों में गन्दगी जमा है तो आप इस प्रक्रिया का पालन दोनों कानों पर कर सकते हैं।

इयर कैण्डल से कान मोम को हटाने के लिये कुछ बिंदु (Steps to follow to remove ear wax with ear candles – kaan ki safai kaise kare)

  • कैण्डल के अंत को कैंची की सहायता से छोटा कर दें जिससे यह आपके कान में पूरी तरह से फिट हो जाये। आप इसके सिरे को थोड़ा लम्बा रखें जिससे यह कान में एक सिरे से दूसरे सिरे तक आसानी से जा सके। आप एक तेज़ वस्तु को किसी रुकावट को हटाने के लिये प्रयोग कर सकते हैं।

अंडरआर्म के कालेपन को हल्का करने के लिए ब्यूटी टिप्स

  • अब सीधे बैठ जायें और सिर को धीरे से एक तरफ झुका दें या अपनी तरफ लेट जायें जिससे कि कानों में कैण्डल को डाला जा सके। एक छोटा गीला कपड़ा लें और इससे अपने बालों और सिर को ढ़क लें क्यों कि इस तरीके में आग भी शामिल है। टिन की पन्नी या कैन लें और इसके बीच में छेद कर दें जिससे छेद में डाला जा सके और आप आग से बच भी जायें।
  • ऊपर की ओर करके अपने कान में छोटे वाले सिर को सुरक्षित घुसा दें और अपने सहायक से बडे वाले हिस्से को जलाने के लिये कहें। जांच करें कि आपके कान और कैण्डल के बीच कोई धुंआ तो नहीं आ रहा है अगर धुंये का कोई स्राव है तो यह बताता है कि कैण्डल ठीक ढ़ंग से नहीं लगा है इसे सही ढ़ंग से पुनः लगायें और अगर यह अधिक समय ले रहा है तो एक नई कैण्डल लें।
  • अपने सहायक से छोटे अंत की ओर किसी रुकावट को जाचने के लिये कहें और कैण्डल को 3 से 4 इंच तक बचे रहने तक जलने दें। अगर धुंये को गुजरने में कोई रुकावट आती है तो टूथपिक का उपयोग हटाने के लिये कर सकते हैं जब कैण्डल 3 इंच बच जाये तब अपने सहायक से इसे बाहर निकालकर एक कप पानी में डालने के लिये कहें। अब दिखायी पड़ने वाले कान की नली को साफ कर दें। आप इस तरीके को दूसरे कान की सफाई के लिये भी कर सकते हैं।

हमेशा इस इयर कैण्डल तरीके को किसी सहायक के साथ करें और अगर आपके कान में सर्जरी से कोई चीज़ लगायी गयी है तो इस तरीके का कभी भी प्रयोग न करें।

loading...