Tips in Hindi for staying healthy in this winter season – ठण्ड में स्वस्थ रहने के नुस्खे

जब ठण्ड का मौसम आ जाए तो आपको ऐसे कई लोग मिलेंगे, जो लम्बे तथा पीड़ा भरे गर्मी के दिनों को अलविदा कहने में काफी ख़ुशी का अनुभव कर रहे होंगे। सर्दी के उपाय, परन्तु कई ऐसे लोग भी होंगे जो ठण्ड के आने की बात सोचते ही कांपने लगते हैं।

परन्तु स्वास्थ्य से जुड़ी कुछ कुछ बातों का ख्याल रखने से ठण्ड में आपके स्वास्थ्य के बिगड़ने की काफी कम संभावनाएं बचेंगी। आपको सिर्फ इस बात का नोट बनाना होगा कि ठण्ड में फिट रहने के लिए आपको क्या करना चाहिए।

विंटर केयर टिप्स में प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाएं (Immunity)

शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के नुस्खे काफी आसान हैं – हमेशा कार्यशील रहें, पर्याप्त मात्रा में नींद पूरी करें और खानपान सही रखें। ठण्ड के मौसम में आप विभिन्न प्रकार के पोषक पदार्थ और जड़ीबूटियों का सेवन करके अपने शरीर को विभिन्न प्रकार के वायरल आक्रमण से बचा सकते हैं। इनमें लहसुन, एकिनासिया (Echinacea) तथा जिंक प्रमुख हैं।

सर्दियों में स्वस्थ रहने के लिए भोजन में स्वस्थ खानपान रखें (Eat healthy)

ठण्ड का मौसम आते ही आपके लिए उन पकौड़ों तथा अन्य तली हुई चीज़ों से दूर रहना कठिन हो जाता है। लेकिन मन को अच्छे लगने वाले खानपान के स्थान पर ठण्ड में मिलने वाली सब्ज़ियों से बने पोषक स्टू और सूप्स की लम्बी सूची में से अपना पसंदीदा पदार्थ चुनें। थोड़ा सा क्रीमी सूप भी चलेगा। उन फलों का पूरा फायदा उठाएं, जो ठण्ड के मौसम में उपलब्ध होती हैं, जिनमें चेरिमोया, पैशन फ्रूट, संतरे, क्लामेन्टाइंस, परसिमंस, शेरोन फ्रूट, पमेलो, रेड करंट्स, लाल केला तथा कई और प्रमुख हैं। इसके अलावा इस मौसम में मिलने वाली हरी पत्तेदार सब्ज़ियों का भी भरपूर मात्रा में सेवन करें। इसके अलावा मीठे आलू, बीटरूट, लहसुन और अदरक का भी प्रयोग प्रचुर मात्रा में करें।

ठण्ड के मौसम में पहने जाने वाले बेहतरीन परिधान

सर्दियों में स्वस्थ रहने के घरेलू उपाय है अपने वज़न को नियंत्रित रखें (Manage your weight)

आपको यह अवश्य पता होगा कि अतिरिक्त पोषण से भी कई तरह की स्वास्थ्य समस्याएं पेश आ सकती हैं, और इससे आपके शरीर पर काफी प्रतिकूल प्रभाव पड़ेगा। भले ही इस समय आपका वज़न थोड़ा सा बढ़ भी जाए तो भी समय के साथ यह ठीक हो जाता है। इस समय आपका मन यही करता होगा कि आरामदायक और गरम कपड़ों में छिपे रहें, पर असल में आपको ठण्ड का सामना करके थोड़ा सा व्यायाम करना चाहिए।

ठंड से बचने के उपाय है गहरी नींद लें (Sleep deeply hai sardiyon me dekhbhal)

धूम्रपान, शराब तथा अन्य किसी भी प्रकार की ऐसी चीज़ों से परहेज करें जिनसे आपके रात की अच्छी नींद में बाधा पड़ती हो। अपनी प्रतिरोधक क्षमता को बेहतर बनाने के लिए 8 घंटे की अच्छी नींद से बेहतर कुछ भी नहीं होता। अगर आप सोने की किसी समस्या से ग्रस्त हैं तो मन को शांत करने की कुछ तकनीकों का प्रयोग करें। कम से कम सोने से पहले मन को शांत करने वाली ऑडियो क्लिप सुन लें।

त्वचा को दमकता हुआ बनाए रखें (Keep your skin glowing)

ठण्ड के मौसम में त्वचा में कई तरह की समस्याएं पैदा होती हैं, जैसे सूखापन, पपड़ीदार त्वचा, खुजली, एक्जिमा और चिल ब्लेंस। इन समस्याओं के होने के कई कारण होते हैं, जैसे आर्द्रता (humidity) में कमी और हाइड्रेशन की समस्या। इन सबसे रक्त संचार पर्याप्त मात्रा में नहीं हो पाता जिसके फलस्वरूप त्वचा में पोषक तत्व ठीक से नहीं जा पाते। ऐसा पोषक मॉइस्चराइज़र प्रयोग में लाएं जिसमें लहसुन और विटामिन सी के गुण हों, जिससे कि त्वचा को अपने हिस्से के एंटी ऑक्सीडेंट्स पर्याप्त मात्रा में मिल जाएं। आप इसमें विटामिन ए का कैप्सूल भी मिला सकते हैं। इसके अलाव आप लहसुन के एक फाहे को तोड़कर (अगर आप इसकी गंध बर्दाश्त कर पाएं) इसका प्रयोग अपने सामान्य मॉइस्चराइज़र के साथ भी कर सकते हैं। जब एक्जिमा या सोराइसिस को ठीक करने की बात आए, तो आप मछली के तेल का सेवन सीधे तौर पर या कैप्सूल के रूप में भी कर सकते हैं। इसमें ओमेगा 3 की काफी ज़्यादा मात्रा होती है, जिनकी मदद से त्वचा की खुजली से काफी अच्छी प्रकार निपटा जा सकता है। आप सनस्क्रीन का भी प्रयोग अवश्य करें। मौसम कोई भी हो, आपको सनबर्न कभी भी हो सकता है।

सर्दी मे त्वचा की सुरक्षा के लिए घरेलू बॉडी लोशन

कीटाणुओं को दूर करें (Keeping away the bugs hai thand se bachav)

अगर आप ठन्डे में अच्छे से खुद की सुरक्षा नहीं करेंगे तो आपको सर्दी ज़ुकाम और फ्लू से पीड़ित होने का ख़तरा रहेगा। ये दोनों ही छूने से फैलने वाली बीमारियां हैं और हाथों के छूने से, छींकने तथा खांसने से भी फ़ैल सकती हैं। अपने कमरे को धूल रहित और साफ़ सुथरा रखें। ठंड से बचाव, अगर आपके बच्चों को सर्दी ज़ुकाम हो गया है, तो उनके खिलौनों को साफ़ कर लें। रोज़ाना हाथ अच्छे से धोएं तथा किसी भी बीमार व्यक्ति के ज़्यादा करीब न जाएं। काफी मात्रा में द्रव्य ग्रहण करें, जैसे पोषक सूप, पानी और गर्म पेय पदार्थ।

Subscribe to Blog via Email

Get Hindi tips to your inbox everyday