How to use multanimitti for dry skin – face packs – सूखी त्वचा के लिए मुल्तानी मिट्टी का उपयोग कैसे करें – फेस पैक

मुल्तानी मिट्टी को फुलर अर्थ (fuller earth) भी कहा जाता है। यह काफी पुराने समय से सबके सौंदर्य को निखारने में मददगार होता हैं। मुल्तानी मिट्टी का प्रयोग इसका इस्तेमाल भारतीय महिलाएं काफी लंबे समय से करती आ रही हैं।

कैसे करें रूखी त्वचा के लिए मुल्तानी मिट्टी का उपयोग? (How to use multanimitti for dry skin?)

सूखी त्वचा एक आम समस्या है जो विभिन्न कारणों की वजह से हो सकती है। ये वंशानुग, सूरज में ज्यादा देर रहना, मौसम की स्थिति, डीहाइड्रेशन (dehydration), कठोर साबुन का उपयोग और  जैसे कई कारण हो सकते है। रूखी त्वचा आपके चेहरे का परतदार और सुस्त बना देती है।

मुल्तानी मिट्टी सभी प्रकार की त्वचा के लिए एक प्रभावी उपाय है। लेकिन,अगर आपकी सूखी त्वचा है,तो आपको थोड़ी ज्यादा देखभाल की जरुरत होती है। आपको बता दें कि क्लीनजिंग (cleansing), टोनिंग (toning) और मॉश्चराइजिंग (mosturizing) चेहरे के टेक्सचर (texture) को सुधारने के लिए नियमित रुप से इस्तेमाल करना चाहिए।

जिन फेस पैक में मुल्तानी मिट्टी मौजूद होता है वो फेस पैक आपके चेहरे के मॉशचराइजर को लॉक कर देता है और रुखापन कम हो जाता  है। इसी के साथ ये आपके पोर्स में जमी गंदगी को बहार निकाल कर पोर्स को सांस लेने में मदद करता है।

मुल्तानी मिट्टी के उपयोग, मुल्तानी मिट्टी की तुलना अगर रसायन या लोशन से की जाए तो मुल्तानी मिट्टी प्राकृतिक और आसानी से बाजार में मिल जाती है।

महिलाओं के लिए प्राकृतिक एंटी एजिंग फेसपैक/फेशियल

रूखी त्वचा के लिए मुल्तानी मिट्टी का उपयोग करने के लाभ (Benefits of using multanimitti for dry skin)

कुछ लोगों का मानना होता है कि मुल्तानी मिट्टी चेहरे को शुष्क कर देती है। मुल्तानी मिट्टी के गुण, लेकिन आपको बता दें कि ये सूखी त्वचा को मॉश्चराइज करने की भी क्षमता रखती है। ड्राय स्किन (dry skin) बैक्टेरिया और संक्रमण का शिकार हो जाती है। इसलिए आज हम आपके लिए मुल्तानी मिट्टी से जुड़े कुछ लाभ लेकर आए है जिसका आप आसानी से इस्तेमाल कर सकते है।

Subscribe to Blog via Email

Join 45,326 other subscribers

  • ये आपकी त्वचा की एंटी-ऑक्सीडेंट की कमी को पूरा करता है और मुक्त कण से निजात दिलाता है।
  • मुल्तानी मिट्टी विटामिन से भरपूर होती है जिसके चलते ये आपकी त्वचा को स्वस्थ बनाती है।
  • आपकी त्वचा को निखारने में सहायता करती है।
  • आपको इनफ्लेमेशन (inflammation), लालिमा, जलन और खुजली से कोसो दूर रखती है।
  • ड्राय स्किन के लिए प्रभावी साबित हुई है।
  • त्वचा में रक्त परिसंचरण में सुधार लाती है।
  • आप इसे अपने चेहरे पर स्क्रब के रूप में भी  इस्तेमाल कर सकते है  जिसके चलते आपको नीचे दिए गए फायदें हो सकते है
  • सन टैन (sun tan) को कम करना
  • एंटीसेप्टिक (antiseptic) के रूप में काम करना
  • उम्र के लक्षण को रोकने में मददगार

रूखी त्वचा के लिए मुल्तानी मिट्टी के साथ पैक (Dry skin face packs with multanimitti)

जैसा की आप सब जाहिर तौर पर जानते है कि मुल्तानी मिट्टी का आमतौर पर चेहरे के अतिरिक्त तेल को निकालने के लिए होता है। इसलिए जब आप इसका इस्तेमाल सूखी त्वचा पर करते है तब आपको कुछ तत्व मिलाने पड़ते है जो मिश्रण को संतुलित बनाते है। तो कुछ मॉस्चराइजिंग और त्वचा को तरोताजा करने वाले तत्वों की ओर बढ़ते है जो आपकी त्वचा को मॉश्चर को लॉक करने में मदद करेगा।

सर्वोत्तम गुलाब के फेसपैक

शुष्क त्वचा को साफ करने के लिए मुल्तानी मिट्टी और शहद (Multanimitti& honey to clear dry skin)

रूखी त्वचा के उपाय, रूखी त्वचा को साफ करने के लिए आप मुल्तानी मिट्टी और शहद का पेस्ट बना सकते है। लेकिन ये पेस्ट बहुत गाढ़ा होता है इसको पतला करने के लिए इसमें दूध मिला लें। फेशियल करने का तरीका, इसके बाद इस मिश्रण को चेहरे और गर्दन पर लगा लें। इसके अलावा इस पेस्ट को आप अपने हाथ और आर्मपिट्स (armpits) पर भी लगा सकते है। इस पेस्ट को 20 मिनट त्वचा पर लगा रहने दे और फिर पानी से स्किन को साफ कर लें। इसके बाद अपने चेहरो को ठंडे पानी से धो लें ताकि पोर्स मॉश्चर को लॉक कर लें। आप इस पैक को रोजाना भी लगा सकते है ताकि आपकी त्वचा निखरी हुई दिखाई दे।

शुष्क त्वचा से छुटकारा पाने के लिए मुल्तानी मिट्टी और चंदन की लकड़ी (Remove dry skin with multanimitti& sandal wood)

इस फेस पैक को वो लोग इस्तेमाल कर सकते है जो मुहांसों से ग्रस्त है। हालांकि इस तरह की स्थिति कम देखने को मिलती है। इस फेस पैक बनाने की विधि के लिए आधा चम्मच मुल्तानी मिट्टी और चंदन का पाउडर लें। फिर इसमें थोड़ी मात्रा में गुलाब जल और चिकना बनाने के लिए शहद मिक्स कर दें। इसे फेस पर लगाने के बाद सूखने दें और फिर ठंड़े पानी से चेहरे को धो लें। इस फेस पैक को हफ्ते में 2 बार जरुर लगा लें। इस बात का ध्यान रखें कि त्वचा पर लगाने वाले उत्पादों की गुणवत्ता का होना चाहिए।

सूखी त्वचा के उपचार के लिए दही के साथ मुल्तानी मिट्टी (Multanimitti with curd for dry skin treatment)

रूखी त्वचा का इलाज, मुल्तानी मिट्टी चेहरे पर क्लीनर के रूप में काम करती है और दही त्वचा को मॉशचर प्रदान करने में मदद करेगा। फेस पैक बनाना, एक अच्छा पेस्ट बनाने के लिए दोनों को पर्याप्त मात्रा में लेकर मिला लें। पेस्ट के सूख जाने पर चेहरे को धो  लें। इस पेस्ट को लगाने से त्वचा से जुड़ी कई समस्याओं से आपको छुटकारा मिल सकता है। ये आपको त्वचा पर होने वाली जलन, खुजली जैसी परेशानियों से दूर करता है।

तैलीय या ऑइली त्वचा के लिए सबसे अच्छे फेसपैक

मुल्तानी मिट्टी और पपीता (Multanimitti with papaya)

मुल्तानी मिट्टी के कई गुणों के बारे में आप परिचित हो चुके है। लेकिन आपको बता दें कि पपीता भी चेहरे के लिए वरदान साबित हुआ है। ये ना सिर्फ चेहरे को बेदाग बनाता है बल्कि ये आपकी स्किन टोन को भी सुधारने में सहायता करता है। फेशियल कैसे करे, मुल्तानी मिट्टी और पपीते के पेस्ट को लगाने के लिए एक बाउल लें और उसमें मुल्तानी मिट्टी एंव पपीता का पल्प मिला लें। पपीते में विटामिन ए और सी अधिक मात्रआ में पाए जाते है। इसी के साथ पपीता एंटी-ऑक्सीडेंट के लिए भी जाना जाता है। दोनों को मिलाकर पेस्ट बनाने के बाद चेहरे पर 20 मिनट के लिए लगा लें। इसके बाद चेहरे को गुनगुने पानी से साफ कर लें और फिर थोड़ी देर बाद ग्लो को देखने के लिए आप ठंड़े पानी का इस्तेमाल कर सकते है।

इस प्रकार मुल्तानी मिट्टी एक बेहतरीन फेस पैक के रूप में उभर कर आया है। ये ना सिर्फ ऑयल को बहार निकाल फैकती है बल्कि ये पोर्स में मौजूद गंदगी को भी साफ करती है। इसके अलावा ये ड्राय त्वचा वालों की चेहरे का रक्त परिसंचरण में सुधार लाने में कामियाब साबित हुई है। ये प्राकृतिक तत्व चेहरे की कई समस्या को निपटाने में सहायता करता है। फेस पैक को अच्छी तरह बनाएं और अच्छी गुणवत्ता वाले उत्पादों का उपयोग करें।

ये भी है कारण मुल्तानी मिट्टी को चेहरे पर इस्तेमाल करने के लिए (More reasons to use multanimitti for face)

  • काले घेरे (Dark circles) – काले घेरों से छुटकारा पाने के लिए विशेषज्ञ भी मुल्तानी मिट्टी इस्तेमान करने की सलाह देते हैं। कई लोगों के आंखों के नीचें लाइनें पड़ जाती है जो आपके चेहरे की रौनक को छीन लेती है। लेकिन इस समस्या में भी मुल्तानी मिट्टी का फेस पैक फायदेमंद साबित हुआ है। इसके लिए आपको नींबू, मुल्तानी मिट्टी और ताजा क्रीम की जरुरत पड़ेगी। इन तीनों का पेस्ट बनाने के लिए 1 चम्मच नींबू का रस, मुल्तानी मिट्टी पर्याप्त मात्रा में और एक चम्मच ताजी क्रीम को मिला लें। अब इस पेस्ट को आप आंखों के नीचे 20 मिनट के लिए लगा कर पानी से साफ कर लें।

चंदन फेसपैक – चंदन के लाभ

  • एक्सफोलिएटिंग तत्व (Exfoliating element) – मुल्तानी मिट्टी एक बेहतरीन एक्सफोलिएटिंग तत्व माना जाता है। आप इसको संतरे के छिलके के पाउडर और चंदन के पाउडर को मिला कर लगा सकते है। इस फेस पैक को लगा कर आपको तुरंत चेहरे पर अंतर नजर आएगा।
  • एक्सफोलिएटिंग फेस मास्क (Exfoliating face mask) – मुल्तानी मिट्टी हर किस्म की त्वचा के लिए फायदेमंद है। इसका इस्तेमाल करने से मृत कोशिकाएं साफ हो जाती हैं। इस फेस पैक को बनाने के लिए आपको तीन तत्वों की जरुरत पड़ेगी। सबसे पहले एक बाउल लें और उसमें नींबू का रस, ब्राउन शुगर और पर्याप्त मात्रा में मुल्तानी मिट्टी मिला लें। इस पेस्ट को बनाकर आप चेहरे पर लगा सकते है। इसके अलावा आपके पास और एक विकल्प भी है। आप इस मास्क को बनाने के लिए सागो यानि साबुदाना भी ड़ाल सकते है। इस पैक को बनाने के लिए एक पैन लें और उसमें नींबू के अर्क मिलाकर और सागो के कुछ मात्रा में कण मिला लें। अब गैस की आंच को धीमा कर पेस्ट को गाढ़ा होने दें और साथ ही मिश्रण को चलाते रहे। इसके बाद पैन को गैस के ऊपर से उतार कर उसे ठंड़ा होने दें। अब इसमें चीनी और मुल्तानी मिट्टी ड़ालकर अच्छे से मिला लें। अब इस मिश्रण से थोड़ी देर चेहरे पर मसाज करें और फिर 10 मिनट के लिए छोड़ दें। अब 10 मिनट बाद चेहरे को सादे पानी से साफ कर लें। आप इस पैक को हफ्ते में 1 बार इस्तेमाल कर सकते है।
loading...