Hindi tips to remove stains from nails – बिना पेरोक्साइड के इस्तेमाल के नाखूनों के दाग कैसे ठीक करें

नाखूनो पर सफ़ेद दाग (White stains on nails)

नाखूनों के सफ़ेद होने का कारण कीमोथेरेपी, चोट या लीवर से संबंधित बीमारी हो सकती है। नाखून पर सफेद दाग, किसी तरह की चोट से सफ़ेद हुये नाखूनों के ठीक होने में कई हफ़्ते लग जाते हैं। जिंक की कमी से भी उंगलियों पे दाग हो सकते हैं। इस तरह की समस्या कई कारण हो सकते हैं इसलिये डॉक्टरी परीक्षण ही सबसे बेहतर होता है।

नाखूनों के पीलेपन का कारण और निदान (Causes and remedy of yellow stains on nails)

नाखूनों की स्थिति से व्यक्ति के स्वास्थ्य और जीवन शैली का भी पता चलता है। पूरी ज़िन्दगी इंसान के नाखून बढ़ते रहते हैं जिनके आकर, रंगों आदि में कई कारणों से अंतर आ सकते हैं। अत्यधिक धूम्रपान और नैलपोलिश के अधिक प्रयोग से भी नाखूनों में पीलापन आ सकता है जिसका कारण सिगरेट में निकोटिन और टार का पाया जाना होता है। इससे बचने का सबसे बेहतर तरीका तो यही है कि धूम्रपान को पूरी तरह से छोड़ दें पर यदि ये संभव न हो तो सिगरेट के हर कश के बाद इसे रख दें।

काफी लम्बे समय तक नेल पोलिश (nail polish) का प्रयोग करने से भी नाखून पीले पड़ जाते हैं। गाढ़े रंग के नेल पेंट (paint) का प्रयोग सीधी नाखूनों पर करने से त्वचा और नाखूनों का रंग पीला पड़ जाता है। इसके समाधान के तौर पर गाढ़े नेल पेंट के नीचे एक बेस कोट (base coat) का प्रयोग करें। इसके अलावा नाखूनों को थोड़ा आराम प्रदान करने के लिए उन्हें बीच बीच में बिना रंगे छोड़ दें।

अगर कुछ ख़ास स्थितियों में आपको येलो नेल सिंड्रोम (yellow nail syndrome), जिसके अंतर्गत छाती और लसीका प्रणाली (lymphatic system) की समस्याएं पीलापन लिए हुए हरे नाखूनों के साथ पैदा हो जाएं, का सामना करना पड़ सकता है। इसके अंतर्गत नाखूनों की बढ़त काफी धीमी हो जाती है और आपके नाखून नेल बेड (nail bed) से कई बार अलग भी हो जाते हैं। इन नाखूनों के स्वरुप में सुधार करने के लिए पूरक खाद्य पदार्थ तथा विटामिन इ के ऑइंटमेंट (ointment) का प्रयोग करें।

नाखूनों पर से सफ़ेद दाग निकालने के तरीके

नाखून के रोग, कई बार नाखूनों के पीलेपन का कारण स्वास्थ्य संबंधी समस्याएँ भी हो सकती हैं। पीलेपन का मुख्य कारण नाखूनों में फंगल इन्फेक्शन का होना भी होता है जिसमे नाखून पीले और मोटे तथा चटकने लगते हैं। इसे दवाओं द्वारा ठीक किया जा सकता है पर इससे बचने के लिए कुछ बातो का हमेशा ख़याल रखें जैसे मोज़े रोज धो कर पहने, सब्जियों को दस्ताने पहन कर धोएं, पैरों को सूखा एवं साफ़ रखें और नैलपोलिश का अधिक प्रयोग न करें आदि।

नाखूनों की देखभाल – नाखूनों के पीलेपन का घरेलू इलाज़ (Home remedies to get rid of yellow nails)

  • नाखून की देखभाल, दांत साफ करने वाली दवाओं से भी नाखूनों को साफ़ किया जा सकता है।
  • नाखूनों को साबुन के पानी और नीबू के रस में मिक्चर में करीब 5 मिनिट तक भिगोयें और फिर अच्छी तरह साफ़ कर के चिकनाई लगायें।
  • नाखूनों को गर्म पानी और सफ़ेद विनेगर के घोल में 10 मिनिट तक भिगोयें और फिर गर्म पानी से धोकर लोशन लगायें।
  • नाखून की देखभाल, चमकाने वाले मंजन को ब्रश के सहारे नाखूनों पर रगड़ें, लाभ होगा।
  • दागों को हटाने के लिए नाखूनों पर नीबू का रस मलें।
  • नीबू का रस और खाने के सोडे का पेस्ट नाखूनों के लिये रामबाण औषधि है। इस पेस्ट को नाखूनों पर लगा कर 15 से 20 मिनिट बाद साबुन के पानी से धो लें।
  • नमक और नीबू को नाखूनों पर 5 से 10 मिनिट रगड़े और फिर गर्म पानी से धो लें।
  • नाखूनों को चमकाने के लिए बाजार में मिलने वाली पेंसिल का प्रयोग भी कर सकते हैं।
  • नाखूनों पर नैलपोलिश लगाने से पहले सुरक्षित लेप का प्रयोग करना चाहिये जो इन्हें हानिकारक केमिकल्स से बचाता है।
loading...

Subscribe to Blog via Email

Get Hindi tips to your inbox everyday