Human Hair vs. Synthetic Hair extensions – असल बालों तथा सिंथेटिक बालों से बने एक्सटेंशन्स

मनुष्य के या सिंथेटिक (synthetic) बालों से बने एक्सटेंशन्स (extensions)छोटे बालों को भी लंबा तथा ख़ूबसूरत बना देते हैं। ये हर महिला, चाहे वह आम हो या ख़ास, के बालों को एक नया जीवन प्रदान करते हैं। सिंथेटिक और मनुष्य के बाल दोनों ही आपकी हेयर स्टाइल (hairstyle) को घनत्व, लम्बाई तथा खूबसूरती प्रदान करते हैं। आप बालों के इन एक्सटेंशन्स को घर पर भी लगा सकती हैं, या फिर सैलून (salon) में जाकर भी इन्हें लगा सकती हैं।

हर मनुष्य जन्म के समय से ही बालों के सही घनत्व और लम्बाई के साथ पैदा होता है। उम्र के साथ बाल बढ़कर कड़े हो जाते हैं। पर एक समय के बाद बाल पतले होकर झड़ने लगते हैं। आजकल प्रदूषण और खानपान में मिलावट की वजह से सबको बालों की कई समस्याओं से गुज़रना पड़ता है। आप अपने असल बालों के कम होने की स्थिति में असल बालों से निर्मित या सिंथेटिक एक्सटेंशन्स का प्रयोग कर सकते हैं। नीचे इन दोनों एक्सटेंशन्स के अंतर के बारे में चर्चा की गयी है। बाल एक्सटेंशन का मिश्रण :-

असल बालों तथा सिंथेटिक बालों से बने एक्सटेंशन्स में अंतर (Difference between human hair and synthetic hair extension)

मनुष्य के बाल और नकली बाल अलग अलग तरीके से बने होते हैं और इसीलिए इन दोनों के बीच काफी बड़ा अंतर होता है। आप इन दोनों में से कोई भी एक्सटेंशन अपने बालों के लिए चुन सकती हैं। पर एक सही एक्सटेंशन लेते समय इसे खरीदने वाले व्यक्ति का बजट (budget) भी काफी अहम् भूमिका निभाता है। अगर आप अपने बालों को प्राकृतिक प्रतीत करवाना चाहती हैं तो मानव के असली बाल आपके लिए सटीक विकल्प रहेंगे। परन्तु नकली सिंथेटिक बालों के अपने कई फायदे हैं, जिनमें से मुख्य यह है कि यह आपके बालों का घनत्व बढाने में काफी हद तक सक्षम है।

प्रकार तथा कीमत में अंतर (Difference on variations and budget for baalon ke extensions)

असली बालों का सिंथेटिक बालों के ऊपर पहला फायदा यह है कि वे प्राकृतिक होते हैं। इसे एक असली मनुष्य से लिया जाता है, अतः यह बिना किसी अतिरिक्त मेहनत के आप पर तथा आपके सिर पर अच्छे से आ जाता है। यह कई तरह के आकार, स्टाइलिंग (styling) तथा किस्मों में उपलब्ध होता है, और आप अपनी पसंद के आधार पर इसका चुनाव कर सकती हैं। यह एक प्राकृतिक लुक (look) प्रदान करता है और ज़्यादातर महिलाएं भी यही चाहती हैं। यही कारण है कि सिंथेटिक बालों के मुकाबले असली बालों की कीमत काफी ज़्यादा होती है।

परन्तु बालों के सिंथेटिक एक्सटेंशन्स तकनीक में हुए विकास की देन हैं और ये ऐसे बाल बनाने के लिए सिंथेटिक फाइबर्स (synthetic fibers) की मदद लेते हैं। ज़्यादातर लोग सिंथेटिक बालों के एक्सटेंशन का ही प्रयोग करते हैं, क्योंकि ये असल बालों के एक्सटेंशन्स से सस्ते होते हैं। परन्तु अगर आपने अच्छी गुणवत्ता वाले सिंथेटिक एक्सटेंशन्स खरीदे हैं तो ये किसी भी मायने में असल बालों से कम नहीं दिखेंगे।

हेयर एक्सटेंशन्स के प्रकार (Types of hair extensions or hair extensions ke prakar)

अगर आप असली बालों से बने एक्सटेंशन्स लेना चाहती हैं, तो यह जानना आवश्यक है कि ये 4 प्रकार के होते हैं – इन्डोनेशियाई, यूरोपियन, चाइनीज़ तथा भारतीय (Indonesian, European, Chinese and Indian)। अगर आप भारतीय बालों की स्टाइल (style) अपनाना चाहती हैं तो एशियाई (asian) एक्सटेंशन्स की ज़रुरत पड़ेगी। इनका प्रयोग सबसे ज्यादा किया जाता है क्योंकि ये घने होते हैं और सिर पर लगाते समय बिलकुल सीधे रहते हैं। अगर आप प्राकृतिक बालों के किफायती किस्मों की बात करें, तो इन्डोनेशियाई बल अच्छा विकल्प साबित होंगे क्योंकि इनकी कीमत कम होती है और ये थोक (bulk) में उपलब्ध होते हैं। अगर आप पतले बालों के किस्मों की खोज कर रही हैं तो यूरोपियन बाल आपके लिए काफी सही रहेंगे। परन्तु इनकी मांग बाज़ार में काफी होती है, अतः ये आपको महंगे दामों में मिलेंगे।

बाल एक्सटेंशन के सिंथेटिक प्रकार की भी कई किस्में होती हैं और आप अपनी ज़रूरतों के मुताबिक इनका चुनाव कर सकती हैं। सबसे प्रसिद्ध बाल एक्सटेंशन को प्रीमियम हेयर (premium hair) कहा जाता है। आप[ सौन्दर्य प्रसाधन की दुकानों पर इन्हें आसानी से प्राप्त कर सकती हैं। इन्हें भी दो भागों में बांटा जा सकता है – सामान्य प्रीमियम बाल तथा उलझन मुक्त (tangle free) प्रीमियम बाल। सामान्य प्रीमियम में अन्दर क्यूटीकल्स (cuticles) होते हैं और इनमें उलझन आ सकती है। अतः इनकी कीमत भी कम होती है। उलझन मुक्त प्रकार में केमिकल्स (chemicals) की सहायता से क्यूटीकल्स निकाल दिए जाते हैं, जिनसे इनमें उलझनें नहीं होती।

व्यावसायिक मांग (Professional demand)

पेशेवर हेयर स्टाइलिस्टस (hair stylists), जो ख़ास ग्राहकों को हेयर एक्सटेंशन प्रदान करते हैं, असल मानव बाल के एक्सटेंशन का चुनाव पहले करते हैं। इसका चुनाव करने से वे इनमें अपनी पसंद के रंग और स्टाइल (style) का मिश्रण कर सकते हैं। वैसे तो असल मानव बाल काफी कारगर और उपयोगी साबित होता है लेकिन इसे अच्छी देखभाल की आवश्यकता होती है। आप रोलर (roller), ब्लोवर (blower), सिरेमिक स्ट्रेटनर (ceramic straightener) या कर्लिंग आयरन (curling iron) की सहायता से इन एक्सटेंशन्स की स्टाइलिंग (styling) कर सकते हैं। आप बालों को प्यार से धोकर तथा हलकी कंडीशनिंग (conditioning) करके इनकी देखभाल कर सकते हैं।

सिंथेटिक हेयर एक्सटेंशन्स को काफी कम देखभाल की आवश्यकता होती है और इनकी कीमत भी काफी कम होती है। यह आसानी से बाज़ार में उपलब्ध होता है। भले ही आपको बाज़ार में बालों के प्राकृतिक एक्सटेंशन्स उपलब्ध ना हों, आप सिंथेटिक एक्सटेंशन्स आसानी से प्राप्त करके बालों की देखभाल कर सकते हैं।

दिखने में असली या नकली (Real or artificial image)

जैसा कि नाम से ही पता चलता है, प्राकृतिक बाल ज़ाहिर तौर पर असली लगेंगे, क्योंकि इन्हें नकली तौर पर किसी अन्य पदार्थ से नहीं बनाया गया है। दूसरी तरफ सिंथेटिक बाल स्वभाव से ही नकली होते हैं, और अगर आपके उत्पाद की गुणवत्ता खराब है तो ये दिखने में भी नकली लगेंगे। सिंथेटिक बालों का इस्तेमाल स्टाइलिंग (styling) के लिए आसानी से किया जा सकता है, क्योंकि इन्हें आसानी से किसी भी रूप में मोड़ा जा सकता है। प्राकृतिक बालों के साथ भी आप कई प्रयोग कर सकती हैं, बस इनमें समय ज़्यादा लगता है।

हेयर एक्सटेंशन्स का टिकाऊपन (Durability of hair extensions)

जब आप कोई भी सामान खरीदने जाएं तो इसके उपयोग के अलावा इसके टिकाऊ होने की क्षमता की भी जांच कर लेनी चाहिए। जब आप नकली और असली बालों के एक्सटेंशन्स की तुलना कर रहे हों तो दोनों के चलने की मात्रा पर गौर करें। एक सामान्य हेयर एक्सटेंशन करीब 6 महीने चलता है जबकि एक अच्छी गुणवत्ता का एक्सटेंशन एक साल या उससे ज़्यादा भी चल सकता है। मानव बालों के एक्सटेंशन्स के चलने की क्षमता नकली बालों से अधिक होती है। नकली बालों में नायलॉन (nylon) और सिंथेटिक तत्वों का प्रयोग होता है अतः ये 6 महीने से ज़्यादा नहीं चलते।

स्वरुप (Appearance)

बाल एक व्यक्ति के लिए काफी ज़रूरी होते हैं क्योंकि इनके बिना हमारा बाहरी स्वरुप काफी खराब लगता है। अगर आपके बालों की गुणवत्ता अच्छी नहीं है तो आप समाज के बीच अनचाही चर्चा का केंद्र बन सकते हैं। अगर आप नकली बालों के एक्सटेंशन के स्वरुप की तुलना असली बालों से करें तो आप पाएंगे कि प्राकृतिक बाल नकली बालों की तुलना में देखने में ज़्यादा असली और अच्छे लगते हैं। अगर आप प्राकृतिक हेयर एक्सटेंशन का प्रयोग करते हैं तो यह आपके बालों की असल गुणवत्ता तथा रंग में भी उपलब्ध होते हैं। अतः इसका प्रयोग करने पर आपके बाल दिखने में काफी आकर्षक लगेंगे।

असली और नकली बालों में अंतर (Differences between Human Hair & Synthetic Hair)

आपके बजट (budget), समय और ज़रुरत के हिसाब से असली और नकली दोनों प्रकार के एक्सटेंशन्स ही सही हो सकते हैं। दोनों के अपने फायदे और नुकसान हैं जिनकी मदद से आप इन्हें विभिन्न परिस्थितियों में चुन सकते हैं।

असली बाल (Human Hair)

यह आपको प्राकृतिक अहसास प्रदान करते हैं। ये काफी मुलायम होते हैं और ऐसा अनुभव आपको नकली बालों के साथ प्राप्त नहीं होगा। मानव के असली बालों से बने एक्सटेंशन्स के कई फायदे होते हैं। आप इनपर स्टाइलिंग के लिए आंच तथा मनचाहे रंग का प्रयोग कर सकते हैं। यह थोड़ा महंगा अवश्य होता है, पर सही देखभाल से यह काफी दिनों तक टिकता भी है। आमतौर पर असली बाल चार तरह के होते हैं – चाइनीज़, इन्डोनेशियाई, भारतीय और यूरोपियन (Chinese, Indonesian, Indian and European)। असली बालों के एक्सटेंशन्स को अंतिम रूप देने में उच्च गुणवत्ता के तत्व प्रयोग में लाए जाते हैं।

सिंथेटिक बाल (Synthetic Hair)

हाल के समय में सिंथेटिक बाल काफी मशहूर हो गए हैं। इनके कुछ प्रकार बिलकुल असली मानव बाल की तरह प्रतीत होते हैं। इनका सबसे बड़ा फायदा यह है कि आप बिना स्टाइलिंग के ही इनका प्रयोग कर सकती हैं। ये हर तरह के रूप में उपलब्ध होते हैं। इनमें प्रयुक्त फाइबर आपके बालों को बिगड़ने नहीं देता और ये खुद ही सही जगह पर आ जाते हैं।

Subscribe to Blog via Email

Get Hindi tips to your inbox everyday