Why conditioning hair before shampoo is important – शैम्पू के पहले बालों की कंडीशनिंग का महत्त्व

बालों को शैम्पू (shampoo) से धोने के बाद उनपर कंडीशनर (conditioner) का प्रयोग करना एक ऐसी विधि है, जिससे हम सब अच्छी तरह वाकिफ हैं। लेकिन अगर हम पुराने दिनों की बात करें, तो यह पाएंगे कि भारत में बालों को साफ़ करने के लिए पहले उनमें अच्छे से तेल लगाया जाता था, तथा इसके बाद उन्हें मिटटी या साबुन से धोया जाता था।

यानी कि बालों को पहले से ही तेल लगाकर कंडीशन (condition), डीप कंडीशनर कर लिया जाता था। लेकिन समय के साथ हम पश्चिमी सभ्यता के आदि हो गए और बालों को शैम्पू करने के बाद उनपर कंडीशनिंग करने की विधि अपनाने लगे। लेकिन अब समय दोबारा बदल रहा है तथा हमें शैम्पू के पहले भी बालों की कंडीशनिंग, हेयर कंडीशनिंग के महत्त्व के बारे में पता चल रहा है।

बालों की सामान्य अवस्था (The general hair condition)

जैसा कि सबको पता है, वातावरण में प्रदूषण का स्तर बढ़ने के साथ ही व्यस्त जीवनशैली तथा खानपान में अनियमितताओं की वजह से बालों की हालत में काफी गिरावट दर्ज की जाती है। सूरज की किरणों के सम्पर्क में आने से बाल काफी प्रभावित होते हैं और उनके टूटने की समस्या उत्पन्न हो जाती है। इसके अलावा अगर आपने अपने बालों में कलर (color) किया है, या फिर अपनी मनचाही हेयर स्टाइल (hairstyle) पाने के लिए बालों पर केमिकल या गर्मी से जुड़े नुस्खे (chemical and heat treatments) अपनाए हैं, तो आपके बाल रूखे, कमज़ोर और क्षतिग्रस्त हो जाते हैं। अतः ज़्यादातर मामलों में बालों का स्वास्थ्य देखभाल ना करने की वजह से काफी खराब हो जाता है।

बाज़ार में मिलने वाले श्रेष्ठ एंटी डैन्ड्रफ हेयर लोशन तथा क्रीम

शैम्पू के काम करने का तरीका (How a shampoo works)

सबसे पहले यह जानना आवश्यक है कि शैम्पू आपके बालों पर काम कैसे करता है। बालों में हल्का सा नकारात्मक चार्ज (negative charge) होता है। सामान्य शैम्पू में सोडियम लॉरिल सलफेट (Sodium Lauryl Sulfate – SLS) जैसा सर्फेक्टेंट (surfactant) होता है तथा थोड़े हलके शैम्पू में सोडियम लॉरिल ईथर सलफेट (Sodium Lauryl Ether Sulfate – SLEs) होता है। ये दोनों तरह के सर्फेक्टेंट नकारात्मक रूप से चार्ज होने वाले तत्व हैं। सल्फेट से मुक्त (sulfate free) बालों के क्लीन्ज़र कोकोबीटेन (cocobetaine) या कोकोअमिडो प्रोपिल बीटेन जैसे क्लींजिंग तत्व (cleansing agents) होते हैं। ये बालों पर काफी सौम्य होते हैं तथा ये ज़्विटरियोनिक (zwitterionic) भी होते हैं।

जब आप सूखे और कमज़ोर बालों में सामान्य शैम्पू का प्रयोग करते हैं, तो इस बात की काफी संभावना होती है कि वे आपके बालों को कोई फायदा पहुँचाने की बजाय आपके हेयर शाफ्ट्स (hair shafts) को और भी ज़्यादा क्षतिग्रस्त कर दें। SLS या SLEs  काफी शक्तिशाली होते हैं तथा आपके पहले से क्षतिग्रस्त बालों को और भी नुकसान पहुंचा सकते हैं। ये सर्फेक्टेंट सूखने वाले होते हैं तथा आपके बालों को बिलकुल रूखा करके बालों के झड़ने की समस्या को पैदा करते हैं। ऐसे वक़्त में आपको शैम्पू से पहले बालों की कंडीशनिंग की आवश्यकता पड़ती है।

कैसे रखें चमकते बाल – पहले कंडीशनिंग के फायदे (How pre-conditioning can help – balo ko condition karna)

कंडीशनिंग का अर्थ बालों को नमी प्रदान करना तथा उन्हें हाइड्रेट (hydrate) करना होता है। बालों में कंडीशनर, आप बालों को अच्छे तरीके से कंडीशन करके उनमें पोषक तत्वों का समावेश भी कर सकते हैं। इससे आपके बाल स्वस्थ होते हैं तथा उनमें रूखापन कम हो जाता है। अगर आप शैम्पू से बाल धोने से पहले उन्हें कंडीशन कर लें, तो आपके रूखे और कमज़ोर बालों का अच्छा उपचार होगा तथा इसके बाद शैम्पू करने पर बालों की गन्दगी के साथ लगा हुआ अतिरिक्त कंडीशनर भी धुल जाएगा। इस तरीके से बालों को पर्याप्त मात्रा में नमी भी प्राप्त होगी तथा वे साफ़ भी हो सकेंगे।

काले बालों के लिए बेहतरीन डीप कंडीशनर्स

कंडीशनर का उपयोग कैसे करे, गर्म तेल का उपचार (Hot oil treatment) शैम्पू से पहले की जाने वाली कंडीशनिंग का सबसे बेहतरीन रूप है। ओलिव ऑइल (Olive oil), नारियल के तेल तथा एसेंशियल ऑइल (essential oil) जैसे रोजमेरी या लैवेंडर (rosemary or lavender) के मिश्रण से आपको बालों को बेहतरीन कंडीशनिंग प्राप्त होती है। यह ना सिर्फ रूखे और खराब बालों को स्वस्थ बनाता है, बल्कि दोमुंहे बालों के उपचार तथा बालों की बढ़त में भी सहायता करता है। सिर में अच्छे से गर्म तेल की मालिश करें। आप तेल रात को भी लगा सकती हैं जिससे कि सुबह उठकर शैम्पू कर सकें, या फिर शैम्पू से एक घंटे पहले भी तेल लगाकर बालों को कंडीशन कर सकती हैं। बालों को गर्म की जगह ठन्डे पानी से धोएं, तथा पहली धुलाई में ही काफी शैम्पू प्रयोग करने की बजाय ज़रुरत पड़ने पर दो बार शैम्पू का बालों में प्रयोग करें। बालों को प्राकृतिक रूप से सूखने दें। इससे आपको साफ़, कंडिशन्ड (conditioned) तथा खूबसूरत बाल मिलेंगे जो काफी स्वास्थ्यकर भी होंगे।

loading...