False labor in hindi – गलत लेबर या गलत प्रसव पीड़ा का भ्रम क्या है?

लेबर या प्रसव पीड़ा का गलत होना क्या है? (What is false labor?)

जैसे जैसे आपके बच्चे के दुनिया में आने की तिथि निकट आती रहती है, आपके द्वारा अनुभव किये जाने वाले दर्दरहित और कभी कभी होने वाले ब्रेक्सटन हिक्स कॉन्ट्रेक्शन (Braxton Hicks contractions) की प्रक्रिया काफी ज़्यादा और तालमेल से होने लगती है। इस समय यह प्रक्रिया काफी ज़्यादा और काफी दर्दभरी होती है। ऐसे समय में आपको लगता है कि आपके लेबर्स (labors) शुरू हो गए हैं। पर सही लेबर के उलट इस गलत लेबर में गर्भाशय ग्रीवा (cervix) का सही प्रकार से और लगातार डाइलेशन (dilation) नहीं होता। इसके अंतर्गत होने वाली मरोड़ें भी लम्बी, मज़बूत और साथ में नहीं होती।

गलत लेबर का भ्रम क्या है?, हर महिला को गलत लेबर की समस्या नहीं होती। कई स्थितियों में असली लेबर के साथ होने वाली मरोड़ें बिना किसी या ना के बराबर चेतावनी के साथ आ जाती हैं।

मुझे कैसे पता चलेगा कि मेरा लेबर या प्रसव पीड़ा सही है या गलत? (How can i tell whether i’m in false labor or true labor?)

लेबर की निशानियाँ

कई बार असल लेबर या प्रसव पीड़ा की शुरुआत तथा गलत लेबर या प्रसव पीड़ा के बीच फर्क बता पाना काफी मुश्किल हो जाता है। अगर आप 37 हफ़्तों या इससे ज़्यादा समय से गर्भवती हैं तो नीचे दी गयी कुछ चीज़ें आपके काफी काम आ सकती हैं।

  • प्रसव पीड़ा के लक्षण, गलत लेबर या प्रसव पीड़ा की मरोड़ो के बारे में कुछ कहा नहीं जा सकता। इनके होने का कोई नियमित अंतराल नहीं होता और इनकी लम्बाई और इनके दौरान होने वाला दर्द भी काफी अलग होता है। हालाँकि असल लेबर की मरोड़ें शुरुआत में अनियमित अंतराल पर होती हैं, पर धीरे धीरे ये नियमित और कम अंतरालों पर होने लगते हैं। ये धीरे धीरे काफी दर्दभरे और नियमित हो जाते हैं तथा लम्बे समय तक चलने लगते हैं।
  • गलत लेबर के दौरान मरोडों से होने वाला दर्द पेट के निचले हिस्से में ज़्यादा मात्रा में होता है। असल लेबर के दौरान आप पाएंगी कि ये दर्द पीठ के निचले हिस्से से शुरू होकर पेट के चारों तरफ होने लगता है।
  • प्रसव पीड़ा के लक्षण, गलत लेबर की मरोड़ें या तो खुद ही कम हो जाती हैं, या फिर आपके किसी कार्य को शुरू या समाप्त करने तथा मुद्राएं बदलने से भी ये मरोड़ें बंद हो जाती हैं। इसके विपरीत असल मरोडों के दौरान आप कुछ भी करें, ये दर्द बिलकुल कम नहीं होता।

मरोड़ें उठने की स्थिति में मुझे क्या करना चाहिए? (What should I do if I feel contractions? or false labor ke lakshan)

अगर आपकी गर्भावस्था को 37 हफ्ते नहीं हुए हैं तो मरोडों का कारण जानने में अपना समय ना गंवाएं। अगर आपको लेबर या प्रसव पीड़ा की कोई निशानियाँ दिखती हैं तो समय से पहले लेबर को रोकने के लिए डॉक्टर या धाय की सहायता लें। 37 हफ़्तों के बाद मरोडों, चाहे वो असली हो या नकली, को घर पर बैठकर सहें और देखें कि इसका क्या परिणाम निकलता है। गलत लेबर की मरोड़ें काफी परेशानी प्रदान करने वाली होती हैं। ये आपकी नींद में काफी बाधा डालती हैं तथा आपको थका हुआ और चिड़चिड़ा बना देती है। कई बार गर्म पानी से नहाने से तथा काफी मात्रा में द्रव्य लेने से भी काफी मदद मिलती है। आपको यह सोचकर काफी बेचैनी भी हो सकती है कि असल लेबर कब से शुरू होगा।

लेबर और डिलीवरी के दौरान दर्द से छुटकारा 

अगर आपका कोई बड़ा बच्चा है तो आपको यह चिंता काफी खाए जाएगी कि यह कहीं बेबी सिटर (babysitter) की सहायता लेने का समय तो नहीं है। अगर आपको कोई भी दुविधा है तो तुरंत संपर्क करें। भले ही आपको अंत में इसकी ज़रुरत ना पड़े, पर इससे आपको कोई भी हानि नहीं होगी, और यह सोचकर, कि मदद आपके पास ही है, आप चिंतामुक्त होकर आराम कर सकती हैं।

जब तक आपको यह समझ में नहीं आता कि चल क्या रहा है, तब तक अपनी मरोडों को सही प्रकार से नियंत्रित करें। अगर आप चिंतित हैं तथा आपको कुछ समझ में नहीं आ रहा है तो अपने डॉक्टर और धाय की सहायता लेने में बिलकुल संकोच ना करें।

Subscribe to Blog via Email

Join 45,326 other subscribers

loading...