Sex during period. Is it safe? – पीरियड्स के दौरान सेक्स सुरक्षित या नहीं?

एक मनुष्य के लिए सेक्स की ज़रुरत भोजन से कुछ कम नहीं होती। लोग भले ही किसी भी मनोदशा में रहें, सेक्स के लिए आतुर होते हैं। अतः एक जोड़े को तब काफी निराशा होती है, जब उनकी सेक्स करने की इच्छा तो होती है, परन्तु उस दौरान महिला के पीरियड्स चलते रहते हैं। कई महिलाएं इस स्थिति में सेक्स की प्रक्रिया में लिप्त होने में असहज महसूस करती हैं।

कई लोगों का ऐसा भी मानना है कि पीरियड्स के दौरान सेक्स करना शरीर के लिए नुकसानदेह साबित हो सकता है। अगर आप पीरियड के दौरान सेक्स करना चाहती हैं, तो आपको कुछ तथ्यों का ज्ञान होना चाहिए। यह एक ऐसा सवाल है, जिसके बारे में लोगों की धारणाएं काफी भिन्न हैं। ऐसा करने से पहले किसी डॉक्टर से अवश्य सलाह कर लें।

पीरियड सेक्स में सुरक्षा की धारणा

यह जानना काफी आवश्यक है कि सुरक्षा से लोग क्या समझते हैं। कुछ लोगों के लिए सुरक्षा का अर्थ वह समय होता है, जब अण्डोत्सर्ग (ovulation) की प्रक्रिया नहीं हुई रहती है। पीरियड्स की समस्या, महिलाएं गर्भवती हुए बिना सेक्स की प्रक्रिया पूरी करना चाहती हैं। आज के दौर  में महिलाएं शादी के तुरंत बाद ही गर्भवती बनना नहीं चाहती हैं। पहले बच्चे के जन्म के बाद भी वे एक लंबा अंतराल चाहती हैं। पर इसका अर्थ यह नहीं है कि वे सेक्स की प्रक्रिया का आनंद नहीं लेना चाहती। अतः अगर उनके पीरियड्स भी चल रहे हों, तो भी वह पीरियड्स के दौरान सेक्स करने का चुनाव करेगी।

कई अन्य लोगों की धारणा के अनुसार सुरक्षा का अर्थ है उस संक्रमण से बचकर रहना, जो कि इस समय महिला के गुप्तांगों से निकलने वाले रक्त से हो सकता है। मासिक धर्म के दौरान सेक्स के बारे में कई पुरुषों की यह धारणा है कि महिलाओं के जननांगों से निकलने वाला खून स्वास्थ्यकर नहीं होता है, बल्कि इसमें संक्रामक पदार्थ छिपे रहते हैं। उनका मानना है कि अगर सेक्स के दौरान पुरुषों के गुप्तांग में यह खून लग जाता है, तो इससे काफी नुकसान भी हो सकता है। अतः उनके अनुसार अगर पीरियड्स के दौरान सेक्स करने की इच्छा हो भी जाए, तो कंडोम (condom) का प्रयोग अवश्य करना चाहिए।

गर्भावस्था से बचने के लिए पीरियड्स शुरू करने के उपाय

पीरियड सेक्स में डॉक्टरों की सलाह

आप अपने डॉक्टर से यह सलाह ले सकती हैं कि मासिक धर्म के दौरान सेक्स करना उचित होगा या नहीं। ज़्यादातर मामलों में डॉक्टर सकारात्मक परामर्श देते हैं। डॉक्टरों का यह कहना है कि सेक्स करना एक स्वास्थ्यकर आदत है, अतः अगर महिला के पीरियड्स भी चल रहे हों, तो भी वह सेक्स की प्रक्रिया अवश्य पूरी कर सकती है बशर्ते इसमें उसे कोई परेशानी न हो। जी हाँ, इस दौरान सेक्स करना पुरुषों और महिलाओं दोनों के लिए बिलकुल सुरक्षित होता है। क्योंकि पीरियड्स के दौरान इस बात की काफी ज़्यादा संभावना रहती है कि आपके बिस्तर की चादर गन्दी हो जाएगी, अतः इस पर एक मोटा कपड़ा या तौलिया रख दें, जिससे कि आपकी चादर सुरक्षित रहे। आजकल के दौर में प्रेम विवाह करने वाले जोड़े भी रोज़ाना सेक्स में लिप्त नहीं होते। इसका मुख्य कारण या तो काफी व्यस्त होना है और या तो आलस। परन्तु एक महिला एवं पुरुष के लिए रोज़ाना सेक्स करना उतना ही आवश्यक है, जितना कि काम और भोजन। सेक्स करने से काम में अच्छे से मन लगता है और आपके सम्बन्ध भी काफी मज़बूत होते हैं।

पीरियड टिप्स में पीरियड्स के दौरान सेक्स से कामुकता का भाव

कुछ महिलाएं सारा महीना सेक्स करने में काफी आसानी महसूस करती हैं। यहाँ तक कि पीरियड्स के दिनों में भी उन्हें सेक्स को लेकर कोई परेशानी नहीं होती। पर कुछ महिलाएं मासिक धर्म के दौरान सम्बन्ध (masik dharm ke douran sambandh) बनाना पसंद नहीं करती। परन्तु पीरियड्स के दौरान भी ऐसे कई मौके आते हैं, जब हर महिला की प्रतिक्रया विभिन्न प्रकार की होती है। आमतौर पर पहले दिन महिला के मन में सेक्स की इच्छा नहीं होती, क्योंकि इस दौरान उनके पेट में दर्द रहता है। इस समय रक्त का बहाव भी धीमा रहता है, जिसकी वजह से दर्द उठता है। इस समय एस्ट्रोजन तथा टेस्टोस्टेरोन (estrogen and testosterone) की मात्रा भी काफी कम होती है, अतः सेक्स की इच्छा नहीं होती। परन्तु तीसरे दिन से  इनकी मात्रा में वृद्धि होती है। इस समय एक महिला काफी कामुक हो उठती है और सेक्स का आनंद लेना चाहती है। इस समय सेक्स का एक फायदा यह भी है, कि महिला की योनि से रक्त निकलता ही रहता है, अतः उसके सूखे गुप्तांग को गीला करने के लिए किसी चीज़ की आवश्यकता नहीं होती।