List of foods to avoid to prevent kidney stones in Hindi – किडनी की पथरी से बचने के लिए खाद्य पदार्थों की सूची

किडनी की पथरी काफी आम समस्या बन गयी है एवं सम्पूर्ण भारत में यह काफी बढ़ोत्तरी पर है। किडनी की पथरी छोटे, ठोस दाने होते हैं जो कुछ खास रसायनों के घनीभूत होने के फलस्वरूप मूत्रमार्ग में जमा हो जाते हैं। ये दाने बड़े हो जाते हैं और मूत्रमार्ग के माध्यम से बाहर निकलते हैं। इससे पेट में दर्द शुरू होने लगता है, जहां ये अटक जाते हैं और मूत्र का प्रवाह रोक देते हैं।

किडनी की पथरी होने की स्थिति में कौन से खाद्य पदार्थों से परहेज करें? (What are the types of food you must avoid if you have kidney stones?)

प्युरिन युक्त खाद्य पदार्थ (Food rich with purine)

किडनी डैमेज को बढ़ावा देने वाली आदतें

प्युरिन से भरपूर खाद्य पदार्थ दानों की उत्पत्ति में मदद करते हैं एवं यूरिक एसिड (uric acid) से निर्मित पथरी के रूप में पाए जाते हैं। इस वजह से, एन्चोवीस, सारडाइन्स , मीठे ब्रेड एवं तरी से दूर रहना आवश्यक है। आपको किडनी बीन्स, ऐस्पैरागस (kidney beans, asparagus), फूलगोभी, लिमा बीन्स (lima beans), पालक एवं दालों से भी परहेज़ करें।

किडनी की पथरी की परवाह किये बिना आप क्या खा सकते हैं? (What are you allowed to eat freely without the fear of forming kidney stones?)

कैल्शियम (Calcium)

जो लोग किडनी की पथरी से दूर रहना चाहते हैं, उनके लिए कैल्शियम की अधिक मात्रा का सेवन करना काफी फायदेमंद होता है। जब एक व्यक्ति ओक्सालेट (oxalate) का सेवन करता है, तो अधिक मात्रा में कैल्शियम का सेवन करने से किडनी की पथरी की उत्पत्ति की रोकथाम होती है। कैल्शियम ना सिर्फ हड्डियों की सुरक्षा करता है, बल्कि ओक्सालेट्स का शरीर में सोखना कम करता है।

अधिक मात्रा में पानी युक्त फल एवं सब्जियां (Fruits and vegetables with a high amount of water content)

यह किडनी में पथरी जमा करने वाले तत्वों का एक साथ जमावड़ा होने से रोकता है। एक शोध के अनुसार फल एवं सब्जियां शरीर में एसिड (acid) की मात्रा संतुलित करती हैं। तरबूज का सेवन अधिक मात्रा में करें।

नीचे दिए गए तथ्यों का ध्यान रखें (Keep in mind the below-discussed points)

  • प्युरिन युक्त खानपान से दूर रहें।
  • ऐसे फल और सब्जियों का सेवन करें जो इसमें मौजूद पानी की मात्रा के माध्यम से मूत्र का अम्लीय स्तर कम करता है, जैसे खीरा एवं खरबूजा।
  • ऐसा खानपान करें जिसमें चीनी की मात्रा काफी कम हो। इनमें प्राकृतिक एवं कृत्रिम दोनों शामिल है।
  • ऐसे खानपान से परहेज करें जिनका सेवन कम समय के लिए वज़न घटाने के लिए किया जाता है।

अन्य ध्यान रखने योग्य वस्तुएं (Some other things to keep in mind)

किडनी स्टोन का कारण और इसका इलाज

  • रोज़ाना आप कितनी मात्रा में सोडियम का सेवन कर रहे हैं, यह जानने के लिए इसे लिखकर रखें।
  • जब आप प्रोसेस्ड (processed) भोजन का सेवन करते हैं, या इनका रात के समय सेवन करते हैं तो अपने खाने में सोडियम की मात्रा की जांच करें।

सोडियम (Sodium)

सोडियम मुख्य रूप से नमक में पाया जाता है। यदि खानपान में अधिक नमक हो तो इससे किडनी की पथरी की समस्या हो सकती है। अतः कम सोडियम युक्त खानपान करें एवं नमक की रोज़ाना खपत कम करें। इसका एक तरीका प्रोसेस्ड भोजन एवं डिब्बाबंद या पहले से पके हुए खाने का सेवन बंद करना है, क्योंकि ये लम्बे समय तक चलाने के उद्देश्य से बंद किये जाते हैं। खाने में नमक की मात्रा ना जानने पर रेस्टोरेंट्स (restaurants) में खाना भी काफी जोखिमयुक्त हो सकता है। अतः बाहर खाने से परहेज करें।

  • क्या आप प्रोसेस्ड भोजन के प्रयोग के बिना घर में खाना बना रहे हैं? इनमें काफी मात्रा में नमक होता है जो प्रिसर्वेटीव्ज़ (preservatives) की तरह काम करता है।
  • ऐसे खानपान से परहेज करें, जिसमें मोनो सोडियम ग्लुटामेट, बेकिंग सोडा, सोडियम नाइट्रेट, डाईसोडियम फॉस्फेट एवं सोडियम अलगीनेट (mono sodium glutamate, baking soda, sodium nitrate, disodium phosphate and sodium alginate) की मात्रा हो।

जानवरों से प्राप्त प्रोटीन (Animal protein)

अपने खानपान में प्रोटीन की मात्रा की जांच करें, खासकर जानवरों से प्राप्त प्रोटीन्स युक्त खानपान। खानपान में प्युरिन (एक तरह का प्रोटीन जो मांस के उत्पादों में पाया जाता है) की अतिरिक्त मात्रा से यूरिक एसिड का अतिरिक्त उत्पादन होता है। शरीर में एसिड की मात्रा जितनी अधिक होती है, किडनी को इसे पचाने में एवं बाहर निकालने में और भी ज्यादा समय लगता है। यूरिक एसिड जितना बाहर निकलता है, मूत्र का पीएच (pH) उतना ही कम हो जाता है, जिससे मूत्र काफी अम्लीय हो जाता है। घनीभूत मूत्र यूरिक एसिड की पथरी की उत्पत्ति में अहम भूमिका निभाता है।