Low cholesterol diet – लो कोलेस्ट्रोल आहार – हानिकारक कोलेस्ट्रोल को रोकने वाले प्रमुख भोज्य पदार्थ

मानव शरीर में दो तरह के कोलेस्ट्रोल पाए जाते हैं –

  1. एल. डी. एल. (लो डेन्सिटी लाइपोप्रोटीन)
  2. एच. डी. एल. (हाई डेन्सिटी लायपोप्रोटीन)

एल डी एल शरीर के लिए हानिकारक कोलेस्ट्रोल होता है, यह ह्रदय सम्बंधित रोगों में प्रमुख भूमिका निभाता है। एच डी एल शरीर के लिये लाभ पहुंचता है और अच्छा कोलेस्ट्रोल होता है। नीचे दिये जा रहे कुछ फल और भोज्य पदार्थ कोलेस्ट्रोल को नियंत्रण में रखने में प्रमुख भूमिका निभाते हैं। इन्हें अपने आहार में शामिल करें और स्वस्थ रहें।

कोलेस्ट्रोल की मात्रा को नियंत्रित रखने वाले भोजन (Food is good to keep a Balanced Cholesterol)

दलिया आपके शरीर में कोलेस्ट्रोल की मात्रा को नियंत्रित करने में काफी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। रोजाना नाश्ते में दलिए का सेवन करने से आपके कोलेस्ट्रोल की मात्रा सामान्य हो जाती है। जैसा कि हम जानते हैं कि LDL कोलेस्ट्रोल हमारे स्वास्थ्य के लिए काफी हानिकारक होता है, अतः हमारे शरीर द्वारा उत्पादित किये जा रहे खराब कोलेस्ट्रोल को बीटा ग्लूकन (beta glucan) सोख लेता है जो कि दलिए का एक तत्व होता है। एक और चीज़ जो आपके कोलेस्ट्रोल को कम करने में मददगार साबित होती है वह है रेड वाइन (red wine)। उच्च फाइबर (fiber) वाले टेम्परानिलो (tempranillo) लाल अंगूर कोलेस्ट्रोल के स्तर को नियंत्रित करने में काफी असरदार साबित होते हैं। यह रेड वाइन में पाया जाता है। विभिन्न जगहों पर विभिन्न स्तरों पर हुए शोध से यह पता चला है कि रेड वाइन के सामान्य सेवन से LDL का स्तर कम होता है और यह इसे लगातार नियंत्रित मात्रा में रखता है। चाय का सेवन करने के भी कई फायदे होते हैं। इसमें एंटीऑक्सीडेंटस (antioxidants) के गुण होते हैं जो कैंसर (cancer) से लड़ने में आपकी सहायता करते हैं। नियमित रूप से चाय पीने से हानिकारक कोलेस्ट्रोल से लड़ा जा सकता है तथा शरीर को हानिकारक LDL के प्रभाव से भी बचाया जा सकता है। शोध से पता चला है कि चाय पीने से रक्त के लिपिड (lipid) काफी मात्रा में कम होते हैं। चाय का सेवन करने से दिल की घातक बीमारियों से भी आपको निजात प्राप्त हो सकती है।

घातक रक्तवसा से खुद को बचाएं (Save Yourself from the Deadly Cholesterol)

बालों के लिए पौष्टिक खाना और हेयर पैक

आजकल जीवनशैली काफी व्यस्त हो गयी है और भोजन करने का भी समय ना रहने के कारण लोग ज़्यादातर ख़राब और जंक तथा फ़ास्ट फ़ूड (junk and fast food) पर निर्भर रहने लगे हैं। इससे कोलेस्ट्रोल की समस्या काफी कम उम्र से पैदा होने लगती है। बीन्स (beans) खराब कोलेस्ट्रोल को नियंत्रित करने का काफी प्रभावी खाद्य पदार्थ है और आपके दिल का स्वास्थ्य सुनिश्चित करने के लिए काफी अच्छे साबित होते हैं। बीन्स फाइबर से भरपूर होते हैं। आप पिंटो या किडनी (pinto or kidney) बीन्स का सेवन भी कर सकते हैं। स्वस्थ ह्रदय के लिए अपने खानपान में इसे शामिल करें। अतः खराब कोलेस्ट्रोल से परिचित हों एवं इससे बचकर एक अच्छा जीवन जियें जिससे आपका और आपके परिवारजनों का भला हो।

याद रखें कि स्वास्थ्य ही पूँजी है (Remember That Health is Wealth)

हर किसी को चॉकलेट (chocolate) पसंद होती है। पर क्या आपने इसके स्वाद और इससे मिलने वाले सुख के अलावा भी इसके बारे में कुछ सोचा है ! chocolate एंटीऑक्सीडेंटस होते हैं और ये HDL कोलेस्ट्रोल का स्तर बनाने में आपकी मदद करते हैं। एक और याद रखने वाली महत्वपूर्ण बात यह है कि हमेशा दूध के चॉकलेट की बजाय कड़वे और डार्क (dark) चॉकलेट का ही सेवन करने का प्रयास करें। इन डार्क और कड़वी चॉकलेट में एंटीऑक्सीडेंटस होते हैं जो कि दूध वाली चॉकलेट के मुकाबले 3 गुना ज़्यादा होते हैं। ये एंटीऑक्सीडेंटस आपके दिल की धमनियों को बंद होने से रोकते हैं तथा प्लेटलेट्स (platelets) को भी आपस में चिपकने से बचाते हैं। पौधों के स्टेरोल्स (sterols) के साथ मार्जरीन (Margarine) भी कोलेस्ट्रोल का स्तर कम करने में मददगार साबित होता है। अतः उच्च पौधों के स्टेरोल युक्त भोजन ग्रहण करें। लहसुन में भी कई गुण होते हैं। यह हमें स्वस्थ रखता है। लहसुन का मुख्य काम भोजन में अतिरिक्त स्वाद की सृष्टि करना होता है। पर लहसुन कोलेस्ट्रोल के स्तर को कम करने में भी काफी सहायक साबित होता है। लहसुन कोलेस्ट्रोल के स्तर को काफी निचले स्तर पर रखता है जो कि स्वस्थ दिल के लिए काफी अच्छा होता है।

लहसुन की अच्छाई (The Goodness of Garlic se cholesterol ka desi ilaj in hindi)

ना सिर्फ लहसुन रक्तचाप के स्तर को सामान्य बनाए रखता है, बल्कि यह खून का थक्का जमने से रोकता है और संक्रमणों से भी सुरक्षा प्रदान करता है। पालक को भी अपने रोजाना के खानपान में शामिल करें। पालक एक हरी पत्ती है जो लुटेन (lutein) से भरपूर होता है। यह एक पीले रंग का रंजक तत्व होता है जो कि अंडे के पीले भाग में भी पाया जाता है। शोध से पता चला है कि लुटेन से युक्त भोजन खानपान में शामिल करने से दिल के दौरे की संभावना काफी हद तक कम हो जाती है। अवोकेडो (avocado) भी दिल और स्वास्थ्य के अच्छी अवस्था में रहने के लिए ज़रूरी एक खाद्य पदार्थ है। अवोकेडो मोनोअनसैचुरेटेड (monounsaturated) वसा से भरपूर होता है जो शरीर में HDL कोलेस्ट्रोल की मात्रा में वृद्धि करता है और LDL कोलेस्ट्रोल को काफी कम कर देता है। अवोकेडो बीटा साइटोस्टेरोल (beta sitosterol) से भी युक्त होता है जो कि एक अच्छा वसा होता है और हमारे रोज़ाना के भोजन से ग्रहण किये हुए कोलेस्ट्रोल को कम करने में सहायक साबित होता है। जब आप असल में स्वस्थ रहना चाहते हैं तो इन खाद्य आदतों को अपनाइए। गाजर ना सिर्फ आपके कोलेस्ट्रोल के स्तर को नियंत्रण में रखता है, बल्कि विटामिन सी, के, पोटैशियम और फोलियेट (vitamin C,and K, potassium and foliate) से भी भरपूर होता है। कोलेस्ट्रोल कम करने की गोलियां लेने की अपेक्षा ऐसे भोजन का सेवन करें जो कोलेस्ट्रोल को नियंत्रित करने में सक्षम हो। अखरोट का ओट ब्रान (oat bran) भी कोलेस्ट्रोल का स्तर कम करने में मदद करता है। अपने स्वास्थ्यकर भोजन में विविधता लाएं एवं वज़न को नियंत्रण में रखने के  लिए रोज़ाना व्यायाम करें। स्वास्थ्यकर भोजन का अर्थ यह नहीं कि रोज़ाना वही एक जैसा उबाऊ भोजन किया जाए।

जैतून का तेल और इससे बने उत्पाद (Olive oil & products se cholesterol kam karne ke gharelu nuskhe)

जैतून का तेल और इससे बने हुये पदार्थ विटामिन ई और मोनो सैचुरेटेड फैटी एसिड के अच्छे स्त्रोत होते हैं। कोलेस्ट्रॉल कैसे कम करें, मोनो सैचुरेटेड फैटी एसिड, एल डी एल कोलेस्ट्रोल को नियंत्रित करता है और एच डी एल कोलेस्ट्रोल के लेवल को शरीर में बढ़ाता है। अपने आहार में ओलिव आयल को शामिल करें।

प्रकृति का सबसे अच्छा एस्ट्रोजेन युक्त भोजन

सूर्यमुखी का तेल और बीज (Sunflower oil & seeds)

कोलेस्ट्रोल का इलाज, सूरज मुखी के तेल और बीजों में अनसैचुरेटेड पॉली फैटी एसिड पाया जाता है जो शरीर में एल डी एल कोलेस्ट्रोल को नियंत्रित करने में सहायक होता है।

सोया, मटर और मूंगफली (Soya, Peas & Groundnut)

सोयाबीन, मटर और मूंगफली से बने हुये सभी भोज्य पदार्थ लो कोलेस्ट्रोल के लिए अच्छे होते हैं । अपने आहार में इन्हें दाने, तेल या दाल के रूप में प्रयुक्त करें।

कोलेस्ट्रोल कम करने के टिप्स – डेरी उत्पाद (Milk products)

सभी डेरी उत्पाद हानिकारक कोलेस्ट्रोल को रोकने में सहायक होते हैं । दूध, दही, छांछ आदि को अपने आहार में शामिल करें। वसा रहित डेरी उत्पाद प्रयोग करें।

एंटी ओक्सिडेंट – फल एवं सब्जियां (Anti oxident – Fruits & Vegetables)

एंटीओक्सिडेंट से युक्त फल तथा सब्जियां जैसे बेर, जामुन, केरी आदि शरीर से एल डी एल को हटाते हैं और मृत कोशिकाओं को बाहर निकालते हैं।

बवासीर के दौरान क्या खाएं और क्या नहीं ?

अगर आपका कोलेस्ट्रोल लेवल बढ़ा हुआ है या आओ दिल के मरीज हैं तो आपको ये फल और सब्जियां प्रतिदिन लेनी चाहिये।

प्याज, लहसुन समूह (Onion & garlic se cholesterol kam karne ka desi ilaj)

प्याज के परिवार के भोज्य जैसे प्याज,लहसुन सफ़ेद प्याज आदि कोलेस्ट्रोल पर नियंत्रण रखने के लिए श्रेष्ट समझे जाते हैं । लहसुन को अपने गुणों की वजह से दिल का दोस्त कहा जाता है जो कोलेस्ट्रोल को नियंत्रित करने में प्रमुख भूमिका निभाता है।

कोलेस्ट्रॉल कम करने के उपाय – कच्चे अनाज (Raw grain)

कच्चे अनाजों में विटामिन बी ग्रुप पाया जाता है जो शरीर में एल डी एल के निर्माण को रोकता एवं नियंत्रित करता है।

समुद्री भोजन (Sea food se rakt vasa kam karne ke upay)

समुद्री भोजन में ओमेगा 3 फैटी एसिड पाया जाता है जो कि मोनो सैचुरेटेड फैटी एसिड होता है और शरीर में एच डी एल कोलेस्ट्रोल के निर्माण को बढ़ाता है । और एच डी एल के बढ़ने से ह्रदय स्वस्थ रहता है।

लाल माँस (Red meat – cholesterol kam karne ke upay)

लाल मॉस में भी पोली सैचुरेटेड फैटी एसिड पाया जाता है जो हानिकारक कोलेस्ट्रोल के निर्माण को रोकता है और शरीर के लिए लाभकारी होता है।

लीवर को स्वस्थ रखने के लिए सर्वोत्तम आहार

ओमेगा – 3 फैटी एसिड फ़ूड (Omega – 3 fatty acid food)

ओमेगा 3 से भरपूर भोज्य पदार्थ जैसे दूध, अंडा आदि ह्रदय के स्वास्थ्य के लिये बहुत अच्छे समझे जाते हैं। इनमे लो कोलेस्ट्रोल होता है। ओमेगा 3 से भरपूर भोज्य पदार्थ शरीर से एल डी एल कोलेस्ट्रोल के लेवल को घटाते हैं और शरीर को स्वस्थ बनाये रखने में मददगार होते हैं।

loading...